Menu

top banner

राष्ट्रीय

रोते हुए तोगडिय़ा बोले- मेरे एनकाउंटर की हो रही साजिश

नई दिल्ली। विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगडिय़ा ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान उन्होंने रोते हुए केंद्र सरकार पर निशाना साधा और कहा कि उनके एनकाउंटर की साजिश रची जा रही है। उन्होंने कहा, 'मैं हिंदुओं की आवाज उठा रहा हूं और उनकी एकता के लिए काम कर रहा हूं इसलिए मेरी आवाज दबाने की कोशिश हो रही। उन्होंने कहा, 'कछ समय से मेरी आवाज दबाने का प्रयास होता रहा। मैं हिंदू एकता के लिए काम करता हूं। राम मन्दिर, गौ हत्या कानून बनाओ और कश्मीर मैं हिंदुओं के किए आवाज उठाता हूं। लेकिन खुफिया एजेंसियां पुराने केसों से लोगों को डरा रही है। मेरी विरुद्ध क़ानून भंग के दायर केसों को ढूंढ-ढूंढकर निकालना शुरू किया।Ó उन्होंने कहा, 'क्या मैं अपराधी हूं? मैंने को अपराधिक काम नहीं किया।"तोगडिय़ा ने कहा, "समय आने पर डराने वालों के नाम का पर्दाफाश करूंगा। सबूतों के साथ उनके नाम का खुलासा करूंगा। पुलिस की टीम राजनीतिक दबाव में मुझे पकडऩे आई थी। मैं पूछना चाहता हूं कि मेरे कमरे का सर्च वारंट क्यों?Ó तोगडिय़ा ने भावुक आवाज में कहा, 'मैं सुबह पूजा-पाठ कर रहा था। इस दौरान एक व्यक्ति मेरे कमरे में घुसा और कहा कि आप यहां से तुरंत निकल जाइए। आपका एनकाउंटर करने की तैयारी है। मैंने इस बात का ध्यान नहीं दिया। मैंने देखा कि बाहर दो पुलिस वाले थे। थोड़ी देर में फोन आया कि राजस्थान पुलिस का काफिला 16 पुलिस स्टेशनों से निकला है। गुजरात पुलिस उनका सहयोग कर रही है। ऐसे में मैं तुरंत वहां से निकला। पुलिसवालों से कहा कि मैं कार्यालय छोड़कर जा रहा हूं। वहां से नीचे उतरा और ऑटो पकड़ा।Ó उन्होंने कहा, 'इस दौरान मैंने राजस्थान के मुख्यमंत्री और गृहमंत्री से भी बात की। लेकिन उन्होंने इस संबंध में किसी तरह की जानकारी होने से साफ तौर पर इनकार कर दिया। इसके बाद मैंने अपना फोन स्विच ऑप कर दिया।Ó तोगडिय़ा ने कहा, "इसके बाद मैंने वकीलों से बात की और अरेस्ट वारंट रद्द करवाने की बात की। वकीलों ने कहा कि अदालत का आदेश कैंसिल नहीं होगा। इसके बाद मैंने तय किया कि मैं खुद इसके खिलाफ कोर्ट जाउंगा और फ्लाइट पकडऩे के लिए एयरपोर्ट के लिए निकला। लेकिन मेरी तबीयत बिगड़ गई और मैं बेहोश हो गया। इसके बाद क्या हुआ मुझे नहीं पता चला।Ó
सोमवार सुबह से गायब थे तोगडिय़ा
बता दें कि तोगडिय़ा सोमवार की सुबह से गायब थे। विहिप की ओर से दावा किया गया था कि राजस्थान पुलिस उन्हें उठाकर ले गई, लेकिन सूत्रों के मुताबिक, तोगडिय़ा को न तो राजस्थान पुलिस ने गिरफ्तार किया और न ही गुजरात की पुलिस ने। देर रात उनके बारे में जानकारी हुई। बेहोशी की हालत में उन्हें अहमदाबाद के शाहीबाग इलाके के चंद्रमणि अस्पताल में भर्ती कराया गया था। पुलिस मामले की जांच कर रही है। तोगडिय़ा को लेकर सोमवार दिनभर हंगामा चला। मिली जानकारी के मुताबिक शुगर डाउन होने के चलते वह बेहोश हो गए थे। उन्हें संजीवनी 108 एंबुलेंस से अस्पताल पहुंचाया गया।
क्या है राजस्थान का मामला?
राजस्थान की गंगापुर कोर्ट ने 10 साल पुराने दंगे के एक मामले को लेकर तोगडिय़ा के खिलाफ अरेस्ट वॉरंट जारी किया था। कई बार जमानती वारंट जारी होने के बावजूद जब वह कोर्ट में पेश नहीं हुए तो कोर्ट ने उनके खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी कर दिया। इसी वॉरंट को तामील कराने के लिए राजस्थान पुलिस सोमवार को अहमदाबाद आई थी, लेकिन तोगडिय़ा के न मिलने पर उसे बैरंग लौटना पड़ा।

