Menu

बीकानेर समाचार

छीजत कम नहीं की तो अभियंताओं की खैर नहीं

डीएनआर रिपोर्टर
बीकानेर। मार्च तक अगर बिजली छीजत कम नहीं की तो अभियंताओं की खैर नहीं है। उन्हें नोटिस देकर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएं। इसके अलावा सरकार की ओर से नीतिगत कनेक्शन जारी करने में भी कोई देरी नहीं करे। अगर इसमें भी लापरवाही बरती जाती है तो उनके खिलाफ भी सख्त कार्रवाई की जाएं। ये सख्त लहजे में निगम के अधिकारियों एवं ऊर्जा मंत्री ने निर्देश दिए। वित्तीय वर्ष की समाप्ति में अब ढाई माह बचे हैं और चुनावी साल भी होने के कारण जोधपुर विद्युत वितरण निगम की बैठक गत दिनों निगम के जोधपुर मुख्यालय में आयोजित की गई। इसमें ऊर्जा मंत्री, प्रमुश शासन सचिव, प्रबंध निदेशक तथा अन्य उच्च अधिकारी बैठे थे। बैठक में वैसे तो उपभोक्ताओं की समस्याओं पर चर्चा की गई थी लेकिन मुख्य बिन्दु छीजत कम करने और वसूली पर विचार विमर्श किया गया था। बैठक में बताया गया उपभोक्ताओं ने कनेक्शन के लिए जितनी भी फाइलें जमा कराई है और डिमांड नोटिस भी जारी किए गए हैं। इसके अलावा वसूली के लिए भी सख्त कदम उठाने के निर्देश दिए गए। बैठक में बताया गया कि बार-बार कहने के बाद भी अभियंता छीजत को कम करने में रुचि नहीं दिखा रहे हैं। इसे देखते हुए उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएं।
बिजली की 24.2 प्रतिशत छीजत
जोधपुर डिस्कॉम में करीब दस जिले शामिल है। इसमें से बीकानेर जिले में सबसे अधिक छीजत चल रही है। एक अनुमान के मुताबिक इस समय 24.2 प्रतिशत छीजत चल रही है। जबकि बैठक में इसे 19.8 प्रतिशत लाने के निर्देश दिए गए। अगर इससे कम प्रतिशत तक भी छीजत को कम किया जाए तो बेहतर होगा। छीजत को कम करने को लेकर निगम के निदेशक (तकनीक) बीएस रतनू ने भी गत दिनों बीकानेर आकर छीजत को कम करने निर्देश दिए थे।
कनेक्शन का लक्ष्य पूरा करें
बैठक में उपभोक्ताओं के लिए कनेक्शन के लिए जमा कराई फाइलों को प्राथमिकता के अनुसार जांच कर उन्हें कनेक्शन जारी करने की कार्रवाई शुरू करें। अगर कनेक्शन के लिए सामान की कमी है तो सूची बनाकर भेजे ताकि समय रहते सामान की व्यवस्था की जा सके।
वसूली में कोताही बर्दाश्त नहीं
बैठक में निगम के प्रबंध निदेशक ने कहा कि बीकानेर जोन छीजत अधिक होने के साथ-साथ वसूली में भी ढिलाई बरत रहा है। जबकि सभी स्तर के अभियंताओं को वसूली के लिए लक्ष्य निर्धारित किया था। उसके बाद भी वसूली में कोताही बरती जा रही है। जबकि मार्च तक हर हालत में वसूली के लक्ष्य को पूरा किया जाएं
इनका कहना है
'बैठक में छीजत कम करने तथा वसूली के लिए सख्त दिशा निर्देश दिए हैं। अगर किसी ने इसमें लापरवाही की तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के आदेश दिए गए हैं। इसके लिए सूची भी बनानी शुरू कर दी गई है।Ó
हवासिंह चौधरी, अधीक्षण अभियंता जोधपुर डिस्कॉम

Read more...

