Menu

राष्ट्रीय

बच्चे को सीने से लगाकर ट्रेन के आगे लेटी महिला, फिर भी नहीं आई खरोंच

RK for website02

नेशनल डेस्क: मध्य प्रदेश के बुरहानपुर जिले में ​उस समय हड़कंप मच गया जब एक महिला अपने डेढ़ महीने के बच्चे को सीने में लगाकर रेलवे ट्रैक पर लेट गई। हैरानी की बात है कि दोनों के ऊपर से ट्रेन गुजर गई लेकिन उन्हे खरोंच तक नहीं आई। जिसने भी यह देखा वो अपनी आंखों पर विश्वाश नहीं कर पाया।
जानकारी के अनुसार शनिवार सुबह एक महिला गोरखपुर से मुंबई जा रही काशी एक्सप्रेस ट्रेन से उतरी और सीधा जाकर रेलवे ट्रैक पर लेट गई। इसी बीच दूसरी लाइन पर पुष्पक एक्सप्रेस आ गई। 100 की स्पीड से आई ट्रेन महिला और उसके बच्चे के ऊपर से गुजर गई। यात्रियों के अनुसार उन्हे लगा कि अब वह दोनों नहीं बच पाएंगे। लेकिन ट्रेन के गुजरने के बाद भी दोनों सही सलामत ट्रैक पर लेटे हुए थे। जानकारी मिलते ही स्टेशन मास्टर आशाराम नागवंशी मौके पर पहुंचे और महिला को ट्रैक से उठाया।

पूछताछ में 25 साल की तबस्सुम ने बताया कि कि वह मूल रूप से इलाहाबाद की रहने वाली है और उसके पति का नाम मोहम्मद साजिद है। उसने बताया कि उसके पति ने उसे तलाक दे दिया। तब से ही वह काफी तनाव में थी। तबस्सुम ने बताया कि बेटा होने से दो महीने पहले भी उसने खुदकुशी की कोशिश की थी लेकिन तब भी वह बच गई थी। लोगों के अनुसार महिला मानसिक रूप से कमजोर है और बार-बार बयान बदल रही थी।

Read more...

हवाई अड्डे पर अब नहीं खोएगा आपका बैग, युवा वैज्ञानिक लेकर आए नई तकनीक

पिलानी: विमान से उतरने के बाद यात्रियों की सबसे बड़ी चिंता अपने सामान को लेकर होती है और उनकी यह चिंता जायज भी है क्योंकि देश के 449 हवाई अड्डों पर हर दिन 128 बैग इधर-उधर हो जाते हैं तभी तो इस वर्ष के स्‍मार्ट इंडिया हैकाथॉन की स्‍मार्ट कम्‍युनिकेशन श्रेणी के फाइनल में पहुंची 13 टीमों में तीन ऐसे दलों को शामिल किया गया था, जिन्‍होंने इस समस्या के समाधान के मॉडल पेश किए। पिलानी स्‍थित वैज्ञानिक तथा औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर)-सीरी में आयोजित स्‍मार्ट कम्‍युनिकेशन वर्ग के ग्रैंड फिनाले में नई दिल्‍ली के भारती विद्यापीठ कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, नवी मुंबई के एसआईईएस ग्रेजुएट स्‍कूल ऑफ टेक्‍नोलॉजी एवं बेंगलुरु के आर.वी. कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग की 6-6 सदस्‍यीय टीमों ने इस समस्‍या के समाधान के लिए अपने हार्डवेयर उत्‍पाद के प्रोटोटाइप प्रस्‍तुत किए। इनमें से बेंगलुरु और नई दिल्‍ली की टीमों ने प्रतियोगिता में क्रमश: दूसरा और तीसरा स्‍थान हासिल किया

स्‍मार्टफोन से बैग पर नजर
पुडुचेरी सरकार ने इस साल के स्‍मार्ट इंडिया हैकाथॉन में इस समस्‍या को रखा था। बेंगलुरु की टीम का नेतृत्‍व सुप्रीत वाई एस ने किया। इस टीम ने अपने उत्‍पाद में पैसिव आरएफआईडी (रेडियो फ्रिक्‍वेंसी आइडेंटिफिकेशन) टैग का इस्‍तेमाल किया है। इस टैग के जरिए बैग की वास्‍तविक स्‍थिति पर नजर रखी जा सकेगी एवं बैगेज खोने की स्‍थिति में इस टैग की मदद से उसे आसानी से ढूंढा जा सकेगा। साथ ही यात्री अपने स्‍मार्टफोन की मदद से बैग की वास्‍तविक स्‍थिति पर नजर रख सकेंगे। इसके अलावा यात्रियों को बैगेज की स्‍थिति के बारे में एसएमएस के जरिये भी सूचना प्राप्‍त होगी।

