Menu

top banner

बीकानेर समाचार

देशनोक में स्प्रे से एक जने की मौत

देशनोक। देशनोक समीपवर्ती गांव पलाना खेत में स्प्रे करते समय पीबीएम मैं एक जने की मृत्यु हो गई। हैड कांस्टेबल ओम प्रकाश ने बताया कि पलाना के एक कृषि पर स्प्रे करते समय विक्रम सिंह राजपूत आयु 25 वर्ष बेहोश हो गया। जिसे बेहोशी की हालत में बीकानेर पीबीएम ले जाया गया जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया मृतक के चाचा की ओर से पुलिस मैं मर्ग दर्ज कराई गई है

Read more...

देशनोक - शादी 29 को, दूल्हा एक सप्ताह से गायब

देशनोक। जिस घर में लड़के की शादी चंद रोज बाद हो और दूल्हा गायब हो जाए तो उसके परिवार वालों की स्थिति क्या होगी यह कहने की जरुरत नहीं है। कुछ ऐसा ही मामला देशनोक पुलिस के सामने आया है। जहां युवक की शादी 29 अप्रैल को होनी प्रस्तावित है। लेकिन पिछले एक सप्ताह से वह नदारद है। दूल्हे की मां सीता उपाध्याय ने देशनोक थाने में रिपोर्ट दी है। रिपोर्ट के मुताबिक उसके बड़े बेटा विष्णुदत्त 10 अप्रैल को बिना बताए घर से गायब है। जो कि आज तक वापस घर नहीं पहुंचा है। 12 अप्रैल को उसके छोटे बेटे मालचंद के पास विष्णु का फोन आया और कहा कि वह खाटू श्यामजी मन्दिर के दर्शन कर दिल्ली जा रहा है। उसके बाद न तो दिल्ली पहुंच और न ही उससे सम्पर्क हो पाया है। आसपास के स्थानों, रिश्तेदारों सभी जगह पर उसकी तलाश कर ली गई। किंतु उसका कोई सुराग नहीं मिला। पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर उसकी तलाश शुरु कर दी है।

Read more...

बीकानेर स्थापना दिवस पर हुई पूजा-अर्चना

बीकानेर। बीकानेर नगर स्थापना दिवस के अवसर पर देवस्थान विभाग की ओर से देशनोक स्थित करणी माता मंदिर में विशेष पूजा-अर्चना की गई। विभाग की निरीक्षक श्वेता चौधरी ने बताया कि इस दौरान करणी मंदिर निजी प्रन्यास के संस्करणदान, गिरिराज तथा नरेन्द्र मिश्रा महाराज मौजूद थे। उन्होंने बताया कि दो दिवसीय कार्यक्रमों की श्रृंखला में बुधवार को प्रात: 7:30 बजे लक्ष्मीनाथ मंदिर परिसर में पूजा की जाएगी।

Read more...

पूर्व संध्या पर सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित

बीकानेर। बीकानेर नगर के 531वें स्थापना दिवस की पूर्व संध्या पर सोमवार को जिला प्रशासन, नगर विकास न्यास तथा श्री लक्ष्मीनाथ मंदिर विकास एवं पर्यावरण समिति की ओर से लक्ष्मीनाथ मंदिर परिसर में भव्य सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित हुआ। इस दौरान राजस्थान संगीत नाटक अकादमी की ओर से बाड़मेर के विश्वप्रसिद्ध बुंदू खां लंगा एंड पार्टी ने गोरबंद, हिचकी, निंबूडा और लवार जिवड़ा जैसे पारम्परिक लोकगीतों से समां बांध दिया। गंगादेवी एंड पार्टी की पूजा कामड़, पूनम, कमला, अनिता, वर्षा और मीनाक्षी आदि ने घूमर, कालबेलिया, चरी नृत्य और कालबेलिया नृत्य की प्रभावी प्रस्तुतियां दीं। गोपालराम डफ पार्टी के कलाकारों ने मोर बोल रे, मानै कोनी जसोदा थारौ गिरधर गोपाल गीतों की प्रस्तुति दी तो कार्यक्रम स्थल तालियों से गूंज उठा। बीकानेर की कौशल्या रामावत ने रंग-रंगीला राजस्थान तथा राजनारायण पुरोहित ने संजय पुरोहित के लिखे गीत सैर बीकाणौ म्हारौ देख की प्रस्तुति दी। इस मौके पर श्री लक्ष्मीनाथ मन्दिर विकास एवं पर्यावरण समिति के अध्यक्ष पूनमचन्द पालीवाल व सीताराम कच्छावा ने सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया। इस मौके पर डॉ. सत्यप्रकाश आचार्य, न्यास अध्यक्ष महावीर रांका, सचिव आरके जायसवाल, मोहन सुराणा, एसबीआई के उप महाप्रबंधक विनीत कुमार, सहायक महाप्रबंधक पीएस यादव, डीआरएम एके दुबे, जेठानन्द व्यास, भंवर पुरोहित, चन्द्रशेखर कच्छावा आदि मौजूद रहे।

