Menu

top banner

बीकानेर समाचार

शादी का झांसा देकर किया दुष्कर्म

पुलिस अधीक्षक कार्यालय से मिले पत्र पर दर्ज किया गया मामला
बीकानेर। दुष्कर्म के मामले पुलिस थाने जल्द ही दर्ज नहीं करते। जहां तक कोशिश रहती है कि इस प्रकार के मामलों से बचा जाएं। पीडि़ता द्वारा बार-बार गुहार लगाने के बावजूद जब जयनारायण व्यास कॉलोनी पुलिस थाने में उसकी सुनवाई नहीं हुई तक पीडि़ता ने अपनी गुहार पुलिस अधीक्षक से लगाई। पुलिस अधीक्षक की ओर से इस मामले में हस्तक्षेप करने तथा कार्यालय से जयनारायण व्यास कॉलोनी पुलिस थाना को वकायदा लिखित में पत्र भेजा गया। जबकि घटना दो दिन पुरानी है। पुलिस अधीक्षक कार्यालय से पत्र मिलने के बाद थाने में रविन्द्र गौड़ के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। पीडि़ता अनुसूचित जाति वर्ग से है तथा उदयरामसर के आसपास रहती है। दर्ज किए गए मामले के मुताबिक आरोपी रविन्द्र गौड़ ने पीडि़ता को शादी का झांसा देकर उसके साथ दुष्कर्म किया। मामले में कई अन्य गंभीर आरोप भी लगाए है। मामले की जांच पुलिस वृत्ताधिकारी राजेन्द्र सिंह राठौड़ कर रहे है।
इसी प्रकार दूसरा मामला सदर पुलिस थाने दर्ज किया गया है। जिसमें आरोपी पर लज्जा भंग करने तथा मारपीट करने का आरोप लगाया गया है। अमरसिंहपुरा क्षेत्र निवासी पीडि़ता ने बुधवार को सदर थाने में उपस्थित होकर नत्थूसर बास निवासी अशोक नाथ व उसके तीन मित्रों पर मारपीट करने तथा लज्जा भंग करने का आरोप लगाया है।

Read more...

नियंत्रण कक्ष पर पुलिस का नहीं रह गया 'कंट्रोल'


