Menu

बीकानेर समाचार

डूडी प्रकरण को लेकर विस की कार्यवाही एक घंटे के लिए स्थगित

जयपुर, राजस्थान विधानसभा में सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच प्रतिपक्ष के नेता रामेश्वर डूडी के वीडियो पर चले आ रहे गतिरोध के चलते सदन की कार्यवाही एक घंटे के लिए स्थगित कर दी गई।
सदन में शून्यकाल के दौरान शोरगुल के बीच अध्यक्ष कैलाश मेघवाल ने प्रतिपक्ष के नेता रामेश्वर डूडी द्वारा वीडियो पर स्पष्टीकरण के बाद उनके द्वारा लाए गए विशेषाधिकार प्रस्ताव को मंजूर कर लिया।
अध्यक्ष ने प्रस्ताव को जांच के लिए विशेषाधिकार समिति को भेज दिया। इस पर सत्ता पक्ष के सदस्यों ने सदन में मामले की जांच एफएसएल द्वारा किए जाने की मांग को लेकर शोरगुल किया।
अध्यक्ष ने बताया कि आसन किसी सदस्य द्वारा लाए गए विशेषाधिकार प्रस्ताव को जांच के लिए भेजने में सक्षम है।
संसदीय कार्यमंत्री राजेन्द्र राठौड़ ने अध्यक्ष से एफएसएल जांच के लिए आग्रह किया, जिसे अध्यक्ष ने स्वीकार नहीं किया। राठौड़ ने डूडी से कहा कि या तो प्रस्ताव वापस ले अन्यथा पछताना पड़ेगा।
डूडी ने अपने स्पष्टीकरण में संसदीय कार्यमंत्री राजेन्द्र राठौड़ और उप मुख्य सचेतक मदन राठौड़ पर सदन में उनके विरूद्व झूठा आरोप लगाने की बात कही। उन्होंने कहा कि उन पर आरोप बिना किसी नोटिस के लगाए गए है।
उन्होंने कहा यह सदन के सदस्य का विशेषाधिकार का हनन है। उसके बाद उन्होंने विशेषाधिकार प्रस्ताव पेश कर दिया जिसे अध्यक्ष ने स्वीकार कर लिया।
गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि मामला संदेनशील था। वीडियो झूठा है या इसमें छेड़छाड़ की गई है, इसकी जांच एफएसएल द्वारा की जा सकती है। इस पर विपक्ष के मुख्य सचेतक गोविन्द सिंह डोटासरा ने यह कहते हुए विरोध किया कि यह आसन के निर्णय का अनादर है।
उन्होंने कहा कि अध्यक्ष ने जब प्रस्ताव को विशेषाधिकार समिति द्वारा जांच किए जाने का निर्णय ले लिया है, तब गृहमंत्री द्वारा एफएसएल की जांच उचित नहीं है।
सत्ता पक्ष सदस्यों और विपक्षी सदस्यों के बीच तीखी नोंकझोंक के बीच सदन की कार्यवाही। बजकर 18 मिनट तक के लिए स्थगित कर दी गई।

Read more...

