Menu

राष्ट्रीय

पत्रकारों की आई शामत, पत्रकार के बेटे का किया मर्डर....

अमेठी। उत्तर प्रदेश के अमेठी जि़ले में एक के संवाददाता के बेटे की लाश रेलवे ट्रैक के किनारे मिलने से इलाके में सनसनी फैल गई है। परिजनों ने हत्या की आशंका जताई है क्योंकि लाश पर चोट के निशान भी मिले हैं। जानकारी के अनुसार, पत्रकार अजय सिंह हरौरा सुल्तानपुर के निवासी हैं और अमेठी में पत्रकारिता करते हैं। उनका बेटा यहां नवोदय विद्यालय में 11वीं का छात्र था। बीती रात वो स्कूल में था और सुबह उसकी लाश रेलवे ट्रैक के किनारे मिली है। ये जानकारी लोगों को मिली तो रेलवे ट्रैक के किनारे पड़ी लाश की तरफ दौड़ पड़े। जानकारी होने पर अमेठी की डीएम शकुंतला गौतम भी घटनास्थल पर पहुंची। मीडिया कर्मी और राजनीतिक लोग भी घटनास्थल पर पहुंच गए। जीआरपी ने लाश को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा। पुलिस मामले की छानबीन मे जुट गई है। एएसपी बीसी दुबे ने बताया के जीआरपी ने शव को कब्जे में लेकर के पोस्टमॉर्टम के लिये भेजा है। मामले में प्रथम सूचना रिपोर्ट गौरीगंज में दर्ज की गई है। पुलिस तमाम बिंदुओं पर जांच कर रही है। आरोपियों के खिलाफ़ कड़ी से कड़ी कार्रवाई होगी।
कन्नौज में पत्रकार पर दबंगो ने किया हमला
कन्नौज में दबंगो ने एक पत्रकार पर हमला बोलकर उसको घायल कर भाग गये। घायल अवस्था में पत्रकार को स्थानीय 100 शैया अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां उसकी हालत गंभीर होने पर जिला अस्पताल के लिए रेफर किया गया। वहीं पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

Read more...

जिले के पांच दर्जन गांवों में नए स्कूलों की संभावना

डीएनआर रिपोर्टर. बीकानेर

विद्यालय एकीकरण योजना के नाम पर प्रदेश के करीब बीस हजार स्कूलों को मर्ज (समन्वित) करने के बाद सरकार को अब शिक्षा का अधिकार (आरटीई) कानून की याद आई है। गत दिनों प्रदेश के जिला शिक्षा अधिकारियों की मीटिंग में प्रारंभिक शिक्षा निदेशक ने १५० से अधिक की आबादी वाले गांवों में नए स्कूल खोलने की संभावनाओं का परीक्षण कर प्रस्ताव भेजने के निर्देश दिए थे, जिनकी क्रियान्विति में बीकानेर जिला शिक्षा अधिकारी ने आरटीई के तहत ६१ नए स्कूलों की संभावना जताते हुए प्रस्ताव भेजे हैं। अन्य जिलों से प्रस्ताव आगामी एक सप्ताह में पहुंचने की संभावना है। ऐसे में फरवरी माह में ही प्रस्तावों पर आगामी कार्रवाई शुरू हो सकती है।
आरटीई के तहत घर से एक किलोमीटर की परिधि में प्राथमिक व तीन किलोमीटर की परिधि में उच्च प्राथमिक विद्यालय का प्रावधान है। विद्यालय एकीकरण योजना के दौरान स्कूलों के समन्वयन की जल्दबाजी में आरटीई के नियमों की अवहेलना की गई और पांच-पांच किलोमीटर तक की परिधि वाले प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालय मर्ज कर दिए गए।

क्या है योजना
गत दिनों प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय में राज्य स्तरीय समीक्षा बैठक के दौरान निदेशक पीसी किशन ने जिला शिक्षा अधिकारियों को १५० से अधिक की आबादी वाले गांवों में एक व तीन किलोमीटर की परिधि में विद्यालय नहीं होने पर नए स्कूल खोलने के प्रस्ताव भेजने के निर्देश दिए थे। बीकानेर जिले में ६१ गावों में प्राथमिक विद्यालयों की संभावना जताई जा रही है।

Read more...

