Menu
DNR Reporter

DNR Reporter

DNR desk

Website URL:

भारत और फ्रांस मजबूत विकास भागीदारी पर कर रहे काम: सुषमा स्वराज

पेरिस , 19 जून (भाषा) भारत और फ्रांस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी , स्वच्छ ऊर्जा और बुनियादी ढांचा सहित विभिन्न क्षेत्रों में एक मजबूत विकास भागीदारी के लिए काम कर रहे हैं। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने फ्रांस के शीर्ष नेतृत्व के साथ बातचीत के बाद यह कहा।
फ्रांस की यात्रा पर यहां पहुंची सुषमा ने बैठक में आपसी हित और रणनीतिक दृष्टि से महत्वपूर्ण मुद्दों पर विचार विमर्श किया।
सुषमा स्वराज चार देशों की अपनी यात्रा के दूसरे चरण में कल रोम से यहां पहुंचीं। उन्होंने फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुअल मैक्रों के साथ मुलाकात की। इस दौरान मार्च में मैक्रों की भारत यात्रा के दौरान बनी समझ पर आगे चर्चा हुई।
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट कर बताया कि स्वराज ने फ्रांस के विदेश मंत्री जीन वेस ले ड्रायन के साथ भी बैठक की। दोनों नेताओं ने व्यापक महत्व के द्विपक्षीय रिश्तों पर चर्चा की।
कुमार ने सुषमा के हवाले से कहा , हमारी व्यापार , पूंजी और प्रौद्योगिकी को लेकर भागीदारी उल्लेखनीय वृद्धि दर्ज कर रही है। पिछले साल द्विपक्षीय व्यापार 9.85 अरब यूरो पर पहुंच गया। लेकिन अभी हमें अभी इस पर काफी कुछ करने की जरूरत है। हमने 2022 तक वस्तुओं के 15 अरब यूरो के व्यापार का लक्ष्य रखा है।
उन्होंने कहा कि भारत और फ्रांस मिलकर एक मजबूत विकास भागीदारी को आकार देने पर काम कर रहे हैं। दोनों देश स्मार्ट शहरीकरण , विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी , स्वच्छ ऊर्जा , परिवहन और बुनियादी ढांचा क्षेत्रों पर मिलकर काम करेंगे।
उल्लेखनीय है कि भारत और फ्रांस अपनी रणनीतिक भागीदारी की बीसवीं वर्षगांठ मना रहे हैं।

सूचीबद्धता के 25 साल : बालकृष्णन ने कहा, एनआरएन की वजह से यह हो पाया

हैदराबाद , 19 जून (भाषा) सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) क्षेत्र की कंपनी इन्फोसिस की शेयर बाजार में सूचीबद्धता के 25 साल पूरे हो गए हैं। इस मौके पर कंपनी के पूर्व वरिष्ठ अधिकारी ने इन्फोसिस के सह संस्थापक एन आर नारायणमूर्ति की तारीफ करते हुए कहा कि उनकी वजह से यह सपनों में बसने वाली कंपनी बन पाई।
इन्फोसिस के पूर्व मुख्य वित्त अधिकारी वी बालकृष्णन ने कहा , मुझे नहीं लगता कि देश एक और इन्फोसिस देख पाएगा। इन्फोसिस कई पीढय़िों के लिए एक सपनों की कंपनी है।
उन्होंने कहा कि बेंगलुरु मुख्यालय वाली इस कंपनी ने मध्यम वर्ग को आकांक्षी बनाया और उन्हें वैश्विक तरीके से सोचना सिखाया।
बालकृष्णन ने कहा कि यह एक असाधारण कहानी है कि कैसे सामान्य पृष्ठभूमि के लोग एक साथ और उन्होंने एक वैश्विक कंपनी बनाई और उसे नैतिक और कानूनी तरीके से चलाया। कंपनी ने भारी संपदा बनाई और उसे अंशधारकों से साझा किया।
उन्होंने कहा कि यह सब एक नेता नारायणमूर्ति की वजह से संभव हो पाया। उन्होंने इन्फोसिस का सपना बनाया और बेहतरीन प्रतिभाओं को साथ लेकर काम किया और अपनी कंपनी को और अधिक बड़ा बनाया।

अवाना लॉजिस्टिक ने सेबी के पास आईपीओ दस्तावेज जमा कराए

नई दिल्ली , 19 जून (भाषा) लॉजिस्टिक्स कंपनी अवाना लॉजिस्टिक ने भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) के पास आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) के लिए दस्तावेज जमा कराए हैं। दस्तावेजों के अनुसार आईपीओ के तहत कंपनी 300 करोड़ रुपए के नए शेयर जारी करेगी और 43,00,000 शेयरों की बिक्री पेशकश लाएगी। मुंबई की कंपनी का इरादा आईपीओ से प्राप्त राशि का इस्तेमाल पूंजीगत खर्च के जरिए ड्राई भंडारगृह और शीत भंडारगृह बनाने तथा अपना कुछ कर्ज चुकाने का है। आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज और एक्सिस कैपिटल को निर्गम के लिए लीड प्रबंधक नियुक्त किया गया है।

चीन ने अमेरिका पर ब्लैकमेलिंग का आरोप लगाया

बीजिंग , 19 जून (भाषा) चीन ने आज अमेरिका पर ब्लैकमेलिंग का आरोप लगाया। इससे पहले अमेरिका ने चेताया था कि वह चीन के 200 अरब डॉलर के उत्पादों पर 10 प्रतिशत का अतिरिक्त शुल्क लगा सकता है।
इसके बाद चीन ने अमेरिका की इस योजना को ब्लैकमेल करार देते हुए कहा है कि वह भी इसके जवाब में कदम उठाने को तैयार है।
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कल चेताया था कि वह चीन के 200 अरब डॉलर के सामान पर 10 प्रतिशत का अतिरिक्त शुल्क लगा सकते हैं। इससे पहले पिछले सप्ताह अमेरिका ने चीन के 50 अरब डॉलर के सामान पर 25 प्रतिशत का अतिरिक्त शुल्क लगाने की घोषणा की थी।
इस पर जवाबी कार्वाई करते हुए चीन ने अमेरिका के 50 अरब डॉलर के 659 उत्पादों पर 25 प्रतिशत का शुल्क लगाने की घोषणा की थी।

Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News