Menu

top banner

राष्ट्रीय

अब राजस्थान में नाबालिग से रेप पर होगी सीधी फांसी

 

जयपुर। मध्य प्रदेश में 12 वर्ष से कम उम्र की लड़कियों के साथ बलात्कार होने पर फांसी की सजा का प्रावधान होने के बाद अब राजस्थान में भी ऐसे ही कानून को पास कराने की तैयारी शुरू कर दी गई है। राजस्थान सरकार की ओर से बजट सत्र के दौरान ऐसे ही एक बिल को पास कराने की तैयारी की जा रही है। सरकार का मानना है कि इस बिल के पास होने के बाद ना सिर्फ बलात्कार की घटनाओं में कमी आ सकेगी बल्कि ऐसी घटनाओं में शामिल लोगों को कड़ी सजा भी दिलाई जा सकेगी। राजस्थान सरकार के इस फैसले के बारे में राज्य के गृहमंत्री ने गुलाबचंद कटारिया ने आधिकारिक पुष्टि की है। गृहमंत्री ने जानकारी देते हुए कहा कि सरकार इस बिल को बजट सत्र में लाने की तैयारी कर रही है और जल्द ही इसका एक ड्राफ्ट भी तैयार किया जाएगा।

 

सरकार के संबंधित विभाग अभी मध्य प्रदेश में विधानसभा से पास हुए बिल का अध्ययन कर रहे है। गौरतलब है कि 4 दिसंबर 2017 को मध्य प्रदेश की विधानसभा में दंड विधि संशोधन विधेयक को पास किया गया था। इस बिल के अनुसार राज्य में 12 साल तक की बच्ची के साथ दुष्कर्म या सामूहिक दुष्कर्म के मामले में फांसी तक की सजा दिए जाने का प्रावधान किया गया था। इसके साथ ही इस बिल में विवाह का झांसा देकर संबंध बनाने और उसके खिलाफ शिकायत प्रमाणित होने पर तीन साल कारावास की सजा का प्रावधान भी किया गया था।

Read more...

रैली निकाल रहे लोगों ने किया पुलिस पर पथराव

राजसमंद। राजसमंद में अफराजुल की हत्या करने वाले आरोपी शंभूलाल के समर्थन में आज धार्मिक संगठनों की ओर से रैली निकालने का प्रयास किया गया। इस पर पुलिस ने लाठियां भांजकर प्रदर्शनकारियों को खदेड़ा। इससे गुस्साए लोगों ने पुलिस पर पथराव कर दिया। दरअसल, लाइव मर्डर मामले में वायरल हो रहे भड़काऊ मैसेज के बाद प्रशासन की ओर से यहां उदयपुर और राजसमंद में इंटरनेट बैन कर दिया गया और एहतियातन धारा 144 लगा दी। इसके बावजूद आज हिंदू संगठनों की ओर से उदयपुर शहर के चेतक सर्किल, टाउन हॉल रोड, कोर्ट चौराहा और शास्त्री सर्किल पर रैली निकालने का प्रयास किया गया। इस पर हालात काबू करने के लिए पुलिस ने यहां प्रदर्शनकारियों को खदेडऩे के लिए लाठियां बरसाईं। इस पर गुस्साए प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव कर दिया। ये देख पुलिस की ओर से भी पथराव किया गया। जिसमें कई लोगों को चोटें भी आई। माहौल को बिगड़ते देख यहां बाजार बंद हो गए। हालांकि, सूचना पर पहुंचे पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों ने हालात पर काबू करने के लिए कई लोगों को गिरफ्तार किया। उधर, प्रशासन ने यहां दोनों जिलों में इंटरनेट बैन की अवधि को 24 घंटे के लिए बढ़ा दिया है।
ये है पूरा मामला
सोशल मीडिया को हथियार बनाकर साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाडऩे के प्रयास को देखते हुए राजस्थान के दो जिलो में इंटरनेट बंद कर दिया गया है। दरअसल ये मामला हाल ही में राजस्थान के राजसमंद में हुए लाइव मर्डर केस से जुड़ा है।
आरोप है कि कुछ संगठन बीते कई दिनों से उदयपुर और राजसमंद एक समुदाय विशेष के खिलाफ रैलियां निकाल रहे हैं और सोशल मीडिया पर अनर्गल बयानवाजी कर रहे हैं।
इसी के चलते संभागीय आयुक्त भवानी सिंह देथा के आदेश पर राजसमंद और उदयपुर में इंटरनेट बंद की अवधि को 24 घंटे के लिए अगले आदेश तक बढ़ाया गया है। गौरतलब है कि बीते दिनों राजसमंद में हत्या का लाइव वीडियो वायरल हुआ था। जिसके बाद से देश के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन किया जारहा है।

Read more...