खर्च करने होंगे इतने रुपए
सुप्रीत ने बताया कि यह टैग बहुत किफायती है और यात्री को इसके लिए महज 20 से 30 रुपए खर्च करने होंगे। उन्होंने बताया कि इन टैग को फिर से इस्तेमाल किया जा सकता है और यात्री चाहे तो गंतव्‍य तक पहुंचने के बाद इस टैग को अपने साथ घर ले जा सकेंगे। वे अपनी मूल्‍यवान वस्‍तुओं एवं पालतू पशुओं को इस टैग के जरिये ट्रैक कर सकेंगे।

ये होगी इसकी खासियत
र्हिषल बंसल की अगुवाई वाली दिल्‍ली की टीम ने भी कुछ इसी तरह का प्रोटोटाइप पेश किया। दिल्ली टीम की अगुवाई कर रहे बंसल ने बताया कि उनके मॉडल की खासियत यह है कि इसमें यात्रियों के साथ-साथ भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण को भी बैगेज की वास्तविक स्थिति के बारे में जानकारी दी जाएगी। उन्होंने बताया कि उनके द्वारा प्रस्तावित मॉडल में बारकोड की पुरानी व्यवस्था को हटाने की आवश्यकता नहीं होगी और उनका टैग पहले की प्रणाली को बेहतर बनाएगा। इन दोनों टीमों द्वारा तैयार किया गया हरेक टैग 10-12 मीटर तक काम करेगा। दोनों टीमों ने बताया कि उन्होंने पैसिव आरएफआईडी का इस्तेमाल किया है जो हमारे स्वास्थ्य के लिए खतरनाक नहीं है।

इन बड़ी हस्तियों के अटक गए थे बैग
गौरतलब है कि इस साल 29 मार्च को नई दिल्ली स्थित इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के टर्मिनल-3 पर सैकडों यात्रियों को 'बैगेज क्लियरेंसÓ में विलंब का सामना करना पड़ा, जिसके चलते लंबी कतारें लग गईं और उड़ानों में देर हुई। भाजपा की लोकसभा सदस्य हेमा मालिनी भी उन यात्रियों में शामिल थीं जिनका बैग अटक गया था। ऐसी खबरें मिली थीं कि समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव का बैग भी अटक गया था। रेल मंत्री पीयूष गोयल भी मुंबई में एक कार्यक्रम में देरी से पहुंचे। सूत्रों ने बताया कि विमान के देरी से उड़ान भरने के चलते ऐसा हुआ। भारत में कुल 449 हवाई अड्डे हैं और एक अनुमान के मुताबिक 128 बैग प्रतिदिन गलत हाथों में चले जाते हैं। इससे यात्रियों को असुविधा का सामना करना पड़ता है और उन्हें देरी होती है। सीएसआईआर-सीरी के निदेशक शांतनु चौधुरी ने इन प्रोटोटाइप के व्यावसायिक संस्करण लांच होने पर इस समस्या के समाधान की उम्मीद जताई।

maharshi add for website national rajasthan

Read more...