सरकार की एक लाख करोड़ रूपए कीमत की शत्रु सम्पत्ति की नीलामी करने की योजना

नई दिल्ली। 9400 से अधिक शत्रु सम्पत्तियों की नीलामी की तैयारी है जिनकी कीमत एक लाख करोड़ रूपए से अधिक है और गृह मंत्रालय ने ऐसी सम्पत्तियों की पहचान करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इन सम्पत्तियों को ऐसे लोगों द्वारा छोड़ा गया था जिन्होंने पाकिस्तान और चीन की नागरिकता ले ली है। यह कदम 49 वर्ष पुराने शत्रु सम्पत्ति (संशोधन एवं मान्यकरण) कानून में संशोधन के बाद आया है जिसने यह सुनिश्चित किया कि बंटवारे के दौरान और उसके बाद पाकिस्तान और चीन में बस गए लोगों का भारत में रह गई सम्पत्ति पर कोई दावा नहीं रहेगा। गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया हाल में हुई एक बैठक में गृह मंत्री राजनाथ सिंह को सूचित किया गया था कि 6289 शत्रु सम्पत्तियों का सर्वेक्षण पूरा हो गया है और बाकी 2991 सम्पत्तियां जो कि संरक्षक के साथ हैं उनका सर्वेक्षण पूरा किया जाएगा। सिंह ने निर्देश दिया कि जिनअसम्पत्तियों पर कानूनी बाधा नहीं है उनका निस्तारण जल्दी होना चाहिए। एक अन्य अधिकारी ने कहा कि इन 9400 संपत्तियों की अनुमानित कीमत करीब एक लाख करोड़ रुपए है। जब इनकी बिक्री की जाएगी तब सरकार को बड़ी रकम हासिल होगी। पाकिस्तान में इसी तरह भारतीयों से जुड़ी संपत्तियों को बेचा जा चुका है। अधिकारी ने कहा कि राज्य सरकारों की ओर से ऐसी संपत्तियों की पहचान करने और उनकी कीमत का आकलन करने के लिए नोडल अधिकारियों की नियुक्ति की जा रही है। पाकिस्तान जाने वाले लोगों की ओर देश में कुल 9,280 सम्पत्तियां छोड़ी गई हैं। सबसे अधिक 4,991 शत्रु संपत्तियां उत्तर प्रदेश में हैं। इसके अलावा पश्चिम बंगाल में ऐसी 2,735 सम्पत्तियां हैं। इसके अलावा राजधानी दिल्ली में ऐसी 487 संपत्तियां है। चीन की नागरिकता ले चुके लोगों की 126 संपत्तियों में सबसे अधिक 57 शत्रु संपत्तियां मेघायल में हैं, जबकि 29 पश्चिम बंगाल में हैं। असम में ऐसी सात सम्पत्तियां हैं।

Read more...