वसुंधरा सरकार का 5वां साल महिलाओं के नाम, 3 गुना बढ़ाया बजट

जयपुर। राजस्थान की वसुंधरा राजे सरकार ने अपने वर्तमान कार्यकाल के अंतिम वर्ष आधी आबादी का खास ख्याल रखने का इरादा बनाया है। पिछले चार सालों में महिलाओं के हितार्थ जो कुछ कर पाई उससे आगे अब अगला साल उन्हें मजबूत बनाने पर फोकस रहने वाला है। राज्य सरकार के 4 वर्ष पूरे होने के अवसर पर महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री अनिता भदेल ने हाल ही प्रदेश की महिलाओं के लिए नई घोषणाओं और योजनाओं का जिक्र किया है। अधिकारिता विभाग में महिला अधिकारिता पर्यवेक्षक के 295 पदों, महिला पर्यवेक्षक के 221 पदों एवं संरक्षण अधिकारियों के 33 पदों पर सीधी भर्ती किए जाने की घोषणा की गई है। महिला अधिकारिता विभाग का वर्ष 2012-13 में बजट प्रावधान 91.92 करोड़ रुपए था। अब सरकार ने इस बजट को वर्ष 2017-18 में तीन गुना करते हुए 288.74 करोड़ रुपए कर दिया है।
मुख्यमंत्री राजश्री योजना
बालिकाओं के लिए व्यक्तिगत लाभ वाली योजना बनी है। इसक मकसद बालिका जन्म, शिक्षा एवं उनके विकास के प्रति सकारात्मक माहौल बनाना है। इस योजना के तहत 6 चरणों में 50,000 की राशि देने का प्रावधान रखा गया। 1 जून 2016 से अक्टूबर 2017 तक पहली किश्त के तहत 7,08,534 बालिकाओं को लाभ मिला और 177।13 करोड रुपए खर्च किए गए। दूसरी किश्त में 90,502 बालिकाओं को 22।63 करोड का भुगतान किया गया।
'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओÓ अभियान के तहत देश के 161 जिलों में राज्य के 14 जिले सम्मिलित किए गए हैं। बेटी जन्मोत्सव, बेटी के सम्मान में वृक्षारोपण, आठवां फेरा, ग्राम सभा में अनिवार्य एजेण्डा, स्कूलों में शपथ ग्रहण कार्यक्रम आदि नवाचारों को अपनाया गया है।