विधानसभा में डूडी ने किया बड़ा धमाका

प्रतिपक्ष नेता ने विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव पेश किया
जयपुर, राजस्थान विधानसभा में आज प्रतिपक्ष के नेता रामेश्वर डूडी ने संसदीय कार्यमंत्री राजेन्द्र राठौड और भाजपा उपमुख्य सचेतक मदन राठौड़ के विरूद्व आज सदन में विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव पेश किया। डूडी की ओर से पेश प्रस्ताव को विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल द्वारा स्वीकार करने के बाद विशेषाधिकार समिति को भेज दिया। मेघवाल ने इस मुद्दे पर मंत्री को नियमों को हवाला और आसन की आज्ञा का पालन करने की बात कहते हुए चर्चा करने का अवसर प्रदान नहीं किया। जब सदन में प्रतिपक्ष के नेता मंत्री और उपमुख्य सचेतक द्वारा उनके सट्टे में शामिल होने के आरोपो का जवाब के दौरान सदन में दोनो पक्षों की ओर से हंगामा हुआ। डूडी ने कहा कि इन लोगों ने आसन की अनुमति के बावजूद इस मुद्दे पर मुझे सदन में बोलने नहीं दिया, यह विशेषाधिकार हनन है।
उन्होंने कहा कि वह यह प्रस्ताव दस विधायकों के समर्थन से लेकर आए है। प्रस्ताव स्वीकार होने के बाद सदन की विशेषाधिकार समिति को भेज दिया गया। विधानसभा अध्यक्ष ने संसदीय कार्यमंत्री राजेन्द्र राठौड़ को इस मुद्दे पर और चर्चा करने की अनुमति नहीं दी।
सदन में हंगामा के बीच संसदीय कार्यमंत्री राजेन्द्र राठौड़ और उपमुख्य सचेतक मदन राठौड़ ने कहा कि वे :वीडियो: सदन में पेश करना चाहते है, जिसकी जांच होनी चाहिए।
गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया ने भी कहा कि वीडियो की एफएसएल द्वारा जांच होनी चाहिए ताकि यह पता लग सके कि इसके साथ कोई छेड़छाड़ हुई है क्या।
संसदीय कार्यमंत्री राजेन्द्र राठौड ने वीडियों की एफएसएल जांच की तेज आवाज में लगातार मांग की। अध्यक्ष ने इसे गंभीरता से लेते हुए कहा कि मंत्री इस तरह प्रतिपक्ष के नेता को धमका नहीं सकते।
हंगामे के बीच अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही एक घंटे के लिए स्थगित कर दी।
गौरतलब है कि गत सप्ताह शुक्रवार को मंत्री राठौड और उपमुख्य सचेतक ने डूडी पर एक वीडियो का हवाला देते हुए सट्टे में शामिल होने का आरोप लगाया था।

Read more...

बीकानेर आईजी व एडिशनल एसपी सहित कई कर्मियों के खिलाफ प्रसंज्ञान

दूषित अनुसंधान कर परिवादी वगैरह को नुकसान कारित करते हुए मुल्जिमान को लाभ पहुंचाने के मामले में प्रस्तुत परिवाद पर एसीजेएम नम्बर 2 की न्यायाधीश अनामिका सहारण ने आईजी विपिन कुमार पाण्डे, एएसपी भंवरलाल सिसौदिया, सीओ ओमप्रकाश, सीओ प्रतापसिंह डूडी सहित पुलिसकर्मियों के विरूद्ध सदर पुलिस को जांच के आदेश दिए हैं। परिवादी देवीलाल ने अधिवक्ता गोवर्धन सिंह पडि़हार के मार्फत न्यायालय में इस्तगासा पेश कर बताया कि परिवादी के साथी सोहनलाल ने जेएनवीसी पुलिस थाने में एफआईआर नम्बर 67/16 अपराध धारा 376, 354, 458, 323, 427, 511, 143 भादसं में दर्ज करवाई गई। प्रकरण में रवीन्द्र गुप्ता वगैरह ने परिवादी के साथी सोहनलाल, उसकी पत्नी व उसके बच्चों के साथ मकान में घुसकर मारपीट की तथा पत्नी के साथ बलात्कार करने का प्रयास किया। आरोप है कि प्रकरण में अभियुक्त की सही जांच नहीं की तथा पुलिस ने परिवादी वगैरह पर दबाव बनाने के लिए दो झूठे मुकदमें 68/16 व 72/16 दर्ज कर लिए तथा इनमें चालान पेश करने की तैयारी कर ली। जबकि अभियुक्तगण पुलिसकर्मियों ने परिवादी के साथी सोहनलाल के मुकदमे में एफआर लगा दी। इस प्रकार अभियुक्तगण पुलिसकर्मियों 

ने दूषित अनुसंधान करते हुए मुकदमा संख्या 67/16 में
एफआर लगा दी। न्यायालय ने प्रकरण के सभी तथ्यों को देखते
हुए उक्त परिवाद पुलिस थाना सदर को जांच के लिए भिजवाने के आदेश दिए।

Read more...

रेलवे ने 28 मामलों में 8105 रुपए वसूले

बीकानेर। सहायक वाणिज्य प्रबंधक प्रथम आईएम कुरैशी व डीसीटीआई मोतीलाल मीणा ने टिकट चैकिंग स्टाफ व रेलवे सुरक्षा बल के जवानों की सहायता से तीन रेलगाडिय़ों का औचक निरीक्षण किया तथा बिना टिकट के २८ मामलों में ८१०५ रुपए वसूले। अधिकारी सड़क मार्ग से गाढ़वाला, नापासर व सूड़सर पहुंचे और औचक टिकट जांच की।

Read more...