इस बार खाजूवाला में होगा राजनीति का सबसे बड़ा दंगल

डीएनआर रिपोर्टर. बीकानेर

आरक्षित विधानसभा क्षेत्र में राजनीति के बनते-बिगड़ते समीकरणों के चलते इस बार मुकाबला रोचक होने की संभावना है।
कांग्रेस में फूट के बाद दो बार बार भाजपा के विधायक रहे डॉ. विश्वनाथ मेघवाल के क्षेत्र में सांसद व केन्द्रीय राज्यमंत्री अर्जुनराम मेघवाल के पुत्र रवि शेखर मेघवाल की ओर से ताल ठोंकने के बाद भाजपा में भी फूट खुलकर सामने आ गई है। छत्तरगढ़ में इंगांनप के विश्राम गृह में शनिवार को पहुंचे सांसद पुत्र रवि शेखर मेघवाल ने कार्यकर्ताओं के सम्मुख विधानसभा चुनाव लडऩे को लेकर अपनी ताल ठोकी। एक तरह से रवि ने विधानसभा क्षेत्र में चुनाव का शंखनाद किया। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि यदि पार्टी उन्हें टिकट देती है तो वह चुनाव लड़ेंगे। यदि टिकट नहीं मिला तो पार्टी जिसको उम्मीदवार बनाएंगी मैं उसका समर्थन करूंगा। उन्होंने कार्यकर्ताओं से एकजुट होकर चुनाव की तैयारियों में जुटने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि पार्टी कार्यकर्ताओं के लिए मैं हर समय उपलब्ध रहूंगा और उनका काम करूंगा। गौरतलब है कि लम्बे समय से खाजूवाला में रवि शेखर मेघवाल लोगों के सम्पर्क में भी है तथा वे कार्यकर्ताओं की टोह लेते रहे है। इस मौके पर ओमप्रकाश मेघवाल, दिलू खां कोहरी, राजेन्द्र चौहान, किसान मोर्चा के प्रदेश सदस्य ब्रिजेश पारीक, शिवनाथ, मगन शर्मा, रामदेव शर्मा, रवि सारस्वत, लक्ष्मीनारायण, मुकेश कुक्कड़, भगाराम नाई, गोविंद प्रजापत, नेमीचन्द उपाध्याय आदि मौजूद थे।

दोनों तरफ बिगड़े है समीकरण

खाजूवाला विधाननसभा क्षेत्र में दोनों ही पार्टियों के राजनीतिक समीकरण बिगड़े हुए हैं। कांग्रेस में जहां गोविन्द मेघवाल को नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी के खास महेंद्र गहलोत टक्कर दे रहे हैं। वहां डूडी की पसन्द का दावेदार आ सकता है, वहीं भाजपा में डॉ. विश्वनाथ मेघवाल को केंद्रीय राज्य मंत्री अर्जुनराम मेघवाल के पुत्र रवि मेघवार टक्कर देते नजर आ रहे हैं। हालांकि स्वयं संसदीय सीट पर अर्जुन मेघवाल के सामने डॉ. विश्वनाथ की पत्नी डॉ. विमला डुकवाल के टिकट मांगने की चर्चा हो रही है।

खाजूवाला को चाहिए नया चेहरा

राजनीति से जुड़े तथा स्थानीय लोगों की माने तो खाजूवाला को नए चेहरे की तलाश है। यह नया चेहरा दोनों ओर से हो सकता है। यानी भाजपा व कांग्रेस। पिछले दस वर्षों से विधायक रहे डॉ. विश्वनाथ मेघवाल से कई लोग असंतुष्ट है। वहीं पूर्व संसदीय सचिव गोविन्दराम मेघवाल और कांग्रेस देहात अध्यक्ष महेंद्र गहलोत की अनबन भी सामने आ चुकी है।

Read more...

जुआ खेलते धरे गए तीन जने

श्रीडूंगरगढ़। कस्बे की प्रताप बस्ती में जुआ खेलते रविवार को पुलिस ने तीन जनों को गिरफ्तार किया है। थानाधिकारी विष्णुदत्त विश्नोई ने बताया कि दोपहर को सूचना मिली कि प्रताप बस्ती में कुछ लोग जुआ खेल रहे है। जब मौके पर दबिश दी गई तो वहां राकेश, संजय व छोटू लुहार जुआ खेल रहे थे। पुलिस ने इन तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर इनके कब्जे से एक हजार रुपए नगद जब्त किए है।

Read more...