इन योजना के प्रयासों के तहत राज्य के 14 जिलों में से 10 जिलों में जन्म शिशु लिंगानुपात में सुधार दर्ज किया गया है। प्रदेश महिला अपराधों को का ग्राफ लगातार बढ़ रहा था इसलिए उन्हें रोकने के लिए यहां अपराजिता केंद्र बनाए गए। अपराजिता केंद्र भारत का रोल मॉडल केन्द्र बना हैं, हिंसा अथवा उत्पीडऩ की शिकार महिलाओं को न्याय एवं राहत दिलाने के लिए भारत का पहला केंद्र अपराजिता जयपुर में चलाया जा रहा है।
सामूहिक विवाह अनुदान योजना
दहेज प्रथा को कम करने के लिए हेतु प्रयास है जो नव विवाहित जोड़े को 15000 रुपए की अनुदान राशि और विवाह आयोजक संस्था को 3000 रुपए मुहैया कराती है। विभाग ने अब तक कुल 20337 जोड़ों को राशि रुपए 2732।81 लाख का वितरण कर चुका है। इसके तहत वर-वधु व आयोजक संस्था को मुख्यमंत्री बधाई संदेश का वितरण किया जाता है।
महिला उत्पीडऩ रोकने के लिए चिराली योजना
सामुदायिक प्रयासों से महिला उत्पीडऩ रोकने के लिए चिराली योजना शुरू की गई है। महिलाओं एवं बालिकाओं के प्रति होने वाली हिंसा की रोकथाम के लिए इसे 2017 से लागू किया गया है। महिलाओं एवं बालिकाओं के प्रति होने वाली हिंसा की रोकथाम के लिए ये समुदाय आधारित एक तरह के अनौपचारिक संगठन होंगे। राज्य के 7 जिलों यथा बांसवाड़ा, भीलवाड़ा, बूंदी, जालौर, झालावाड़, नागौर तथा प्रतापगढ़ में सामुदायिक कार्य दलों का गठन किया गया है।
इसी महीने से लागू होगी 'प्रधानमंत्री मातृ
वंदन योजनाÓ
प्रदेश में चिकित्सा के मामले में देखा जाए तो गर्भवती महिलाओं को प्रसव से पहले और प्रसव के बाद आर्थिक मदद के लिए नई योजना लागू की जा रही है। शिशु टीकाकरण को प्रोत्साहन देने के लिए प्रधानमंत्री मातृ वंदन योजना इसी महीने से लागू की जाने की घोषणा की है। इस योजना के अन्तर्गत परिवार में प्रथम डिलीवरी पर गर्भकाल के पहले 6 महीने में पहली किस्त 1000 रुपए, गर्भकाल में अन्तिम तीन महीने में 2000 रुपए और शिशु जन्म के बाद टीकाकरण आदि होने के बाद 2000 रुपए बैंक खाते में भुगतान किए जाएंगे।
लागू होगा राष्ट्रीय पोषण मिशन
राज्य में राष्ट्रीय पोषण मिशन लागू किया जायेगा। इसके तहत वर्ष 2017-18 से वर्ष 2019-20 तक छोटे बच्चों, किशोरियों एवं गर्भवती या धात्री महिलाओं में पोषण, एनीमिया और ठिगनेपन के स्तर के गिरते स्तर को कम किया जाएगा। ये वो समस्याएं हैं जिन्हें, कई सर्वे और रिपोर्ट्स के जिरए चिकित्सा की दिशा में काम रही डब्ल्यूएचओ जैसी है अहम संस्थाओं ने चेताया उसके बाद सरकार ने इस दिखा काम करने के लिए योजनाएं तैयार की हैं, जिन्हें सही तरीके से अमल में लाना बेहद जरूरी है।

इसी दिशा में आईसीटी आधारित रियल टाइम मोनिटरिंग कर, कुपोषण का समाधान तंत्र विकसित किया जाएगा।

Read more...

उत्तर प्रदेश के मैनपुरी में महीनों गैंगरेप के बाद लड़की को मिट्टी का तेल डाल लगाई आग

मैनपुरी। मैनपुरी में रेप का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है, यहां तीन दबंगों ने एक नाबालिग को पहले डराया धमकाया फिर पूरे परिवार को मार देने की धमकी देकर महीनों गैंग रेप किया और परेशान नाबालिग लड़की ने जब पुलिस का सहारा लेना चाहा तो बदमाशों ने लड़की को अकेला पाकर घर में बंधक बनाया फिर उसके साथ बलात्कार किया और बाद में उसके ऊपर मिट्टी का तेल डालकर आग लगा कर भाग गए। किसी तरह लड़की को बचाया गया और जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया जंहा लड़की की गंभीर हालत को देखकर डॉक्टर ने घायल लड़की को सैफई मेडिकल कॉलेज के रेफर कर दिया है। वहीं दूसरी ओर पुलिस अपनी कार्रवाई कर रही है। धमकी से नहीं डरी तो जला दिया जिंदा मामला मैनपुरी के कुरावली मोहल्ला बेजनटोला का है, यहां के रहने वाले राजेंद्र भटनागर की नाबालिग पुत्री रोशनी (बदला हुआ नाम) को मोहल्ले के रहने वाले पंची जाटव, सचिन महाजन और आशीष गुप्ता ने पिछले दो महीनों से परिजनों को मार देने की धमकी देकर लड़की के साथ जबरदस्ती गैंग रेप किया। पीड़ित ने किसी तरह हिम्मत जुटाकर जब पूरा मामला परिजनों को बताया तो परिजन पुलिस के पास पंहुचे, जिससे सभी दबंगों ने लड़की को घर पर अकेला देख उसे जिंदा जला डाला। लड़की को सैफई किया गया रेफर किसी तरह मोहल्ले के लोगों ने आग बुझाई और परिजन जली हुई लड़की को लेकर कुरावली स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे, जंहा से लड़की को जिला अस्पताल रेफर किया गया। डॉक्टर ने उसकी गंभीर हालत देखकर उसे सैफई रेफर कर दिया है। महीनों से दरिंदों का थी शिकार मामले पर बोलते हुए अपर पुलिस अधीक्षक ओपी सिंह ने बताया कि पीड़िता बीएससी की छात्रा है, 3 लड़कों ने घर में घुसकर गैंगरेप किया और फिर मिट्टी का तेल डालकर उसे आग के हवाले कर दिया। मामला संबंधित थाने में दर्ज किया गया है, तीनों आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।

