Menu

सबसे कम उम्र का आईएएस बनने का जुनून

-परीक्षा से दो दिन पहले गले का ऑपरेशन करवाकर भी ९७.४० प्रतिशत अंक लाया मुकेश

-आईआईटी कर आईएएस बनने का सफर लंबा था, इसलिए कला संकाय ले लिया

Gravity

डीएनआर रिपोर्टर.सीकर
जब इंसान ठान लेता है तो वो पत्थर को चीर कर लक्ष्य हासिल करने की क्षमता रखता है। ऐसे में किसी परीक्षा को हर संकट के बाद भी पार करने की क्षमता भी उसे मिल जाती है। ऐसे ही एक होनहार छात्र ने भारतीय प्रशासनिक सेवा में जाने का लक्ष्य तय कर लिया है। अपनी योग्यता साबित करने के लिए उसने विज्ञान छोड़ बारहवीं कक्षा में कला संकाय लिया और शुक्रवार को माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अजमेर द्वारा घोषित 12वीं कला परीक्षा परिणाम में 97 फीसदी अंक लाकर स्वयं को साबित कर दिखाया। चौंकाने वाली बात यह है कि परीक्षा के दिनों में ही मुकेश को गले में बनी एक सिस्ट का ऑपरेशन करवाना पड़ा, लेकिन इस पीड़ादायक समय में भी उसने पुस्तकों का साथ नहीं छोड़ा।
मुकेश के सपनों को पंख लगाए सीकर के प्रतिष्ठित प्रिंस स्कूल ने। इस स्कूल ने एक बार फिर प्रदेश का ऐतिहासिक परिणाम दिया है। स्कूल के निदेशक डॉ. पीयूष सुंडा ने बताया कि छात्र मुकेश ने 97.40 प्रतिशत अंक हासिल कर कला संकाय में सर्वोच्च अंक का इतिहास रचा है। उसके पिता पिता हनुमान राम सामान्य कृषक है।
उन्होंने बताया कि बोर्ड परीक्षा के बीच मुकेश के गले की सिस्ट का ऑपरेशन हुआ था लेकिन मुकेश ने हिम्मत नहीं हारी। वह लगातार संघर्षशील रहा और अंत में ऐतिहासिक सफलता हासिल की। मुकेश को इस परिणाम की पहले से ही अपेक्षा थी।
21 साल की उम्र में बनना है आईएएस
मुकेश को लगता था कि विज्ञान संकाय रखकर वो २२ साल की उम्र में आईएएस बनेगा लेकिन कला संकाय में वो २१ साल की उम्र में ही इस पद पर पहुंच सकता है। इसीलिए उसने विज्ञान छोडक़र कला संकाय ले लिया।
प्रिंस ने फिर जमाई धाक
परीक्षा परिणाम के तहत प्रिंस स्कूल की पूजा जांगिड़ ने 95.40 प्रतिशत, शिवपाल सिंह ने 93.40 प्रतिशत, आकांक्षा ने 93.20 प्रतिशत, अंजली चौधरी ने 93.00 प्रतिशत, शिखा मील ने 92.40 प्रतिशत, सुनील राजपुरोहित ने 92.40 प्रतिशत, रहिश कुमार ने 92.40 प्रतिशत, कल्पना मीणा ने 92.00 प्रतिशत, अशोक कुमार ने 90.60 प्रतिशत, निखिल यादव ने 90.40 प्रतिशत, प्रियल सेवदा ने 90.00 प्रतिशत अंक हासिल किये हैं। शानदार परीक्षा परिणाम आने पर प्रिंस स्कूल में जश्न का माहौल रहा। विद्यार्थियों को बधाईयाँ दी गई और मिठाइयां वितरित की गई।

Read more...

