Menu

बीकानेर समाचार

वसुंधरा की गौरव यात्रा को लेकर निकलेगा गौरव संदेश रथ

डीएनआर रिपोर्टर. बीकानेर

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के 6 सितंबर को गौरव यात्रा को लेकर भाजपा ने जहां अपनी तैयारियां तेज कर दी है वहीं भाजपा नेताओं ने भी अपने स्तर पर मुख्यमंत्री की यात्रा को लेकर माहौल बनाना शुरू कर दिया है। भाजयुमो के युवा संसद कार्यक्रम के राष्ट्रीय सह प्रभारी सुरेन्द्र सिंह शेखावत ने मंगलवार को पत्रकार वार्ता कर बताया कि मुख्यमंत्री की गौरव यात्रा के बीकानेर आगमन को आमजन ंमें ज्यादा से ज्यादा प्रचारित करने के उद्द्ेश्य से गौरव संदेश रथ २९ अगस्त से बीकानेर शहर में सभी वार्डों ेमें भ्रमण करेगा। शेखावत ने बताया कि २९ अगस्त को पार्टी के वरिष्ठ नेता इसको हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे। शेखावत ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के नेतृत्व में देश प्रदेश में आमजन के कल्याण के लिए बहुत काम हुए हैं और बहुत सी योजनाएं चल रही है। इस दौरान भाजपा से राजपूतों की नाराजगी को लेकर उन्होंने कहा कि राजपूतों को भाजपा में काफी प्रतिनिधित्व मिला है और देश के कई राज्यों में राजपूत मुख्यमंत्री है वहीं प्रदेश और केंद्र की सरकार में भी कई राजपूत मंत्री है ऐसे में पार्टी से राजपूतों की नाराजगी का बनाया जा रहा माहौल पूरी तरह से गलत है और ये जानबूझकर झूठ फैलाया जा रहा है। पत्रकार वार्ता में युवा मोर्चा अध्यक्ष विक्रम सिंह भाटी, एडवोकेट अशोक भाटी, डूंगरसिंह तेहनदेसर भी मौजूद रहे।
बीकानेर पूर्व से दावेदारी
इस दौरान शेखावत ने बीकानेर पूर्व विधानसभा सीट से भी खुद की दावेदारी को लेकर किए सवाल पर कहा कि पार्टी में काम करने वाले कार्यकर्ता को टिकट मांगने और अपनी इच्छा जताने का अधिकार है। टिकट देना या ना देना ये शीर्ष नेतृत्व का काम है।

Read more...

छात्रसंघ चुनाव 31 को, नुक्कड़ सभाओं का दौर जारी

प्रत्याशियों व समर्थकों ने दी घर-घर दस्तक

डीएनआर रिपोर्टर. बीकानेर

छात्रसंघ चुनाव प्रक्रिया के तहत नामांकन वापसी के बाद प्रत्याशियों ने समर्थकों के साथ डोर-टू-डोर सम्पर्क शुरू कर दिया है। गांव-गांव और शहर के वार्डों में नुक्कड़ सभाओं के माध्यम से प्रत्याशी छात्र मतदाताओं को रिझाने में जुटे हुए हैं। प्रत्याशियों के साथ परिवार की महिलाएं भी छात्राओं के घरों तक पहुंचकर मतदान की अपील कर रही है। उधर छात्रसंघ चुनाव को लेकर राजनीतिक दलों के पदाधिकारी भी छात्र संगठनों के पदाधिकारियों के साथ जनसम्पर्क में देखे जा रहे हैं। विधानसभा चुनाव नजदीक होने के कारण छात्र संगठनों को नाराज करने से बचने के िलिए राजनीतिक दलों की ओर से मीटिंगें आयोजित कर प्रत्याशियों को जीताने के लिए रणनीति बनाई जा रही है।