आधे से अधिक थाने नहीं देते कंट्रोल रुम को दैनिक रिपोर्ट
बीकानेर। बीकानेर जिला व संभाग मुख्यालय स्थित पुलिस अधीक्षक कार्यालय में स्थापित नियंत्रण कक्ष पर पुलिस का किसी प्रकार का कंट्रोल नहीं रह गया है। ऐसे में जिले में कानून एवं शांति व्यवस्था की बात करना बेमानी सा है। पुलिस महानिरीक्षक रेंज के अन्तर्गत पुलिस थानों की तो बात दूर, खुद बीकानेर जिले के पुलिस थाने स्थापित नियंत्रण कक्ष को समय पर सूचना नहीं दे रहे है।
जबकि लम्बे समय से पुलिस नियंत्रण कक्ष की ओर से जारी होने वाली जिले की रिपोर्ट में ऐसा सामने आया है। जारी रिपोर्ट के नीचे वकायदा डेली रिपोर्ट नहीं देने वाले पुलिस थानों के नाम भी लिखे होते है। जिसमें चेतावनी भी लिखी होती है कि बार-बार सूचना उपलब्ध कराने के बावजूद पुलिस थाने डेली रिपोर्ट नहीं भेज रहे है।
इन थानों ने नहीं भेजी रिपोर्ट
बुधवार को पुलिस के नियंत्रण कक्ष की ओर से मीडिया रिपोर्ट के लिए जारी की गई डेली रिपोर्ट में रोजाना की रिपोर्ट नहीं भेजने वाले थानों में नाल, श्रीडूंगरगढ़, नोखा, पांचू, छत्तरगढ़, कोलायत, गजनेर व बज्जू थाने शामिल है। जबकि मंगलवार को जारी रिपोर्ट के मुताबिक कोटगेट, जयनारायण पुलिस थाना, श्रीडूंगरगढ़, शेरुणा, कालू, नोखा, छत्तरगढ़, कोलायत,्र गजनेर व बज्जू थानों ने दैनिक रिपोर्ट नियंत्रण कक्ष को नहीं भेजी।
आधे से अधिक थाने नहीं भेज रहे रिपोर्ट
पुलिस नियंत्रण कक्ष की ओर से रोजाना जारी होने वाली थानों की दैनिक रिपोर्ट ऑनलाइन पर डाली जाती है। यदि ऑनलाइन पर उपलब्ध पुलिस के नियंत्रण कक्ष की रिपोर्ट का अवलोकन किया जाएं तो इनमें से जिले के आधे से अधिक पुलिस थाने नियमित दैनिक रिपोर्ट नहीं भेज रहे है। इनमें से कई पुलिस थाने तो सीमावर्ती क्षेत्र से भी जुड़े हुए है।
रामभरोसे पुलिस थाने
ेचाहे भले ही पुलिस थानों को आधुनिक क्यूं न बना दिया गया हो। किंतु ढर्रा अभी भी वहीं चल रहा है। हालांकि सभी थाने ऑनलाइन से जुड़े हुए है तथा थानों में दर्ज होने वाले मामलें ऑनलाइन होते है। किंतु अनुभवहीनता की बात करें या फिर इसमें ढिलाई की। पुलिस थानों से संबंधित सभी प्रकार की सूचनाएं नियंत्रण कक्षों को समय पर नहीं मिल पा रही है। ऐसा ऑनलाइन पर उपलब्ध नियंत्रण कक्ष की रिपोर्ट बताती है।
गंभीर है मामला
आपसी संवाद का अभाव कहे या फिर पुलिस थानों में स्टाफ की कमी। संभाग मुख्यालय से पुलिस महानिरीक्षक व पुलिस अधीक्षक क्षेत्र में होने वाली गतिविधियों पर नियंत्रण व नजर रखने का स्थापित नियंत्रण कक्ष प्रमुख जरिया है। किंतु स्थानीय लापरवाही के कारण समय पर नियंत्रण कक्ष को ठोस व अहम जानकारी तक नहीं मिल पाती। जबकि कई बार तो मीडिया की ओर से पुलिस को पहले इत्तिला दी जाती है। धार्मिक व सामाजिक उन्माद ही नहीं जिले के कई थाने भारत-पाक अन्तरराष्ट्रीय सीमा के अन्तर्गत आते है। जहां सीमा पर व सीमा पार से होने वाली गतिविधियों की पल-पल की नजर पुलिस को अपने मुखबिरों व जरिये से नजर रखनी पड़ती है।

Read more...

नाटक और नृत्य में छात्राओं ने बिखेरी छटा

बीकानेर। श्रीकोलायत के गांव गोलरी में मंगलवार को सर्व शिक्षा अभियान के तत्वावधान में राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय द्वारा मीना मेले का आयोजन किया गया। मेले का शुभारम्भ तारा पारीक, शंकरलाल, लीना कश्यप, एवं सरोज कुमावत ने किया। मेले में करीब 32 स्कूलों की १५० से अधिक बालिकाओं ने नाटक, नृत्य, कविता पाठ, बाल अधिकार से संबंधित निबंध, पोस्टर व फैंसी ड्रेस प्रतियोगिताओं में बढ़चढ़़ कर भाग लिया। विभिन्न प्रतियोगिताओं में प्रथम, द्वितीय व तृतीय आने वाली बालिकाओं को पुरस्कार वितरित किए गए। नाटक प्रतियोगिता में यूपीएस सेठिया बास झझू ने प्रथम, यूपीएस उद्दत ने द्वितीय एवं कस्तूरबा गाँधी आवासीय विद्यालय झझू ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। नृत्य प्रतियोगिता में यूपीएस उपरला बास स्कूल ने प्रथम, यूपीएस सांखला बस्ती स्कूल ने द्वितीय एवं यूपीएस नोखादैया की स्कूल ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। कविता पाठ प्रतियोगिता में यूपीएस गोलरी ने प्रथम, यूपीएस अक्खासर ने द्वितीय तथा यूपीएस मड़ ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। बाल अधिकार निबंध प्रतियोगिता में प्रथम यूपीएस उद्दत, द्वितीय कस्तूरबा गाँधी आवासीय विद्यालय झझू और तृतीय पाबूसर पुरोहितान स्कूल ने प्राप्त किया। पोस्टर प्रतियोगिता में प्रथम अक्खासर, द्वितीय यूपीएस माधोगढ़ एवं तृतीय यूपीएस गडियाला रही। फैंसी ड्रेस में एक ही बालिका ने भाग लिया। विजेताओं को तारा पारीक ने पुरस्कार देकर प्रोत्साहित किया। इस अवसर पर निर्मला जैन, अंजुमन आरा, योग्यता आदि की उपस्थिति रही।

Read more...