दिल्ली: मेजर की पत्नी की हत्या का आरोपी मेजर हांडा गिरफ्तार

Gravity

नेशनल डेस्क: पश्चिमी दिल्ली में थल सेना के एक मेजर की पत्नी की हत्या में कथित संलिप्तता को लेकर एक अन्य मेजर को उत्तर प्रदेश के मेरठ से हिरासत में लिया गया है। पुलिस ने आरोपी को मेरठ से गिरफ्तार किया है जिसे दिल्ली ले जाया जा रहा है। माना जा रहा है कि लव-अफेयर के चलते मेजर की पत्नी की हत्या की गई।
बता दें कि शनिवार को दिल्ली के आर्मी कैंट स्थित बराड़ स्क्वेयर इलाके में भारतीय सेना में मेजर अमित द्विवेदी की पत्नी शैलजा का शव पाया गया था शैलजा का गला कटा हुआ था और उनकी बॉडी को एक कार से कई बार कुचला गया। शुरूआत में पुलिस को सूचना दी गई कि महिला की दुर्घटना में मौत हो गई है। लेकिन बाद में शव का मुआयना किया तब यह पाया गया कि उसका गला रेता हुआ था । शुरुआती जांच में मिले सबूतों के आधार पर पुलिस ने माना कि हत्या में मृतका का बेहद करीबी शामिल है। पुलिस के अनुसार शैलजा संदिग्ध से मिली थीं जो नगालैंड में एक अस्पताल के पास सीसीटीवी फुटेज में दिखा था। पिछले दिनों शैलजा के पति मेजर अमित द्विवेदी की तैनाती भी नगालैंड में थी।
पुलिस को शैलजा के बरामद मोबाइल फोन से कई अहम सुराग हाथ लगे हैं। आशंका जताई जा रही है कि कत्ल से पहले किसी बात पर कातिल और शैलजा का मनमुटाव भी हुआ था। इससे पहले डीसीपी विजय कुमार ने बताया था कि कातिल के खिलाफ पुख्ता सबूत मिल गए हैं। उन्होंने कहा था कि कातिल परिवार का बेहद करीबी है। दो और लोग शैलजा से टच में थे। बता दें कि शैलजा दिल्ली की रहने वाली थीं और अमित द्विवेदी मेरठ के रहने वाले थे। 2009 में उनकी शादी हुई थी। उनका एक 6 साल का बेटा भी है। अमित अभी दीमापुर नागालैंड में पोस्टेड हैं।

Read more...

घाटी में 270 से ज्यादा आतंकी घुसपैठ की फिराक में: सेना

roopam 01new

नेशनल डेस्क: जम्मू कश्मीर में राज्यपाल शासन लागू होने के बाद भारतीय सेना ने एक बार फिर आतंकियों के खिलाफ अभियान तेज कर दिया है। इस बार सेना के निशाने में 300 आतंकी है। वहीं दूसरी और आतंकी सीमा पर लगातार घुसपैठ करने का प्रयास कर रहे हैं। जम्मू कश्मीर में करीब 250-275 आतंकी घुसपैठ करने की फिराक में हैं। यह जानकारी श्रीनगर स्थित 15 कॉर्प्स के कमांडर के लेफ्टिनेंट जनरल ऐके भट्ट ने दी है। उनके अनुसार उत्तर कश्मीर में दक्षिण कश्मीर के मुकाबले काफी कम आतंकी हैं।
सेना जवाब देने को तैयार
लेफ्टिनेंट जनरल ने कहा कि पाकिस्तान के लॉन्चिंग पैड से करीब 200 आतंकी घुसपैठ की कोशिश में है। सुरक्षा बलों को इसके लिए मुस्तैद कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान सोशल मीडिया के जरिए जम्मू-कश्मीर में दुष्प्रचार की कोशिश कर रहा है। भट्ट ने बताया कि आतंकियों के सफाये के लिए हमारा ऑपरेशन ऑल आउट जारी है। इसमें जम्मू-कश्मीर पुलिस की मदद के अलावा एनएसजी कमांडरों की भी मदद ली जा रही है। हमारी प्राथमिकता घाटी में शांति कायम करना है।
ऑपरेशन ऑलआउट शुरू
बता दें कि सुरक्षा बलों ने जम्मू-कश्मीर में ऑपरेशन ऑलआउट पार्ट-2 शुरू कर दिया है। राज्य में राज्यपाल शासन लागू होने के बाद सुरक्षा बलों ने पहले ही ऑपरेशन में आईएसजेके के चार आतंकियों को मुठभेड़ में मार गिराया। सेना ने जम्मू-कश्मीर में सक्रिय टॉप-21 आतंकियों की हिट लिस्ट तैयार की है। सेना का मानना है कि इन 21 आतंकियों को मार गिराया गया तो जम्मू-कश्मीर में आतंक की कमर टूट जाएगी। इनमें 11 आतंकी हिजबुल मुजाहिदीन के, 7 लश्कर-ए-तैयबा, 2 जैश-ए-मोहम्मद और एक आतंकी अंसार गाजवत उल-हिंद (एजीएच) के हैं।

 

Read more...

