Menu

राष्ट्रीय

कोटा में कार से कुचलकर चार लोगों की मौत

कोटा, राजस्थान के बूंदी जिले में कोटा- लालसोट राजमार्ग पर सड़क किनारे एक चाय की दुकान पर चाय पी रहे चार लोगों को कार ने कुचल दिया, जिससे उनकी मौत हो गई।
पुलिस ने बताया कि घटना बीती शाम की है। तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि चौथे व्यक्ति ने अस्पताल में दम तोड़ा।
ए सभी किसान थे।
पुलिस ने बताया कि आज सुबह पोस्टमॉर्टम के बाद शवों को उनके परिजन को सौंप दिया गया।
डीहखेड़ा के थाना प्रभारी हरिराम जाट ने कहा कि मृतकों की पहचान सत्यनारायण मीणा(45), बृजमोहन मीणा(40), लक्ष्मण सिंह हाडा(60) और शिवराज गौतम के तौर पर हुई है। ए सभी कोटाखुर्द गांव के रहने वाले थे।
उन्होंने बताया कि घटना में कार चालक और अन्य व्यक्ति घायल हो गए। उन्हें यहां के महाराव भीम सिंह( एमबीएस) अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

Read more...

अशोक गहलोत का कांग्रेस में बढ़ा कद

नई दिल्ली, राहुल गांधी के अध्यक्ष बनने के बाद कांग्रेस ने अपने संगठन में बड़ा फेरदबदल करते हुए वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत को संगठन का प्रभारी महासचिव नियुक्त किया है। गहलोत जनार्दन द्विवेदी की जगह लेंगे। राजस्थान के 2 बार मुख्यमंत्री रह चुके अशोक गहलोत का पार्टी में कद बढ़ाए जाने के पीछे गुजरात विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के अच्छे प्रदर्शन को माना जा रहा है, क्योंकि चुनाव के दौरान वह पार्टी के गुजरात प्रभारी थे। अशोक गहलोत 1998 से 2003 और फिर 2008 से 2013 तक राजस्थान के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। जोधपुर के रहने वाले गहलोत की गिनती कांग्रेस के कद्दावर नेताओं में होती है। इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कुछ दिनों पहले हुए पार्टी के अधिवेशन में कहा था कि वह पार्टी में युवाओं को अहमियत देंगे और साथ में बुजुर्ग नेताओं के अनुभव का भी फायदा लेंगे।

sagarmal

Read more...

...आ गई 12 वीं अर्थशास्त्र के पेपर की डेट, देखें सबसे पहले

नई दिल्ली, सीबीएसई ने पेपर लीक मामले में शुक्रवार को परीक्षा की नई तारीखों का ऐलान कर दिया है. 12वीं के अर्थशास्त्र विषय की परीक्षा 25 अप्रैल को आयोजित की जाएगी. 10वीं की परीक्षा को लेकर अभी कोई फैसला नहीं लिया गया है.

शिक्षा सचिव अनिल स्वरूप ने आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में नई तारीखों का ऐलान करते हुए कहा कि 12वीं क्लास की अर्थशास्त्र की परीक्षा देशभर में आयोजित की जाएगी. जबकि 10वीं क्लास की गणित की परीक्षा जुलाई में हो सकती है.

दूसरी ओर, सीबीएसई चेयरमैन ने 10वीं की गणित परीक्षा के फिर से कराए जाने की संभावना पर कहा कि इस क्लास के रिजल्ट की घोषणा में देरी नहीं होगी. 6 में से 5 विषयों में पास होने वाले छात्र कंपार्टमेंट परीक्षा में भाग लेते हैं. कंपार्टमेंट पेपर अमूमन जुलाई में ही कराए जाते हैं. इन परिस्थितियों में ऐसे छात्रों को अगले क्लास में एडमिशन मिल जाता है.

