Menu

बीकानेर - सरकारी स्कूलों में दूध पीने वाले ज्यादा, पोषाहार खाने वाले कम! Featured

डीएनआर रिपोर्टर. बीकानेर

सरकारी स्कूलों में एक माह पहले शुरू हुई अन्नपूर्णा दूध योजना को लेकर जहां सवाल उठने लगे हैं, वहीं समीक्षा के दौरान गड़बड़ी भी सामने आई है। मिड-डे-मील की राज्य स्तरीय समीक्षा बैठक में प्रदेशभर में पोषाहार व अन्नपूर्णा दूध योजना को लेकर जिला शिक्षा अधिकारियों की रिपोर्ट पर चर्चा की गई। इस दौरान बताया गया कि कई स्कूलों में एक माह में दूध पीने वाले विद्यार्थियों की संख्या अधिक रही, जबकि उतने विद्यार्थियों को पोषाहार खिलाने की रिपोर्ट नहीं आई। एक ही स्कूल में दो अलग-अलग योजनाओं के लाभार्थियों की संख्या में फर्क को गंभीरता से लिया गया है। इसको लेकर जिला शिक्षा अधिकारियों को प्रभावी मॉनिटरिंग के निर्देश दिए गए, जिसके आधार पर जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक शिक्षा दयाशंकर अरड़ावतिया व जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक उमाशंकर किराडूू ने ब्लॉक प्रारंभिक शिक्षा अधिकारियों, पंचायत प्रारंभिक शिक्षा अधिकारियों व समस्त संस्था प्रधानों को संयुक्त आदेश जारी कर मिड-डे-मील की क्रियान्विति में सजगता व पारदर्शिता बरतते हुए पुख्ता मॉनिटरिंग सुनिश्चित की जाए।

स्कूलों में बदलेंगे पोषाहार प्रभारी

अब तक पोषाहार कार्य से परेशान हो रहे शिक्षकों को अब राहत मिलने वाली है। जिला शिक्षा अधिकारियों ने संयुक्त आदेश जारी कर संस्था प्रधानों को उनके स्कूल में एक वर्ष से अधिक समय से चार्ज लेने वाले पोषाहार प्रभारी को एमडीएम से मुक्त कर अन्य शिक्षक को पोषाहार प्रभारी बनाने के निर्देश दिए हैं। लेकिन दुविधा उन स्कूलों में आएगी, जहां एक ही शिक्षक पदस्थापित है।

इस बार लापरवाही पड़ेगी भारी

पोषाहार को लेकर अब तक लापरवाही पर केवल नोटिस जारी किए गए लेकिन इस बार मुख्यमंत्री की महत्वकांक्षी अन्नपूर्णा दूध योजना को लेकर लापरवाही संस्था प्रधानों के साथ-साथ प्रभारी पर भी भारी पड़ सकती है। शहरी क्षेत्र के केवल सरस दूध की खरीद व ग्रामीण क्षेत्र में महिला समूह से दूध की खरीद करने के साथ ही होलसेल भंडार से पोषाहार खरीदने के निर्देश भी दिए गए हैं।

एसएमएस नहीं करते शिक्षक

राज्य स्तरीय समीक्षा बैठक में भी एमडीएम प्रभारी की ओर से प्रतिदिन एसएमएस के माध्यम से सूचना नहीं दिए जाने की बात सामने आई। इस पर जिला शिक्षा अधिकारियों को फटकार लगाते हुए अधीनस्थ विद्यालयों के संस्था प्रधानों व पोषाहार प्रभारियों को पाबंद करने के निर्देश दिए गए।

आधार से लिंक कराना जरूरी

संस्था प्रधानों को अन्नपूर्णा दूध योजना व मिड-डे-मील योजना के लाभार्थी कक्षा पहली से आठवीं तक के विद्यार्थियों की सूचना शाला दर्पण व शाला दर्शन पोर्टल पर आधार नम्बर सहित अपडेट करने के निर्देश दिए हैं। हालांकि कई स्कूलों में विद्यार्थी आधार नामांकन से वंचित है। ऐसे में आगामी दिनों में इनके लिए पोषाहार व दूध योजना को लेकर समस्या आ सकती है।

DNR Reporter

DNR desk

Leave a comment

Make sure you enter the (*) required information where indicated. HTML code is not allowed.

back to top

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News