Logo
Print this page

आखिरकार वरिष्ठ शिक्षक कार्य मुक्त Featured

बीकानेर। लम्बे समय से चल रही जदोजहद व कशमकश के बाद जिला परिषद कार्यालय में स्वच्छ भारत अभियान के तहत जिला समन्वयक के पद पर प्रतिनियुक्ति पर चल रहे वरिष्ठ शिक्षक महेन्द्र सिंह शेखावत को आखिरकार मंगलवार को कार्यमुक्त कर दिया गया। संयुक्त निदेशक (माध्यमिक शिक्षा) ने उनकी प्रतिनियुक्ति को सेवा नियमों के विपरीत मानते हुए प्रतिनियुक्ति को तुरंत प्रभाव से निरस्त कर दिया था। माध्यमिक शिक्षा निदेशक के कार्य मुक्त करने के आदेश के मध्यनजर शेखावत ने मेडिकल अवकाश ले लिया था। पूर्व में लिए गए मेडिकल अवकाश की तिथि को बढ़ाकर बाद में शेखावत ने 12 दिसम्बर तक कर ली थी। किंतु मंगलवार को अचानक जिला परिषद कार्यालय पहुंचकर उन्होंने अवकाश के बाद कार्यभार ग्रहण करने के साथ ही इनको इनके पदस्थापन स्थान के लिए कार्य मुक्त कर दिया गया।
ये जारी हुए थे आदेश
लम्बे समय से जिला परिषद कार्यालय में जिला स्वच्छता समन्वयक के पद पर प्रतिनियुक्ति पर चल रहे शेखावत की प्रतिनियुक्ति को संयुक्त निदेशक माध्यमिक शिक्षा विभाग सेवा नियमों के विपरीत मानते हुए निरस्त कर दिया था। यही नहीं शेखावत को राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय गौड़ू (श्रीकोलायत) में अंग्रेजी विषय के वरिष्ठ शिक्षक के रूप में पदस्थापित करते हुए बिना कार्यग्रहण काल उपयोग किए बिना तुरंत प्रभाव से पैतृक विभाग में पदस्थापन स्थान पर कार्यग्रहण करने के निर्देश जारी किए थे। कार्यग्रहण नहीं करने की स्थिति में कार्मिक विभाग के नियमों के मुताबिक अनुशासनात्मक कार्रवाई करने की चेतावनी भी दी थी। इसके बावजूद शिक्षक शेखावत मेडिकल अवकाश पर चले गए थे।
लम्बे समय से तैयारी
पिछले चार वर्षों से जिला परिषद कार्यालय में स्वच्छता समन्वयक के पद पर काबिज रहे शिक्षक शेखावत को उनको इस पद से हटाने तथा मूल पदस्थापन स्थान पर भेजने के लिए लम्बे समय से तैयारी की जा रही थी। इसके बावजूद शेखावत उक्त पद को किसी भी सूरत में नहीं छोडऩा चाहते थे। शेखावत ने स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) निदेशालय से आदेश ले आए। जिसमें स्वच्छ भारत मिशन के 'कृते निदेशकÓ हस्ताक्षरित एक पत्र 31 अक्टूबर को जारी किया गया। जिसमें शेखावत शिक्षक की सेवाएं स्वच्छ भारत मिशन (ग्रा) जिला परिषद बीकानेर में पुन: पदस्थापित कर दिया गया।

इतना ही नहीं यह भी निर्देश दिए गए कि भविष्य में ऐसा आदेश जारी करने से पहले राज्य सरकार से स्वीकृति ली जाए।

DNR Reporter

DNR desk

Website Managed By © TM Media Group India.