झुलसे व्यक्ति ने दम तोड़ा

बीकानेर। पीबीएम अस्पताल में भर्ती झुलसे व्यक्ति ने दम तोड़ दिया। सूरतगढ़ निवासी शिवशंकर ओझा सोमवार को आग लगने से झुलस गया था। उसे पहले सूरतगढ़ अस्पताल में भर्ती किया गया था। स्थिति गंभीर होने पर उसे पीबीएम अस्पताल रैफर किया गया। जहां पर मंगलवार शाम निधन हो गया। शव का पोस्टमार्टम बुधवार को होगा।

Read more...

बकरी पालकों को सस्ता चारा व दवाइयां उपलब्ध कराने की मांग

बसपा ने किया प्रदर्शन
बीकानेर। बहुजन समाज पार्टी बीकानेर पश्चिम के प्रभारी नारायण हरि लेघा के नेतृत्व में महिलाओं व पार्टी कार्यकर्ताओं ने बकरियों के साथ जिला कलक्टर को ज्ञापन प्रेषित किया। लेघा ने कहा कि बकरी गरीब की गाय है। उन्होंने सस्ते चारागृह बकरियों के लिए खोलने जाने एवं बकरी पालन वाले मोहल्लों में माह में एक मेडिकल चैकअप कैम्प लगाए जाने की मांग की। बसपा के महानगर अध्यक्ष अताउल्ला खान ने बकरी के दूध में औषधिय गुण बताए तथा भेड़ फार्म को भी इस मुहिम में शामिल कर नई तकनीक तथा दूध वृद्धि के लिए मोहल्लों में सेमिनार लगवाने की मांग की।
इस अवसर पर सुरेंद्र बाल्मिकी, स्वर्ण भार्गव, नानूराम नायक, कालूराम कुम्हार, महफूज अली, अहमद अली, मोहम्मद इसाक, गुलसन बानो, नेक परवीन, दिलकश बानो, नजमा बेगम, सुलतान बानो, रमजानी, बिलकिस बानो आदि शामिल थे।

Read more...

राजस्थानी को मान्यता के समर्थन में कलाधर्मियों ने रखा उपवास

बीकानेर। विश्वभाषा दिवस पर आयोजित दो दिवसीय उपवास संकल्प कार्यक्रम के तहत मंगलवार को भारतीय भाषाओं की समृद्धि एवं राजस्थानी को मान्यता देने के समर्थन में एक दिवस का उपवास रखा गया। कवि कथाकार कमल रंगा ने बताया कि प्रज्ञालय एवं राजस्थानी युवा लेखक संघ की ओर से राजस्थानी को मान्यता के लिए ४० वर्षों से चलाए जा रहे अहिंसात्मक आंदोलन के समर्थन में देशभर में अनेक स्थानों पर हुए उपवास के साथ बीकानेर में लक्ष्मीनारायण रंगा, कासिम बीकानेरी, कमल रंगा, शिवशंकर भादाणी, मुखत्यार अली, माजिद खान गौरी, हरिनारायण आचार्य, शहबाज खान, पुखराज सोलंकी सहित अनेक जनों ने केंद्र सरकार से इस दिशा में शीघ्र निर्णय की आशा व्यक्त की। संस्था की ओर से बुधवार को प्रात: १०:१५ बजे नालन्दा पब्लिक स्कूल में सकल्प लिया जाएगा।

Read more...

बीकानेर बंद की चेतावनी के बाद झुका प्रशासन

आतिशबाजी की और गुलाल उड़ाई

पत्र की प्रति सौंपने के बाद 35 दिन का धरना समाप्त

बीकानेर। गौवंश के संरक्षण व आवारा पशुओं की समस्या के समाधान के लिए एक माह से धरने पर बैठे कांग्रेस नेता गोपाल गहलोत की 21 फरवरी से अनिश्चितकाल के लिए बीकानेर बंद की चेतावनी के बाद आखिर प्रशासन ने घुटने टेक दिए हैं। इस चेतावनी को देखते हुए प्रशासन हरकत में आया और कलक्टर के आदेश के बाद नगर निगम के आयुक्त ने गो शाला के लिए जमीन आवंटित करने का पत्र जारी कर दिया। इस पत्र के गोपाल गहलोत के पास पहुंचने के साथ ही धरना स्थल पर आतिशबाजी शुरू हो गई और एक-दूसरे के गुलाल लगाकर होली मनाई। गहलोत ने मंगलवार को भी प्रशासन को अल्टीमेटम दे दिया था कि यदि उनकी मांगें नहीं मानी गई तो बुधवार से पूरे शहर में अनिश्चितकालीन बंद रखा जाएगा।