Read more...

अमरनाथ में जयकारे पर रोक को लेकर एनजीटी की सफाई, 'केवल शिवलिंग के सामने रहें शांत'

नई दिल्ली। अमरनाथ यात्रा के दौरान जयकारा लगाने और मंत्रोच्चार पर रोक को लेकर दिए गए फैसले पर एनजीटी ने सफाई दी है। नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) ने कहा कि हमने अमरनाथ को साइलेंट जोन घोषित नहीं किया है। एनजीटी ने बताया कि अमरनाथ की पवित्र गुफा में शिवलिंग के सामने शांति रखने की बात कही है। फैसले में साफ कहा गया है कि श्रद्धालु अमरनाथ गुफा में पहुंचे पर शांति बनाए रखें। एनजीटी ने साफ किया है कि शांति बनाए रखने का नियम अमरनाथ यात्रा के दौरान किसी दूसरे हिस्से पर लागू नहीं होता है।
अमरनाथ में जयकारा और मंत्रोच्चार रोक पर हृत्रञ्ज ने दी सफाई
अमरनाथ यात्रा के दौरान जयकारे और मंत्रोच्चार पर रोक को लेकर दिए गए एनजीटी के आदेश पर बीजेपी ने सवाल खड़े किए थे, जिसके बाद राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण (एनजीटी) ने अपना पक्ष रखा है। एनजीटी ने कहा कि अमरनाथ यात्रा में किसी भी जगह को साइलेंट जोन घोषित नहीं किया गया है। एनजीटी ने सफाई में कहा कि केवल अमरनाथ गुफा में पवित्र शिवलिंग के सामने शांति बनाए रखने की बात कही है, दूसरे हिस्सों में ये लागू नहीं होगा।

एनजीटी ने आगे कहा कि अमरनाथ यात्रा के दौरान आखिरी चेक पोस्ट के बाद एक ही पंक्ति में श्रद्धालुओं को भेजने का फैसला लागू रहेगा। वन-वे पंक्ति को बनाए रखा जाएगा।' एनजीटी ने कहा कि सभी जरूरी निर्देश अमरनाथ गुफा की पवित्रता बनाए रखने के लिए किया गया है। शोर-शराबे से गुफा पर कोई प्रतिकूल असर नहीं हो इसके लिए वहां शांति बनाए रखने के लिए कहा गया है। हालांकि एनजीटी ने साफा किया है कि आरती और दूसरे अनुष्ठान पर ये नियम लागू नहीं होगा।

Read more...