Read more...

बीकानेर नगर स्थापना दिवस पर कार्यक्रम आयोजित, प्रतिभाओं को सम्मान

जिला प्रशासन एवं राव बीकाजी संस्थान के संयुक्त तत्वावधान् में हुआ आयोजन
बीकानेर। बीकानेर नगर के 531वें स्थापना दिवस के अवसर पर मंगलवार को जिला प्रशासन तथा राव बीकाजी संस्थान की ओर से राव बीकाजी प्रतिमा स्थल पर मुख्य कार्यक्रम हुआ। इस दौरान विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य करने वाली 19 प्रतिभाओं को अवार्ड तथा 45 नवोदित प्रतिभाओं का सम्मान किया गया। मुख्य अतिथि बीकानेर पश्चिम विधायक डॉ. गोपाल कृष्ण जोशी ने बीकानेर स्थापना से जुड़े ऐतिहासिक प्रसंगों की जानकारी दी तथा कहा कि राव बीका द्वारा बसाया गया बीकानेर शहर आपसी प्रेम एवं सौहार्द की मिसाल है। उन्होंने महाराजा गंगासिंह और शार्दुलसिंह के योगदान को भी अविस्मरणीय बताया। राव बीकाजी प्रतिमा स्थल पर स्थाई मंच बनाने की संस्थान की मांग पर उन्होंने कहा कि इसका तकमीना बनाकर प्रस्तुत किया जाए। इसके लिए हरसंभव मदद की जाएगी। महापौर नारायण चौपड़ा ने कहा कि बीकानेर के अनेक लोगों ने कला, संस्कृति, संगीत, विज्ञान, खेल तथा शिक्षा के क्षेत्र में सफलता के परचम लहराए हैं। जिनके दम पर नगर ने 531 वर्षों में विकास के नए आयाम छूए हैं। जिला कलक्टर अनिल गुप्ता ने कहा कि समारोह के दौरान सम्मानित होने वाली प्रतिभाओं ने देश.विदेश में बीकानेर का गौरव बढ़ाया है। डॉ. सत्यप्रकाश आचार्य, ब्रिगेडियर जगमाल सिंह ने भी विचार रखे। इससे पहले अतिथियों ने राव बीकाजी की प्रतिमा के समक्ष पूजा-अर्चना तथा उनकी तस्वीर के सम्मुख पुष्पांजलि कर कार्यक्रम की शुरूआत की। साहित्यकार कमल रंगा ने प्रतिमा स्थल को रैलिंग लगाकार सुरक्षित करने, यहां स्थानीय मंच तथा भू-तल कक्ष बनाने की मांग की। उन्होंने कहा कि बीकानेरियत को बचाए रखना हम सबकी जिम्मेदारी है। आनंद वी. आचाय, संस्थान अध्यक्ष डॉ. गिरिजा शंकर शमार्, महामंत्री विद्यासागर आचार्य, संजय पुरोहित मौजूद रहे। इस अवसर महाराजा रायसिंह ट्रस्ट के बैंड में स्वर लहरियां बिखेरीं।
इस दौरान अनूठे एवं दुर्लभ सिक्कों की प्रदर्शनी लगाने वाले भारत भूषण गुप्ता, प्रदर्शनी संयोजक अजीज भुट्टा सहित विभिन्न कार्यक्रमों के प्रभारियों का सम्मान किया गया।