चौदह सौ स्कूलों में बदले प्रिंसीपल, ये रही तबादला सूची

roopam 01

माध्यमिक शिक्षा निदेशक ने जारी किए आदेश
बीकानेर। एक दिन पहले तीन सौ प्रधानाध्यापकों के स्थानांतरण के बाद राज्य सरकार ने प्रदेश के १४०१ स्कूलों के प्रधानाचार्यों के तबादले किए हैं। माध्यमिक शिक्षा निदेशक नथमल डिडेल ने इस संबंध में आदेश जारी कर २८ मई तक कार्यग्रहण करने के आदेश दिए हैं। पूर्व में डीपीसी से प्रधानाचार्य बने इन अधिकारियों को काउंसलिंग के माध्यम से दूसरे जिलों में पदस्थापित किया गया था। अब उनका गृह जिलों में तबादला किया गया है। तबादला सूची जारी होने के बाद अधिकांश ने राहत की सांस ली, वहीं कइयों ने शहर से दूर तबादला होने पर रोष भी जताया।
जयपुर कैम्प में विगत एक सप्ताह से प्रधानाचार्य, प्रधानाध्यापक, व्याख्याता, वरिष्ठ अध्यापकों के तबादलों के लिए मशक्कत चल रही है। (डीएनआर) एक दिन पहले प्रधानाध्यापकों के तबादलों की छोटी सूची जारी हुई। रविवार शाम को १४०१ प्रधानाचार्यों के तबादलों की बड़ी सूची जारी हुई है।

20 05 2018 185838 Circular 113

20 05 2018 185838 Circular 114
20 05 2018 185838 Circular 115
20 05 2018 185838 Circular 165

 

बीकानेर में ५५ तबादले
तबादला सूची में बीकानेर जिले में ५५ प्रधानाचार्यों के तबादले हुए हैं। इनमें एक दर्जन से अधिक प्रधानाचार्य दूसरे जिलों में पदस्थापित थे, जिन्हें गृह जिले में पदस्थापित किया गया है। डीएनआर को मिली सूचना के अनुसार कुछ प्रधानाचार्यों को गृह जिले में ग्रामीण स्कूल मिले हैं, तो कइयों को दूसरे जिले से गृह जिले में लाने के साथ ही घर के नजदीक पदस्थापन मिला है।
किसी को डाइट, कोई टीटी कॉलेज में
प्रधानाचार्यों की तबादला सूची में कई शिक्षा अधिकारियों को स्कूलों से डाइट में पदस्थापित किया गया है, वहीं कुछ को टीटी कॉलेज व निदेशालय में लगाया गया है। सूची में कई ऐसे प्रधानाचार्यों को भी इधर-उधर किया गया है, जिनकी सेवानिवृति कुछ माह बाद ही होने वाली है (डीएनआर)। ऐसे में उन स्थानों पर फिलहाल तबादला होकर आने वालों को राहत मिलती नजर नहीं आ रही है।

Read more...

विद्युत निगम की लापरवाही से एक और मौत

बीकानेर। विद्युत निगम की लापरवाही के चलते एक और युवक की रविवार रात जान चली गई। जानकारी के अनुसार बीछवाल औद्योगिक क्षेत्र में एक निजी संवेदक के साथ काम करने वाले युवक कृपाल को करंट का झटका लगा। उसकी बाद में मौत हो गई। सोमवार सुबह पीबीएम अस्पताल में मृतक का पोस्टमार्टम किया गया। वहां मौजूद मृतकों के परिजनों ने विद्युत निगम और संबंधित संवेदकों की लापरवाही पर सवाल उठाए।

Read more...

नाटक में किया जिंदा सांप का इस्तेमाल, काटने से अभिनेत्री की मौत

बारासात ( पश्चिम बंगाल ), नौ मई! पश्चिम बंगाल के उत्तरी 24 परगना जिले में एक नाटक के दौरान जिंदा सांप का इस्तेमाल किया जा रहा था , जिसके काटने से 63 वर्षीय एक अभिनेत्री की मौत हो गई।
यह घटना कल रात हसनाबाद पुलिस स्टेशन के बारूनहाट गांव में हुई।
पुलिस ने बताया कि अभिनेत्री कालीदासी मंडल को सांप के काटने के बाद अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।
वहीं अभिनेत्री की एक सह कलाकार ने आरोप लगाया कि इस घटना के बाद एक ओझा ने उन्हें ठीक करने की कोशिश की थी लेकिन वह नाकाम रहा।
सह अभिनेत्री ने बताया कि मंडल को एक स्थानीय प्राथमिक अस्पताल में ले जाया गया लेकिन तब तक उसकी मौत हो गई।
भारत में कई ऐसे क्षेत्र हैं जहां लोगों का विश्वास है कि ओझा मंत्र पढ़कर और औषधी का इस्तेमाल करके ऐसे लोगों का इलाज कर सकता है , जिन्हें जहरीले सांप ने काटा हो।
पुलिस ने बताया कि अभी तक किसी ने इस संबंध में शिकायत नहीं दर्ज कराई है लेकिन वह इस मामले की जांच कर रहे हैं।
नाटक मंसामंगल काव्य पर आधारित था। इसमें सांपो की देवी मंसा की कहानी है।

Read more...
Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News