Read more...

रोते हुए तोगडिय़ा बोले- मेरे एनकाउंटर की हो रही साजिश

नई दिल्ली। विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगडिय़ा ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान उन्होंने रोते हुए केंद्र सरकार पर निशाना साधा और कहा कि उनके एनकाउंटर की साजिश रची जा रही है। उन्होंने कहा, 'मैं हिंदुओं की आवाज उठा रहा हूं और उनकी एकता के लिए काम कर रहा हूं इसलिए मेरी आवाज दबाने की कोशिश हो रही। उन्होंने कहा, 'कछ समय से मेरी आवाज दबाने का प्रयास होता रहा। मैं हिंदू एकता के लिए काम करता हूं। राम मन्दिर, गौ हत्या कानून बनाओ और कश्मीर मैं हिंदुओं के किए आवाज उठाता हूं। लेकिन खुफिया एजेंसियां पुराने केसों से लोगों को डरा रही है। मेरी विरुद्ध क़ानून भंग के दायर केसों को ढूंढ-ढूंढकर निकालना शुरू किया।Ó उन्होंने कहा, 'क्या मैं अपराधी हूं? मैंने को अपराधिक काम नहीं किया।"तोगडिय़ा ने कहा, "समय आने पर डराने वालों के नाम का पर्दाफाश करूंगा। सबूतों के साथ उनके नाम का खुलासा करूंगा। पुलिस की टीम राजनीतिक दबाव में मुझे पकडऩे आई थी। मैं पूछना चाहता हूं कि मेरे कमरे का सर्च वारंट क्यों?Ó तोगडिय़ा ने भावुक आवाज में कहा, 'मैं सुबह पूजा-पाठ कर रहा था। इस दौरान एक व्यक्ति मेरे कमरे में घुसा और कहा कि आप यहां से तुरंत निकल जाइए। आपका एनकाउंटर करने की तैयारी है। मैंने इस बात का ध्यान नहीं दिया। मैंने देखा कि बाहर दो पुलिस वाले थे। थोड़ी देर में फोन आया कि राजस्थान पुलिस का काफिला 16 पुलिस स्टेशनों से निकला है। गुजरात पुलिस उनका सहयोग कर रही है। ऐसे में मैं तुरंत वहां से निकला। पुलिसवालों से कहा कि मैं कार्यालय छोड़कर जा रहा हूं। वहां से नीचे उतरा और ऑटो पकड़ा।Ó उन्होंने कहा, 'इस दौरान मैंने राजस्थान के मुख्यमंत्री और गृहमंत्री से भी बात की। लेकिन उन्होंने इस संबंध में किसी तरह की जानकारी होने से साफ तौर पर इनकार कर दिया। इसके बाद मैंने अपना फोन स्विच ऑप कर दिया।Ó तोगडिय़ा ने कहा, "इसके बाद मैंने वकीलों से बात की और अरेस्ट वारंट रद्द करवाने की बात की। वकीलों ने कहा कि अदालत का आदेश कैंसिल नहीं होगा। इसके बाद मैंने तय किया कि मैं खुद इसके खिलाफ कोर्ट जाउंगा और फ्लाइट पकडऩे के लिए एयरपोर्ट के लिए निकला। लेकिन मेरी तबीयत बिगड़ गई और मैं बेहोश हो गया। इसके बाद क्या हुआ मुझे नहीं पता चला।Ó
सोमवार सुबह से गायब थे तोगडिय़ा
बता दें कि तोगडिय़ा सोमवार की सुबह से गायब थे। विहिप की ओर से दावा किया गया था कि राजस्थान पुलिस उन्हें उठाकर ले गई, लेकिन सूत्रों के मुताबिक, तोगडिय़ा को न तो राजस्थान पुलिस ने गिरफ्तार किया और न ही गुजरात की पुलिस ने। देर रात उनके बारे में जानकारी हुई। बेहोशी की हालत में उन्हें अहमदाबाद के शाहीबाग इलाके के चंद्रमणि अस्पताल में भर्ती कराया गया था। पुलिस मामले की जांच कर रही है। तोगडिय़ा को लेकर सोमवार दिनभर हंगामा चला। मिली जानकारी के मुताबिक शुगर डाउन होने के चलते वह बेहोश हो गए थे। उन्हें संजीवनी 108 एंबुलेंस से अस्पताल पहुंचाया गया।
क्या है राजस्थान का मामला?
राजस्थान की गंगापुर कोर्ट ने 10 साल पुराने दंगे के एक मामले को लेकर तोगडिय़ा के खिलाफ अरेस्ट वॉरंट जारी किया था। कई बार जमानती वारंट जारी होने के बावजूद जब वह कोर्ट में पेश नहीं हुए तो कोर्ट ने उनके खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी कर दिया। इसी वॉरंट को तामील कराने के लिए राजस्थान पुलिस सोमवार को अहमदाबाद आई थी, लेकिन तोगडिय़ा के न मिलने पर उसे बैरंग लौटना पड़ा।

