Menu

top banner

शिक्षा (72)

फिर गुरुजी को कैसे पहचानेंगे अभिभावक!

विद्यालय स्टाफ की फोटोयुक्त सूचना चस्पा करने के आदेशों की निकली हवा, नए संस्था प्रधान आदेशों से अनभिज्ञ
बीकानेर। विद्यालय में आने वाले प्रत्येक व्यक्ति को स्टाफ के बारे में बिना पूछे जानकारी मुहैया कराने के लिए शुरू की गई फोटोयुक्त सूचना चस्पा करने की योजना ठंडे बस्ते में चली गई है। गत सत्र में पहले माध्यमिक शिक्षा निदेशक और बाद में राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा परिषद (रमसा) की ओर से इसके लिए आदेश जारी किए गए, जिनकी एकबारगी क्रियान्विति भी हो गई लेकिन अब अधिकांश स्कूलों में कहीं गुरुजी का फोटो गायब है, तो कहीं फोटो वाले गुरुजी स्थानांतरित होकर अन्यत्र जा चुके हैं। आश्चर्य की बात यह है कि लगातार प्रशिक्षण शिविरों में शामिल होने के बाद भी कई संस्था प्रधानों को इस बारे में जानकारी तक नहीं है।
क्या है योजना
माध्यमिक शिक्षा निदेशक ने सितम्बर २०१६ में आदेश जारी कर सभी संस्था प्रधानों को उनके यहां कार्यरत स्टाफ की फोटोयुक्त सूचना ऑफिस के आगे बोर्ड पर चस्पा करने के निर्देश दिए। आदेश में कहा गया कि अधिकांश अभिभावकों को पता नहीं है कि स्कूल में कौन-कौन से गुरुजी कार्यरत है। ऐसे में स्कूल आने-जाने के दौरान अभिभावकों से संवाद नहीं हो पाता। फोटो युक्त सूचना लगी होने पर स्कूल में आने वालों को जानकारी हो सकेगी कि फलां शिक्षक विद्यालय में किस विषय का अध्यापन कराता है।
दर्पण हो गया धुंधला
इसी योजना के साथ माध्यमिक शिक्षा के प्रत्येक विद्यालय में आदमकद दर्पण लगाने के आदेश दिए गए, ताकि विद्यालय में प्रवेश के समय विद्यार्थी अपना चेहरा देख सके और स्वच्छता के लिए प्रेरित हो। जानकारी के अनुसार अधिकांश स्कूलों में दर्पण की खरीद हो गई लेकिन स्कूल में प्रवेश द्वार के समीप लगे होने के कारण धूप व बारिश में दर्पण धुंधले हो गए हैं, वहीं अनेक स्कूलों में टूट चुके हैं। हालांकि संस्था प्रधान नए दर्पण की खरीद कर सकते हैं परन्तु नए निर्देशों के अभाव में संस्था प्रधान भी दर्पण की खरीद से मुंह छिपा रहे हंै।

Read more...

मुख्यमंत्री का पुतला फूंकेगें पुतला, मोहन सियाग ने की घोषणा

बीकानेर। वेतन कटौती के आदेश के विरोध में रेसला की ओर से शुरू किए गए आंदोलन के तहत मंगलवार को कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री का पुतला फूंका जाएगा। संगठन के प्रदेशाध्यक्ष मोहन सियाग का कहना है कि एक तरफ सातवें वेतन आयोग व पूर्व की वेतन विसंगतियों को दूर करने की मांग लम्बे समय से कर्मचारी कर रहे हैं, दूसरी ओर सरकार ने वेतनवृद्धि रोकने का आदेश दिया है, जिससे कर्मचारियों ने रोष व्याप्त है। संगठन के जिलाध्यक्ष गिरधारी गोदारा ने बताया कि सोमवार को सभी जिला मुख्यालयों पर धरना प्रदर्शन व मुख्यमन्त्री का पुतला दहन किया जाएगा। संगठन के डॉ. जगदीश का कहना है कि आगामी 21 अगस्त को जयपुर में आक्रोश रैली निकाली जाएगी। इसमें प्रदेश के करीब 50 हजार व्याख्याता शामिल होंगे।

Read more...