राजनीति उठापटक का असर छात्र संगठनों तक


बीकानेर। खाजूवाला में राजनीतिक उठापटक का असर स्थानीय स्तर के विभिन्न संगठनों में स्पष्ट रुप से देखने को मिल रहा है। मामला खाजूवाला उपखण्ड मुख्यालय स्थित सरकारी कॉलेज के भवन निर्माण सहित विभिन्न मांगों को लेकर छात्र संगठन एनएसयूआई से जुड़ा हुआ है। गौरतलब है कि खाजूवाला में कांग्रेस में पहले ही फूट सामने आ चुकी है। उसका असर एनएसयूआई पर भी देखने को मिला।
एक ही कॉलेज से जुड़ी मांगों को लेकर सोमवार को एनएसयूआई के दो धड़ों की ओर से खाजूवाला में प्रदर्शन कर उच्च शिक्षामंत्री के नाम का ज्ञापन उपखण्ड अधिकारी को सौंपा गया। इनमें से एनयूएसआई के एक प्रतिनिधि मंडल ने राकेश कस्वां तथा दूसरे प्रतिनिधि मंडल सहीराम मेघवाल के नेतृत्व में उपखण्ड अधिकारी कार्यालय पहुंचा। इनमें से एक धड़ा रामेश्वर डूडी गुट का तो दूसरा धड़ा गोविन्द राम मेघवाल का बताया जाता है।
हल्के बल प्रयोग की भी चर्चा
सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक एनएसयूआई के राकेश कस्वां के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं व विद्यार्थियों ने पुलिस चौराहे पर नारेबाजी करते हुए पहले उपखण्ड अधिकारी कार्यालय पहुंचा। अभी ये लोग एसडीएम कार्यालय से बाहर निकले ही नहीं थे कि एनएसयूआई के सहीराम मेघवाल में दूसरा गुट पहुंच गया। जहां माहौल काफी गरमा गया। जिसके चलते मौके पर इनको हटाने के लिए पुलिस को हल्का बल प्रयोग भी करना पड़ा। हालांकि अधिकारिक तौर पर इसकी पुष्टि नहीं हो पाई। गौरतलब है कि इस कॉलेज में छात्रसंघ के अध्यक्ष एनएसयूआई के राजपाल गोदारा है।
मामला फिर ठंडे बस्ते में
विधायक व संसदीय सचिव डॉ. विश्वनाथ मेघवाल के चलते खाजूवाला उपखण्ड मुख्यालय को चाहे भले ही सरकारी कॉलेज खुलवाने का सौभाग्य मिल गया हो, लेकिन सरकारी कॉलेज खुलने के बावजूद उसका न तो अपना भवन है और नहीं स्टॉफ। इन्हीं मांगों को लेकर एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन व रोष व्यक्त किया था। पिछले दिनों खाजूवाला में सरकारी भवन बनाने के लिए आधारशिला रखने के लिए उच्च शिक्षामंत्री किरण माहेश्वरी का कार्यक्रम भी बना था। माहेश्वरी बीकानेर भी पहुंची। किंतु खाजूवाला नहीं पहुंच सकी। जिसके चलते कॉलेज भवन का सपना अधूरा ही रह गया। हालांकि विधायक मेघवाल ने स्कूल भवन के लिए बजट आवंटित करने की भी बात की है। देखना ये है कि आने वाले समय में ऊंट किस करवट बैठेगा।

Read more...