Read more...

बेहोश मिले हिन्दू नेता प्रवीण तोगड़िया

डीएनआर रिपोर्टर.अहमदाबाद
विश्व हिंदू परिषद के डॉक्टर प्रवीण तोगड़िया सोमवार को बेहोशी की हालत में मिले। उन्हें गम्भीर अवस्था मे अस्पताल में भर्ती किया गया है। हालांकि उन्हें खतरे से बाहर माना जा रहा है। तोगड़िया सोमवार सुबह विहिप कार्यालय से अकेले निकले थे। इसके बाद से उन्हें लापता माना जा रहा था। सोमवार दोपहर बाद तो उनके समर्थकों ने प्रदर्शन शुरू कर दिया। रात में उनके बेहोश मिलने के बाद समर्थकों का आक्रोश थमा।
Read more...

मात्र 99 रुपए में करिए फ्लाइट का सफर, इंटरनेशनल फ्लाइट्स 1,499 रुपए से शुरू

नई दिल्ली। सस्ते हवाई टिकट देने के लिए प्रसिद्ध एयरलाइंस कंपनी एयर एशिया इंडिया एक बार फिर धमाकेदार ऑफर लेकर आई है। इस ऑफर के तहत कंपनी भारत के सात बड़े शहरों में बेहद कम किराए में सफर करवाएगी। इस ऑफर के मुताबिक, बेस फेयर 99 रुपये के आसपास या उससे थोड़ा बहुत ज्यादा होगा। कंपनी द्वारा जारी बयान के मुताबिक, 99 रुपये से शुरू इस सफर में बेंगलुरु, हैदराबाद, कोच्चि, कोलकाता, नई दिल्ली, पुणे और रांची का सफर किया जा सकता है। विस्तार से जानिए ऑफर के बारे में 15 जनवरी से 21 जनवरी तक बुकिंग, 31 जुलाई तक कर सकेंगे यात्रा रविवार को एयर एशिया ने बताया कि सोमवार यानी 15 जनवरी से 31 जुलाई तक के लिए प्रमोशनल बेस फेयर की शुरुआत करेगी। ये भारत के 7 घरेलू रूटों दिल्ली, बेंगलुरु, हैदराबाद, कोची, कोलकाता, पुणे या रांची पर लागू होगा। बता दें कि 15 जनवरी से बुकिंग शुरू होगी और 21 जनवरी तक चलेगी। इसके बाद पैसेंजर्स 31 जुलाई तक यात्रा कर सकते हैं। 1,499 रुपए से इंटरनेशनज फ्लाइट्स की बुकिंग एयर एशिया अपने इंटरनेशनल फ्लाइट्स में भी छूट दे रही है। कंपनी एशिया-पैसिफिक रीजन के 10 देशों सहित ऑकलैंड, बाली, बैंकॉक, कुआलालंपुर, मेलबर्न, सिंगापुर और सिडनी में 1,499 रुपए से बुकिंग की शुरुआती कीमत दे रही है। ये छूट आपको एयर एशिया के हर नेटवर्क- एयर एशिया इंडिया, एयर एशिया बरहाद, थाई एयर एशिया, एयर एशिया एक्स और इंडोनेशिया एयर एशिया एक्स पर भी उपलब्ध रहेगा। भारत में पांव पसारने के लिए एयर एशिया लाती है लुभावने ऑफर्स कंपनी ने पिछसे हफ्ते ही साफ कर दिया था कि वो भारत में अपने पांव और पसारना चाहती है। एयरलाइन के चीफ एक्जीक्यूटिव टोनी फर्नांडिस ने कहा था कि कंपनी भारत में अपने सर्विस बिजने के लिए पार्टनर ढूंढ रही है। वैसे भी, भारत में पिछले हालिया सालों में हवाई यात्रा करने की प्रवृत्ति बढ़ी है साथ ही यात्रियों की संख्या भी बढ़ी है। इसके चलते एयरलाइन कंपनियां यात्रियों को लुभाने के लिए रोज ही सस्ते ऑफर्स ला रही हैं।

