Menu

एक दिन में बदल गया आंबेडकर भवन का शिलालेख, अर्जुनराम और सिद्धि कुमारी के नाम जोड़े Featured

डीएनआर रिपोर्टर.बीकानेर
शिलालेख पर अपने नाम को लेकर नेताओं में किस कदर होड मची रहती है, इसका ताजा उदाहरण करणी नगर में बन रहे अम्बेडकर भवन के शिलालेख को देखकर लगाया जा सकता है। दरअसल, नाम के चक्कर में यहां एक दिन में ही शिलालेख बदल गया।
चुनावी साल में संविधान निर्माता आंबेडकर के प्रति ज्यादा सजग दिख रही राज्य सरकार ने बीकानेर मे तीन करोड़ रुपए की लागत से अंबेडकर भवन के निर्माण का निर्णय किया। इसीलिए आंबेडकर जयंती पर भवन का शिलान्यास समारोह हुआ। इस दिन जिस शिलालेख का विमोचन किया गया था, उसमें केंद्रीय राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल और बीकानेर पूर्व की विधायक सिद्धिकुमारी का नाम नहीं था। इसका पता लगने पर पार्टी में विरोध के स्वर उठने लगे। मामला आगे तक पहुंच गया। दरअसल, यह भवन बीकानेर पूर्व में बन रहा है और वहीं की विधायक सिद्धि कुमारी का नाम नहीं था।
मामला बिगड़ता उससे पहले न्यास ने रविवार को पहले लगे शिलालेख को हटाकर नया शिलालेख लगा दिया। इसमें सांसद अर्जुनराम मेघवाल और विधायक सिद्धिकुमारी का नाम जोड़ दियागया।

Shila Patt

निमंत्रण पत्र में भी नहीं थे नाम
इस दिन भवन के शिलान्यास के निमंत्रण पत्र में भी केन्द्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल और बीकानेर पूर्व विधायक सिद्धि कुमारी का नाम नहीं था। दोनों जनप्रतिनिधि भी उस मीटिंग में नहीं थे। उस वक्त शिलालेख पर संसदीय सचिव डॉ. विश्वनाथ मेघवाल, बीकानेर पश्चिम के विधायक डॉ. गोपाल जोशी, न्यास अध्यक्ष महावीर रांका तथा सचिव आर.के. जायसवाल के नाम थे।
भावना का सम्मान किया
'भवन के नींव पूजन के दौरान शिलान्यास में अर्जुनराम मेघवाल तथा सिद्धि कुमारी के नाम नहीं थे। बाद में न्यास के अध्यक्ष महावीर रांका से चर्चा कर शिलालेख पर दोनों के नाम लिखवा कर रविवार रात को नया शिलालेख लगाया गया है।
-आर.के. जायसवाल, सचिव, नगर विकास न्यास बीकानेर

DNR Reporter

DNR desk

Leave a comment

Make sure you enter the (*) required information where indicated. HTML code is not allowed.

back to top

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News