अनुराग हर्ष हुए सम्मानित

कार्यक्रम में वरिष्ठ साहित्यकार भवानी शंकर व्यास, सहीराम दुसाद, गोकुल जोशी, इरशाद अजीज, रामलाल सोलंकी, आत्माराम भाटी, नरेन्द्र सिंह स्याणी, डॉ. चंचला पाठक, एलएन सोनी, कमल कल्ला, वाईके शर्मा आदि मौजूद थे।
मुख्य समारोह के दौरान डॉ. मीरा श्रीवास्तव और डॉ. शीला व्यास को श्री करणी माता अवार्ड, रामकुमार बिस्सा और डॉ मोहम्मद हुसैन को राव बीकाजी अवार्ड, अजय सिंह राठौड़ को रावत कांधल जी अवार्ड, शिवजी सुथार को राव बीकाजी अवार्ड, डॉ.आशीष जोशी को पीर गोविंद दास अवार्ड, उषा गोस्वामी तथा गिरधारी दान रतनू को पंडित विद्याधर शास्त्री अवार्ड, स्याणी नारायण सिंह पडि़हार को श्री गई भोम रा बाहड़, राजकुमार भीमराज अवार्ड, मोनिका गौड़ को सूरजमाल सिंह चिलकोई राजस्थानी प्रोत्साहन अवार्ड, दामोदर तंवर को देश दीवान राव दूलेसिंह बीदावत अवार्ड, एडवोकेट एसएल हर्ष को अमर कीर्ति अवार्ड, सुशीला देवी तथा नरेगा चुग को को राव बेलोजी पडि़हार अवार्ड, डॉ. आभाशंकर को अजीज आजाद स्मृति अवार्ड तथा दैनिक नेशनल राजस्थान के सम्पादक अनुराग हर्ष, सीताराम कच्छावा और अल्ताफ को बीकाणा अवार्ड से नवाजा गया। इस दौरान खेल, शिक्षा, कला सहित विभिन्न क्षेत्रों की उदीयमान प्रतिभाओं को भी पुरस्कृत किया गया।

sagarmal

Read more...

नगर उत्सव के आनन्द में डूबा शहर

डीएनआर रिपोर्टर. बीकानेर

राव बीकाजी संस्थान, श्री लक्ष्मीनाथ मंदिर विकास एवं पर्यावरण समिति और जिला प्रशासन, नगर विकास न्यास, नगर निगम, देवस्थान विभाग, महाराजा रायसिंहजी ट्रस्ट के संयुक्त तत्वावधान में नगर स्थापना दिवस के कार्यक्रमों की श्रृंखला में अक्षय द्वितीया को मुख्य समारोह का आयोजन होगा। संस्थान के प्रवक्ता संजय पुराहित ने बताया कि मंगलवार को सुबह सात बजे देवस्थान विभाग के समन्वय से देशनोक स्थित श्री करणीमाता मंदिर में विशेष पूजा अर्चना एवं आरती की जाएगी। नगर स्थापना के कार्यक्रमों के तहत प्रात: 7 बजे राव बीकाजी की प्रतिमा स्थल पर प्रतिमा पूजन होगा एवं इसके उपरान्त विभिन्न क्षेत्रों में नगर का गौरव बढ़ाने वाले 19 व्यक्तित्वों को सम्मानित किया जाएगा।संस्थान के महामंत्री विद्यासागर आचार्य ने बताया कि इस वर्ष के मुख्य समारोह के मुख्य अतिथि बीकानेर पश्चिम विधायक डॉ. गोपाल कृष्ण जोशी होंगे तथा अध्यक्षता जिला कलक्टर अनिल गुप्ता करेंगे। समारोह में यूआईटी चेयरमैन महावीर रांका तथा भाजपा जिलाध्यक्ष डॉ. सत्यप्रकाश आचार्य विशिष्ट अतिथि होगे। संस्थान के अध्यक्ष डॉ. गिरिजा श्ंाकर शर्मा ने बताया कि इस वर्ष विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत अनेक व्यक्तित्वों को सम्मानित किया जाएगा। नगर स्थापना दिवस के कार्यक्रमों का समापन बुधवार को होगा। बुधवार अक्षय तृतीया को प्रात: सात बजे श्री लक्ष्मीनाथ मंदिर एवं श्री गणेश मंदिर में विशेष पूजा अर्चना एवं प्रसाद वितरण का कार्यक्रम होगा।