Read more...

बंदूक की नोंक पर पुलिसवाले ने अपनी रिश्तेदार को बनाया हवस का शिकार

नागपुर। पिस्तौल का डर दिखाकर एक महिला के साथ एक पुलिस सिपाही द्वारा दुष्कर्म की झकझोर देने वाली घटना सामने आई है। यह घटना शनिवार देर रात की बताई जा रही है। इस घटना के बाद से परिसर में काफी आक्रोश का वातावरण देखा गया। इस मामले में रवि ओमकार जाधव (उम्र 25) को सोनेगांव पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी पुलिस यह पुलिस मुख्यालय का पुलिस कर्मचारी है। ठाकुर नामक बिल्डर के सुरक्षा रक्षक के रुप में उसकी नियुक्ति हुई है, पुलिस कर्मचारी अविवाहित है, माता पिता के साथ सोनेगांव में रहता है। पीडि़त महिला उसके ही रिश्तेदार है। महिला का पति एक निजी कंपनी में काम करता है। महिला को एक साल की बच्ची है। शनिवार देर रात 8:30 बजे के करीब महिला घर पर खाना बना रही थी, तभी आरोपी पुलिस महिला के घर में आया और महिला को पिस्तौल का डर दिखाकर शारिरिक सुख की मांग की। महिला ने इंकार किया तो महिला की बच्ची को जान से मारने की धमकी दी और महिला को बेल्ट से भी मारपीट की। उसके बाद महिला के साथ बलात्कार किया। रात 8:45 बजे के करीब महिला का पति जब काम से घर वापस लौटा तो उसके घर अपनी पत्नी के साथ कुछ गलत होते हुए देखा, महिला के पति को देखकर पुलिस सिपाही वहां से भाग गया। महिला के पति ने इस घटना के बाद चिल्लाकर आसपास के लोगों को जमा कर लिया और अपनी पत्नी के साथ बलात्कार होने की घटना आसपास के लोगों को बतायी। नागरिकों की मदद से पति-पत्नी ने पुलिस स्टेशन में जाकर आरोपी पुलिस सिपाही के खिलाफ शिकायत दर्ज करवायी।

Read more...

आखिर इजराइल ने फिलिस्तीन पर कर डाला हवाई हमला...