सीबीआई ने आनंदपाल एनकाउंटर की जांच करने से मना किया

आनंदपाल एनकाउंटर मामले की जांच करने से सीबीआई ने मना कर दिया है। इससे आनंदपाल के परिजनों और इस मांग को लेकर आंदोलन कर रहे राजपूत समाज को झटका लगा है। हाईकोर्टके बाद सीबीआई ने अब राज्य सरकार को भी आनंदपाल सिंह एनकाउंटर की जांच करने से इनकार कर दिया है। बहुचर्चित प्रकरण में राजपूत एवं रावणा राजपूत समाज के कड़े विरोध के चलते राज्य सरकार ने मामले की जांच सीबीआई से कराने की सिफारिश केंद्र से की थी। केंद्र ने राज्य की इस सिफारिश को लौटा दिया है। गृह विभाग ने इसकी पुष्टि की है। सीबीआई ने करीब डेढ़ महीने पहले ही इनकार कर दिया था लेकिन, केंद्र की यह चिट्ठी एक दिन पहले ही गृह विभाग को मिली है।

समाज के ही कुछ लोग आनंदपाल एनकाउंटर की जांच सीबीआई से कराने के पक्ष में थे, लेकिन सावराद में उपद्रव एवं उसमें एक युवक की मौत की जांच कराने के पक्ष में शुरू से नहीं थे। सीबीआई की तरफ से काफी दिनों तक जब कोई जवाब नहीं मिला तो आनंदपाल की पत्नी ने सीबीआई जांच के लिए अदालत का रुख किया. आनंदपाल की पत्नी ने सबसे पहले सीबीआई जांच में देरी को लेकर राजस्थान के चूरू जिला सत्र न्यायालय में एक याचिका दायर की थी. जिला सत्र न्यायालय ने इस याचिका को खारिज कर दिया, जिसके बाद आनंदपाल की पत्नी ने राजस्थान हाईकोर्ट का रुख किया. सीबीआई जांच के मुद्दे पर राजस्थान हाईकोर्ट में बुधवार को सुनवाई हुई. इस सुनवाई में सीबीआई के वकील ने हाईकोर्ट को बताया कि सीबीआई आनंदपाल एनकाउंटर की जांच के लिए तैयार नहीं है. बुधवार को इस याचिका की सुनवाई के दौरान सीबीआई के वकील का कहना था कि चूरू के रतनगढ़ थाने में दर्ज एफआईआर की जांच में यह पाया गया कि यह अनुसंधान सीबीआई की जांच के योग्य नहीं है।

Read more...

नई सडक़ पर दिनदहाड़े चाकूबाजी

जोधपुर। शहर के नई सडक़ एरिया में एक मिठाई की दुकान के नजदीक आज दोपहर में हुई चाकूबाजी में एक युवक घायल हो गया। शरीर चाकू से दो तीन घाव लगना बताया जाता है। पुलिस ने घायल को एमजीएच में उपचार करवाया है। हमले की वजह फिलहाल पता नहीं लगी है। सदर बाजार पुलिस घटनास्थल पर पहुंची।
सदर बाजार पुलिस ने बताया कि मदिना कोलोनी निवासी फयाज पुत्र मोहिनुद्दीन पर आज दोपहर में उसके क्षेत्र के रहने वाले दो तीन युवकों ने किसी बात को लेकर झगड़ा किया। फिर किसी ने अपने पास रखे से चाकू से हमला किया। घायल ने पर्चा बयान में चाकू से वार करना बताया है। पुलिस ने घायल फयाज का एमजीएच में उपचार करवाया है। पुलिस ने बताया कि हमले की वजह आरंभिक तौर पर स्पष्ट नहीं हुई है। माना जा रहा है कि इनके बीच आपसी रंजिश हो सकती है। हमला करने के बाद युवक फरार हो गए। चाकू के वार से फयाज के शरीर पर दो तीन जख्म लगना बताया गया है। अनुसंधान जारी है।

Read more...