इस पत्र में प्रशासन की ओर से निगम को गौशाला के लिए जमीन आवंटन करने की बात कही गई। इस संबंध में नगर निगम आयुक्त निकया गुहेयान ने कलक्टर से वार्ता की ओर से पत्र मिलते ही नगर निगम आयुक्त निकया गुहेयान पत्र की प्रति लेकर धरना स्थल पर पहुंचे और गोपाल गहलोत से वार्ता की। वार्ता के बाद गहलोत ने 35 दिनों से चल रहा धरना समाप्त करने की घोषणा की।

सुजानदेसर में 280 बीघा जमीन आवंटित
जिन चार मांगों को लेकर गोपाल गहलोत धरने पर बैठे थे। प्रशासन ने उन सभी चारों मांगों को मान लिया है। पहली मांग में गो शाला के लिए प्रशासन ने नगर निगम को सुजानदेसर में 280 बीघा जमीन का आवंटन करने का वादा किया। इस जमीन पर एक गौशाला का निर्माण किया जाएगा जहां शहर के आवारा गौवंश का संरक्षण और संवद्र्धन किया जाएगा। इसके बाद
पॉलीथिन के निस्तारण पर प्रशासन ने गंभीरता दिखाते हुए 15 दिन के भीतर पॉलीथिन की समस्या से निजात दिलाने की बात कही है। जिला कलक्टर ने दिया आश्वासन दिया है कि अधिकारियों की एक टीम बनाकर पूरे शहर में अवैध रूप से प्रयोग में ली जा रही पॉलीथिन की थैलियों की जब्ती और इसकी खरीद पर रोक लगाकर प्रभावी कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा
शहर में संचालित होने वाली निजी डेयरियों के लिए अलग से गोपालक नगर बनाने की मांग भी मान ली गई है। प्रशासन की ओर से यह आश्वासन दिया गया है कि इस संबंध में यूआईटी सर्वे करने के बाद गोपालकों को रियायती दर पर प्लॉट देगी, जहां वे अपने डेयरी उद्योग को सुचारू रूप से संचालित कर सकेंगे।
चौथी मांग मानते हुए पत्र में गौशाला के लिए शीघ्र ही अनुदान की मांग पर भी हां भरते हुए प्रशासन की ओर से कहा गया है कि इस बार के बजट में भी इस अनुदान का उल्लेख है इसलिए शीघ्र ही सभी गौशालाओं को अनुदान दिया जाएगा।

कलक्टर से मिलने गया प्रतिनिधिमंडल
इससे पूर्व कलक्टर के बुलावे पर धरना स्थल से एक प्रतिनिधिमंडल कलक्टर से वार्ता करने के लिए पहुंचा। इसमें गोपाल गहलोत के अलावा पूर्व मंत्री डॉ. बी.डी. कल्ला, कांग्रेस शहर अध्यक्ष यशपाल गहलोत, नगर निगम में नेता प्रतिपक्ष जावेद पडि़हार, जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष अब्दुल मजीद खोखर, माशूक अहमद, महासचिव आनंद जोशी सहित कांग्रेसी पदाधिकारी शामिल थे। प्रतिनिधिमंडल को कलक्टर ने सभी मांगें मान लिए जाने की जानकारी दी और धरना समाप्त करने की बात कही।
आभार जताया
इस अवसर पर गोपाल गहलोत ने सभी का आभार जताते हुए इसे शहरवासियों की जीत बताया। उन्होंने कहा कि शहरवासियों के सहयोग व मीडिया द्वारा इस मुद्दे को प्रखरता से उठाए जाने के कारण ही प्रशासन को झुकना पड़ा है।

Read more...

करंट लगने से जोशी की मौत

बीकानेर। जिले के गजनेर थानान्तर्गत भोलासर गांव में एक युवक की करंट की चपेट में आने से मौत हो गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार भोलासर गांव के 25 वर्षीय शिवकुमार पुत्र पोकरमल जोशी के खेत में बिजली के खंभे का तार अलसुबह टूट कर गिर गया।
जिसकी जानकारी शिवकुमार को नहीं थी। इस दौरान वह अपने खेत गया तो टूटे पड़े तार पर उसका पांव पड़ गया। जिससे वह झुलस गया। उसे झुलसी हालत में पीबीएम अस्पताल में भर्ती करवाया गया। जिसकी ईलाज के दौरान ही मौत हो गई। पीबीएम चौकी ने गजनेर थाने को इसकी इतला दी है। शव को मोर्चरी में रखवाया गया है।
Read more...
Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News