येरूशलम। इजराइल ने रविवार को फिलिस्तीन पर हवाई हमला कर एक बड़ी टनल को बिखेर दिया। इजराइल ने दावा किया है कि उन्होंने हवाई हमला कर उस टनल को ध्वस्त किया है जो मिस्र तक जाती है। इजराइली मिलिट्री स्पोक्सपर्सन जॉनाथन कॉनरिकस ने कहा कि यह फिलिस्तीन में थी, जिसका लिंक गाजा से लेकर मिस्र तक था। मिलिट्री स्पोक्सपर्सन ने कहा कि इस टनल के द्वारा फिलिस्तीनी इस्लामिक ग्रुप हमास अपनी खतरनाक गतिविधियों को अंजाम देते थे। पिछले दो महीनों से इजराइल और फिलिस्तीन के बीच जबरदस्त तनाव देखने को मिल रहा है। हमास करते हैं खतरनाक गतिविधियों के लिए टनल का इस्तेमाल इसी टनल का प्रयोग इजराइल में हमले करने की भी साजिश रची जा चुकी है। हालांकि, कॉनरिकस ने कहा कि अभी यह तय नहीं हो पाया है कि इस निर्माणाधीन टनल पर हुए हमले में कितने लोगों को नुकसान हुआ है। उन्होंने कहा कि यह टनल गाजा पट्टी में राफिया शहर के पूर्व से और इजराइल से 180 मीटर दूरी से शुरू होती है, जो मिस्र तक जाती है। उनके अनुसार, इस टनल की लंबाई कितनी है, इसकी कोई जानकारी है। इजराइल ने चेताया इजराइल के डिफेंस मिनिस्टर ने कहा कि हमास की रणनीतिक क्षमताओं को नुकसान पहुंचाना हमारी नीतियों का प्रमुख घटक है। डिफेंस मिनिस्टर ने अविग्डोर लिएबरमैन ने चेतावानी देते हुए कहा कि यह गाजा की लीडरशीप और वहां के लोगों को स्पष्ट संदेश है कि जिंदगी पर निवेश कीजिए ना कि अमानवीय सुरंगों पर। इजराइल ने कहा है कि पिछले साल अक्टूबर से लेकर अब तक तीन टनल को को ध्वस्त किया है। हाल ही के दिनों में तनाव बढ़ा हाल ही के दिनों में इजराइल और फिलिस्तीन के बीच जबरदस्त तनाव बढ़ा है। अमेरिका द्वारा येरूशलम को इजराइली राजधानी बताने के बाद फिलिस्तीन और इजराइल के बीच कई बार हिंसक प्रदर्शन देखने को मिला है। इजराइल के डिफेंस मिनिस्टर ने कहा कि वे अपनी संप्रभुता की रक्षा करने के लिए इस प्रकार की गतिविधियों को नाकाम करते रहेंगे।

Read more...

पत्रकारों की आई शामत, पत्रकार के बेटे का किया मर्डर....

अमेठी। उत्तर प्रदेश के अमेठी जि़ले में एक के संवाददाता के बेटे की लाश रेलवे ट्रैक के किनारे मिलने से इलाके में सनसनी फैल गई है। परिजनों ने हत्या की आशंका जताई है क्योंकि लाश पर चोट के निशान भी मिले हैं। जानकारी के अनुसार, पत्रकार अजय सिंह हरौरा सुल्तानपुर के निवासी हैं और अमेठी में पत्रकारिता करते हैं। उनका बेटा यहां नवोदय विद्यालय में 11वीं का छात्र था। बीती रात वो स्कूल में था और सुबह उसकी लाश रेलवे ट्रैक के किनारे मिली है। ये जानकारी लोगों को मिली तो रेलवे ट्रैक के किनारे पड़ी लाश की तरफ दौड़ पड़े। जानकारी होने पर अमेठी की डीएम शकुंतला गौतम भी घटनास्थल पर पहुंची। मीडिया कर्मी और राजनीतिक लोग भी घटनास्थल पर पहुंच गए। जीआरपी ने लाश को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा। पुलिस मामले की छानबीन मे जुट गई है। एएसपी बीसी दुबे ने बताया के जीआरपी ने शव को कब्जे में लेकर के पोस्टमॉर्टम के लिये भेजा है। मामले में प्रथम सूचना रिपोर्ट गौरीगंज में दर्ज की गई है। पुलिस तमाम बिंदुओं पर जांच कर रही है। आरोपियों के खिलाफ़ कड़ी से कड़ी कार्रवाई होगी।
कन्नौज में पत्रकार पर दबंगो ने किया हमला
कन्नौज में दबंगो ने एक पत्रकार पर हमला बोलकर उसको घायल कर भाग गये। घायल अवस्था में पत्रकार को स्थानीय 100 शैया अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां उसकी हालत गंभीर होने पर जिला अस्पताल के लिए रेफर किया गया। वहीं पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

Read more...