शिक्षा सचिव स्वरूप ने कहा कि 10वीं की गणित की परीक्षा जुलाई में आयोजित कराई जा सकती है, जो सिर्फ दिल्ली, एनसीआर और हरियाणा में होंगे. इस मामले में अगले 15 दिनों में फैसला लिया जाएगा. जरुरत पडऩे पर ही यह परीक्षा कराई जाएगी.

स्वरूप ने कहा कि पेपर लीक की समस्या का फौरी तौर पर कोई समाधान नहीं है. 10वीं की गणित परीक्षा को लेकर उन्होंने साफ किया कि चूंकि पेपर लीक का मामला दिल्ली और हरियाणा तक ही सीमित था, इसलिए इन्हीं जगहों पर ही फिर से परीक्षा कराई जा सकती है. अगर यह परीक्षा हुई तो जुलाई में की जाएगी.

देश के बाहर पेपर लीक मामले पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि भारत के बाहर पेपर लीक होने की कोई सूचना नहीं है, इसलिए बाहर फिर से परीक्षा कराने की कोई जरुरत नहीं है.

उन्होंने कहा कि 3 सदस्यों की समिति आंतरिक जांच करेगी और अपने जांच में समिति ऐसी घटनाओं के लुपहोल तलाशेगी और ऐसी तकनीक तलाशेगी जिससे भविष्य में ऐसी घटनाएं न हों.

सीबीएसई पेपर लीक मामले में शुक्रवार को एनएसयूआई के सदस्यों ने दिल्ली में प्रदर्शन भी किया. बाद में एनएसयूआई और एबीवीपी के प्रतिनिधिमंडल ने अलग-अलग जाकर मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से मुलाकात की थी. जावड़ेकर से मुलाकात के बाद एनएसयूआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष फिरोज खान ने कहा कि उन्होंने आश्वासन दिया है कि आज शाम तक नई तारीखों का ऐलान कर देंगे. अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के प्रतिनिधिमंडल ने भी यही बताया.

वहीं छात्रों ने जावड़ेकर के सामने यह भी मांग रखी कि दोबारा परीक्षा कराते वक्त छात्रों को यह छूट दी जाए कि जो छात्र दोबारा परीक्षा में शामिल नहीं होना चाहते उन्हें बाकी विषयों में पाए गए नंबर के आधार पर औसत नंबर देकर पास किया जाए . गणित और अर्थशास्त्र की दोबारा परीक्षा होने की वजह से करीब 34 लाख छात्र प्रभावित हुए हैं और सीबीएसई ने इस विषयों का फिर से परीक्षा कराने का ऐलान पहले ही कर चुकी है.

res

Read more...

कालेधन के खिलाफ जयपुर में बड़ा ऑपरेशन, 4 करोड़ नकद जब्त

कालेधन के खिलाफ आयकर विभाग और एटीएस ने गुरुवार को राजस्थान में एक बड़े ऑपरेशन को अंजाम देते हुए 4 करोड़ रुपए की नकदी जब्त की है. यह ऑपरेशन प्रदेश में हवाला कारोबारियों पर शिकंजा कसते हुए राजधानी जयपुर, भीलवाड़ा और दिल्ली समेत कई शहरों में एक साथ चलाया गया है. इसके तहत भीलवाड़ा में बनवारी नामक व्यक्ति से चार करोड़ के कालाधन जब्त किया गया. यह कार्रवाई तब हुई जब वह दिल्ली से जयपुर लेकर आ रहा था.

कालेधन के खिलाफ इस कार्रवाई में एटीएस (अजमेर) की सूचना पर आयकर विभाग की इनवेस्टिगेशन की टीम ने भीलवाड़ा के दो हवाला कारोबारियों पर शिकंजा कसते हुए एक साथ चार जगहों पर छापेमारी की. तीन मकानों और एक कार्यालय पर इस छापामार कार्रवाई में हवालों कारोबारियों से 4 करोड़ रुपए नकद जब्त हुए. आयकर विभाग की इस कार्रवाई में कांग्रेस पार्षद के दो मकान और एक कार्यालय पर जांच हुई.