शहर की संस्कृति से अभिभूत हुए पर्यटक

डीएनआर रिपोर्टर . बीकानेर

नायाब आतिशबाजी, धधकते अंगारों पर अग्नि नृत्य और देश के विभिन्न अंचलों के कलाकारों की रंगारंग सांस्कृतिक प्रस्तुतियों के साथ रविवार को जिला प्रशासन, पर्यटन विभाग की ओर से आयोजित 25वां ऊंट उत्सव संपन्न हुआ। उत्सव के दूसरे दिन डॉ. करणी सिंह स्टेडियम में विभिन्न प्रतियोगिताएं हुईं, जिसमें देशी-विदेशी सैलानियों ने उत्साह से हिस्सा लिया। जिला कलक्टर अनिल गुप्ता, स्टेट बैंक के महाप्रबंधक विनीत कुमार, सहायक महाप्रबंधक पीएस यादव व अन्य अधिकारियों ने दोनों दिन हुई प्रतियोगिताओं के विजेताओं को पुरस्कृत किया तथा उत्सव में परोक्ष-अपरोक्ष रूप से सहयोग देने वालों का सम्मान स्मृति चिन्ह से किया। सम्मानित होने वालों में उद्घोषक रवीन्द्र हर्ष, संजय पुरोहित, ज्योति प्रकाश रंगा, किशोर सिंह राजपुरोहित, मिस मरवण 2015 डिम्पल कंवर खींची, ऊंट नर्तक भावल खां बलोच, नगेन्द्र सिंह शेखावत, कोच, खेमसा पुरोहित व सूचना एवं जनसम्पर्क कार्यालय के सहायक प्रशासनिक अधिकारी शिव कुमार सोनी आदि शामिल थे।
पलक पावड़े बिछाकर स्वागत
शहरी क्षेत्र की तंग गलियों में सैकड़ों देशी-विदेशी पावणों का शहरवासियों ने पलक-पावड़े बिछाकर स्वागत किया, तो यहां की अनूठी स्वागत परम्परा, साम्प्रदायिक सौहार्द और बहुरंगी संस्कृति देखकर विदेशी भी अभिभूत हो गए और उनके मुंह से अनायास ही निकल पड़ा- 'वाओ! इट्स गे्रटÓ। प्रात: 8 बजे से ही रामपुरिया हवेलियों के आसपास देशी-विदेशी पर्यटक एकत्रित होने लगे।


हवेलियों की सूक्ष्म नक्काशी देखकर वे खुद को रोक नहीं पाए और अपने कैमरों में इन दृश्यों को कैद करने की होड़ सी देखने को मिली। मशक वादक और बैगपाइपर बैंड के कलाकारों ने जब स्वर लहरियां बिखेरनी शुरू की तो देशी-विदेशी पर्यटकों ने जमकर ठुमके लगाए। केन्द्रीय जल संसाधन एवं संसदीय कार्य राज्यमंत्री अर्जुनराम मेघवाल, जिला कलक्टर अनिल गुप्ता, नगर विकास न्यास अध्यक्ष महावीर रांका, डॉ. सत्यप्रकाश आचार्य, एसबीआई के उपमहाप्रबंधक विनीत कुमार सहित अन्य अतिथियों ने जैसे ही हैरिटेज वॉक को रवाना किया, तो नगाड़ों और चंग की थाप पर थिरकते लोगों का कारवां आगे बढ़ा। पर्यटन विभाग, जिला प्रशासन, नगर निगम, नगर विकास न्यास और लोकायन संस्थान के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित हैरिटेज वॉक ने हीरालाल सौभागमल रामपुरिया की हवेली के अवलोकन के साथ अपनी यात्रा की शुरूआत की। मिनिएचर आर्टिस्ट लक्ष्मीनारायण स्वामी के चित्रों को आमजन ने सराहा।


हिंदुस्तानी बड़े गुमानी, हम लखनऊ के नवाब हैं...
होली के अवसर पर आचार्यों के चौक में खेली जाने वाली वीर रस प्रधान अमर सिंह राठौड़ की रम्मत के अंश का मंचन सब्जी बाजार में किया गया। कलाकारों की संवाद अदायगी, वेशभूषा तथा अभिनय को देखकर पर्यटकों ने यहां की रम्मत परम्परा की सराहना की। उस्ताद मेघराज आचार्य के नेतृत्व में दीनदयाल आचार्य, बद्रीदास जोशी, द्वारका प्रसाद आचार्य, विप्लव व्यास, कालेश पेंटर आदि ने विभिन्न भूमिकाएं निभाई। कालेश पेंटर ने हिंदुस्तानी बड़े गुमानी... के साथ कथानक की शुरूआत की तो सभी ने तालियां बजाकर स्वागत किया।

'नमस्कारÓ, 'पगे लागंू साÓ...
अंदरूनी शहर के बच्चों ने विदेशी मेहमानों को देखकर 'हैलो, हाउ आर यूÓ से अभिवादन किया तो विदेशी पर्यटकों ने 'नमस्कारÓ, 'पगेलागूं साÓ और 'खम्मा घणी साÓ कह जवाब दिया। सजे-संवेरे ऊंटों और ढोल की थाप के बीच मोहता चौक पहुंचे पर्यटकों ने यहां की पाटा संस्कृति के बारे में जानकारी ली तो भंवर भोपा ने रावणहत्थे की लय के साथ 'केसरिया बालमÓ गीत सुनाया।
मोहता चौक में सूरजरतन मोहता की हवेली देखने पहुंचे पर्यटकों
ने यहां की नक्काशी और सोने की कलम के कार्य को कैमरों में
कैद किया।