क्लिक योजना को लगा 'ग्रहण'

-जिले के 197 माध्यमिक शिक्षा के स्कूलों में शुरू होनी है योजना, अब तक 12 में ही हुआ एमओयू
बीकानेर। माध्यमिक शिक्षा के स्कूलों में कक्षा छह से दसवीं तक के बच्चों को कम्प्यूटर साक्षर बनाने के उद्देश्य से शुरू की गई क्लिक योजना को ग्रहण लग गया है। प्रदेश में करीब 7500 स्कूलों में क्लिक योजना शुरू होनी है लेकिन अब तक पांच फीसदी स्कूलों में ही आईटी ज्ञान केन्द्र से अनुबंध हुआ है। बीकानेर जिले में भी कमोबेश ऐसी ही स्थिति है। यहां 197 स्कूलों में से केवल बारह में ही अनुबंध हुआ है लेकिन वह भी दिखावे के लिए। ऐसे में चालू सत्र में क्लिक योजना का संचालन खटाई में नजर आ रहा है।
प्रदेश के करीब साढ़े सात हजार स्कूलों में वर्षों से स्थापित कम्प्यूटर लैब का व्यापक उपयोग सुनिश्चित करने के उद्देश्य से सत्र 2017-18 में क्लिक योजना शुरू की गई। योजना का उद्देश्य निजी स्कूलों की भांति सरकारी स्कूलों में छोटी कक्षाओं के विद्यार्थियों को कम्प्यूटर शिक्षा उपलब्ध कराना है। पूर्व में कम्प्यूटर शिक्षा का खर्च राज्य सरकार वहन करती थी लेकिन विगत कुछ सालों से सरकार ने हाथ खड़े कर दिए। ऐसे में कम्प्यूटर कबाड़ बन रहे हैं। इनके सार्थक उपयोग के लिए क्लिक योजना बनाई गई है। लेकिन योजना स्ववित्त पोषित होने के कारण विद्यार्थियों से फीस वसूलने की बात पर संस्था प्रधान हाथ पीछे खींच रहे हैं।
अनुबंध की खानापूर्ति
जिले के 197 माध्यमिक शिक्षा के विद्यालयों में कम्प्यूटर लैब स्थापित है, जहां सत्र 2017-18 में क्लिक योजना शुरू करने के आदेश दिए गए हैं लेकिन केवल १२ स्कूलों में ही आईटी ज्ञान केन्द्रों के साथ अनुबंध हुआ है। लेकिन अनुबंध के बाद भी कम्प्यूटर शिक्षा शुरू नहीं हुई है।
संस्था प्रधान नहीं ले रहे रूचि
क्लिक योजना को लेकर शुरूआत से ही संस्था प्रधान अरूचि दिखा रहे हैं। पहले 200 नामांकन का बहाना बनाया जा रहा था लेकिन रमसा की ओर से 100 नामांकन पर क्लिक योजना शुरू करने की छूट देने के बाद अब विद्यार्थियों से कम्प्यूटर फीस नहीं मिलने की बात कहकर ंअनुबंध नहीं किया जा रहा है। हालांकि रमसा की ओर से योजना की क्रियान्विति को लेकर संस्था प्रधानों को कई बार आदेश दिए जा चुके हैं।
निर्देश दिए जाएंगे
क्लिक योजना की क्रियान्विति में संस्था प्रधान ढिलाई बरत रहे हैं। बहुत कम स्कूलों में अनुबंध हुआ है। पुन: निर्देश दिए जाएंगे

हेतराम सारण, अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक, आरएमसए

Read more...