जिले के पांच दर्जन गांवों में नए स्कूलों की संभावना

डीएनआर रिपोर्टर. बीकानेर

विद्यालय एकीकरण योजना के नाम पर प्रदेश के करीब बीस हजार स्कूलों को मर्ज (समन्वित) करने के बाद सरकार को अब शिक्षा का अधिकार (आरटीई) कानून की याद आई है। गत दिनों प्रदेश के जिला शिक्षा अधिकारियों की मीटिंग में प्रारंभिक शिक्षा निदेशक ने १५० से अधिक की आबादी वाले गांवों में नए स्कूल खोलने की संभावनाओं का परीक्षण कर प्रस्ताव भेजने के निर्देश दिए थे, जिनकी क्रियान्विति में बीकानेर जिला शिक्षा अधिकारी ने आरटीई के तहत ६१ नए स्कूलों की संभावना जताते हुए प्रस्ताव भेजे हैं। अन्य जिलों से प्रस्ताव आगामी एक सप्ताह में पहुंचने की संभावना है। ऐसे में फरवरी माह में ही प्रस्तावों पर आगामी कार्रवाई शुरू हो सकती है।
आरटीई के तहत घर से एक किलोमीटर की परिधि में प्राथमिक व तीन किलोमीटर की परिधि में उच्च प्राथमिक विद्यालय का प्रावधान है। विद्यालय एकीकरण योजना के दौरान स्कूलों के समन्वयन की जल्दबाजी में आरटीई के नियमों की अवहेलना की गई और पांच-पांच किलोमीटर तक की परिधि वाले प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालय मर्ज कर दिए गए।

क्या है योजना
गत दिनों प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय में राज्य स्तरीय समीक्षा बैठक के दौरान निदेशक पीसी किशन ने जिला शिक्षा अधिकारियों को १५० से अधिक की आबादी वाले गांवों में एक व तीन किलोमीटर की परिधि में विद्यालय नहीं होने पर नए स्कूल खोलने के प्रस्ताव भेजने के निर्देश दिए थे। बीकानेर जिले में ६१ गावों में प्राथमिक विद्यालयों की संभावना जताई जा रही है।

Read more...

सरकार की एक लाख करोड़ रूपए कीमत की शत्रु सम्पत्ति की नीलामी करने की योजना

नई दिल्ली। 9400 से अधिक शत्रु सम्पत्तियों की नीलामी की तैयारी है जिनकी कीमत एक लाख करोड़ रूपए से अधिक है और गृह मंत्रालय ने ऐसी सम्पत्तियों की पहचान करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इन सम्पत्तियों को ऐसे लोगों द्वारा छोड़ा गया था जिन्होंने पाकिस्तान और चीन की नागरिकता ले ली है। यह कदम 49 वर्ष पुराने शत्रु सम्पत्ति (संशोधन एवं मान्यकरण) कानून में संशोधन के बाद आया है जिसने यह सुनिश्चित किया कि बंटवारे के दौरान और उसके बाद पाकिस्तान और चीन में बस गए लोगों का भारत में रह गई सम्पत्ति पर कोई दावा नहीं रहेगा। गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया हाल में हुई एक बैठक में गृह मंत्री राजनाथ सिंह को सूचित किया गया था कि 6289 शत्रु सम्पत्तियों का सर्वेक्षण पूरा हो गया है और बाकी 2991 सम्पत्तियां जो कि संरक्षक के साथ हैं उनका सर्वेक्षण पूरा किया जाएगा। सिंह ने निर्देश दिया कि जिनअसम्पत्तियों पर कानूनी बाधा नहीं है उनका निस्तारण जल्दी होना चाहिए। एक अन्य अधिकारी ने कहा कि इन 9400 संपत्तियों की अनुमानित कीमत करीब एक लाख करोड़ रुपए है। जब इनकी बिक्री की जाएगी तब सरकार को बड़ी रकम हासिल होगी। पाकिस्तान में इसी तरह भारतीयों से जुड़ी संपत्तियों को बेचा जा चुका है। अधिकारी ने कहा कि राज्य सरकारों की ओर से ऐसी संपत्तियों की पहचान करने और उनकी कीमत का आकलन करने के लिए नोडल अधिकारियों की नियुक्ति की जा रही है। पाकिस्तान जाने वाले लोगों की ओर देश में कुल 9,280 सम्पत्तियां छोड़ी गई हैं। सबसे अधिक 4,991 शत्रु संपत्तियां उत्तर प्रदेश में हैं। इसके अलावा पश्चिम बंगाल में ऐसी 2,735 सम्पत्तियां हैं। इसके अलावा राजधानी दिल्ली में ऐसी 487 संपत्तियां है। चीन की नागरिकता ले चुके लोगों की 126 संपत्तियों में सबसे अधिक 57 शत्रु संपत्तियां मेघायल में हैं, जबकि 29 पश्चिम बंगाल में हैं। असम में ऐसी सात सम्पत्तियां हैं।

Read more...