निर्विरोध निर्वाचन के बाद निकाली रैली

जैन कन्या महाविद्यालय में छात्रसंघ पदाधिकारियों के निर्विरोध निर्वाचन के बाद विजेताओं ने समर्थकों के साथ जुलूस निकालकर जश्न मनाया। छात्राएं डीजे के साथ नाचते हुए कॉलेज से केईएन रोड सहित मुख्य बाजारों से निकली व जीत का जश्र बनाया। उनके साथ परिवार के सदस्य भी जश्न में शामिल हुए। यहां एबीवीपी का पैनल विजयी हुआ। महानगर मंत्री मांगीलाल गोदारा ने बताया कि राजकीय नर्सिंग महाविद्यालय व संस्कृत महाविद्यालय में भी एबीवीपी के प्रत्याशी विजयी हुए हैं। गोदारा ने बताया कि जैन पीजी कॉलेज में अध्यक्ष पद के प्रत्याशी राहुल मित्तल को एबीवीपी का प्रत्याशी घोषित किया गया है।

त्रिकोणीय मुकाबला
राजकीय विधि महाविद्यालय में अध्यक्ष पद के लिए महेन्द्र कुमार (एसएफआई), सांवरलाल कूकणा, सुन्दरलाल (एबीवीपी), उपाध्यक्ष के लिए देवकिशन प्रजापत (एबीवीपी) व शिवराम मेघवाल(एसएफआई) महासचिव के लिए मनीष जयपाल (एसएफआई), मनोज शर्मा, सुषमा (एबीवीपी) मैदान में है।

महारानी व जैन कॉलेज में सीधा मुकाबला

राजकीय महारानी सुदर्शन कन्या महाविद्यालय, जैन पी जी कॉलेज में सीधा मुकाबला होगा, वहीं महाराजा गंगासिंह विवि, राजकीय विद्यि कॉलेज और बजसि रामपुरिया कॉलेज में त्रिकोणीय मुकाबले के आसार बनते नजर आ रहे हैं। एनएसपी कॉलेज में भले ही प्रत्याशी अधिक हो लेकिन यहां सीधा मुकाबला ही दिख रहा है। राजकीय डूंगर महाविद्यालय में तो छह प्रत्याशी अपने-सामने हैं। त्रिकोणिय मुकाबला होगा।

एमजीएसयू में चुनावी गतिविधियां तेज

महाराजा गंगासिंह विश्वविद्यालय में अध्यक्ष पद के लिए सरजीतसिंह, प्रवीण कुमार, सीमा राजपुरोहित, उपाध्यक्ष के लिए राकेश शर्मा, नाहिदा कुरैशी, शिल्पा कुल्हरी, देवेन्द्रसिंह, महासचिव पद के लिए विष्णु सियाग, नेहा राजपुरोहित, मोहित सोलंकी व संयुक्त सचिव पद के लिए इंद्रसिंह सांखला, करणीदान पुरोहित मैदान में है। राजकीय डूंगर महाविद्यालय में अध्यक्ष पद के लिए रामनिवास (एनएसयूआई), बाबूलाल सींवर (एबीवीपी), अनिल बारूपाल (एसएफआई), पूनमचंद घिंटाला, विजयपाल सारण, निकिता बाना, उपाध्यक्ष पद के लिए अशोक कुमार खोड़ (एनएसयूआई), राजेन्द्रसिंह (एबीवीपी), सोनम कुमारी (एसएफआई), भंवरलाल जाट, दिलीपकुमार, महासचिव के लिए हिमांशु गुप्ता (एबीवीपी), महावीर (एनएसयूआई), मुकेश पूनियां, बाबूलाल जाट, संयुक्त सचिव के लिए राजुराम गोदारा (एनएसयूआई), दिनेशकुमार विश्नोई (एसएफआई), सुरेश कुमार, रामस्वरूप (एबीवीपी) के प्रत्याशी है। एमएस कॉलेज में अध्यक्ष पद के लिए धनेश्वरी तंवर (एनएसयूआई), सरिता तर्ड (एबीवीपी), उपाध्यक्ष के लिए खुशी पारीक (एबीवीपी), सुनीता (एनएसयूआई), महासचिव पद के लिए डिंपल कंवर (एबीवीपी), नीलम तंवर मैदान में है।

Read more...