मंत्री भी पैदल वॉक, शहरी रंग में रंगे कलक्टर
हैरिटेज वॉक के दौरान जहां केन्द्रीय मंत्री मेघवाल ने पैदक चलकर हैरिटेज वॉक का लुत्फ उठाया, वहीं जिला कलक्टर अनिल गुप्ता ने यहां हवेलियों, स्थापत्य कला, जीवंत संस्कृति तथा परम्पराओं के बारे में उत्सुकता से जाना। वहीं उन्होंने रबड़ी, कचौरी और दूध-जलेबी का स्वाद भी चखा। वॉक के दौरान छोटे-छोटे बच्चे भी पारम्परिक राजस्थानी वेशभूषा में नजर आए तथा नगाड़ों की थाप पर अनेक स्थानों पर आमजन ने भी ठुमके लगाए। हैरिटेज वॉक में अतिरिक्त जिला कलक्टर शैलेन्द्र देवड़ा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पवन कुमार, अविनाश जोशी, विजय आचार्य, युधिष्ठिर सिंह भाटी, भंवर पुरोहित, बीकानेर सिटी ब्लॉग के मधुर व्यास, गिरिराज पुरोहित सहित बड़ी संख्या में देशी-विदेशी पर्यटक, रौबीले, विभिन्न स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधि और आमजन ने भागीदारी निभाई।


आस्था और विश्वास के साथ अग्नि नृत्य
महंत रघुनाथ के नेतृत्व में भगवान जसनाथ की स्तुति वंदना के रूप में प्रस्तुत अग्नि नृत्य के दौरान सिद्ध सम्प्रदाय के अनुयायियों ने अग्नि के साथ अठखेलियां कर देशी-विदेशी पर्यटकों को आश्चर्यचकित कर दिया। करीब 7 क्विंटल लकड़ी के अंगारों को मुंंह में रखकर व पैरों से फूलों की तरह आस्था व विश्वास के साथ उछाला। पूर्व में जसनाथजी महाराज का ध्वज स्थापित कर आरती की गई। कार्यक्रम में दौरान चौथे शब्द गाते ही नर्तक आग के अंगारों पर अठखेलियां करने शुरू हो गए।

नगाड़े पर मालासर के मानाराम, मंजीरा पर तपसी नाथ, जगदीश नाथ व श्रवण नाथ संगत करते हुए शबद गा रहे थे। वहीं मालासर के कुंभनाथ, मेघनाथ, भंवरनाथ, पूनरासर के विश्वनाथ आदि ने जलते ंअंगारों पर नृत्य किया।

विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन

रविवार को पुरुष व महिलाओं की रस्साकस्सी में भारतीय टीम विजयी रही। साफा बांधने की स्पर्धा में यूएसए के रियान, कनाड़ा के जायफर, स्वीजरलैंण्ड की फ्रांसिसका और ऑस्ट्रेलिया के लुईस क्रमश: प्रथम से चतुर्थ स्थान पर रहे। म्यूजिकल चेयर में सुनीता शर्मा ने पहला, मटका दौड़ में तरन्नुम, विजय लक्ष्मी व स्वीरलैंण्ड की फ्रांसिसका अव्वल रही।


कुश्ती में भोजेरा के रामकिशन, हमेरा के शिवकरण, बीकानेर के अमित, सबीन लाम्बा ने विभिन्न भार वर्ग में प्रथम स्थान प्राप्त किया। कबड्डी में बीकानेर की टीम प्रथम रही।


३० सैकण्ड में बांधा साफा
ऊंट उत्सव के दौरान शहर के जाने माने रौबिले गोपाल बिस्सा ने आंखों पर पट्टी बांधकर संभागीय आयुक्त को मात्र तीस सैकंड में साफा पहना दिया। जिला प्रशासन ने भी बिस्सा की इस कला की खूब सराहना की। रामपुरिया हवेलियों के पास कृष्ण चंद्र पुरोहित ने केन्द्रीय मंत्री मेघवाल एवं विदेशी पर्यटक की अंगुली पर राजस्थानी पगड़ी बांधकर वाहवाही लूटी। पुरोहित ने विभिन्न क्षेत्रों, समाजों, धर्मों तथा कार्यक्रम विशेष की पगडिय़ा तथा साफे प्रदर्शित किए। पवन व्यास, योग गुरू दीपक शर्मा, डॉ. अमित पुरोहित ने ऊंट उत्सव के दौरान पर्यटकों का अंगूठे पर साफे पहनाकर स्वागत कियस। चंद्रप्रकाश मथेरी ने मथेरण कला, रामकुमार ने मनोवत कला का प्रदर्शन किया गया। लोक कलाकार अनिल बोड़ा ने चंदों के माध्यम से सामाजिक कुरीतियों को दूर करने का संदेश दिया।

Read more...