आयकर विभाग की यह कार्रवाई कांग्रेस पार्षद के एक कुरियर को ४ करोड़ रुपए की हवाला राशि के साथ गिरफ्तार करने के बाद हुई. ४ करोड़ की जब्त राशि में 1 करोड़ 60 लाख रुपए भीलवाड़ा के एक उद्योगपति के बताए जा रहे हैं. एटीएस इस सूचना पर हुई इस कार्यवाही से हवाला कारोबारियों में हडकम्‍प मचा हुआ है.

Read more...

किसानों को मिलेगा उनके हक का पूरा पानी : मुख्यमंत्री

जयपुर, राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि सरकार नहरों के जल वितरण के सुधार कार्यों के लिए गंभीर है और 50 साल में नहीं होने वाले सुधार कार्य को अब पूरा किया जा रहा है।
श्रीगंगानगर में राजे ने आज 860 करोड़ रूपए के विकास कार्यों के लोकार्पण एवं शिलान्यास समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा कि इसके लिए उन्होंने आज ही हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर से बातचीत की है।
उन्होंने कहा कि इससे हरियाणा में इंदिरा गांधी नहर के काम में आ रही बाधाएं दूर होगी। इससे किसानों को सिंचाई के लिए अधिक पानी मिलेगा।
उन्होंने कहा कि इसी तरह ताजेवाला हैड से यमुना का पानी राजस्थान को मिलने पर भी सहमति बन गई हैं। यह पाइपलाइन के जरिए प्रदेश लाया जाएगा और इससे प्रदेश के चूरू सीकर और झुंझुनू जिले में पेयजल की समस्या का स्थाई समाधान होगा।
उन्होंने कहा कि नहरों और वितरिकाओं के पक्के निर्माण करने से पाकिस्तान जाने वाला पानी रूका है और इस पानी से हमारे किसानों के खेत लहलहा रहे है।
राजे ने कहा कि भाजपा सरकार ने चार साल में श्रीगंगानगर जिले में 5500 करोड़ रूपए के विकास कार्य करवाए हैं, जबकि पूर्ववर्ती सरकार ने पांच साल में मात्र 1200 करोड़ रूपए के काम करवाए थे।
उन्होंने कहा कि हमारी कथनी और करनी में कोई फर्क नहीं है। शुगर मिल को गंगानगर शहर से बाहर स्थानांतरित करने के वादे को निभाया है।
सादुलशहर में एक अन्य कार्यक्रम में राजे ने कहा कि इंदिरा गांधी नहर में औद्योगिक अपशिष्ट के कारण जल प्रदूषण की समस्या और इससे स्वास्थ्य पर पड़ रहे प्रतिकूल प्रभाव को लेकर सरकार गंभीर है। इसका जल्द समाधान निकाला जाएगा।
उन्होंने जलसंसाधन विभाग और जल स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग से मिलकर इस समस्या का समाधान करने के निर्देश दिए।
उन्होंने जिला कलेक्टर को क्षेत्र के लोगों को नशे की बुराई के प्रति जागरूक करने, आयुर्वेदिक चिकित्सकों, प्रबुद्धजनों और स्वयं सेवी संगठनों को साथ लेकर नशा मुक्ति अभियान में सहयोग लेने के लिए निर्देशित किया।

Read more...