बीकानेर - नाल पुलिस की बड़ी कार्यवाही, एक करोड़ की शराब जब्त

roopam 01new

बीकानेर। पुलिस ने आज सुबह एक करोड़ रुपए मूल्य की अंग्रेजी शराब पकड़ी जिसे तस्करी कर पंजाब से गुजरात ले जाया जा रहा था। पुलिस ने तीन शराब तस्करों को भी पकड़ा है। नाल पुलिस थानाधिकारी धर्म पूनिया ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने नाकाबंदी कर पंजाब से गुजरात जा रहे टैंकरों को जांच के लिए रोका। जांच में इन दोनों टैंकरों में अंग्रेजी शराब की पेटियां पाई गईं। प्रारंभिक पूछताछ के बाद दोनों टैंकरों तथा तीन लोगों को पकड़ा गया। इन दोनों टैंकरों में भरी शराब की बाजार में कीमत करीब एक करोड़ रुपए आंकी गई है। उन्होंने बताया कि टैंकर के साथ साहब राम निवासी तंदूर वाली (टिब्बी), सहीराम निवासी बड़ी लोहावट तथा बाड़ू राम भाट निवासी तंदूर वाली को पकड़ा गया है। यह लोग टैंकर से शराब तस्करी कर पंजाब से गुजरात ले जा रहे थे।

Read more...

नौ उच्च माध्यमिक स्कूलों में अब नहीं होगी विज्ञान की पढ़ाई!

websol

डीएनआर रिपोर्टर. बीकानेर

शिक्षा सत्र 2018-19 शुरू होने के करीब चार माह बाद प्रदेश के 9 राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालयों से विज्ञान संकाय हटा कर कला संकाय शुरू करने के आदेश जारी किए हैं। इन स्कूलों में विगत कई सत्रों से प्रयासों के बावजूद इक्का-दुक्का नामांकन ही था, जिसे अन्य स्कूलों में समायोजित करने के आदेश दिए गए हैं। माध्यमिक शिक्षा निदेशक नथमल डिडेल ने मंगलवार को इस आशय के आदेश जारी किए हैं। हालांकि इसमें बीकानेर जिले का एक भी विद्यालय नहीं है।
राज्य सरकार की ओर से प्रत्येक ग्राम पंचायत मुख्यालय पर राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय खोलने की 2015-16 में घोषणा की गई थी। आनन-फानन में अनेक स्कूलों में विज्ञान संकाय शुरू कर दिए गए। हालांकि उसके बाद हर वर्ष विज्ञान संकाय वाले स्कूलों में नामांकन नहीं होने की बात सामने आने पर कला संकाय में परिवर्तन किया गया है। लेकिन सोलह स्कूल अब भी शिक्षा निदेशक की नजरों से बची हुई थी। राज्य स्तरीय समीक्षा बैठक में इन स्कूलों में विज्ञान संकाय की दयनीय स्थिति सामने आने पर संकाय परिवर्तन का निर्णय किया गया था। इसी के चलते निदेशक ने इन स्कूलों में चालू शिक्षा सत्र से ही विज्ञान की बजाए कला संकाय शुरू करने के आदेश दिए हैं।

नामांकित का होगा समायोजन
विद्यालय में शिक्षा सत्र 2018-19 में कक्षा 11 में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थी यदि कला संकाय परिवर्तन चाहते हैं, तो उन्हें उसी विद्यालय में प्रवेश मिल जाएगा, नहीं तो संबंधित संस्था प्रधान को अन्य विद्यालय में इच्छित संकाय में प्रवेश सुनिश्चित कराना होगा। आदेश में स्पष्ट किया गया है कि संकाय परिवर्तन अथवा अन्य स्कूल में प्रवेश का निर्णय विद्यार्थी लेगा, जिसमें जबरदस्ती नहीं होनी चाहिए। यदि एक भी विद्यार्थी ने अन्य स्कूल में प्रवेश लेने तथा संकाय छोडऩे से इनकार कर दिया, तो इस सत्र में संकाय परिवर्तन नहीं हो पाएगा।

इन स्कूलों में बदले संकाय
निदेशक ने प्रतापगढ़ के नकोर स्थित राजकीय च्च माध्यमिक विद्यालय, चित्तौडगढ़़ के बड़ी सादड़ी स्थित राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय, उदयपुर के सेमड़ स्थित श्री अम्बालाल देवीचंद तलेसरा राउमावि, सीकर के कुली स्थित राउमावि, अलवर के जागूवास के राउमावि, झालावाड़ के बनी स्थित राउमावि, भरतपुर के बयाना स्थित राउमावि, अलवर के सैययद के राउमावि व श्रीगंगानगर के 7 केएनडी-ए स्थित राउमावि में शिक्षा सत्र 2018-19 में विज्ञान की जगह कला संकाय शुरू होगा।