सातवें वेतन आयोग को लेकर आंदोलन की घोषणा

प्रदेश में 22 से 24 जनवरी तक कर्मचारी रहेंगे सामूहिक अवकाश पर
बीकानेर। अखिल राजस्थान राज्य कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति द्वारा सातवें वेतन आयोग का नगद भुगतान 1 जनवरी 2016 से देने, वेतन कटौती वापिस लेने, अनुसूची-5 में मूल वेतन में की गई कटौती आदेश को निरस्त करने, केन्द्र व राज्य के पे-मैट्रिक्स के अन्तर के समाप्त करने, वेतन विसंगतियों का निस्तारण करने सहित अनेक मांगों के समर्थन में 22 से 24 जनवरी तक तीन दिवसीय सामूहिक अवकाश पर रहकर विरोध दर्ज कराया जाएगा। अवकाश कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए रविवार को महासंघ के जिला कार्यालय में जयकिशन पारीक की अध्यक्षता में तैयारी बैठक रखी गई। बैठक में अलग-अलग क्षेत्रों, कार्यालयों, विभागों, विद्यालयों एवं योजनाओं की जिम्मेदारी कर्मचारी नेताओं को सौंपी गई।
बीकानेर संघर्ष समिति सदस्य जयकिशन पारीक ने बताया कि लम्बे समय से कर्मचारी अपनी वाजिब मांगों को लेकर संघर्षरत हैं, लेकिन राज्य सरकार की संवेदनहीनता व संवादहीनता से कर्मचारियों में भारी आक्रोश है। संघर्ष समिति सदस्य पृथ्वीराज लेघा ने कहा कि राज्य सरकार पिछले चार वर्ष से लगातार कर्मचारी विरोधी निर्णय लेती जा रही है। राजकीय विद्यालयों व सभी विभागों में निजीकरण को बढावा देकर सरकार जन विरोधी निर्णय लेकर आमजन के हितों पर कुठाराघात कर रही है। बैठक को संजय पुरोहित, आनन्द पारीक, बनवारी शर्मा, प्रमोद शर्मा, मोहरसिंह सलावद, रेवन्तराम गोदारा, गुरूचरण सिंह मान, गुरप्रीत सिंह लबाना, मोहम्मद इलियास जोईया, जितेन्द्र गहलोत, शिवकरण सिंह, ताराचन्द जयपाल आदि कर्मचारी नेताओं ने भी सम्बोधित किया।
बैठक में विभिन्न शिक्षक संघों, वाहन चालक एवं तकनीकी कर्मचारी संघ, पशु चिकित्सा कर्मचारी संघ, कृषि पर्यवेक्षक संघ, पंचायत प्रसार-अधिकारी संघ, ग्राम सेवक संघ, पटवार संघ सहित अनेक एसोसिएशन शामिल हुए।

Read more...