चौदहवीं के चांद की रात होते हैं ज्यादा हादसे : अध्ययन

न्यूयॉर्क। एक अध्ययन में सामने आया है कि जिस रात में चांद पूरा होता है उससे एक रात पहले बाइक के दुर्घटनाग्रस्त होने की संभावना अधिक रहती है।
शोधकर्ताओं का मानना है कि पूरे चांद की रात में बाइक सवार का ध्यान भटक जाता है जो हादसे को दावत देता है। शोधकर्ताओं ने बताया कि दुनिया में बाइक हादसे में लोगों की जान जाना आम है। अमेरिका में हर साल इस वजह से करीब पांच हजार लोगों की मौत होती है। यानी हर सात सड़क दुर्घटनाओं में मरने वालों में एक बाइक सवार होता है।
सड़क हादसों की बड़ी वजह वाहन चलाने के दौरान अचानक से ध्यान भटक जाना होता है। साल में करीब 12 बार पूरा चांद दिखता है जो बड़ा और चमकीला होता है। इसलिए यह संभावित तौर पर वाहन चालक का ध्यान भटका सकता है।
कनाडा के यूनिवर्सिटी ऑफ टोरंटो और अमेरिका के प्रिंसेंटन यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने पूर्ण चंद्र वाली रात में होने वाले सड़क हादसों की गणना की है और इसकी तुलना पूर्ण चंद्र से ठीक एक हफ्ते पहले और बाद वाले हफ्ते में होने वाले सड़क हादसों से की है।
।,482 रातों में 13,029 लोग घातक बाइक हादसों का शिकार हुए। इनमें 494 रातें पूर्ण चंद्र वाली थीं जबकि 988 रातें सामान्य थीं।
आम तौर पर बाइक चलाने वाला मध्यम उम्र का पुरूष (औसत उम्र 32) होता है जो ग्रामीण सड़क पर बाइक चलाता है और उसके सीधे सिर में चोट लगती है क्योंकि वह हेलमेट भी नहीं पहना होता है।
कुलमिलाकर, पूरे चांद की 494 रातों में 4,494 घातक दुर्घटनाएं हुई। यानी प्रत्एक रात करीब नौ सड़क हादसे हुए। वहीं सामान्य 988 रातों में 8,535 हादसे हुए जिसका औसत प्रत्एक रात 8.64 हादसे है।

Read more...

गोली लगने से चेन्नई पुलिस निरीक्षक की मौत

जयपुर, राजस्थान के पाली जिले के जैतारण थाना इलाके में कल देर रात एक अपराधी को पकडऩे गए चेन्नई पुलिस दल में शामिल पुलिस निरीक्षक पेरिया पांडियल :40: की गोली लगने से मौत हो गई। शुरुआती जांच में सामने आया है कि मदुरावाइल थाने में तैनात पेरिया पांडियल की मौत चेन्नई पुलिस दल में ही शामिल सदस्य की गोली से हुई है।पुलिस ने गिरफ्तार करने गए वांछित अपराधी के चार पांच परिजन को पुलिस से हाथापाई करने के आरोप में हिरासत में लिया है। पुलिस निरीक्षक का शव पोस्टमार्टम के लिए जैतारण से जोधपुर भेजा गया है। पुलिस महानिरीक्षक :जोधपुर: हवा सिंह घुमरिया ने पीटीआई भाषा को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि चेन्नई पुलिस का दल एक अपराधी को पकडऩे के लिए देर रात जैतारण गया था। जैतारण में चेन्नई पुलिस दल और अपराधी के परिजन के बीच हाथापाई हुई इसी दौरान पुलिस दल में शामिल एक सदस्य की गोली चल गई जो कि पुलिस निरीक्षक :40: को लग गई जिससे उनकी मौत हो गई।
उन्होंने बताया कि चेन्नई पुलिस ने पाली पुलिस को जैतारण में छिपे अपराधी को पकडऩे के लिए जाने की सूचना नहीं दी थी। घटना के वक्त पाली पुलिस साथ नहीं थी। घुमरिया के अनुसार चेन्नई पुलिस ने पाली पुलिस अधीक्षक को पाली आने की सूचना दी थी लेकिन पुलिस अधीक्षक ने चेन्नई पुलिस को भरोसा दिलाया था कि वह वांछित अपराधी को पकड़ कर :चेन्नई पुलिस: को सुपुर्द कर देंगे लेकिन संभवत चेन्नई पुलिस अपराधी के बारे में पुख्ता सूचना पा पर अकेले मौके पर पहुंच गई होगी। घुमरिया ने बताया कि पाली पुलिस ने पहले भी इसी मामले में तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार कर चेन्नई पुलिस को सौंपा था। उन्होंने बताया कि शुरुआती जांच और हालात में सामने आया कि पुलिस निरीक्षक पेरिया पांडियल की मौत चेन्नई के पांच सदस्ईय दल में शामिल अन्य पुलिसकर्मी के हथियार से चली गोली से हुई है। मामले की जांच की जा रही है।
पाली पुलिस अधीक्षक दीपक भार्गव के अनुसार चेन्नई पुलिस का पांच सदस्ईय दल कल पाली आया था। चेन्नई पुलिस दल ने राजमंगलम थाना :चेन्नई : में गत 16 नवम्बर को दर्ज चोरी के एक मामले में आरोपी नाथू राम की गिरफ्तारी के लिए जैतारण के रामावास गांव में ईट के भट्टों के पास दबिश दी थी।
उन्होने बताया कि दबिश के दौरान आरोपी और चेन्नई पुलिस दल में हाथापाई हुई और इसी दौरान चली गोली से पांडियल की मौत हो गई। पुलिस ने मौके से गोली के खोल जब्त किए है। आरोपी नाथू राम मौके से फरार हो गया है जबकि उसके चार पांच परिजन को पुलिस ने हिरासत में लिया है। चेन्नई पुलिस दल में दो निरीक्षक, दो हेड कास्टेबल और एक कास्टेबल था।
पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Read more...