आठ स्कूल उमावि स्तर पर क्रमोन्नत

माध्यमिक शिक्षा निदेशक ने प्रदेश के आठ राजकीय माध्यमिक विद्यालयों को उच्च माध्यमिक स्तर पर क्रमोन्नत करने के आदेश दिए हैं। साथ ही क्रमोन्नत स्कूलों में कक्षा 11 व 12 का एक साथ संचालन करने की छूट भी दी है। निदेशक ने चूरू के सरदारशहर के आसपालसर, रूपलीसर, झुंझुनूं पिलानी के वार्ड नम्बर2, चिड़ावा सिटी के अडूकिया चिड़ावा, बेरी व उदयपुर के बडग़ांव स्थित माध्यमिक विद्यालय को उच्च माध्यमिक स्तर पर क्रमोन्नत किया है। इसके साथ ही प्रदेश के करीब एक दर्जन राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालयों में कला व विज्ञान संकाय में अतिक्ति विषय की स्वीकृति भी प्रदान की है।

pillars of inspiration

Read more...

स्वास्थ्य मिसाल में बीकानेर 31 से पहुंचा 13 वें स्थान पर

डीएनआर रिपोर्टर. बीकानेर

स्वास्थ्य सूचकांकों के संकलित ऑनलाइन मूल्यांकन यानिकी जिलों की मिसाल रैंकिंग में बीकानेर जिले ने लगातार 2 माह में छलांग लगाते हुए 31 वीं रैंक से 13 वीं रैंक हासिल कर ली है। मंगलवार को आयोजित विडियो काफ्रेस में अतिरिक्त मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य वीनू गुप्ता व स्वास्थ्य सचिव एवं मिशन निदेशक नवीन जैन ने बीकानेर की मिसाल देते हुए सीएमएचओ व डीपीएम को बधाई दी। क्यों कि लगातार 2 माह में जिले ने बड़े सुधारात्मक कदम उठाए गए जो स्पष्ट रूप से रैंकिंग में परिलक्षित हुए। सीएमएचओ डॉ. बीएल मीणा ने बताया कि मई 2018 से शुरू हुए मिसाल मूल्यांकन में जिला 31 वें स्थान पर था जो जून माह के लिए 22 वें और अब जुलाई माह के कार्य मूल्यांकन में 13 वें स्थान पर आ गया है जो कि स्वास्थ्य सेवाओं में हो रहे गुणात्मक सुधार को दर्शाता है। स्वास्थ्य रैंकिंग में सीकर जिले ने प्रथम स्थान प्राप्त किया है। रैंकिंग में झुंझुनूं जिला दूसरे एवं चित्तौैडग़ढ़ जिले ने तीसरी रैंक हांसिल की है।
गुप्ता ने बताया कि मिसाल डिस्ट्रिक्ट हैल्थ रैंकिंग सिस्टम के माध्यम से मातृ, नवजात, शिशु स्वास्थ्य सूचकांक, पूर्ण टीकाकरण कवरेज, मरीजों की संतुष्टि, संस्थागत प्रसवों का प्रतिशत, प्रसव पूर्व जांच का कवरेज, परिवार कल्याण कार्यक्रम, टीबी सहित विभिन्न मापदण्डों पर जिले का स्कोर कार्ड तैयार किया गया है। उन्होंने बताया कि इस बार जुलाई की रैंकिंग तीसरे अवसर पर जारी की गयी है एवं इस प्रतियोगिता के चलते ही स्वास्थ्य सेवाओं के प्रति टीम भावना जागृत हुई है।
सचिव एवं मिशन निदेशक नवीन जैन ने बताया कि इस बार से प्राप्त प्रगति प्रतिवेदनों की ऑडिट भी शुरू कर दी गई है जिसके तहत लाभार्थियों को फोन करके सेवाओं के बारे में फीडबेक भी लिया जा रहा है उन्होंने बताया कि कोई भी जिला सर्वोत्तम स्थान पाने के लिए राजकीय चिकित्सा संस्थानों पर दवाओंए जांच की उपलब्धता, चिकित्सक की उपस्थिति, अधिकारियों द्वारा की जाने वाली आनलाईन मॉनीटरिंग, यथासमय रिपोर्टिंग आदि मापदण्डों में सुधार कर अपनी दक्षता प्रदर्षित कर मिसाल स्थापित कर सकता है। वीडियो कॉफ्रेंस में माथुर के अलावा निदेशक एड्स एसएस चौहान, अतिरिक्त निदेशक जन स्वास्थ्य डॉ. रवि माथुर आदि मौजूद रहे।

