Menu

वाह रे शिक्षा विभाग, लापरवाही पर पुरस्कार! Featured

डीएनआर रिपोर्टर. बीकानेर

शिक्षा विभाग में एक तरफ मामूली गलती पर माफी नहीं मिलती और दूसरी तरफ गंभीर लापरवाही बरतने वालों को माफ करने के साथ ही पुरस्कार के रूप में इच्छित पदस्थापन मिल जाता है। गत दिनों माध्यमिक शिक्षा निदेशक की ओर से किए गए शहरी क्षेत्र के स्कूलों के औचक निरीक्षण के दौरान गंभीर अनियमितताएं सामने आई। मौके पर फटकार लगाई और कुछ दिन बाद संस्था प्रधानों को निलम्बित व एपीओ कर निदेशालय बुला लिया। उनकी जगह दूसरे प्रधानाचार्य को पदस्थापन मिल गया और अब निदेशक ने इनमें से एक संस्था प्रधान को शहरी क्षेत्र के ही स्कूल में प्रधानाचार्य के पद पर पुन: लगा दिया, वहीं एक को नजदीकी विद्यालय में लगाया गया है। निदेशक की ओर से सात प्रधानाचार्यों के स्थानांतरण व समायोजन आदेश जारी किए गए हैं, जिनमें लापरवाही बरतने वाले इन प्रधानाचार्यों के नाम भी शामिल है।
निदेशक के इस आदेश को निदेशालय सहित शिक्षा विभाग के अधीनस्थ कार्यालयों में बुधवार को चर्चाएं जोरों पर रही। दबी जुबान से इन शिक्षा अधिकारियों के राजनीतिक रसूख होने के कारण सजा की बजाए माफी मिलने की बात कही जा
रही है।

न्यायालय के आदेश की पालना

माध्यमिक शिक्षा निदेशक ने अलग-अलग आदेश जारी कर न्यायालय के आदेशों की अनुपालना में आठ प्रधानाचार्यों के स्थानांतरण आदेश स्थगित किए हैं। करीब एक माह पहले इन प्रधानाचाार्यांे के तबादले किए गए थे लेकिन सेवानिवृति में एक वर्ष से कम समय होने, बीमार, कुछ समय पहले ही पदस्थापन आदि को दरकिनार किया गया, जिसके खिलाफ इन्होंने न्यायालय की शरण ली।

फिर जारी हो सकती है तबादला सूची

शिक्षा विभाग में तबादलों का दौर अभी थमा नहीं है। आगामी एक सप्ताह में लगभग सभी संवर्गों के तबादलों की सूची जारी हो सकती है। हालंाकि विभाग इससे अनभिज्ञता जता रहा है लेकिन सूत्रों का कहना है कि सबसे पहले द्वितीय श्रेणी शिक्षकों के अंतर जिला व मंडल स्तर पर तबादलों की सूची जारी होगी। इसके साथ ही तृतीय श्रेणी, व्याख्याताओं व प्रधानाध्यापकों एवं प्रधानाचार्यों के तबादले हो सकते हैं।

संशोधित आदेशों का राज समझ से परे

गत माह निदेशालय में प्रधानाचार्य की काउंसलिंग में अनेक जिलों में रिक्त पद होने के बावजूद प्रदर्शित नहीं किए गए। मजबूरी में चयनितों को दूसरे जिले मे पदस्थापन का विकल्प भरना पड़ा। परिवेदनाओं को लेकर भी निदेशालय ने हाथ खींच लिए। अब संशोधित आदेश परिवेदनाओं पर हो रहे हंै या मंत्री के निर्देश पर यह सवाल खड़ा हो रहा है?

चार दर्जन संशोधित आदेश

संयुक्त निदेशक कार्मिक ने दो अलग-अलग आदेश जारी कर चार दर्जन से अधिक प्रधानाचार्यों के पदस्थापन स्थानों में संशोधन किया है। इसमें से एक दर्जन प्रधाना चार्यों को पूर्व में पदस्थापित जिले में ही पदस्थापित किया गया है। इसके अलावा कुछ दोहरे पदस्थापन वाले आदेशों में भी संशोधन किया गया है। निदेशालय की ओर से प्रतिनिधि संशोधित आदेश जारी किए जा रहे हैं।

DNR Reporter

DNR desk

Leave a comment

Make sure you enter the (*) required information where indicated. HTML code is not allowed.

back to top

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News