Menu

पुष्करणा सावे का कार्यक्रम तय

बीकानेर। दो वर्षो में होने वाले पुष्करणा समाज के सावेए सामूहिक विवाह की तिथि का निर्धारण के बाद द्वितीय चरण धनतेरस के दिन इसी संदर्भ में आज किकाणी . लालाणी व्यास पंचों ने किकाणी लालाणी चैक से शोभा यात्रा निकाली। जो मानेश्वर महादेव मन्दिर पहुंची। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम मे मुख्य अतिथि राज परिवार की ओर से बीकानेर पुर्व की विधायक सुश्री सि़द्धी कुमारी रही। उन्होंने कहा कि पुष्करणा सावे मे विवाह होने वाली कन्याओं की शादी है उनके अखण्ड सौभाग्य की कामनां गढ़ गणेश से करती हॅू और व्यास पंचो का आभार प्रकट करते हुए कहा की आप सब ने इतने वर्षो के बाद भी यह परम्परा कायम है और इसी तरह यह कायम रहेए इस अवसर पर किकाणी लालाणी पंचों ने सिद्धी कुमारी को सॉल प्रतीक चिन्ह् देकर आभार व्यक्त किया और कहा की राज परिवार अपना पुष्करणाओं के यह स्नेह ऐसे ही बरकरार रखे। कार्यक्रम में पंडित ब्रजेश्वर लाल व्यास, ने पुष्करणा सावे की महत्वता के बारे मे भी जानकारी दी। कार्यक्रम की सयुंक्त अध्यक्षता भवानी शंकर व्यास मन्नू काका् एवं बद्रीदास व्यास ने कीए कार्यक्रम मे राजमाता से मिला स्वीकृति पत्र का वाचन शिव कुमारी व्यास ने किया। कार्यक्रम में पंच नारायण दास व्यास, बीकानेर पश्चिम विधायक गोपाल जोशी, शिवकुमार व्यास, गोपाल व्यास, ओम आचार्य, विजय आचार्य, दिलीप जोशी, मनमोहन व्यास, शंकर पुरोहित, ओंकार हर्ष, जुगल किशोर औझा नरेन्द्र आचार्य आदि मौजूद थे।

यज्ञोपवित कार्यक्रम : गुरू बालकों के लिए : हाथधान 5 फरवरी माघ सुदी एकम, मातृका स्थापना : गणेश पूजा 6 फरवरी माघ सुदी बीज, उपनयन : 7 फरवरी माघ सुदी बीज।
व्यास बालकों के लिए : हाथधान 06 फरवरी माघ सुदी बीज, मातृका स्थापना : गणेश पूजा 9 फरवरी माघ सुदी चौथ
उपनयन : 10 फरवरी माघ सुदी पंचमी
सर्वत्र बालकों के लिए : हाथधान 19 फरवरी माघ सुदी पुर्णिमा, मातृका स्थापना : गणेश पूजा 20 फरवरी फाल्गुन बदी एकम, उपनयन : 21 फरवरी फाल्गुन बदी बीज
वैवाहिक कार्यक्रम : व्यास बालकों के लिए: हाथधान 18 फरवरी माघ सुदी चौवदस, मातृका स्थापना गणेश पूजा : 20 फरवरी फाल्गुन बदी एकम, विवाह : 21 फरवरी 2019 फाल्गुन बदी बीज, बरी : 22 फरवरी 2019 फाल्गुन बदी तीज
गुडीजों 24 फरवरी फाल्गुन बदी छठ।
सर्वत्र बालको के लिए हाथधान: 19 फरवरी 2019 माघ सुदी पुर्णिमा, मातृका स्थापना : गणेश पूजा 20 फरवरी फाल्गुन बदी एकम, विवाह : 21 फरवरी 2019 फाल्गुन बदी बीज, बरी : 22 फरवरी 2019 फाल्गुन बदी तीज, गुडीजां 24 फरवरी फाल्गुन बदी छठ।

Read more...

पुष्करणा समाज जुटा अपने शहर को बारातघर बनाने में

बीकानेर। पुष्करणा समाज के विश्व विख्यात ‘ओलम्पिक सावे’ की तैयारियां धीरे धीरे परवान चढ़ रही है। हर दो साल में होने वाले इस सावे में समाज के सैकड़ों युवक-युवतियां विवाह के बंधन में बंध जाते हैं। मितव्ययता का अनूठा उदाहरण पेश करने वाला यह आयोजन एक बार फिर दीपावली के बाद होगा। तारीख दशहरा को तय होगी।
पुष्करणा समाज सावा समिति के पदाधिकारी नारायण दास व्यास ने बताया कि दशहरे को बीकानेर के व्यास पार्क के पास स्थित मंदिर में समाज के विद्वान पंडितों को आमंत्रित किया जाता है। इस दौरान  काफी चर्चा और चिंतन के बाद शिव व पार्वती के नाम से विवाह व उपनयन संस्कार की तिथियां घोषित की जाएगी। 
व्यास ने बताया कि विद्वानों को आमंत्रित करने का सिलसिला मंगलवार से शुरू हो गया है। सभी प्रमुख जातियों के पंचों से मिलकर उन्हें सावा तय करने के लिए आमंत्रित किया जा रहा है। इसके बाद दशहरे से पहले सभी के घर एक बार फिर पहुंचकर आमंत्रित किया जाएगा। व्यास ने बताया कि मक्खनलाल व्यास, गोपाल व्यास और गिरिराज व्यास को निमंत्रण समिति में शामिल किया गया है। मंदिर के रंगरोगन के लिए गोरधन व्यास, राजेश व्यास, अविनाश व्यास व श्रीकांत व्यास को सदस्य बनाया है। पूजन के लिए वल्लभ व्यास, गिरिराज व्यास, श्याम व्यास, विजय कुमार व्यास को प्रभारी बनाया है। वहीं बृजेश्वर व्यास व गोपाल व्यास को प्रवक्ता का जिम्मा दिया गया है। इससे पहले बृजेश्वर व्यास को संयोजक व गोपाल दास व्यास को उप संयोजक नियुक्त किया जा चुका है। 
Read more...
Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News