Read more...

अब मरीजों को दवा के लिए नहीं जाना पड़ेगा दुकानों पर

roopam 01new

डीएनआर रिपोर्टर. बीकानेर

पीबीएम अस्पताल में अगर किसी मरीज को मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना के केन्द्रों पर दवा नहीं मिलती है तो उन्हें बाजार की दुकानों से ऊंची दर पर दवा नहीं खरीदनी पड़ेगी। ऐसे मरीजों को सस्ती दर पर दवा अस्पताल में ही मिल जाएगी। इसके लिए अस्पताल प्रशासन ने कवायद भी शुरू कर दी है। अगर कोई तकनीकी दिक्कत सामने नहीं आई तो आगामी माह के पहले सप्ताह में दवा मिलनी शुरू हो जाएगी। जानकारी के अनुसार भारत सरकार ने महंगी दवाइयों को देखते हुए मरीजों को राहत देने के लिए जैनरिक दवाइयां सस्ती दर पर उपलब्ध कराने का फैसला किया है। इसी को ध्यान में रखते हुए सरकार ने प्रधानमंत्री जन औषधि केन्द्र खोलने का निर्णय किया है। इस सबंध में सरकार ने ढाई लाख रुपए मेडिकल कॉलेज प्रशासन को भेज भी दिए हैं। इस राशि से दुकान का काउंटर, रंगरोगन, फर्नीचर तथा अन्य संसाधन जुटाने को कहा गया है। ये सभी तैयारियां होने के बाद सरकार दवाइयों की व्यवस्था करेगी। संभवत: सितंबर के पहले सप्ताह में जैनरिक दवाइयां आनी प्रारंभ हो जाएगी।

मरीजों को मिलेगी बड़ी राहत
अगर सबकुछ ठीकठाक रहा तो अस्पताल के जनाना विभाग के सामने जैनरिक दवाइयों की दुकान खोली जाएगी। इसके लिए कवायद भी शुरू कर दी गई है। इस समय मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना के तहत मरीजों को पूरी दवाइयां नहीं पाती है। ऐसे में मरीजों को निजी दुकानों से ऊंची दर पर दवाइयां खरीदनी पड़ रही है। जबकि प्रधानमंत्री जनऔष्धि केन्द्र में सस्ती दर पर जैनरिक दवाइयां उपलब्ध होगी।

संसाधनों के लिए मिली राशि

'यह सही है कि अस्पताल परिसर में ही जैनरिक दवाइयों की व्यवस्था की जाएगी। इसके लिए स्थान भी चिन्हित कर लिया गया है और ढाई लाख रुपए भी मिल गए है। इस राशि से संसाधन जुटाए जाएंगे। इसके बाद सरकार को दवाइयों की सूची भेजकर दवाइयां उपलब्ध कराई जाएगी।Ó
-डॉ. आरपी अग्रवाल,
प्राचार्य मेडिकल कॉलेज

pillars of inspiration

Read more...