बोई काट्या हैÓ के गूंजेंगे स्वर

नगर स्थापना दिवस पर मंगलवार को शहर में जमकर पतंगबाजी होगी। हर घर की छत पर मौजूद पतंगबाजों की टोलिया अलसुबह से देर शाम तक पतंगबाजी में मशगूल रहेगी। प्रतिद्वंदी की पतंग के कटने के दौरान 'बोई काट्या है फेर उड़ा...Ó के स्वरों से शहर गूंजता रहेगा। वहीं पतंगबाजी के दौरान घरों की छतों पर माईक, डीजे पर गीतों की मधुर स्वर लहरिया गूंजती रहेगी। बच्चे व युवा पूरे जोश एवं उत्साह के साथ नाचते-गाते हुए पतंगबाजी करेंगे एवं धूमधाम से नगर का स्थापना दिवस मनाएंगे।

चलेंगे खान-पान के दौर

आखाबीज और आखातीज के दिन होने वाली पंतगबाजी को लेकर जहां एक और पतंगबाजों ने पतंगबाजी को लेकर सभी तैयारियां पूर्ण कर ली है वहीं दूसरी और कटी पतंगों को लूटने वाले बच्चे व युवा भी तैयार हो गए है। घरों की छतों सहित गली-मोहल्लों में कटी पतंगों को लूटने वाले भी तैयार हो गए है। पतंगबाजी के दौरान खान -पान को लेकर भी तैयारिया पूरी कर ली गई है। पतंगबाजी के साथ साथ शीतल जल, कोल्ड ड्रिंक, छाछ, लस्सी, नींबू शिकंजी, शर्बत, दूध-दही लस्सी, आईसक्रीम, आमरस, बिल इत्यादि बनाने को लेकर गुरुवार को सभी तैयारियां की गई। वहीं मिठाईयों के साथ नमकीन, फास्ट फूड के भी दौर चलेंगे।

चंदा उड़ाने की परम्परा

नगर स्थापना दिवस पर शहर में दो दिनों तक पारम्परिक रुप से चंदा उड़ाने की परम्परा का निर्वहन किया जाएगा। घरों की छतों पर बड़े एवं गोलाकार आकार के इन चंदों को डोरी के माध्यम से उड़ाया जाएगा। इस दौरान चंदा उड़ाने वाले शहरवासियों की ओर से नगर के चहुमुंखी विकास, सभी के लिए सुख-समृद्धि एवं खुशहाली की कामनाएं की जाएगी। राजकीय एमएम स्कूल खेल मैदान में खेलों को बढ़ावा देने के संदेश के रूप में द्रोणाचार्य तीरंदाजी संस्थान के संरक्षक गणेश व्यास के ेनेतृत्व में चंदा उड़ाया गया। इस अवसर पर अनिल चांगरा, लोकेश व्यास, जेपी, पवन सहित अनेक तीरंदाज मौजूद थे, जिन्होंने खेलों को बढ़ावा देने का संदेश दिया।

res


चंदों पर नगर स्थापना के दोहों सहित बेटी बचाओ-बेटी बचाओ, कैशलेस सहित विभिन्न समस्याओं से संबंधित कविताएं लिखी हुई हंै।

के माध्यम से समस्याएं रखी जाएगी। आमजन को देश और समाज के प्रति जागरुक करने वाले दोहो को भी चंदा पर लिखकर उनको आकाश में उड़ाए जाएंगे।

घर-घर में बनेगा खीचड़ा-इमलाणी

नगर स्थापना दिवस पर रियासतकालीन परम्परा के क्रम में घरों में गेंहू, मंूग, बाजरे का खीचड़ा बनाया जाएगा। वहीं इमलाणी का ज्यूस, मूंग या मोठ बडी की सब्जी प्रमुख रुप से भोजन के रुप में बनाई जाएगी। इसके लिए गुरुवार को घरों में खीचड़े को खोट पीटकर तैयार किया गया। महिलाए खीचड़ा तैयार करने में व्यस्त रही। वहीं बाजारों में तैयार खीचड़ा बिक्री के लिए उपलब्ध रहा। अक्षय तृतीया को भी घरों में खीचड़ा, इमलाणी का उपयोग भोजन के रुप में किया जाएगा।

sagarmal

Read more...