नौका पलटने से तीन छात्राओं की मौत, 32 को बचाया गया, तीन गिरफ्तार

मुंबई। महाराष्ट्र के पालघर जिले में दहानु तट के पास 40 छात्रों को लेकर जा रही एक नौका के आज सुबह पलट जाने से तीन लड़कियों की डूबने से मौत हो गई और पांच अन्य लापता हैं। ए छात्र पिकनिक मनाने गए थे। हादसे के सिलसिले में पुलिस ने आज देर शाम नौका मालिक सहित तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने बताया कि 32 छात्रों को बचाया गया और तटरक्षक कर्मी और स्थानीय मछुआरे समुद्र में लापता छात्रों की तलाश और बचाव अभियान में जुटे हैं। पालघर के पुलिस अधीक्षक मंजूनाथ सिंगे ने पीटीआई भाषा को बताया कि तीन लड़कियों सोनल भगवान सूरती, जाह्नवी हरीश सूरती और संस्कृति मायावंशी के शव बरामद किए गए। तीनों की उम्र 17 साल थी। तीनों दहानु के अंबेडकर नगर क्षेत्र में मासुली की रहने वाली थीं। सिंगे ने बताया कि दहानु के परनाका में पोंडा स्कूल और जूनियर कॉलेज के 40 छात्रों को ले जा रही नौका दिन में साढ़े 11 बजे डूब गई। छात्र पिकनिक पर निकले थे। सिंगे ने कहा, तटरक्षक बल ने बचाव अभियान में अपने जहाज और विमानों को लगाया है। तटीय पुलिस जैसे कई विभागों के कर्मी भी तलाश अभियान में जुटे हैं। तटरक्षक बल के प्रवक्ता ने बताया कि यह स्थान दहानु तट से करीब 20 मील दूर है। दहानु मुंबई से तकरीबन 130 किलोमीटर दूर है। पुलिस ने बताया कि बचाए गए लोगों में शामिल तीन छात्रों और नौका के चालक को एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दहानु की रहने वाली भाजपा विधायक मनीषा चौधरी ने पीटीआई-भाषा को बताया कि यह हादसा तब हुआ जब कुछ छात्र सेल्फी लेने के लिए नौका के एक तरफ जमा हो गए। इससे नौका एक तरफ झुक गई और पलट गई। स्थानीय मछुआरों और दहानु के कुछ निवासी बचाव के प्रयासों में शामिल हुए। बाद में शाम में सिंगे ने संवाददाताओं को बताया कि पुलिस दुर्घटना की जांच कर रही है। हादसे के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इस हादसे में मरने वालों के परिजनों के प्रति अपनी संवेदना प्रकट की। कोविंद दो दिवसीय महाराष्ट्र यात्रा पर आज मुंबई पहुंचे। उन्होंने अपने ट्वीट में कहा, महाराष्ट्र के दहानु में स्कूली बच्चों को लेकर जा रही नौका के पलटने की खबर सुनकर दुखी हूं। राज्य सरकार ने ज्यादातर यात्रियों को बचा लिया है और जो लोग लापता हैं उनका पता लगाने का प्रयास कर रही है। शोक संतप्त परिवार के प्रति मैं अपनी संवेदनाएं प्रकट करता हूं। तटरक्षक बल ने यहां एक विज्ञप्ति में कहा, घटना में 32 बेशकीमती जिन्दगियों को बचा लिया गया और उन्हें स्थानीय अधिकारी उपचार मुहैया करा रहे हैं। विज्ञप्ति में बताया गया कि हादसे में हालांकि तीन लड़कियों की मौत हो गई है। विज्ञप्ति में कहा गया, स्थानीय अधिकारियों के तालमेल से लापता छात्रों की तलाश के प्रयास अब भी चल रहे हैं।

Read more...

अब ऐसे पता करें कि आपके बच्चे का स्कूल सुरक्षित है या नहीं

नई दिल्ली। स्कूलों में बच्चों की हत्या और यौन शोषण की कुछ हालिया घटनाओं को लेकर अभिभावकों में पैदा हुई चिंताओं को ध्यान में रखते हुए सरकार ने 164 बिंदुओं का एक सुरक्षा मैनुअल तैयार किया गया है जिसके माध्यम से लोग यह पता कर सकते हैं कि उनके बच्चे का स्कूल पूरी तरह सुरक्षित है या नहीं। मानव संसाधन विकास मंत्रालय और महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के निर्देश पर राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (एनसीपीसीआर) ने बच्चों एवं स्कूलों से जुड़े कई दिशानिर्देशकों को मिलाकर स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा से जुड़ा एक मैनुअल तैयार किया है। इसमें 164 बिंदुओं की एक जांच सूची (चेक लिस्ट) दी गई है। इस सूची के आधार पर अभिभावक अपने बच्चे के स्कूल में सुरक्षा इंतजामों के बारे में पता कर सकते हैं। एनसीपीसीआर के सदस्य (शिक्षा एवं आरटीई) प्रियंक कानूनगो ने भाषा को बताया, इस सुरक्षा मैनुअल में दी गई चेक लिस्ट के आधार पर अभिभावक स्कूलों में सुरक्षा ऑडिट कर सकते हैं। अगर कहीं कमी पाई जाती है तो शिक्षा विभाग से इसकी शिकायत की जानी चाहिए। कानूनगो ने कहा, स्कूलों को बच्चों की सुरक्षा से जुड़े दिशानिर्देश का अनुपालन करना जरूरी है। अभिभावक एनसीपीसीआर की वेबसाइट (तगदगन.जथम.टत) पर जाकर इस सुरक्षा मैनुअल और चेक लिस्ट जानकारी हासिल कर सकते हैं। करीब एक साल में तैयार हुए इस सुरक्षा मैनुअल की चेक लिस्ट में कुल 164 बिंदुओं वाले सुरक्षा उपाय सुझाए गए हैं। मसलन, स्कूल का भवन नियमों के हिसाब से हो, सारे जरूरी सुरक्षा प्रमाणपत्र हो, बिल्डिंग और कैंपस में कोई ज्वलनशील पदार्थ या जहरीली सामाग्री ना हो। दिव्यांग बच्चों की पहुंच के हिसाब से क्लारूम, टॉयलेट, कैंटीन, स्कूल की एंट्री, पुस्तकालय, खेल का मैदान आदि हो। कई स्कूलों में बस ा कैब चालकों द्वारा बच्चों के साथ यौन शोषण की घटनाओं को ध्यान में रखते हुए भी सुरक्षा उपाय सुझाए गए हैं। इसमें कहा गया है, स्कूल बस ड्राइवर प्रशिक्षित हो और उसके पास लाइसेंस हो। बस स्टाफ का पुलिस वेरिफिकेशन होना चाहिए। यह सुनिश्चित किया जाए कि ट्रांसपोर्ट मैनेजमेंट ड्यूटी के लिए प्रॉपर ड्यूटी लगाई जा रही हो। सभी कर्मचारियों से हलफनामा लिया जाए कि वह कभी पॉक्सो में आरोपी नहीं रहे हैं।