अनुदानित पेड़-पौधों से लहलहाएगें खेत

बीकानेर। भूमिपुत्रों को अब अपने ही खेतों में पौधें लगाने तथा नर्सरी विकसित करने के लिए सरकार उनको अनुदान देगी। इसको लेकर सरकार ने वानिकी क्षेत्र में नई योजना शुरू की है। जिसके तहत भूमिपुत्रों को खेतों की मेढ़बंदी, खेतों के बीच में तथा सघन पौधारोपण के लिए अनुदान मिलेगा। यह अनुदान 50 प्रतिशत होगा। केन्द्र सरकार की मंशा है कि कृषि क्षेत्र में भूमिपुत्र समृद्ध बने तथा वर्ष 2022 तक उनकी आमदनी बढ़कर दो गुनी हो जाएं। इसी दिशा में सरकार ने वानिकी क्षेत्र में नई योजना शुरू की है। जिसके तहत किसान अपने खेतों में फलदार, छाया, ईमारती आदि प्रजातियों के पौधें लगा सकेंगे।
सहायक निदेशक कृषि विस्तार जयदीप डोगले ने बताया कि अनुदानित योजना के तहत किसान आवेदन कर सकते है। अनुदान मिलने के साथ पौधों को विकसित करने में विभाग हरसंभव सहयोग करेगा। उन्होंने बताया कि खेतों में अधिकाधिक पेड़-पौधें होंगे। उतनी ही जमीन की उर्वरकता क्षमता बढ़ेंगी। पेड़-पौधें उपजाऊ मिट्टी को बांधे रखेंगे। यही नहीं पौधों के वृक्ष बनने के साथ फसलों की सुरक्षा तथा भूमि पुत्रों की आमदनी वृद्धि में भी सहायक होंगे।
एक पौधे पर मिलेंगे 35 रुपए
सरकार की योजना के तहत भूमिपुत्र अपने खेतों में फलदार, छाया व इमारती लकड़ी आदि प्रजाति के पौधें लगा सकेंगे। अनुदान के तहत एक पौधे की कीमत 70 रुपए मानते हुए 50 प्रतिशत का अनुदान दिया जाएगा। यानी भूमिपुत्र को एक पौधा लगाने के लिए 35 रुपए का अनुदान सरकार की ओर से मिलेगा।
नर्सरी पर लाखों का नुकसान
वानिकी क्षेत्र में शुरू हुई इस योजना के तहत भूमिपुत्रों को अपने खेत में नर्सरी लगाने पर भी अनुदान मिलेगा। योजना के तहत तीन तरह की नर्सरी पर दस, बीस व चालीस लाख रुपए तक का प्रावधान है। नर्सरी में प्लांट स्थापना के लिए दस लाख रुपए तक, छोटी नर्सरी (दो बीघा जमीन) पर बीस लाख रुपए तक के अनुदान की योजना है। जबकि बड़ी नर्सरी (4 बीघा जमीन) जिसमें सभी प्रकार की सुविधाएं हो उसमें चालीस लाख तक का अनुदान मिल सकता है। बशर्ते यह नर्सेरी हाइटेक लैब व सुविधा वाली हो।
सरकार का लक्ष्य भूमिपुत्र
यूं तो केन्द्र सरकार लम्बे समय से कहती आ रही है कि वर्ष 2022 तक किसानों की आय दो गुनी करने की दिशा में काम किया जा रहा है। किंतु हाल ही में गुजरात व हिमाचल प्रदेश में सम्पन्न हुए विधानसभा चुनावों के नतीजों ने केन्द्र सरकार का अगला लक्ष्य सिर्फ ग्रामीण क्षेत्र है। जिसमें भी विशेषकर भूमिपुत्र। भूमिपुत्र की आमदनी को बढ़ाने, उसको आर्थिक रुप से सुदृढ़ बनाने की दिशा में केन्द्र व राज्य सरकार की ओर से कई और योजनाओं के शुरू होने की उम्मीद की जा रही है।

Read more...

फोटो प्रदर्शनी का समापन आज

बीकानेर। ऊंट उत्सव के अवसर पर जिला प्रशासन द्वारा सूचना एवं जनसंपर्क विभाग, बीकानेर सिटी ब्लॉग तथा एसबीआई के संयुक्त तत्वावधान में जूनागढ़ परिसर में आयोजित चार दिवसीय फोटो प्रदर्शनी का समापन सोमवार को दोपहर 3 बजे होगा। इस दौरान फोटोग्राफर्स तथा हैरिटेज वॉक में भागीदारी निभाने वाले कलाकारों का अभिनंदन किया जाएगा।

Read more...

