Menu

top banner

DNR Reporter

DNR Reporter

DNR desk

Website URL:

बसपा का दुपट्टा पहन अनेक ने ली बसपा की सदस्यता

बीकानेर। बहुजन समाज पार्टी की रीति-नीति एवं मायावती से प्रभावित होकर पश्चिम विधानसभा क्षेत्र से रविवार को बड़ी संख्या में युवा वर्ग ने मुक्ताप्रसाद रोड़ भीमनगर में हुए कार्यक्रम में दुपट्टा पहनकर बसपा की सदस्यता ग्रहण की। शहर अध्यक्ष अताउल्ला ने बताया कि बसपा के राजस्थान प्रदेश प्रभारी डॉ. विजय प्रताप सिंह, जोन इंचार्ज भगवान सिंह बाबा एवं जिलाध्यक्ष चम्पालाल देशपे्रमी ने नए सदस्यों को शपथ दिलवाई। इस मौके पर देशपे्रमी ने कहा कि पिछली कांगे्रस सरकार भ्रष्टाचार में डूबी हुई थी, बीजेपी कांगे्रस एक ही सिक्के के दो पहलू है। वर्तमान में सत्ता पर काबिज बीजेपी दलितों, गरीबों, पिछड़ों व मुस्लिम वर्ग के साथ बलात्कार, शोषित, जातीय भेदभाव की घटनाएं आए दिन बढ़ती जा रही है। अताउल्ला ने कहा कि बहुजन समाज पार्टी सामाजिक परिवर्तन और आर्थिक मुक्ति के लिए आंदोलन चला रही है। जिसका मकसद सम्पूर्ण भारतवर्ष में व्यवस्था परिवर्तन करना है। पश्चिम विधानसभा प्रभारी नारायण हरि लेघा ने कहा कि बसपा एक मात्र ऐसी पार्टी है जो जमीन से जुड़ी हुई है। सदैव गरीब, दलित, ओबीसी के लिए कार्य करती आई है। टीपू सुल्तान, सुरेंद्र कंडारा, रामस्वरूप ने भी विचार रखे। बसपा की सदस्यता ग्रहण करने वालों में मो. आरीफ, मो. शरीफ, सरफूदीन, रहमान खान, मो. रफीक, शाहरुख खान, मुन्ना खां, मनीष चांवरिया, टीपू सुल्तान, मिथुन चावरिया सहित अनेक शामिल थे।

सातवें वेतन आयोग को लेकर आंदोलन की घोषणा

प्रदेश में 22 से 24 जनवरी तक कर्मचारी रहेंगे सामूहिक अवकाश पर
बीकानेर। अखिल राजस्थान राज्य कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति द्वारा सातवें वेतन आयोग का नगद भुगतान 1 जनवरी 2016 से देने, वेतन कटौती वापिस लेने, अनुसूची-5 में मूल वेतन में की गई कटौती आदेश को निरस्त करने, केन्द्र व राज्य के पे-मैट्रिक्स के अन्तर के समाप्त करने, वेतन विसंगतियों का निस्तारण करने सहित अनेक मांगों के समर्थन में 22 से 24 जनवरी तक तीन दिवसीय सामूहिक अवकाश पर रहकर विरोध दर्ज कराया जाएगा। अवकाश कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए रविवार को महासंघ के जिला कार्यालय में जयकिशन पारीक की अध्यक्षता में तैयारी बैठक रखी गई। बैठक में अलग-अलग क्षेत्रों, कार्यालयों, विभागों, विद्यालयों एवं योजनाओं की जिम्मेदारी कर्मचारी नेताओं को सौंपी गई।
बीकानेर संघर्ष समिति सदस्य जयकिशन पारीक ने बताया कि लम्बे समय से कर्मचारी अपनी वाजिब मांगों को लेकर संघर्षरत हैं, लेकिन राज्य सरकार की संवेदनहीनता व संवादहीनता से कर्मचारियों में भारी आक्रोश है। संघर्ष समिति सदस्य पृथ्वीराज लेघा ने कहा कि राज्य सरकार पिछले चार वर्ष से लगातार कर्मचारी विरोधी निर्णय लेती जा रही है। राजकीय विद्यालयों व सभी विभागों में निजीकरण को बढावा देकर सरकार जन विरोधी निर्णय लेकर आमजन के हितों पर कुठाराघात कर रही है। बैठक को संजय पुरोहित, आनन्द पारीक, बनवारी शर्मा, प्रमोद शर्मा, मोहरसिंह सलावद, रेवन्तराम गोदारा, गुरूचरण सिंह मान, गुरप्रीत सिंह लबाना, मोहम्मद इलियास जोईया, जितेन्द्र गहलोत, शिवकरण सिंह, ताराचन्द जयपाल आदि कर्मचारी नेताओं ने भी सम्बोधित किया।
बैठक में विभिन्न शिक्षक संघों, वाहन चालक एवं तकनीकी कर्मचारी संघ, पशु चिकित्सा कर्मचारी संघ, कृषि पर्यवेक्षक संघ, पंचायत प्रसार-अधिकारी संघ, ग्राम सेवक संघ, पटवार संघ सहित अनेक एसोसिएशन शामिल हुए।