Read more...

मदरसों पर सवाल उठाने वाले उ.प्र. शिया वक्फ बोर्ड अध्यक्ष को डी कम्पनी की धमकी

लखनऊ। मदरसों पर आतंकवाद का आरोप लगाकर उन्हें बंद करने की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से गुजारिश करने वाले उत्तर प्रदेश शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी ने खुद को माफिया सरगना दाऊद इब्राहीम के गुर्गे द्वारा फोन पर धमकी दिए जाने का दावा किया है। रिजवी ने सआदतगंज थाने में आज दर्ज कराई गई शिकायत में दावा किया है कि उन्हें दाऊद इब्राहीम के गुर्गे ने फोन करके कहा कि वह मौलवियोंसे माफी मांगे, नहीं तो उनके परिवार को बम से उड़ा दिया जाएगा। रिजवी ने कहा कि उन्होंने इस बारे में सआदतगंज थाने में मामला दर्ज कराया है। मालूम हो कि शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष रिजवी ने गत आठ जनवरी को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर मदरसों को मानसिक कट्टरवाद को बढ़ावा देने वाला बताते हुए उन्हें स्कूल में तब्दील करने और उनमें इस्लामी शिक्षा को वैकल्पिक बनाने का अनुरोध किया था। रिजवी ने पत्र में दावा किया था कि मदरसों में गलत शिक्षा मिलने की वजह से उनके विद्यार्थी धीरे-धीरे आतंकवाद की तरफ बढ़ जाते हैं। देश के ज्यादातर मदरसे जकात में दिए गए धन से ही चल रहे हैं और यह धन बांग्लादेश और पाकिस्तान जैसे देशों से भी आ रहा है। यहां तक कि कुछ आतंकवादी संगठन भी मदरसों को माली मदद पहुंचा रहे हैं। उन्होंने पत्र में कहा था केंद्र सरकार से अनुरोध है कि भारत में मदरसा बोर्डों को समाप्त कर सभी मदरसों को स्कूल की श्रेणी में तब्दील कर दिया जाए और ऐसे स्कूलों को राज्य शिक्षा बोर्ड, सीबीएसई और आईसीएसई बोर्ड से पंजीकृत कराया जाए। ताकि मुस्लिम समाज के बच्चों को अपने निजी स्वार्थ और कट्टरपंथी मानसिकता के चलते मानसिक शोषण कर रहे कुछ संगठनों और कुछ मौलवियों की साजिश से बचाया जा सके। मुसलमानों के प्रमुख सामाजिक संगठन जमीयत उलमा-ए-हिन्द ने रिजवी को हाल में कानूनी नोटिस भेजकर 20 करोड़ रुपए बतौर हर्जाना मांगे थे। जमीयत उलमा-ए-हिन्द की महाराष्ट्र इकाई ने रिजवी को जारी नोटिस में कहा था कि शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष ने मदरसों को आतंकवाद और कट्टरवाद से जोड़कर उनका अपमान किया है। रिजवी ने आपराधिक नीयत से प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर मदरसों के बारे में गलत बातें कहीं, लिहाजा इस मामले में उनके खिलाफ मुकदमा चलाया जा सकता है। वह बिना शर्त लिखित माफी मांगें। साथ ही भावनाओं को जानबूझकर ठेस पहुंचाने के लिए जमीयत को 20 करोड़ रुपए बतौर मानहानि के हर्जाने के तौर पर चुकाएं। नोटिस में कहा गया है कि अगर रिजवी इस नोटिस पर ध्यान नहीं देते हैं और मांगों को पूरा नहीं करते हैं तो जमीयत के पास उनके खिलाफ मानहानि, दीवानी या आपराधिक मुकदमे की कार्यवाही शुरू करने के अलावा और कोई रास्ता नहीं होगा।