नमस्कार...पगेलागणा...गुंजा शहर की गलियों में...पढ़ें पूरी खबर


हैरिटेज वॉक में शहर की सभ्यता-संस्कृति देख अभिभूत हुए पर्यटक
बीकानेर। शहरी क्षेत्र की तंग गलियों में सैकड़ों देशी-विदेशी पावणों का शहरवासियों ने पलक-पावड़े बिछाकर स्वागत किया, तो यहां की अनूठी स्वागत परम्परा, साम्प्रदायिक सौहार्द और बहुरंगी संस्कृति देखकर विदेशी भी अभिभूत हो गए और उनके मुंह से अनायास ही निकल पड़ा- 'वाओ! इट्स गे्रटÓ। ऐसा ही कुछ नजारा देखने को मिला रविवार को ऐतिहासिक रामपुरिया हवेलियों से शुरू हैरिटेज वॉक के दौरान। प्रात: 8 बजे से ही रामपुरिया हवेलियों के आसपास देशी-विदेशी पर्यटक एकत्रित होने लगे। हवेलियों की सूक्ष्म नक्काशी देखकर वे खुद को रोक नहीं पाए और अपने कैमरों में इन दृश्यों को कैद करने की होड़ सी देखने को मिली। मशक वादक और बैगपाइपर बैंड के कलाकारों ने जब स्वर लहरियां बिखेरनी शुरू की तो देशी-विदेशी पर्यटकों ने जमकर ठुमके लगाए।
केन्द्रीय जल संसाधन एवं संसदीय कार्य राज्यमंत्री अर्जुनराम मेघवाल, जिला कलक्टर अनिल गुप्ता, नगर विकास न्यास अध्यक्ष महावीर रांका, डॉ. सत्यप्रकाश आचार्य, एसबीआई के उपमहाप्रबंधक विनीत कुमार सहित अन्य अतिथियों ने जैसे ही हैरिटेज वॉक को रवाना किया, तो नगाड़ों और चंग की थाप पर थिरकते लोगों का कारवां आगे बढ़ा। पर्यटन विभाग, जिला प्रशासन, नगर निगम, नगर विकास न्यास और लोकायन संस्थान के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित हैरिटेज वॉक ने हीरालाल सौभागमल रामपुरिया की हवेली के अवलोकन के साथ अपनी यात्रा की शुरूआत की। मिनिएचर आर्टिस्ट लक्ष्मीनारायण स्वामी के चित्रों को आमजन ने सराहा।
अंगुली पर बांधी राजस्थानी पगड़ी
रामपुरिया हवेलियों के पास साफा विशेषज्ञ कृष्ण चंद्र पुरोहित ने केन्द्रीय मंत्री मेघवाल एवं विदेशी पर्यटक की अंगुली पर राजस्थानी पगड़ी बांधकर वाहवाही लूटी। पुरोहित ने विभिन्न क्षेत्रों, समाजों, धर्मों तथा कार्यक्रम विशेष की पगडिय़ा तथा साफे प्रदर्शित किए। चंद्रप्रकाश मथेरी ने मथेरण कला, रामकुमार ने मनोवत कला का प्रदर्शन किया गया। लोक कलाकार अनिल बोड़ा ने चंदों के माध्यम से सामाजिक कुरीतियों को दूर करने का संदेश दिया।
पुष्पवर्षा से हुआ भव्य स्वागत
जैसे-जैसे हैरिटेज वॉक आगे बढ़ी, शहरवासियों ने पुष्पवर्षा कर स्वागत किया। बीकानेर व्यापार उद्योग मंडल, मोहता चौक व्यापार मंडल तथा बीकाजी ग्रुप द्वारा घनश्याम लखाणी के नेतृत्व में एक दर्जन से अधिक स्थानों पर पुष्प बरसाए गए। अनेक स्थानों पर देशी-विदेशी पर्यटकों का पुष्पहार पहनाकर स्वागत किया गया। ऊंटों का काफिला देखकर शहरवासियों की उत्सुकता देखते बन रही थी, तो महिलाओं ने भी घरों की छतों से हैरिटेज वॉक को निहारा।
'नमस्कार', 'पगेलागंू सा'
अंदरूनी शहर के बच्चों ने विदेशी मेहमानों को देखकर 'हैलो, हाउ आर यू' से अभिवादन किया तो विदेशी पर्यटकों ने 'नमस्कार', 'पगेलागूं सा' और 'खम्मा घणी सा' कह जवाब दिया। सजे-संवेरे ऊंटों और ढोल की थाप के बीच मोहता चौक पहुंचे पर्यटकों ने यहां की पाटा संस्कृति के बारे में जानकारी ली तो भंवर भोपा ने रावणहत्थे की लय के साथ 'केसरिया बालम' गीत सुनाया। मोहता चौक में सूरजरतन मोहता की हवेली देखने पहुंचे पर्यटकों ने यहां की नक्काशी और सोने की कलम के कार्य को कैमरों में कैद किया।
रबड़ी, दूध-जलेबी, कचौरी और भुजिया का लिया स्वाद
हैरिटेज वॉक के दौरान पर्यटकों ने यहां के स्वाद की परम्परा का लुत्फ उठाया। मोहता चौक में बीकानेर की प्रसिद्ध रबड़ी का स्वाद चखा। वहीं सब्जी बाजार में कड़ाई का मलाईदार दूध और जलेबी, कचौरी और भुजिया खाकर यहां के स्वाद की सराहना की। नाइयों की गली में दुकान में रखे अचार, पापड़ और बड़ी को निहारा। देशी-विदेशी पर्यटकों ने यहां की पाककला की मुक्तकंठ से प्रशंसा की, तो एक दर्जन से अधिक स्थानों पर गुलकंद के पान का लुत्फ भी उठाया।
हिंदुस्तानी बड़े गुमानी, हम लखनऊ के नवाब हैं
होली के अवसर पर आचार्यों के चौक में खेली जाने वाली वीर रस प्रधान अमर सिंह राठौड़ की रम्मत के अंश का मंचन सब्जी बाजार में किया गया। कलाकारों की संवाद अदायगी, वेशभूषा तथा अभिनय को देखकर पर्यटकों ने यहां की रम्मत परम्परा की सराहना की। उस्ताद मेघराज आचार्य के नेतृत्व में दीनदयाल आचार्य, बद्रीदास जोशी, द्वारका प्रसाद आचार्य, विप्लव व्यास, कालेश पेंटर आदि ने विभिन्न भूमिकाएं निभाई। कालेश पेंटर ने हिंदुस्तानी बड़े गुमानी... के साथ कथानक की शुरूआत की तो सभी ने तालियां बजाकर स्वागत किया।
बीकाजी की टेकरी में हुआ समापन
ऐतिहासिक हैरिटेज वॉक, शहर के विविध क्षेत्रों से गुजरती हुई बीकानेर के संस्थापक राव बीकाजी की टेकरी के पास पहुंची, जहां इसका समापन हुआ। लगभग दो घंटे पैदल चलने के बावजूद पर्यटकों का उत्साह यहां तक बरकरार रहा। पर्यटकों ने यहां भी फोटोग्राफी का जमकर लुत्फ उठाया। लोकायन के गोपाल सिंह ने सभी आगंतुकों का आभार जताया।
मंत्री ने की पैदल वॉक, शहर के रंग में रंग गए जिला कलक्टर
हैरिटेज वॉक के दौरान जहां केन्द्रीय मंत्री मेघवाल ने पैदक चलकर हैरिटेज वॉक का लुत्फ उठाया, वहीं जिला कलक्टर अनिल गुप्ता ने यहां हवेलियों, स्थापत्य कला, जीवंत संस्कृति तथा परम्पराओं के बारे में उत्सुकता से जाना। वहीं उन्होंने रबड़ी, कचौरी और दूध-जलेबी का स्वाद भी चखा। वॉक के दौरान छोटे-छोटे बच्चे भी पारम्परिक राजस्थानी वेशभूषा में नजर आए तथा नगाड़ों की थाप पर अनेक स्थानों पर आमजन ने भी ठुमके लगाए।
हैरिटेज वॉक में अतिरिक्त जिला कलक्टर शैलेन्द्र देवड़ा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पवन कुमार, अविनाश जोशी, विजय आचार्य, युधिष्ठिर सिंह भाटी, भंवर पुरोहित, बीकानेर सिटी ब्लॉग के मधुर व्यास, गिरिराज पुरोहित सहित बड़ी संख्या में देशी-विदेशी पर्यटक, रौबीले, विभिन्न स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधि और आमजन ने भागीदारी निभाई।