बाड़मेर में मासूम की दुष्कर्म के बाद हत्या का आरोपी गिरफ्तार, 3 दिन की पुलिस रिमांड पर

RK for website02

बाड़मेर। जिला पुलिस ने सात साल की मासूम की बलात्कार के बाद हुई हत्या के मामले में आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी रशिद को पुलिस ने 3 दिन की रिमांड पर लिया है और पूछताछ शुरू कर दी है। गुरूवार को अपने चाचा के साथ सो रही 7 साल की मासूम को आरोपी रशिद उठाकर ले गया था। रशिद ने रात भर मासूम के साथ दुष्कर्म किया और फिर गला दबाकर हत्या कर दी। आरोपी ने मासूम के शव को पानी के टैंक में ड़ाल दिया। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार करके अपर जिला और सेशन न्यायधीश अनिल आर्य के समक्ष पेश किया। जहां मजिस्ट्रेट ने आरोपी को 3 दिन के पुलिस रिमांड भेज दिया है। राज्य बाल अधिकार आयोग के अध्यक्ष मनन चतुर्वेदी ने आरोपी के खिलाफ पॉक्सो एक्ट में संशोधित धाराओं के अंर्तगत चालान पेश करने के भी निर्देश दिए हैं।

Read more...

गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया सड़क दुर्घटना में घायल, नाक में आई चोट

जयपुर। गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया देर रात एक सड़क दुर्घटना में घायल हो गए। यह दुर्घटना शिवदासपुरा टोल नाके के पास हुई। हालांकि दुर्घटना में गृहमंत्री को हल्की चोट आई है, जिसका उन्होंने महात्मा गांधी अस्पताल में उपचार कराया और अब वह अपने घर पर आराम कर रहे हैं।

मामला देर रात 10:30 बजे का है, जब गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया कोटा से जयपुर आ रहे थे। इस दौरान बीच में आए शिवदासपुरा टोल नाका पर एकदम आगे वाली गाडिय़ों ने ब्रेक लगाया जिसके चलते गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया की गाड़ी उनके आगे चल रही एस्कॉर्ट की गाडिय़ों से टकरा गई।

ऐसे में गुलाबचंद कटारिया की नाक में हल्की चोट आई है। हालांकि टोल नाके के कुछ दूर स्थित महात्मा गांधी अस्पताल में उन्होंने प्राथमिक उपचार कराया और उसके बाद जयपुर स्थित अपने सरकारी निवास पर आ गए। घटना के समय कार में उनके साथ उनका गनमैन और पीए भी मौजूद था।

Read more...

राजस्थान - पन्नी में रखे केले, अमरूद, साड़ी आदि के साथ महाराष्ट्र में गए तो होगी सीधी जेल, पढ़े नया कानून

Gravity
जयपुर/मुंबई। महाराष्ट्र में 23 जून से प्लास्टिक के इस्तेमाल पर बैन लगा दिया गया है। अब कोई प्लास्टिक का इस्तेमाल करता है तो उसे 5 से 25 हजार रुपए तक का जुर्माना भरना होगा। मतलब अब अगर आप महाराष्ट्र के लिए सफर कर रहे हैं और साथ में पन्नी लेकर जा रहे हैं तो आपको भारी जुर्माने के साथ जेल भी जाना पड़ सकता है।

महाराष्ट्र सरकार ने तीन महीने पहले अधिसूचना जारी कर प्लास्टिक बैन के वैकल्पिक स्रोत ढूंढने का समय दिया था। अब जब यह राहत की अवधि खत्म हो गई तो सरकार ने राज्य में प्लास्टिक पर पूरी तरह से बैन लगा दिया। साथ ही इसके इस्तेमाल, भंडारण या उत्पादन करने पर जुर्माना भी लगाया है। वहीं सबसे बड़ी सजा तीसरी बार इस्तेमाल करते पकड़े जाने पर है। इसमें 25 हजार का जुर्माना और 3 महीने की जेल का प्रवाधान निर्धारित किया गया है।