कैदियों के लिए खुला था जेल...तो भाग गए पांच बंदी...बीकानेर से बड़ी खबर

बीकानेर। बीछवाल खुली जेल से फरार हुए आजीवन कारावास की सजा भुगत रहे पांच कैदियों के खिलाफ कारागार प्रशासन की रिपोर्ट पर बीछवाल थाना पुलिस ने फरारी का मामला दर्ज किया है. साथ ही फरार बंदियों की सरगर्मी से उनकी तलाश शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार हत्या और लूट के आरोप में सजायफ्ता बंदी अल्लादीन, रेणू उर्फ राजवीर मीणा, सुनील सिंह, शंकर सिंह और तेजपाल सिंह के बेहतर चाल चलन को देखते हुए कारागार प्रसासन ने उन्हे खुली जेल में भिजवा दिया। जहां पांचों कैदी अलग-अलग समय में फरार हो गये। जानकारी के अनुसार अल्लादीन शाह करीब चार साल पहले 4 नवम्बर 2015 की रात फरार हो गया था। वहीं रेण्ूा उर्फ राजवीर भी गत 31 अक्टूबर 2016 की रात को भाग छूटा, इसके बाद बीते साल नवम्बर माह में सुनील सिंह और उसके बाद 15 नवम्बर को शंकर सिंह फरार हो गए। गत माह 17 दिसम्बर की रात तेजपाल सिंह भी खुली जेल से फरार हो गया। हालांकि कारागार प्रशासन ने फरारी के तुरंत बाद ही इनकी रिपोर्ट बीछवाल पुलिस को दे दी थी, लेकिन पुलिस ने इनकी फरारी का मुकदमा सोमवार की रात दर्ज किया है।
कोई दो साल,तो कोई डेढ साल पहले फरार
कई मामलों में सजायफ्ता इन बंदियों में से कोई दो साल पहले फरार हो गया तो कोई डेढ़ साल पहले और कारागार प्रशासन ने इसकी रिपोर्ट पर बीछवाल थाना पुलिस का दे दी,लेकिन फरार कैदियों को गिरफ्तार कर उन्हें वापस जेल पहुंचाने के लिए पुलिस ने गिरफ्तारी के प्रयास तो दूर इनकी फरारी के मुकदमें भी डेढ़-दो साल बाद दर्ज किए हैं।

Read more...

शराब पीकर उत्पात मचाने के आरोप में कई गिरफ्तार


बीकानेर। शराब पीकर उत्पात मचाने के आरोप में सोमवार रात कई स्थानों ने पुलिस ने कई लोगों को गिरफ्तार किया है। जिला पुलिस अधीक्षक सवाई सिंह गोदारा के निर्देश पर सोमवार की रात व्यास कॉलोनी, कोटगेट और सदर थाना पुलिस की टीमों ने शराब ठेकों के आस पास शराबियों के ठिकानों पर दबिश देकर उन्हें गिरफ्तार किया। व्यास कॉलोनी थाने की टीम ने कार्रवाई कर नौ लोगों को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार होने वालों में मदनलाल, रमेश कुमार, हिम्मत सिंह राजपूत, बबलूदास बंगाली, ताज मोहम्मद, अरविन्द कुमार, नंदलाल, बंटी, गणपत सिंह राजपूत शामिल है। वहीं कोटगेट पुलिस की टीम ने मटका गली में दबिश देकर जितेन्द्र यादव तथा किशन सिंह राजपूत को गिरफ्त में लेकर उसके खिलाफ कार्रवाई दर्ज की। सदर थाना पुलिस की टीम ने राजेन्द्र सिह राजपूत, सवाईसिंह, अशोक कुमार तथा जितेन्द्र कुमार को सार्वजनिक स्थलों पर शराब पीने के आरोप में गिरफ्तार किया।

Read more...

और ले ली मासूम की जान...पढ़ें दु:खद खबर

बीकानेर। गजनेर राजमार्ग पर नवोदय तिराहे के पास मंगलवार को तेज रफ्तार से आये ट्रक  ने मासूम बालक को कुचल दिया। गजनेर पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवा कर शव परिजनों को सौंप दिया। गजनेर थाने के हैड कांस्टेबल विमल कुमार ने बताया कि झझू निवासी 11 वर्षीय पूनमचंद पुत्र ओमप्रकाश मेघवाल नवोदय तिराहे पर अपनी मां-बहन के साथ कोलायत जाने के लिए बस के इंतजार में खड़ा था। इस दौरान तेज गति से आए ट्रक ने मासूम को अपनी चपेट में ले लिया था। इस दौरान मौके पर खड़े लोगों में आक्रोश भड़क गया लेकिन मौके पर पहुंची गजनेर पुलिस ने समझा कर लोगों को शांत कर दिया।  पुलिस की सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची 108 सेवा एम्बूलेंस सेवा की एम्बूलेस में मृतक किशोर के शव को पोस्टमार्टम के लिये पीबीएम अस्पताल की मोर्चरी भेजा गया। जहां पर उसका पोस्टमार्टम कर शव परिजनों को सौंप दिया। पुलिस ने चालक को गिरफ्तार कर ट्रक को कब्जे में ले लिया।

Read more...