कस्सी कवाड़ा बेच बाबा धमोळी धमकाई..., बड़ी तीज आज

डीएनआर रिपोर्टर. बीकानेर

अखंड सुहाग व मंगलमय जीवन की कामना को लेकर मनाया जाने वाली बड़ी तीज का पर्व बुधवार को मनाया जाएगा। इे लेकर विवाहिताओं ने तैयारियां भी शुरू कर दी है। व्रत के दौरान महिलाएं अपने पति व परिवार के लिए मंगलकामना और कन्याएं सुयोग्य वर की कामना को लेकर तीज माता की पूजा करेगी और कथा सुनेगी। व्रतालु विवाहिताएं और बालिकाएं तीज दिन सुबह स्नान करके सबसे पहले झुला झुलेगी। इसके बाद पानी का सेवन करेगी। तीज को लेकर मंगलवार को बाजार में दिन भर महिलाओं ने आछरी देने के लिए खाद्य पदार्थ और अन्य वस्तुओं की खरीदारी की। साथ ही बहन-बेटियों के ससुराल में सत्तु, खाद्य पदार्थ और अन्य मिठाइयां भेजी गई। इससे पहले मंगलवार को विभिन्न प्रकार के पकवान खाकर धमोळी मनाई। इस अवसर पर बहन-बेटियों के मिठाई, नमकीन व अन्य भोज्य सामग्री भेजी गई। धमोळी के लिए मिठाई व नमकीन फल, खट्टे की दुकानों पर भारी भीड़ जुटी। दाऊजी रोड, बीके स्कू ल,जस्सूसर गेट,चाय पट्टी, नत्थूसर गेट, बड़ा बाजार स्टेशन रोड, सट्टा बाजार सहित अनेक क्षेत्रों में नमकीन की अस्थाई दुकानें भी लगी। बहन बेटियों को 'आछरीÓ देने वाली महिलाओं ने सुहावन श्रृंगार की वस्तुएं भी खरीदी। इसके अलावा मेहंदी लगाने वाली दुकानों पर भी विवाहिताओं की भीड़ उमड़ी रही।

Read more...

गोचर भूमि बचाने के लिए लगाया धरना

डीएनआर रिपोर्टर. बीकानेर

शरह नत्थानियान गोचर भूमि को बचाने के लिये गौ भक्तों ने मंगलवार को धरना लगाकर जिला प्रशासन को गुहार लगाई। गौभक्त जुलूस के रूप में रवाना होकर कलेक्टर कार्यालय पहुंचेगे तथा एक दिवसीय धरना लगाऐंगे।
अध्यक्ष बृज नारायण किराडू ने बताया कि शरह नत्थानियान गोचर भूमि विक्रम संवत् 1733 में राजा कर्ण सिंह व सेठ नथमल नत्थाणी ने 27205 बीघा 18 बिस्वा भूमि केवल गौ माता के चरने के लिए छोड़ी थी। आजादी के बाद लगातार इस भूमि पर रा'य सरकार द्वारा महाराजा गंगासिंह विश्वविद्यालय, ट्रीटमेन्ट प्लांट, मुरलीधर कॉलोनी, पुलिस फ ायरिंग रेंज, पीडब्ल्यूडी. लेबोरेट्री आदि हेतू आवंटन पर आवंटन किये जा रहे है,जिससे इस गोचर का दायरा सिमट सा गया है। यहीं नहीं प्रभावशाली लोंगों ने भी गौचर पर कब्जे करने शुरू कर दिये है। किराडू ने कहा कि विभाग द्वारा पैमाईश करने वाले अधिकारियों के नक्शे गोचर भूमि के मूल नक्शों से मेल नहीं खाते है। गौभक्तों ने गुहार लगाई है कि जिला प्रशासन उचित पैमाईश करवाकर गोचर भूमि के मूल स्वरूप को कायम रखे। अगर समय रहते इस पर कार्यवाही नहीं की गई तो गोचर भूमि का क्षेत्रफल ही समाप्त हो जायेगा। अपने संबोधन में सूरज प्रकाश राव ने कहा कि पूर्व में भी पैमाईश के आदेश होने के बावजूद प्रशासन द्वारा पैमाइश नहीं की गई थी, इस कारण से अतिक्रमियों के हौसले बुलंद हो गये है। जिला प्रशासन तथा सरकार से मांग है उक्त गोचर भूमि की पैमाइश करवाकर अतिक्रमणकारियों को पूर्णरूप से हटाया जावें। पूर्व पार्षद गंगाजल कूकणा ने कहा कि जब तक चारागाह भूमियां नहीं बचेगी तो गौ माता कैसे बचेगी। धरने पर संवित सोमगिरी जी महाराज,मन्नू सेवग, अजीत सिंह सिसोदिया, हंसराज भादू, रामेश्वर गोदारा, मघादास साध, रामपाल कडवासरा, विजय कोचर,पवन रामावत सरपंच मूण्डसर, जयनारायण मूड, प्रेम, मोहनराम कूकणा, सदीक खां आदि गौ भक्त बैठे। इससे पूर्व गौभक्तों ने एम एम ग्राउण्ड से जिला कलेक्ट्रेट तक पैदल मार्च भी किया।

Read more...