इन पर लगा है प्रतिबंध
प्लास्टिक से बने हैंडल/बिना हैंडल की थैलियां - स्ट्रॉ
चाय आदि ले जाने के पाउच व कप
थर्माकोल से बनी वस्तुएं
नॉन ओवन पॉलीप्रॉपिलीन बैग
एक बार उपयोग वाली प्लास्टिक की थाली, कटोरी, गिलास, कांटे, छुरी-चम्मच, बर्तन, डिब्बे
होटेल्स, रेस्तरां और सभी किस्म के फूड स्टॉलों के खाद्य वस्तुओं के पार्सल देने के बर्तन

पकड़े जाने पर क्या है जुर्माना

पहली बार दोषी पाए जाने पर 5 हजार रुपए का जुर्माना
दूसरी बार दोषी पाए जाने पर 10 हजारी रुपए का जुर्माना
तीसरी बार दोषी पाए जाने पर 25 हजार रूपए जुर्माना और 3 महीने की जेल

किसे दें जुर्माना
जब भी कोई आपके पास प्लास्टिक की जांच करने आए, तो आप उससे संबंधित पत्र दिखाने को कहें। जिनके पास पत्र न हो, उन्हें जुर्माना न चुकाएं। छुट्टी का दिन होने के बावजूद शनिवार से जुर्माना वसूलने की कार्रवाई शुरू हो रही है। शुरुआत में प्लास्टिक थैलियों, थर्माकोल और स्टॉक के लिए उपयोग की जाने वाली छोटी थैलियों पर कार्रवाई की तैयारी है। मुंबई क्षेत्र की सीमा में बीएमसी ने प्लास्टिक उपयोगकर्ताओं से जुर्माना वसूलने के लिए 249 लोगों की खास टीम बनाई गई है। इन्हें खास तौर पर नीला जैकेट दिया गया है। जुर्माना वसूलने संबंधी पत्र भी उन्हें जारी किए गए हैं। तो राजस्थान वासियों समेत देश के सभी लोग अलर्ट हो जाएं। अगर आप महाराष्ट्र को लिए सफर कर रहे हैं तो अपने लगेज में चेक कर ले कहीं कोई प्लास्टिक की चीज तो नहीं है।

Read more...

मोस्ट वांटेड पाकिस्तानी महिला धौलपुर से गिरफ्तार, 20 साल से रह रही थी अवैध तरीके से

धौलपुर। पिछले 20 वर्षों से लापता एक पाकिस्तानी महिला को धौलपुर पुलिस ने इंटेलिजेंस की सूचना पर गिरफ्तार किया है। महिला के साथ उसकी दो बेटियां भी हैं। यह कार्रवाई मोनी सिद्ध पहाड़ वाले बाबा की दरगाह पर की गई।

पकड़ी गई महिला वर्ष 1998 में परिवार सहित पाकिस्तान के हैदराबाद से उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद में रिश्तेदारों के यहां आई थी। थाना दक्षिण के मोहल्ला टीला में सन 1998 में 90 दिनों के लिए वीजा लेकर आई पाकिस्तानी महिला फौजिया खान पुत्री अख्तियार खान लतीफाबाद (हैदराबाद) पाकिस्तान पिछले 20 वर्ष से चोरी छुपे रह रही थी।

यहां फोजिया की मुलाकात फिरोजाबाद निवासी रिजवान से हुई। जिसके बाद दोनों ने एक दूसरे को पसंद कर 4 अप्रैल 2001 को फिरोजाबाद में ही शादी कर ली। उसके बाद महिला फोजिया अपने पति रिजवान के साथ मुंबई में रहने लगी। शादी से पहले फोजिया ने भारत में रहने की अनुमति मांगी थी लेकिन अनुमति नहीं मिली।

शादी के बाद फोजिया छुप-छुप कर रहने लगी थी। इंटेलिजेंस की टीम वर्ष 2012 से फोजिया का पीछा कर रही थी, लेकिन उसका कोई सुराग नहीं मिला। मुखबिर की सूचना पर फिरोजाबाद की खुफिया टीम ने धौलपुर पुलिस की मदद से शुक्रवार को दबिश देकर महिला को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।
पुलिस ने बताया कि महिला का पति रिजवान मुंबई में रहता है। फोजिया और रिजवान के पांच बच्चे हैं। फोजिया की मां वर्ष 1998 से उत्तर प्रदेश के आगरा जिले में अपने रिश्तेदारों के यहां रहती हैं। फोजिया की एक रिश्तेदार महिला धौलपुर शहर के पटपरा मौहल्ले में रहती हैं।