राजस्थान के अधिकांश हिस्सों में अधिकतम तापमान सामान्य से अधिक

जयपुर, राजस्थान में पश्चिम हवाओं के कारण अधिकतर स्थानों पर अधिकतम तापमान सामान्य से दो डिग्री से लेकर छह डिग्री से अधिक दर्ज किया गया।
मौसम विभाग के प्रवक्ता के अनुसार प्रदेश के पश्चिमी इलाकों में अधिकतम तापमान 40 डिग्री से अधिक दर्ज किया गया। बाड़मेर में अधिकतम तापमान 43 डिग्री, जैसलमेर 41.8, बीकानेर 41, जोधपुर 40.8, चूरू 40.7, कोटा 40, अजमेर 39.5, डबोक 39.2, जयपुरपिलानी 38.7- 38.7, श्रीगंगानगर 38.1 डिग्री दर्ज किया गया।
उन्होंने बताया कि जैसलमेरबीकानेर में न्यूनतम तापमान 23.423.4, बाडमेर 23, जोधपुर 21.5, जयपुर 21.1, अजमेर 20.4, कोटा 20 और अन्य स्थानों पर 19.5 डिग्री से लेकर 15.4 डिग्री दर्ज किया गया।
विभाग ने आगामी 24 घंटों के दौरान प्रदेश के जोधपुर और बीकानेर संभागों के कुछ हिस्सों में लू चलने की चेतावनी दी।

Read more...

यमुना का पानी राजस्थान को मिलने पर सहमति

जयपुर, राजस्थान के जल संसाधन मंत्री डॉ. राम प्रताप ने बताया कि हरियाणा के ताजेवाला हैड से यमुना का पानी राजस्थान को मिलने पर कल सहमति मिल गई है। इस योजना से प्रदेश के चूरू, सीकर एवं झुंझुनूं जिले के निवासियों की पेयजल समस्या का स्थाई समाधान हो सकेगा।
केन्द्र सरकार इस योजना में पाइप लाइन बिछाने के लिए वित्तीय सहयोग प्रदान करेगी।
उन्होंने बताया कि राजस्थान को यमुना के पानी के वितरण को लेकर 1994 में राज्यों के बीच हुए समझौते के अनुसार ताजेवाला हैड से 1917 क्यूसेक पानी राजस्थान को आवंटित किया गया था। करीब 24 साल बीत जाने के बाद भी यह पानी किस प्रकार प्रदेश में लाया जाए इस पर सहमति नहीं बन पा रही थी।
उन्होंने बताया कि गत 15 फरवरी को हुई अपर यमुना रिव्यू कमेटी की बैठक में केन्द्रीय जल संसाधन मंत्री नितिन गड़करी के समक्ष इस मांग को पुरजोर तरीके से उठाया था। उन्होंने पाइप लाइन के माध्यम से पानी राजस्थान लाने और केन्द्र सरकार द्वारा वित्तीय सहयोग मुहैया कराने का प्रस्ताव रखा था। इन दोनों मांगों पर सहमति प्रदान कर दी गई है, जिसका कार्यवाही विवरण कल राज्य सरकार को प्राप्त हुआ।
मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कल जल संसाधन विभाग को इस योजना की डीपीआर जल्द से जल्द बनाने के निर्देश दिए।

Read more...