वोडाफोन का नया प्लान, अब यूजर्स को मिलेगा लाइफ इंश्योरेंस, जानिए पूरा प्लान

नई दिल्ली। वोडाफोन ने अपने यूजर्स के लिए नया प्लान लॉन्च किया है। इस प्लान में यूजर्स को कंपनी की ओर से लाइफ इंश्योंरेस भी मिलेगा। कंपनी ने अपने यूजर्स के लिए लाइफ इंश्योरेंस वाला मोबिलिटी प्लान रेड प्रोटेक्ट लॉन्च किया है। हालांकि आपको बता दें कि ये प्लान सबके लिए नहीं हैं। इस प्लान का फायदा केवल वहीं यूजर्स उठा सकते हैं जो कम से कम 499 रुपए का मंथली प्लान लेते हैं। आइए आपको इस प्लान के बारे में पूरी जानकारी देते हैं... वोडाफोन का मोबिलिटी प्लान वोडाफोन ने अपने यूजर्स के लिए मोबिलिटी प्लान लॉन्च किया है। जिसमें आपको 20 साल के लिए जीवन बीमा पॉलिसी मिल रही है। आप को सिर्फ एक महीने के प्लान के बराबर की कीमत पर ये लाइफ इंश्योंरेस पॉलिसी दी जा रही है। आप वोडाफोन के इस रेड प्रोटेक्ट प्लान का फायदा उठाकर मुश्किल वक्त में मदद पा सकते हैं। अवीवा लाइफ इंश्योरेंस के साथ भागीदारी वोडाफोन ने इस प्लान के लिए अवीवा लाइफ इंश्योरेंस के साथ भागीदारी की है और जीवन बीमा युक्त मोबिलिटी प्लान रेड प्रोटेक्ट को लॉन्च किया है। इस प्लान में आपकी बीमा राशि 20 साल के मासिक किराए के बराबर होगी। केवल पोस्टपेड यूजर्स के लिए स्कीम आपको बता दें कि वोडाफोन का ये प्लान केवल पोस्टपेड यूजर्स के लिए है। इस प्लान के तहत केवल वो ही यूजर्स फायदा उठा सकते हैं, जिनका मंथली प्लान कम से कम 499 रुपए है। इस इंश्योरेंस को पाने के लिए आपको कम से कम 499 रुपए का प्लान लेना होगा। कैसे ले सकते हैं ये प्लान अगर आप वोडाफोन का मोबिलिटी प्लान लना चाहते हैं तो आपको लाइफ इंश्योरेंस को एक्टिवेट करने के लिए कंपनी के टोल फ्री नंबर 199 पर कॉल करना होगा। इस नंबर पर फोन करने के बाद आपसे जरूरी जानकारी और कागजात मांगे जाएंगे । कंपनी की ओर से उन कागजातों का वेरिफिकेशन किया जाएगा और फिर आपका इंश्योंरेस एक्टिव कर दिया जाएगा। फिलहाल यह प्लान अभी कॉरपोरेट प्लान यूजर्स के लिए ही है।

Read more...
Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News