राजस्थान पुलिस दिवस पर कार्यक्रम, हुआ सम्मान

बीकानेर। राजस्थान पुलिस दिवस पर सोमवार को पुलिस लाईन परेड मैदान में परेड का आयोजन व सेवा चिन्ह वितरण समारोह आयोजित किया गया। इस अवसर पर उल्लेखनीय सेवाओं के लिए पुलिस कार्मिकों को सर्वोत्तम, अति उत्तम व उत्तम सेवा चिन्ह प्रदान किए गए।
समारोह को संबोधित करते हुए पुलिस महानिरीक्षक बीकानेर रेंज बिपिन कुमार पांडेय ने कहा कि 16 अप्रैल का दिन राजस्थान पुलिस दिवस मनाने के लिए निर्धारित किया गया। उन्होंने कहा कि राजस्थान पुलिस का गौरवशाली इतिहास रहा है। पुलिसकर्मी ईमानदारी, तत्परता, निडरता व मुस्तैदी के साथ कत्र्तव्य निर्वहन करें। उन्होंने कहा कि आमजन के सहयोग से ही पुलिस अपना कार्य सफलता से कर सकती है। पुलिस अधीक्षक सवाई सिंह गोदारा ने समारोह की महत्ता बताते हुए आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर बीकानेर, चूरू, हनुमानगढ़ व श्रीगंगानगर के 62 पुलिस कार्मिकों को 25 वर्ष की सराहनीय सेवाओं के लिए सर्वोत्तम सेवा चिन्ह प्रदान किए गए। जिले के 12 कार्मिकों को 18 वर्ष की सराहनीय सेवा के लिए अति उत्तम सेवा चिन्ह व 72 कार्मिकों को 10 वर्ष की उल्लेखनीय सेवाओं के लिए उत्तम सेवा चिन्ह प्रदान किए गए। 8 पुलिस कार्मिकों को विशेष कार्य करने पर सम्मानित किया गया। इसके साथ ही पार्षद आदर्श शर्मा, हरिराम, हेमंत व अलताफ हुसैन को पुलिस को सराहनीय योगदान देने तथा पुलिस कर्मियों के 4 मेघावी बच्चों क्रिष्टी भारद्वाज, संजू चारण, कशिश चौधरी व हिमांशु चौधरी को परीक्षाओं में सराहनीय प्रदर्शन करने पर प्रशस्ति पत्र देकर पुरस्कृत किया गया।

इससे पूर्व पांडेय ने परेड की सलामी ली। परेड का नेतृृत्व उपअधीक्षक जयदेव ने किया। पुलिस बैंड ने इस दौरान देशभक्ति गीत प्रस्तुत किए। इस अवसर पर रक्तदान शिविर का भी आयोजन किया गया। समारोह में महापौर नारायण चौपड़ा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (शहर) पवन कुमार, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) डॉ. लालचन्द कायल, सीओ सदर राजेन्द्र सिंह सहित पुलिस अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।
आरएसी में पुलिस दिवस पर कार्यक्रम आयोजित
बीकानेर। तीसरी बटालियन आरएसी में सोमवार को पुलिस दिवस परेड का आयोजन किया गया। परेड का निरीक्षण कमाण्डेन्ट, तीसरी बटालियन आरएसी बने सिंह ने किया। कमाण्डेन्ट सिंह ने पुलिस कर्मियों को पूर्ण निष्ठा से दायित्व निर्वहन करने का आह््वान किया।
इस अवसर पर पुलिस कर्मियों को उनके सराहनीय कत्र्तव्य निर्वहन के लिए ३7 उत्तम सेवा चिन्ह, 24 अति उत्तम सेवा चिन्ह एवं प्रशस्ति पत्र से नवाजा गया। प्लाटून कमाण्डर, तीसरी बटालियन आरएसी विजयपाल को राज्य स्तरीय पुलिस दिवस समारोह में महानिदेशक पुलिस, राजस्थान की ओर से डीजी डिस्क व प्रशंसा पत्र दिया गया। बटालियन में स्थित राजकीय अस्पताल में 2३ पुलिस कर्मियों ने स्वैच्छिक रक्तदान किया एवं पुलिस कर्मियों व उनके परिजनों के रक्तचाप, शुगर, नेत्र के स्वास्थ्य परीक्षण के लिए कैम्प का आयोजन किया गया।
पुलिस दिवस की पूर्व संध्या पर बटालियन प्रांगण में रंगारंग सांस्कृतिक कार्यकम का आयोजन किया गया, साथ ही पुलिस कर्मियों के बच्चों को उनकी शैक्षणिक उपलब्धियों पर प्रशस्ति पत्र व मैडल देकर प्रोत्साहित किया गया।