महिला को गिरफ्तार कर मेडिकल करवाने के बाद पासपोर्ट अधिनियम और फोरनर एक्ट-14 की धाराओं में जेल भेज दिया गया है। पाकिस्तानी महिला को गिरफ्तार करने के मामले में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक राहुल यादवेंद्र ने बताया कि यह मामला जो कि विदेश मंत्रालय से संबंधित है, इसलिए इसमें आगे की कार्रवाई मंत्रालय ही करेगा।

maharshi add for website national rajasthan

Read more...

दंतेवाड़ा : नक्सलियों ने पटरियां उखाड़ी, मालगाड़ी के 24 डिब्बे पटरी से उतरे

roopam 01new

दंतेवाड़ा। छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में नक्सलियों ने रविवार को बड़ी वारदात को अंजाम दिया। यहां नक्सलियों ने भांसी व कमालूर स्टेशन के बीच रेल पटरियों को उखाड़़ दिया, जिससे मालगाड़ी डिरेल हो गई। मिली जानकारी के मुताबिक मालगाड़ी के इंजिन के साथ ट्रेन के 24 डिब्बे भी पटरी से उखड़ गए हैं। इस वारदात में किसी भी तरह की जनहानि की सूचना नहीं है । स्थानीय सूत्रों के मुताबिक वारदात के बाद नक्सलियों ने ट्रेन के चालक व गार्ड से वॉकी-टॉकी भी लूट लिए। घटना स्थल से पुलिस को नक्सलियों के पर्चे भी बरामद हुए हैं। गौरतलब है कि नक्सल इलाके में नक्सलियों ने 28 जून से 2 जुलाई तक आर्थिक नाकेबंदी और दमन विरोधी सप्ताह मनाने का ऐलान किया है। इससे पहले नक्सलियों ने इस बड़ी वारदात को अंजाम दिया है।

Read more...

जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़, 2 आतंकी ढेर

RK for website02

श्रीनगर। दक्षिण कश्मीर के कोयमू कुलगाम में सुरक्षाबलों ने लश्कर कमांडर शकूर उर्फ अबु मूसा को उसके दो अन्य साथियों संग मुठभेड़ में उलझा लिया है। यह मुठभेड़ रविवार की सुबह उस समय शुरू हुई, जब सुरक्षाबलों को गांव में अपने ठिकाने की तरफ आते देख आतंकियों ने फायरिंग करते हुए भागने का प्रयास कियाजम्मू-कश्मीर के डीजीपी एसपी वैद ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि मुठभेड़ में दो आतंकियों को ढेर कर दिया गया है। रमजान माह में संघर्ष विराम का फायदा लेकर नेटवर्क मजबूत बनाने में कामयाब रहे आतंकी संगठनों की कमर तोड़ने के लिए सुरक्षाबलों ने दक्षिण कश्मीर से उत्तरी कश्मीर तक सक्रिय २५६ आतंकियों को चिन्हित करते हुए उनमें से २१ को मोस्ट वांटेड की सूची में रखा है। सूची में श्रीनगर, पुलवामा, गांदरबल और बड़गाम में सुरक्षाबलों के लिए सिरदर्द बना महराजुदीन बांगरु का नाम नहीं है। बांगरु ने बीते तीन वर्षो के दौरान श्रीनगर व साथ सटे इलाकों मे आतंकियों की नई पौध तैयार करने में अहम भूमिका निभाई है। हालांकि, अधिकारिक तौर पर कोई भी सैन्य या पुलिस अधिकारी मोस्ट वांटेड आतंकियों की सूची की पुष्टि नहीं कर रहा है। वे सीधे शब्दों में कहते हैं कि उनके लिए प्रत्येक आतंकी मोस्ट वांटेड ही हैं। सूत्रों के मुताबिक, मोस्ट वांटेड आतंकियों की तैयार की गई सूची में सबसे ज्यादा ११ आतंकी हिजबुल मुजाहिदीन के हैं। मात्र एक आतंकी अंसार-उल-गजवा-ए हिंद का कमांडर जाकिर मूसा है। सूची में जैश के दो और लश्कर के सात आतंकी हैं। अल-बदर का एक भी आतंकी मोस्ट वांटेड नहीं है। सूची में शामिल २१ आतंकियों में से डबल प्लस ए श्रेणी के सात, सिंगल ए श्रेणी के छह, ए श्रेणी के चार और बी-श्रेणी के दो आतंकी हैं। दो अन्य आतंकियों को अभी सुरक्षाबलों ने किसी वर्ग में शामिल नहीं किया है। दोनों जैश ए मुहम्मद के स्थानीय आतंकी जाहिद अहमद वानी और मुदस्सर अहदम खान हैं। करीमाबाद पुलवामा का रहने वाला जाहिद जून २०१७ में और मुदस्सर निवासी मिडूरा अवंतीपोर इसी साल जनवरी में आतंकी बना है। हिजबुल मुजाहिदीन के ११ मोस्ट वांटेड आतंकियों में डबल प्लस ए श्रेणी वाले डिवीजनल कमांडर अल्ताफ अहमद डार उर्फ अल्ताफ काचरु निवासी हौरा कुलगाम, डिवीजनल कमांडर रियाज अहमद नायकू निवासी टोकुन अवंतीपोर, डिवीजनल कमांडर जीनत उल इस्लाम निवासी सुगन शोपियां, लतीफ अहमद डार निवासी सुगन शोपियां, उमर माजिद गनई निवासी सूच कुलगाम के अलावा सिंगल प्लस ए श्रेणी का अल्ताफ अहमद डार उर्फ अल्ताफ काचरु निवासी हौरा कुलगाम, मोहम्मद अशरफ खान उर्फ अशरफ मौलवी निवासी कोकरनाग,अनंतनाग, मोहम्मद अब्बास शेख निवासी कोयमू कुलगाम और सिंगल ए श्रेणी के दो आतंकी सैफुल्ला मीर निवासी मलंगपुरा पुलवामा और उमर फैयाज लोन निवासी त्राल अवंतीपोर हैं। हिज्ब के मोस्ट वांटेड आतंकियों में तहरीक-ए- हुर्रियत चेयरमैन मोहम्मद अशरफ सहराई का बेटा जुनैद अशरफ सहराई और कुपवाड़ा का जिला कमांडर मन्नान वानी जोकि अलीगढ़ यूनीर्विसटी काशोधार्थी था, भी शामिल हैं।

दोनों ही बी- श्रेणी के आतंकी हैं। लश्कर के सात मोस्ट वांटेड आतंकियों की सूची में दो पाकिस्तानी आतंकी अबु मुस्लिम और अबु जारगाम सिंगल ए प्लस श्रेणी में हैं। दोनों हाजिन बांडीपोर में सक्रिय हैं। एसएमएचएस अस्पताल से फरार होने वाला पाकिस्तानी आतंकी नावेद जटट जो इस समय लश्कर का दक्षिण कश्मीर में डिवीजनल कमांडर है, भी सूची में शामिल किया है। वह पुलवामा में सक्रिय है। लश्कर का जिला कमांडर अनंतनाग आजाद अहमद मलिक उर्फ दादा निवासी मलिकपोरा बिजबिहाड़ा, शकूर अहमद डार निवासी टेंगपोरा कुलगाम, रियाज अहमद डार निवासी सथरगुंन पुलवामा और मुश्ताक अहमद मीर निवासी शोपियां भी इनमें शामिल हैं। मुश्ताक मीर डबल प्लस ए श्रेणी का आतंकी है। कश्मीर में अल-कायदा की नींव डालने वाला और उससे संबंधित संगठन अंसार उल गजवा ए हिंद का कमांडर जाकिर रशीद बट उर्फ जाकिर मूसा भी सूची में है।

मोस्ट वांटेड २१ आतंकियों की सूची में शामिल हिज्ब आतंकी अल्ताफ अहमद डार काचरु सबसे पुराना आतंकी है। वह २००६ में आतंकी बना था और उसके कुछ साल बाद पकड़ा गया था। जेल से रिहा होने के कुछ समय बाद तक उसने सामान्य जिंदगी बिताई। पांच से साल पहले वह दोबारा आतंकी बन गया। सूची में जुनैद अशरफ सहराई सबसे नया आतंकी है। वह मार्च २०१८ को आतंकी बना है।

Read more...
Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News