शिक्षकों की वेतनवृद्वि रोकने के आदेश वापिस लेने की मांग

 बीकानेर। वित्त विभाग की ओर से शिक्षकों के ग्रेड पे में कटौती करने तथा वेतन वृद्वि रोकने के जारी आदेश को अपास्त करने एवं द्वितीय वेतन श्रृखला तथा अन्य सवंर्गो के वेतनमान में ंरही विसंगति को दूर करने व सातवें वेतन आयोग के अनुसार वेतन दिलवाने आदि की मांग को लेकर राजस्थान शिक्षक संघ राष्ट्रीय के प्रान्तीय आव्हान पर शुक्रवार को शिक्षकों ने अतिरिक्त जिला कलक्टर को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। प्रदेशमंत्री रवि आचार्य ने कहा कि गत 2-3 वर्षो में शिक्षा क्षेत्र में शिक्षकों की ओर से शिक्षा के विकास के लिए नवाचारों से नामांकन भी बढ़ा है, तो परीक्षा परिणाम में भी वृद्धि हुई है। जिलाध्यक्ष ओमप्रकाश विश्नोई ने कहा कि सरकार मे बैठक उच्च अधिकारी शिक्षकों के धैर्य को कमजोरी मानकर नित नये आदेश जारी करवाकर शिक्षकों को कमजोर करने पर तुले हुए है। नगर अध्यक्ष शिवकुमार व्यास नगरमंत्री दिनेश आचार्य, त्रिपुरारी चतुर्वेदी, सुरेश कुमार, प्रवीण टॉक आदि शिक्षक नेताओं ने भी आदेशों की क्रियान्विति रोकने की मांग की।

Read more...

पोर्टल को शीघ्र शुरू करने की मांग

बीकानेर। जिले के पचास फीसदी स्कूलों की मान्यता खटाई में होने के संबंध में दैनिक नेशनल राजस्थान में प्रकाशित समाचार के बाद स्वयंसेवी शिक्षण संस्था संघ हरकत में आया है। संगठन के जिलाध्यक्ष कोडाराम भादू ने प्रारंभिक शिक्षा निदेशक को ज्ञापन देकर निजी विद्यालयों की मान्यता के १४ जुलाई को बंद किए गए पोर्टल को शीघ्र शुरू करने की मांग की है। ज्ञापन में बताया कि शिक्षा विभाग की ओर से सत्र 2017-18 में नवीन मान्यता क्रमोन्नति, अतिरिक्त विषय, स्थान परिवर्तन के लिए ऑनलाइन आवेदन मांगे। अनेक विद्यालयों का अभी तक निरीक्षण नहीं हुआ है। 14 जुलाई को अचानक पोर्टल बन्द कर देने से आधे से अधिक विद्यालयों के निरीक्षण के लिए पैनल दल गठित नहीं हो पाए। जिसके बिना मान्यता संभव नहीं है। उन्होंने आरोप लगाया कि गत वर्ष ऐसी ही स्थिति 25 मार्च 201७ को अचानक पोर्टल बन्द कर दिया गया। जिसके कारण पैनल निरीक्षण दलों की अनुशंसा के बावजूद जिले के 42 निजी विद्यालयों को मान्यता नहीं मिल पाई।

Read more...

प्राचार्य को सौंपा ज्ञापन

बीकानेर। राजकीय विधि महाविद्यालय में छात्रसंघ महासचिव विकास छंगाणी के नेतृत्व में शुक्रवार को कार्यवाहक प्राचार्य को ज्ञापन सौंपा। इसमें बताया गया कि विधि प्रथम वर्ष का परिणाम आए बिना विधि द्वितीय वर्ष में प्रवेश देना अनुचित है। उन्होंने परिणाम आए बिना विधि द्वितीय वर्ष में प्रवेश नहीं देने की मांग की है। इस दौरान गौरव बिन्नाणी, सत्येन्द्र मोदी, अनिरूद्ध आचार्य, श्रवण भादू, राजेन्द्र प्रजापत, धीरज देरासरी आदि मौजूद थे।

Read more...