Read more...

रामकथा बैनर का विमोचन

बीकानेर। मुरलीधर व्यास नगर के एफ ब्लॉक रामदेव मंदिर में १८ जनवरी से होने वाली रामकथा के बैनर का विमोचन रविवार को किया गया। आयोजन से जुड़े संजय रंगा ने बताया कि कथा का वाचन पं. भाईश्री द्वारा किया जाएगा। बैनर का विमोचन एसबीआई उदयरामसर के प्रबंधक किशोर कुमार पारीक, योगेश बिस्सा, हनुमान राव, मनीराम विश्नोई, उमेश व्यास, हरिमोहन पुरोहित, लक्ष्मण व्यास, गिरीश रंगा, लक्ष्मीकांत, अलकेश व्यास, हरिशंकर व्यास, महेश व्यास, धनराज टेलर ने किया।

Read more...

श्वेत श्याम फोटोग्राफी में दिखेगी राजस्थान की झलक

बीकानेर। महाराजा गंगासिंह ट्रस्ट की ओर से सार्दुल म्यूजियम की गैलरी नम्बर आठ में राजस्थान की संस्कृति, धरोहर एवं जीवन शैली से संबंधित श्वेत श्याम फोटोग्राफ्स प्रदर्शनी का शुभारंभ ट्रस्ट अध्यक्ष प्रिंसेज राजश्री कुमारी ने किया। इस प्रदर्शनी में जयपुर के फोटोग्राफर व संग्रहणकर्ता सुधीर कासलीवाल की ओर से राजस्थान की धरोहर, संस्कृति व ग्रामीण परिवेश, ऐतिहासिक तालाबों व बावडियों, चरखे पर धागा कातते हुए व चॉक पर बर्तन बनाने आदि की श्याम श्वेत फोटोग्राफ्स को शामिल किया गया है। ट्रस्ट समन्वयक दलीप सिंह ने बताया कि दर्शक राजस्थान की संस्कृति, धरोहर, जीवन शैली का चित्रण करने वाले फोटोग्राफ्स का अवलोकरन कर सकेंगे।

Read more...
Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News