Read more...

भूमिपुत्रों को बड़ी राहत, निर्धारित खरीद सीमा बढ़ी

बीकानेर। समर्थन मूल्य पर चने व गेहूं की निर्धारित खरीद सीमा बढऩे के साथ ऑनलाइन पंजीयन शुरु होने से भूमिपुत्रों को बड़ी राहत मिली है। राजफैड के अधिकारी केके शर्मा ने बताया कि पूर्व में चना व सरसों के लिए सरकार की ओर से समर्थन मूल्य पर खरीद अधिकत्तम सीमा 25-25 क्विंटल थी। जिसको बढ़ा दिया गया है। अब किसान एक समय में अधिकत्तम 40-40 क्विंटल चना व सरसों खरीद केन्द्रों पर तुलवा सकेंगे।
उनके मुताबिक गिरदावरी रिपोर्ट के अनुसार एक हैक्टेयर पर क्विंटल की बजाय अब सीमा बढ़ाकर सरसों की 13 क्विंटल तथा चने पर 10 क्विंटल कर दी गई है। यानी कि गिरदावरी के मुताबिक किसान गेहूं की चार हैक्टेयर तथा सरसों की तीन हैक्टेयर तक अपनी फसल खरीद केन्द्रों पर तुलवा सकेंगे। भामाशाह के नाम से एक समय में एक ही टोकन जारी किया जा सकेगा। इसके लिए किसान चना, सरसों व गेहूं के लिए एक ही टोकन जारी करवा पाएगा। यदि किसी एक जिंस का टोकन जारी करवाने के बाद दूसरी उपज के लिए टोकन जारी किया जाना संभव नहीं होगा।
ऑनलाइन पंजीयन शुरु
जानकारी के मुताबिक वंचित रहे काश्तकारों के ऑनलाइन पंजीयन के लिए सोमवार को पोर्टल खुला। किंतु डूंगरगढ़ के काश्तकारों को जब तक इसका पता चला। तब तक ऑनलाइन पंजीयन बंद हो चुका था। जानकारी के मुताबिक श्रीडूंगरगढ़ में खरीद का कोटा पूर्ण हो चुका था। इसी प्रकार जिले के शेष स्थानों पर भी लगभग पोर्टल बंद रहा। जबकि बीकानेर में शाम तक ऑनलाइन पोर्टल खुला हुआ था। इस संदर्भ में राजफैड अधिकारी से जानकारी लेने पर उन्होंने अनभिज्ञता जताई। इसी के साथ उन्होंने कहा कि वंचित रहे काश्तकारों के लिए ऑनलाइन पंजीयन के लिए पोर्टल खुलवाने का प्रयास किया जाएगा। गौरलतब हे कि इस संदर्भ में दैनिक नेशनल राजस्थान समय-समय पर समाचार भी प्रकाशित किए थे।
भण्डारण की समस्या
एक ओर जहां वंचित काश्तकार पंजीयन करवाने के साथ ही अपनी अधिकाधिक फसल समर्थन मूल्य केन्द्र पर लेकर पहुंच रहे है। दूसरी ओर 90 दिनों की खरीद को लेकर निर्धारित कोटे के मुताबिक खरीद केन्द्रों पर सरसों व चने की हो रही खरीद माल को भण्डारण की समस्या उत्पन्न हो गई है। राजफैड अधिकारियों की माने तो वेयर हाउस की समस्या आ रही है। उस पर मौसम का बदला मिजाज ऐसे में खरीद किए गए माल को सुरक्षित रखना राजफैड के लिए कड़ी चुनौती बना हुआ है।

Read more...