बापू के आह्वान के 100 साल पूरे, लेकिन हिन्दी नहीं बन सकी ैराष्ट्रभाषौ


इंदौर, जैसे अंग्रेज मादरी जबान (मातृभाषा) यानी अंग्रेजी में ही बोलते हैं और सर्वथा उसे ही व्यवहार में लाते हैं, वैसे ही मैं आपसे प्रार्थना करता हूं कि आप हिन्दी को भारत की राष्ट्रभाषा बनाने का गौरव प्रदान करें। इसे राष्ट्रभाषा बनाकर हमें अपना कर्तव्य पालन करना चाहिए।ै
इतिहास के गलियारे में गूंजते ए शब्द इंदौर में महात्मा गांधी के उस भाषण का हिस्सा हैं जिसमें उन्होंने ठीक एक सदी पहले हिन्दी को राष्ट्रभाषा बनाए जाने का सार्वजनिक आह्वान किया था।
हिन्दी के प्रसार से जुड़ी स्थानीय संस्था मध्य भारत हिन्दी साहित्य समिति के प्रचार विभाग के प्रमुख अरविंद ओझा ने आज ैपीटीआई-भाषौ को बताया कि बापू ने यह भावुक अपील यहां 29 मार्च 1918 को आठवें हिन्दी साहित्य सम्मेलन के दौरान अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में की थी। उस समय देश स्वतंत्रता के लिए संघर्ष कर रहा था और हिन्दी के सम्मान में बापू के दिल से निकले बोलों ने जनमानस में मातृभूमि की आजादी के लिए नया जज्बा जगा दिया था।
ओझा ने कहा, ैयह बेहद दुर्भाग्यूर्ण है कि राष्ट्रपिता की इस अपील के पूरे 100 साल गुजरने के बाद भी हिन्दी को अब तक राष्ट्रभाषा का संवैधानिक दर्जा नहीं दिया जा सका है, जबकि यह जुबान देश में सबसे ज्यादा बोली और समझी जाती है.ै
इंदौर के मौजूदा नेहरू पार्क में आयोजित हिंदी साहित्य सम्मेलन के अध्यक्ष के रूप में महात्मा गांधी ठेठ काठियावाड़ी पगड़ी, कुरते और धोती में मंच पर थे। वर्ष 1910 में स्थापित मध्य भारत हिन्दी साहित्य समिति इस कार्यक्रम के आयोजन में सहभागी थी.
बापू ने अपने भाषण में हिन्दी की गंगा-जमुनी संस्कृति पर भी जोर दिया था। उन्होंने कहा था, ैहिन्दी वह भाषा है, जिसे हिन्दू और मुसलमान दोनों बोलते हैं और जो नागरी अथवा फारसी लिपि में लिखी जाती है। यह हिन्दी संस्कृतमई नहीं है, न ही वह एकदम फारसी अल्फाज से लदी हुई है।ै
ैबैरिस्टर मोहनदास करमचंद गांधीै से महात्मा गांधी बने राष्ट्रपिता ने आम बोलचाल के साथ अदालती काम-काज में भी हिन्दी के इस्तेमाल की पुरजोर पैरवी की थी।
उन्होंने कहा था, ैहमारी कानूनी सभाओं में भी राष्ट्रीय भाषा द्वारा कार्य चलने चाहिए। जब तक ऐसा नहीं होता, तब तक प्रजा को राजनीतिक कार्यों में ठीक तालीम नहीं मिलती है। हमारी अदालतों में राष्ट्रीय भाषा और प्रांतीय भाषाओं का जरूर प्रचार होना चाहिए।ै
..और ए थे बापू के अध्यक्षीय उद्बोधन के आखिरी शब्द जिनके जरिए उनके दिल में बसी हिंदी जैसे खुद बोल उठी थी, ैमेरा नम्र, लेकिन दृढ़ अभिप्राय: है कि जब तक हम हिंदी को राष्ट्रीय दर्जा और अपनी-अपनी प्रांतीय भाषाओं को उनका योग्य स्थान नहीं देंगे, तब तक स्वराज्य की सब बातें निरर्थक हैं।ै
भारतीय संविधान के जानकार सुभाष सी. कश्यप ने बताया कि देवनागरी लिपि वाली हिन्दी को संविधान में ैराष्ट्रभाषौ का नहीं, बल्कि ैराजभाषौ का दर्जा दिया गया है। इसके अलावा, संविधान की आठवीं अनुसूची में हिन्दी समेत 22 जुबानों को भारतीय भाषाओं के रूप में शामिल किया गया है।
उन्होंने कहा, ैअगर हिन्दी को भारत की राष्ट्रभाषा बनाया जाना है, तो जाहिर है कि संविधान में बदलाव करना होगा। लेकिन ऐसा किए जाने से देश में सियासी मसले खड़े हो सकते हैं।ै
कश्यप ने कहा, ैहमारे देश में आजादी से पहले खासकर दफ्तरी काम-काज में अंग्रेजी का इतना धड़ल्ले से इस्तेमाल नहीं होता था, जितना आज हो रहा है। इसलिए सबसे पहली जरूरत तो इस बात की है कि हिन्दी को राजभाषा का संवैधानिक सम्मान सच्चे अर्थों में दिलाने के प्रयास किए जाएं।ै

Read more...