लकवाग्रस्त विचारधीन बंदी की मौत


बीकानेर। अपहरण के आरोप में जल में बंद विचाराधिन बंदी की तबीयत बिगडऩे पर उसे पीबीएम अस्पताल जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। कारागार प्रशासन के अनुसार हिम्मटसर निवासी 76 वर्षीय किशोर सिंह राजपूत अपहरण के मामले में विचाराधीन बंदी था, जिसकी तबीयत बिगडऩे पर उसे पीबीएम अस्पताल भेजा गया जहां चिकित्सों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इसकी सूचना मिलने के बाद अस्पताल पहुंची बीछवाल पुलिस ने मृतक बंदी के शव को कब्जे में लेकर उसे मोर्चरी में रखवा दिया है।

Read more...

विद्यार्थियों को शाला पोषाक स्वेटर वितरित

बीकानेर। महावीर इन्टरनेशनल केंद्र की ओर से सोमवार को राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय, प्रताप बस्ती में कक्षा एक से आठ तक के कुल 110 छात्रों को शाला पोषाक के वुलन स्वेटर वितरण बनवारी लाल खण्डेलवाल एवं सूरजमल राठी के सौजन्य से किया गया। इस अवसर पर एक एलमिरा भी भेंट की गई। राजेन्द्र जोशी ने बताया कि मुख्य अतिथि पीडब्ल्यूडी के सुपरिटेंडेंट इंजीनियर जसवंत खत्री ने भगवान महावीर द्वारा दी गई शिक्षा सत्य, अहिंसा, अपरिग्रह, अचौर्य एवं ब्रह्मचर्य को अपने जीवन में उतारने के लिए बच्चों को प्रेरित किया। अश्व अनुसंधान केंद्र के प्रभागाध्यक्ष डॉ. एससी मेहता ने कहा कि आर्थिक रूप से पिछड़े हुए बच्चों को शिक्षा में सहयोग का यह प्रयास जारी रहेगा। विशिष्ठ अतिथि कालूराम उपाध्याय ने बच्चों को आगे बढऩे के लिए प्रेरित किया। समारोह की अध्यक्षता केन्द्र अध्यक्ष पुरण चन्द राखेचा ने की। इस अवसर पर सौजन्य दाताओं का सम्मान व अतिथियों का स्वागत किया गया। कार्यक्रम में सुनील राठी , किरण मुंधड़ा, संतोष जैन, पंकज सिंह, नन्द किशोर साध, राजेन्द्र पाहुजा, ओमप्रकाश कोठारी सहित स्टाफ व बच्चों ने भाग लिया।

Read more...

बाजरे के खाद्य प्रसंस्करण एवं मूल्य संवर्धन पर प्रशिक्षण आयोजित

बीकानेर। स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय द्वारा सरकार की राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के तहत विभिन्न कृषि विज्ञान केन्द्रों के माध्यम से मास्टर ट्रेनर्स को बाजरे के खाद्य प्रसंस्करण एवं मूल्य संवर्धन प्रशिक्षण आयोजित किए जा रहे हैं। अनुसंधान अधिकारी डॉ. विमला डुकवाल ने बताया कि कलस्टर्स प्रशिक्षण के दौरान बाजरे के मूल्य संवर्धित उत्पादों के बारे में विस्तार से बताया जाता है, जिससे बाजरे के उत्पादन को और अधिक प्रोत्साहन मिले। प्रशिक्षण प्राप्त करने वाली महिलाओं द्वारा 100 से अधिक प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।
डॉ. डुकवाल ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने की परिकल्पना को साकार रूप देने में यह प्रशिक्षण महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। इसी श्रृंखला में सोमवार को धौलपुर में प्रशिक्षण आयोजित किया गया।

Read more...
Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News