Read more...

रेलवे क्लॉक रूम, लॉकरों का इस्तेमाल होगा महंगा

नई दिल्ली। रेलवे के क्लॉक रूम और लॉकरों का इस्तेमाल करने वाले यात्रियों को इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए अब ज्यादा भुगतान करना पड़ेगा। रेलवे बोर्ड ने अब मंडल रेल प्रबंधकों (डीआरएम) को स्टेशनों पर इस सुविधा का शुल्क बढ़ाने का अधिकार दे दिया है। सेवा को आधुनिक बनाने के लिए शीघ्र ही बोली लगाने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। जिसमें कम्प्यूटरीकृत माल सूची शामिल होगी और सालाना मूल्य बढ़ाने की अनुमति होगी। वर्तमान में रेलवे 24 घंटे के लिए लॉकर के इस्तेमाल के लिए यात्रियों से 20 रुपए का शुल्क है और प्रत्एक अतिरिक्त 24 घंटे के लिए 30 रूपए वसूले जाते हैं। पहले यह मूल्य 15 रूपए था। वहीं क्लॉकरूम का शुल्क 24 घंटे के लिए 15 रूपए है। वर्ष 2000 में यह सात रूपए था। और प्रत्एक अतिरिक्त 24 घंटे के लिए यात्रियों से 20 रूपए लिए जाते हैं। इससे पहले यह शुल्क 10 रूपए था। नई नीति के अनुसार , यह निर्णय लिया गया है कि स्थानीय स्थितियों के अनुसार डीआरएमों को क्लॉक रूमों और लॉकरों के किराए बढ़ाने के पूरे अधिकार होंगे।

Read more...

टायर फटने से कार पलटी, तीन महिलाओं समेत पांच की मौत

जयपुर। राजस्थान के भरतपुर जिले के बयाना थाना क्षेत्र में आज एक कार टायर फटने के बाद अनियंत्रित होकर पलट गई, जिससे तीन महिलाओं समेत पांच लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि पांच अन्य लोग घायल हो गए। बयाना के क्षेत्राधिकारी (सीओ) हिमांशू शर्मा ने बताया कि बयाना कि भरतपुर राजमार्ग पर सालावात फाटक के पास एक कार टायर फटने के बाद अनियंत्रित होकर पलट गई, जिससे कार में सवार बबीता जाटव (28) , नर्गेश जाटव (25), जूली जाटव (25), मंजीत जाटव (30), रामफल जाटव (60) की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि पांच अन्य लोग घायल हो गए। उन्होंने बताया कि पांच घायलों में से दो की हालत नाजुक है जिन्हें भरतपुर रेफर किया गया है। उन्होंने बताया कि पोस्टमार्टम के लिए शवों को स्थानीय अस्पताल के मुर्दाघर में रखा गया है।

Read more...