फेस्टिवल ऑफ एजुकेशन में भाग लेंगे बीकानेर के दो मेधावी विद्यार्थी

बीकानेर। राज्य सरकार और जेम्स समूह के संयुक्त तत्वावधान में जयपुर एक्जीबिशन एवं कन्वेंशन सेंटर में शनिवार से प्रारम्भ होने वाले दो दिवसीय फेस्टिवल ऑफ एजुकेशन में बीकानेर के दो मेधावी विद्यार्थी भाग लेंगे। रमसा के एडीपीसी हेतराम सारण ने बताया कि फेस्टिवल ऑफ एज्युकेशन में राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय कालू के विद्यार्थी अनिल भादू एवं राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय खियेरा के लीलाधर ज्याणी पांच अगस्त को जिले का प्रतिनिधित्व करेंगे। समारोह में मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे राज्य के विद्यालयों के सुदृढ़ीकरण के लिए बनाए गए सीएसआर पोर्टल ज्ञान संकल्प और मुख्यमंत्री विद्यादान कोष का विधिवत लोकार्पण करेंगी।

Read more...

52 निजी स्कूलों को मान्यता जारी

बीकानेर। शिक्षा सत्र २०१७-१८ में नवीन मान्यता जारी होने का सिलसिला शुरू हो गया है। जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक उमाशंकर किराड़ू ने शुक्रवार को जिले की ५२ स्कूलों के मान्यता व क्रमोन्नति आदेश जारी कर दिए। उन्होंने बताया कि जिन स्कूलों के ऑनलाइन आवेदन के आधार पर पैनल निरीक्षण किया गया। रिपोर्ट के आधार पर आदेश जारी किए गए हैं। इसकी सूची जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय के नोटिस बोर्ड पर चस्पा की गई है। डीईईओ ने बताया कि अन्य आवेदक प्रक्रियाधीन है। इसकी सूचना संबंधित के लोगिन पर भेजी जा रही है। मान्यता संबंधी आदेश महेन्द्र पोटलिया से प्राप्त किए जा सकते हैं।

Read more...

नवीन मॉड्यूल में सूचनाएं करनी होगी अपलोड

बीकानेर। पदेन पंचायत प्रारंभिक शिक्षा अधिकारियों व ब्लॉक प्रारंभिक शिक्षा अधिकारियों को शाला दर्पण पोर्टल पर विद्यालय व विद्यार्थियों से संबंधित सूचनााएं नवीन मॉड्यूल में अपलोड करने के निर्देश दिए गए हंै। जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक शिक्षा व जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक शिक्षा उमाशंकर किराडृू ने शुक्रवार को इस आशय के आदेश जारी किए। इसमें विद्यालय प्रोफाइल अपडेट करने, अक्षय पेटिका प्रपत्र, विद्यार्थी प्रमोट अथवा नाम हटाना, नवप्रवेशित की प्रविष्टि, विद्यार्थी विस्तृत विवरण, कक्षा छह से आठवीं तक तृतीय भाषा चयन आदि नवीन मॉडयूल में इन्द्राज करने के निर्देश दिए हैं।

Read more...

पुस्तकें उपलब्ध कराने की मांग

बीकानेर। श्री नेहरू शारदा पीठ महाविद्यालय छात्रसंघ अध्यक्ष रूपसिंह के नेतृत्व में प्रतिनिधि मंडल ने प्राचार्य को ज्ञापन देकर पुस्तकालय में पुस्तकें उपलब्ध कराने की मांग की। प्राचार्य ने उपलब्धता शीघ्र सुनिश्चित करने का आश्वासन दिया। इस दौरान विकास सिंह, भागीरथ रामावत, श्रवणसिंह आदि मौजूद थे।

Read more...
Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News