संस्कृत वैज्ञानिक भाषा और ज्ञान का भण्डार : मेघवाल

संस्कृत जन-पद सम्मेलन
बीकानेर। केन्द्रीय जल संसाधन, नदी विकास, गंगा पुनरूत्थान तथा संसदीय कार्य राज्यमंत्री अर्जुनराम मेघवाल ने कहा कि संस्कृत वैज्ञानिक भाषा और ज्ञान का भण्डार है। इस भाषा को बोलचाल की भाषा में विकसित करने की जरूरत है। केन्द्रीय राज्यमंत्री रविवार को पशुचिकित्सा एवं पशु विज्ञान विश्वविद्यालय के प्रेक्षागृह में संस्कृत भारती बीकानेरम् द्वारा आयोजित एक दिवसीय Óसंस्कृत जनपद सम्मेलनम्Ó में मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे। उन्होंने संस्कृति के चार मूल तत्वों के बारे में विचार व्यक्त किए और कहा कि आर्य लोग, आर्येतर लोग केवल संस्कृत के कारण ही श्रेष्ठ थे। संस्कृत हमें संस्कारवान बनाती है।
नगर विकास न्यास के सचिव आर.के.जायसवाल ने कहा कि भाषाएं लोक सम्पर्क व बोलचाल के कारण ऊर्जा प्राप्त करती है और समृद्ध होती है। कोई भी भाषा तब तक दीर्घजीवी नहीं हो सकती जब तक कि वह दैनन्दिन जीवन व व्यवहार में शामिल होकर संस्कार को प्राप्त नहीं हो जाती। संस्कृत भारती राजस्थानम् के क्षेत्रीय संगठन मंत्री हुलास चंद ने कहा कि संस्कृत जैसी वैज्ञानिक व तर्कसंगत भाषा विश्व में दूसरी नहीं है, भारतीय भाषाओं की अधिसंख्य भाषाओं का प्राणतत्व संस्कृत में ही निहित है।
प्रान्तीय महामंत्री तगसिंह राजपुरोहित ने सम्मेलन के उद्देश्य पर प्रकाश डालते हुए कहा कि संस्कृत भारती राजस्थान में संस्कृत भाषा के प्रचार व संवद्र्धन के लिए कृतसंकल्पित है। इस अवसर पर केन्द्रीय राज्यमंत्री मेघवाल ने साहित्यकार रवि पुरोहित की राजस्थानी भाषा की काव्य कृति उतरूं उंडे काळजै का संस्कृत अनुवाद स्नेह सौरभम का लोकार्पण किया। कार्यक्रम में अतिथि के रूप में विक्रमजीत सिंह, लोटस डेयरी के शकील मौजूद थे। संयोजन मानाराम चौधरी ने किया और आभार जेठानंद ने व्यक्त किया।
इससे पहले केन्द्रीय राज्यमंत्री ने दीप प्रज्जवलित कर सम्मेलन का शुभारंभ किया। महारानी किशोरी देवी विद्यालय की छात्राओं ने सरस्वती वंदना और महारानी राजकीय सीनियर सैकण्डरी की छात्राओं ने स्वागत गीत प्रस्तुत किया। दिव्यांग कुलदीप व प्रदीप ने गणेश वन्दना की प्रस्तुति दी। बालिका भूमिका ने संस्कृत भाषा में काव्यपाठ और सलौनी ने संस्कृत भाषा पर लोकनृत्य की प्रस्तुति दी।

श्वेत श्याम फोटोग्राफी में दिखेगी राजस्थान की झलक

बीकानेर। महाराजा गंगासिंह ट्रस्ट की ओर से सार्दुल म्यूजियम की गैलरी नम्बर आठ में राजस्थान की संस्कृति, धरोहर एवं जीवन शैली से संबंधित श्वेत श्याम फोटोग्राफ्स प्रदर्शनी का शुभारंभ ट्रस्ट अध्यक्ष प्रिंसेज राजश्री कुमारी ने किया। इस प्रदर्शनी में जयपुर के फोटोग्राफर व संग्रहणकर्ता सुधीर कासलीवाल की ओर से राजस्थान की धरोहर, संस्कृति व ग्रामीण परिवेश, ऐतिहासिक तालाबों व बावडियों, चरखे पर धागा कातते हुए व चॉक पर बर्तन बनाने आदि की श्याम श्वेत फोटोग्राफ्स को शामिल किया गया है। ट्रस्ट समन्वयक दलीप सिंह ने बताया कि दर्शक राजस्थान की संस्कृति, धरोहर, जीवन शैली का चित्रण करने वाले फोटोग्राफ्स का अवलोकरन कर सकेंगे।

Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News