दुर्घटनाग्रस्त हेलीकॉप्टर के वॉयस डेटा रिकॉर्डर का पता चला

मुंबई। तटरक्षक ने दुर्घटनाग्रस्त पवन हंस हेलीकॉप्टर के वॉयस डेटा रिकॉर्डर का पता आज लगा लिया है। वहीं हेलीकॉप्टर के मलबों को बरामद करने का काम जारी है। इस बीच, नौसेना ने कल दुर्घटनाग्रस्त हुए पवन हंस हेलीकॉप्टर के लापता चालक दल के सदस्यों का पता लगाने के लिए अपने तलाश अभियान का विस्तार किया है। भारतीय तटरक्षक के एक प्रवक्ता ने आज बताया, ओएनजीसी के लापता चालक सदस्यों की तलाश उनकी बरामदगी तक जारी रहेगी। एयरक्राफ्ट वॉयस डेटा रिकॉर्ड (वीडीआर) बरामद हुआ है और मलबे की तलाश जारी है। नौसेना ने आज पवन हंस हेलीकॉप्टर के लापता चालक दल के सदस्यों का पता लगाने के लिए अपने तलाश अभियान का विस्तार किया है। यह हेलीकॉप्टर कल मुंबई के तट पर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। हेलीकॉप्टर में सात व्यक्ति सवार थे, जिनमें से पांच ओएनजीसी के अधिकारी और दो पायलट थे। यह हेलीकॉप्टर कंपनी के अरब सागर स्थित प्रतिष्ठान के लिए रवाना होने के कुछ मिनट बाद ही मुंबई तट पर दुर्घटनाग्रस्त हो गया। तट रक्षक और नौसेना ने पहले अपने बयान में बताया था कि कल पांच शव बरामद कर लिए गए थे। नौसेना के एक प्रवक्ता ने आज बताया कि दो फास्ट इंटरसेप्टर क्राफ्ट्स- आईएनएस तरासा और आईएनएस तेग भारतीय तट रक्षक (आईसीजी) के जहाज समुद्र प्रहरी , अचूक और अग्रिम के साथ मिलकर तलाश अभियान में जुटे हुए हैं। प्रवक्ता ने कहा कि कारवार से तलाशी अभियान में मदद के लिए नौसेना का पोत मकर भी रवाना हो चुका है। उन्होंने बताया कि आईसीजी का अन्य जहाज सम्राट भी तलाश और बचाव अभियान में शामिल होने के लिए मुंबई से रवाना हो चुका है। प्रवक्ता ने बताया कि दमन से आईसीजी डॉर्नियर सहित ओएनजीसी के नौ जहाज भी इस क्षेत्र में तलाश अभियान के लिए तैनात किए गए हैं। दुर्घटनाग्रस्त हुए पवन हंस हेलीकॉप्टर पर तेल एवं प्राकृतिक गैस निगम (ओएनजीसी) के पांच अधिकारी सवार थे। इनमें से तीन अधिकारी उपमहाप्रबंधक स्तर के थे। यह हेलीकॉप्टर कल सुबह 10 बजकर 40 मिनट पर लापता हो गया था।

Read more...

हर्षाेल्लास से मना मकरसंक्रांति का पर्व

जयपुर। दानपुण्य का पर्व मकरसंक्रांति जयपुर में आज धूमधाम और हर्षाेल्लास के साथ मनाया गया। सुबह से ही आराध्यदेव गोबिंद देव जी के मंदिर सहित अन्य मंदिरों में बड़ी संख्या में लोग भगवान के दर्शन करने और दान पुण्य कार्याे के लिए पहुंचे। इस पावन पर्व पर श्रद्धालुओं ने पवित्र गलता तीर्थ, और अजमेर के पुष्कर तीर्थ में भी डुबकी लगाई। मंदिरों को पंतगों से सजाया गया और श्रद्धालुओं ने मंदिरों में तिल और गुड से निर्मित गजक, तिल पपडी,तिल के लड्डू भेंट किए।
पतंग प्रेमी और बच्चे सुबह से ही अपने अपने घरों की छतों पर अलग अलग प्रकार की रंगीन पंतगों को उडाने का लुत्फ उठा रहें है। कल देर रात तक पंतग प्रेमियों ने जयपुर के हांडीपुरा, जौहरी बाजार सहित अन्य प्रमुख बाजारों से पंतगों, मांझे की खरीददारी की। पंतग विक्रेता प्रकाश पवांर ने बताया कि पिछले वर्ष के मुकाबले इस वर्ष पतंगे मंहगी है लेकिन इससे पंतगों की बिक्री पर विशेष असर नहीं पड़ा। उन्होंने बताया कि पेपर से बनी लालटेन पंतग की मांग भी अन्य पंतगों के समान रही।

Read more...
Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News