सीबीएसई पेपर लीक: छात्रों ने जंतर मंतर पर प्रदर्शन किया

नई दिल्ली, सीबीएसई के दसवीं कक्षा के गणित और बारहवीं कक्षा के अर्थशास्त्र विषय की पुन: परीक्षा की घोषणा के खिलाफ सैकड़ों छात्र आज यहां जंतर मंतर पर एकत्रित हुए और उन्होंने हमें न्याय चाहिए जैसे नारे लगाए।
हाथों में तख्तियां थामे इन छात्रों ने बताया कि पुन: परीक्षा की खबर के बाद उन्हें बहुत तनाव का सामना करना पड़ा।
कई छात्रों ने दावा किया कि परीक्षाओं से एक दिन पहले ही लगभग सभी प्रश्नपत्र लीक हो गए थे और उन्होंने मांग की कि अगर पुन: परीक्षा होती है तो यह सभी विषयों की होनी चाहिए।
सेंट थामस स्कूल की दसवीं कक्षा की छात्रा भाविका यादव ने कहा, हम पुन: परीक्षा की खबर सुनकर हैरान थे। अगर कुछ छात्रों को परीक्षा से पहले लीक प्रश्नपत्र मिल गया तो इसके लिए हम परेशान क्यों हों?
उनकी दोस्त ओजस्वी ने कहा, हम सत्र की शुरुआत से दबाव में थे। हम परीक्षा देकर राहत महसूस कर रहे थे लेकिन हमने केवल डेढ घंटे ही राहत की सांस ली। बाद में हमें विभिन्न समाचार चैनलों से पता चला कि हमें पुन: परीक्षा में बैठना है जिसका मतलब यह हुआ कि हमें फिर से पूरा पाठ्यक्रम पढना है।
एक अन्य छात्र ने कहा कि यह असंभव है कि बोर्ड को लीक की जानकारी नहीं थी। उन्हें पेपर सुबह ही रद्द कर देना चाहिए था।
जनकपुरी में एक निजी कोचिंग सेंटर चलाने वाले रोहित मोगा ने कहा कि पुन: परीक्षा बारहवीं कक्षा के छात्रों पर अतिरिक्त दबाव बनाएगी क्योंकि वे इंजीनियरिंग, मेडिकल और विधि जैसे विभिन्न पाठ्यक्रमों की प्रवेश परीक्षा के लिए तैयारी में व्यस्त हैं।
रोहित ने कहा कि मेरे कई छात्रों ने परीक्षा से एक दिन पहले अर्थशास्त्र का लीक पेपर भेजा था लेकिन मैंने उनसे कहा कि ए केवल अफवाहें हैं, इन पर भरोसा मत कीजिए। ऐसा लगता है कि वे अफवाह नहीं सच्चाई थी।

Read more...

सीबीएसई पर्चा लीक: छात्रों ने किया विरोध प्रदर्शन, कांग्रेस ने जावड़ेकर को हटाने की मांग की