नौका पलटने से तीन छात्राओं की मौत, 32 को बचाया गया, तीन गिरफ्तार

मुंबई। महाराष्ट्र के पालघर जिले में दहानु तट के पास 40 छात्रों को लेकर जा रही एक नौका के आज सुबह पलट जाने से तीन लड़कियों की डूबने से मौत हो गई और पांच अन्य लापता हैं। ए छात्र पिकनिक मनाने गए थे। हादसे के सिलसिले में पुलिस ने आज देर शाम नौका मालिक सहित तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने बताया कि 32 छात्रों को बचाया गया और तटरक्षक कर्मी और स्थानीय मछुआरे समुद्र में लापता छात्रों की तलाश और बचाव अभियान में जुटे हैं। पालघर के पुलिस अधीक्षक मंजूनाथ सिंगे ने पीटीआई भाषा को बताया कि तीन लड़कियों सोनल भगवान सूरती, जाह्नवी हरीश सूरती और संस्कृति मायावंशी के शव बरामद किए गए। तीनों की उम्र 17 साल थी। तीनों दहानु के अंबेडकर नगर क्षेत्र में मासुली की रहने वाली थीं। सिंगे ने बताया कि दहानु के परनाका में पोंडा स्कूल और जूनियर कॉलेज के 40 छात्रों को ले जा रही नौका दिन में साढ़े 11 बजे डूब गई। छात्र पिकनिक पर निकले थे। सिंगे ने कहा, तटरक्षक बल ने बचाव अभियान में अपने जहाज और विमानों को लगाया है। तटीय पुलिस जैसे कई विभागों के कर्मी भी तलाश अभियान में जुटे हैं। तटरक्षक बल के प्रवक्ता ने बताया कि यह स्थान दहानु तट से करीब 20 मील दूर है। दहानु मुंबई से तकरीबन 130 किलोमीटर दूर है। पुलिस ने बताया कि बचाए गए लोगों में शामिल तीन छात्रों और नौका के चालक को एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दहानु की रहने वाली भाजपा विधायक मनीषा चौधरी ने पीटीआई-भाषा को बताया कि यह हादसा तब हुआ जब कुछ छात्र सेल्फी लेने के लिए नौका के एक तरफ जमा हो गए। इससे नौका एक तरफ झुक गई और पलट गई। स्थानीय मछुआरों और दहानु के कुछ निवासी बचाव के प्रयासों में शामिल हुए। बाद में शाम में सिंगे ने संवाददाताओं को बताया कि पुलिस दुर्घटना की जांच कर रही है। हादसे के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इस हादसे में मरने वालों के परिजनों के प्रति अपनी संवेदना प्रकट की। कोविंद दो दिवसीय महाराष्ट्र यात्रा पर आज मुंबई पहुंचे। उन्होंने अपने ट्वीट में कहा, महाराष्ट्र के दहानु में स्कूली बच्चों को लेकर जा रही नौका के पलटने की खबर सुनकर दुखी हूं। राज्य सरकार ने ज्यादातर यात्रियों को बचा लिया है और जो लोग लापता हैं उनका पता लगाने का प्रयास कर रही है। शोक संतप्त परिवार के प्रति मैं अपनी संवेदनाएं प्रकट करता हूं। तटरक्षक बल ने यहां एक विज्ञप्ति में कहा, घटना में 32 बेशकीमती जिन्दगियों को बचा लिया गया और उन्हें स्थानीय अधिकारी उपचार मुहैया करा रहे हैं। विज्ञप्ति में बताया गया कि हादसे में हालांकि तीन लड़कियों की मौत हो गई है। विज्ञप्ति में कहा गया, स्थानीय अधिकारियों के तालमेल से लापता छात्रों की तलाश के प्रयास अब भी चल रहे हैं।

Read more...
Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News