पुष्करणा समाज की प्रतिभाएं होगी सम्मानित

डीएनआर रिपोर्टर. बीकानेर

पुष्करणा समाज की प्रतिभाओं का एक सितम्बर को शाम साढ़े पांच बजे पुष्करणा भवन में सम्मानित किया जाएगा। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि माइंस कारोबारी एवं समाजसेवी राजेश चूरा होंगे। अध्यक्षता अखिल भारतीय पुष्टिकर सेवा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष रूपकिशोर व्यास करेंगे। वहीं माध्यमिक शिक्षा निदेशालय के पूर्व डिप्टी डायरेक्टर विजय शंकर आचार्य, चिकित्सा विभाग के उप निदेशक डॉ. राहुल हर्ष आदि विशिष्ट अतिथि होंगे। परिषद के अध्यक्ष व्यास ने बताया कि परिषद के अध्यक्षीय कार्यालय मे पुष्करणा प्रतिभा सम्मान समारोह की तैयारी की समीक्षा की मीटिंग राष्ट्रीय अध्यक्ष रुपकिशोर व्यास की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। दसवीं और बारहवीं में 75 प्रतिशत से अधिक व स्नातक और स्नातकोत्तर में 60 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वाले विद्यार्थी को सम्मानित होंगे। सी एस, नीट, पीईटी, पीएचडी, पीवीटी, एम्स, सीए आदि में चयनितों का भी सम्मान होगा। बीकानेर से बाहर से आने वाले व्यक्तियों के लिए अंकतालिका एवं प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने के लिये स्थान निश्चित किये है। बैठक में संयोजक मोहनलाल किराडू, रामनाथ आचार्य, महामंत्री वी के किराडू, सचिव गिरिराज बिस्सा, कोषाध्यक्ष त्रिलोक बिस्सा आदि मौजूद थे।
ये जमा होगा आवेदन
व्यास ने बताया कि मेधावी प्रतिभाएं अपना आवेदन 30 अगस्त तक जमा करवा सकते है।

Read more...

बीएसएनएल के डब्लूएलएल-वायरलेस फोन 5 से होंगे बंद

डीएनआर रिपोर्टर. बीकानेर

जिले में बीएसएनएल के बिना वायर के लैंडलाइन (डब्लूएलएल-वायरलेस) बंद होने जा रहे हैं। राजस्थान परिमंडल प्रबंधन ने अपनी इस सेवा को 5 सितंबर से राजस्थान में बंद करने का फैसला लिया है। प्रदेश में बीएसएनएल की इस सेवा का 10 हजार से अधिक प्रीपेड-पोस्टपेड उपभोक्ता जुड़े हुए थे। लेकिन अब इस सेवा को 5 सितंबर के बाद बंद कर दिया जाएगा।बीएसएनएल ने अपने उपभोक्ताओं को पत्र माध्यम से सूचनाएं भेज दी हैं। बी एसएनएल प्रबंधन का तर्क है कि इस सेवा का खर्च अधिक और आमदनी कम है। वहीं मोबाइल अब हर जगह उपलब्ध है तो ऐसे में इस सेवा की आवश्यकता नहीं रही। बीएसएन एल के मुख्य महाप्रबंधक राजस्थान परिमंडल ओपी गुप्ता के मुताबिक यह निर्णय उच्च स्तर पर होने के बाद ही लिया गया है। ये उपभोक्ता हाथ से नहीं निकल जाएं, इसके लिए उन्हें मुफ्त में 3जी मोबाइल सेवा से जोड़ा जाएगा। इन उपभोक्ताओं को बनाए रखने के लिए प्रबंधन ने डब्लूएलएल नंबरों को एमएनपी कराने की सुविधा दी है. एमएनपी की 3जी सिम इन उपभोक्त ाओं को मुफ्त में उपलब्ध कराई जाएगी।

Read more...
Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News