नई दिल्ली, दसवीं के गणित और12 वीं के अर्थशास्त्र विषयों की दोबारा परीक्षा कराने के सीबीएसई के फैसले के विरोध में छात्रों ने यहां सड़कों पर प्रदर्शन किए जबकि कांग्रेस ने केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और सीबीएसई की प्रमुख को हटाने की मांग की।
पर्चों के लीक के मुद्दे पर व्यापक विरोध प्रदर्शन के बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को तुकबंदी के जरिए निशाना बनाते हुए कहा, हर चीज में लीक है, चौकीदार वीक है।
जावड़ेकर ने हालांकि मजबूती के साथ कहा कि दोषियों को छोड़ा नहीं जाएगा। उन्होंने मुद्दे को दुर्भाग्यपूर्ण बताया।
भाजपा ने राहुल के आरोप को खारिज करते हुए कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष संप्रग सरकार की ओर इशारा कर रहे थे।
केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने मंत्रिमंडल की बैठक के बाद कहा, राहुल गांधी अपने दिनों को याद कर रहे हैं।
कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सूरजलेवाला ने कहा कि पार्टी जावड़ेकर एवं सीबीएसई की प्रमुख अनीता कारवाल के इस्तीफे की मांग करती है तथा इस मामले की उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश से जांच कराई जानी चाहिए।
पर्चा लीक होने के सिलसिले में दो मामले दर्ज करने वाली दिल्ली ने मामले में राजेंद्र नगर में एक कोचिंग सेंटर के मालिक से पूछताछ शुरू कर दी है जिसका नाम सीबीएसई ने अपनी शिकायत में दिया था। व्यक्ति पर कथित लीक में शामिल होने का संदेह है।
केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड( सीबीएसई) ने दिल्ली पुलिस को दी गई अपनी शिकायत में कहा है कि26 मार्च को उसे एक लिफाफा मिला जिसमें चार पन्नों में बारहवीं कक्षा के अर्थशास्त्र के पर्चे का उत्तर हाथ से लिखा हुआ था। लिफाफे पर भेजने वाले का नाम- पता नहीं है।
पुलिस को दी गई शिकायत में बोर्ड ने कहा है कि उन्हें23 मार्च को किसी अज्ञात स्रोत से फैक्स के जरिए एक शिकायत मिली कि राजेंद्र नगर में कोचिंग कक्षा चलाने वाला एक व्यक्ति इस पर्चा लीक में शामिल है। शिकायत में वहां के दो स्कूलों का नाम भी लिया गया है।
इसी बीच सीबीएसई के दसवीं कक्षा के गणित और बारहवीं कक्षा के अर्थशास्त्र विषय की पुन: परीक्षा की घोषणा के खिलाफ सैकड़ों छात्र आज यहां जंतर मंतर पर जमा हुए और उन्होंने हमें न्याय चाहिए जैसे नारे लगाए।
हाथों में तख्तियां थामे इन छात्रों ने बताया कि पुन: परीक्षा की खबर के बाद उन्हें बहुत तनाव का सामना करना पड़ा।
कई छात्रों ने दावा किया कि परीक्षाओं से एक दिन पहले ही लगभग सभी प्रश्नपत्र लीक हो गए थे और उन्होंने मांग की कि अगर पुन: परीक्षा होती है तो यह सभी विषयों की होनी चाहिए।
सेंट थामस स्कूल की दसवीं कक्षा की छात्रा भाविका यादव ने कहा, हम पुन: परीक्षा की खबर सुनकर हैरान थे। अगर कुछ छात्रों को परीक्षा से पहले लीक प्रश्नपत्र मिल गया तो इसके लिए हम परेशान क्यों हों?
राहुल ने ट्विटर पर सरकार पर हमला बोलते हुए मोदी सरकार के कार्यकाल के बस एक साल बचे होने की तरह संकेत करते हुए बसएकऔरसाल हैशटैग का भी इस्तेमाल किया।
जावड़ेकर ने कहा कि सीबीएसई पुनर्परीक्षा की तारीख की घोषणा संभवत: सोमवार या मंगलवार को कर देगी।
जावड़ेकर ने कहा कि जिन लोगों ने यह अपराध किया है, उन्हें बख्शा नहीं जाएगा।
उन्होंने संवाददाताओं से कहा, मुझे पूरा विश्वास है कि पुलिस जल्द ही दोषियों को पकड़ेगी जैसे उन्होंने एसएससी मामले में चार लोगों को गिरफ्तार किया है।
जावड़ेकर ने कहा, यह काफी दुर्भाग्यपूर्ण है। मैं अभिभावकों और विद्यार्थियों के दर्द को समझ सकता हूं। कल रात मैं भी नहीं सो सका, मैं भी एक अभिभावक हूं. इस पेपर लीक मामले में जो भी दोषी होंगे, उन्हें बख्शा नहीं जाएगा।

Read more...
Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News