एक दिन में बदल गया आंबेडकर भवन का शिलालेख, अर्जुनराम और सिद्धि कुमारी के नाम जोड़े

डीएनआर रिपोर्टर.बीकानेर
शिलालेख पर अपने नाम को लेकर नेताओं में किस कदर होड मची रहती है, इसका ताजा उदाहरण करणी नगर में बन रहे अम्बेडकर भवन के शिलालेख को देखकर लगाया जा सकता है। दरअसल, नाम के चक्कर में यहां एक दिन में ही शिलालेख बदल गया।
चुनावी साल में संविधान निर्माता आंबेडकर के प्रति ज्यादा सजग दिख रही राज्य सरकार ने बीकानेर मे तीन करोड़ रुपए की लागत से अंबेडकर भवन के निर्माण का निर्णय किया। इसीलिए आंबेडकर जयंती पर भवन का शिलान्यास समारोह हुआ। इस दिन जिस शिलालेख का विमोचन किया गया था, उसमें केंद्रीय राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल और बीकानेर पूर्व की विधायक सिद्धिकुमारी का नाम नहीं था। इसका पता लगने पर पार्टी में विरोध के स्वर उठने लगे। मामला आगे तक पहुंच गया। दरअसल, यह भवन बीकानेर पूर्व में बन रहा है और वहीं की विधायक सिद्धि कुमारी का नाम नहीं था।
मामला बिगड़ता उससे पहले न्यास ने रविवार को पहले लगे शिलालेख को हटाकर नया शिलालेख लगा दिया। इसमें सांसद अर्जुनराम मेघवाल और विधायक सिद्धिकुमारी का नाम जोड़ दियागया।

Shila Patt

निमंत्रण पत्र में भी नहीं थे नाम
इस दिन भवन के शिलान्यास के निमंत्रण पत्र में भी केन्द्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल और बीकानेर पूर्व विधायक सिद्धि कुमारी का नाम नहीं था। दोनों जनप्रतिनिधि भी उस मीटिंग में नहीं थे। उस वक्त शिलालेख पर संसदीय सचिव डॉ. विश्वनाथ मेघवाल, बीकानेर पश्चिम के विधायक डॉ. गोपाल जोशी, न्यास अध्यक्ष महावीर रांका तथा सचिव आर.के. जायसवाल के नाम थे।
भावना का सम्मान किया
'भवन के नींव पूजन के दौरान शिलान्यास में अर्जुनराम मेघवाल तथा सिद्धि कुमारी के नाम नहीं थे। बाद में न्यास के अध्यक्ष महावीर रांका से चर्चा कर शिलालेख पर दोनों के नाम लिखवा कर रविवार रात को नया शिलालेख लगाया गया है।
-आर.के. जायसवाल, सचिव, नगर विकास न्यास बीकानेर

Read more...

बीकानेर में बच्चों के साथ हो रही है मारपीट

बीकानेर। जयनारायण व्यास कॉलोनी के सेक्टर पांच स्थित संगम पार्क में खेलने वाले बच्चों के साथ मारपीट व अभद्र व्यवहार की शिकायत क्षेत्र के लोगों ने पुलिस थाने में की है। मोहल्लेवासियों का आरोप है कि पार्क के पास रहने वाले एक व्यक्ति को ऐसा करने से रोका तो उसने पुलिस थाने में उनके खिलाफ झूठा मुकदमा दर्ज करवा दिया।
पुलिस ने पिछले दिनों इस व्यक्ति को पाबंद भी किया है। दूसरी तरफ पार्क के पास रहने वाले अरविंद कुमार ने आईजी को ज्ञापन देकर उसके बच्चे और पत्नी के साथ मारपीट करने वालों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की है।
उधर थाना प्रभारी हरजिन्द्रसिंह ने बताया कि नवम्बर की घटना है। संगम पार्क में खेलने वाले बच्चों के साथ मारपीट के मामले की तफ्तीश जारी है। शीघ्र ही दोषी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Read more...
Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News