Menu

राष्ट्रीय

परिजनों को 24 घण्टे का अल्टीमेटम, 5 वें भी अंत्येष्टि पर नहीं बनी रजामंदी

लाडनूं। गैंगस्टर आनंदपालसिंह एनकाउंटर को 5 दिन बीतने के बावजूद परिजन अपनी मांगों पर अड़े रहे व शव अंत्येष्टि पर रजामंदी नहीं हो सकी। इधर रतनगढ़ पुलिस ने आनंदपाल की मां निर्मल कंवर, पत्नी राजकंवर, बलबीर सिंह सुजानसिंह, अमरसिंह सहित 4 जनों के खिलाफ नोटिस जारी कर 24 घण्टों में शव नहीं उठाने पर पुलिस द्वारा शव की अंत्येष्टि करने का अल्टीमेटम दिया है।

पुलिस का विरोध
रतनगढ़ सीओ एंव अनुसंंधान अधिकारी नारायणदान ने आनंदपाल के परिजनों को नोटिस जारी कर जसवंतगढ़ थानाधिकारी इंद्रराज को तामील करवाने के निर्देश पर सांवराद पहुंची पुलिस का परिजनों व समाज के लोगों ने जमकर विरोध किया व नारेबाजी की जिस पर पुलिस को नोटिस बाहर ही चस्पा कर वापस लौटना पड़ा।

बेटी ने तोड़ी चुप्पी
आनंदपाल की छोटी बेटी ने योगिता चुप्पी तोड़ते हुए मीडया से बातचीत की बताया कि उनके परिवार वालों ने नोटिस प्राप्त नहीं किया और न ही कोई हस्ताक्षर किए हैं उसने पिता आनंदपाल सिंह एनकाउंटर की सीबीआई जांच करने, एनकाउंटर के चश्मदीद श्रवणसिंह परिवार को छोडऩ, झूठे मुकदमे वापस लेने सहित कुर्क सम्पत्ति वापस देने की मांगें नहीं मानी जाने तक शव नहीं लेने की बात कही है।

वरना 24 घंटे में पुलिस करवा देगी अंतिम संस्कार
इधर नागौर पुलिस अधीक्षक परिस देशमुख का कहना है कि प्रशासन वार्ता के लिए दिनभर तैयार था मगर परिजनों की और से कोई जवाब नहीं आ रहा परिजनों को नोटिस जारी कर गुरुवार सुबह 11 बजे तक का समय दिया गया है वरना अगले 24 घण्टे में शव नहीं लेने पर रतनगढ़ पुलिस शव का अंतिम संस्कार करवा देगी।

Read more...

तो क्या नीतीश छोड़ेंगे लालू का साथ

नई दिल्ली। रामनाथ कोविंद को राजग के राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाने के भाजपा के फैसले के बाद उठे घटनाक््रम में बिहार में जदयू...राजद..कांग्रेस महागठबंधन बेहद कठिन दौर में पहुंच गया है जहां नीतीश कुमार की पार्टी भाजपा के साथ पूर्व में अपने गठबंधन को अधिक सहज बता रही है तो दूसरी ओर भाजपा प्रधानमंत्री और नीतीश कुमार के बीच एक दूसरे के प्रति स्वाभाविक सम्मान के भाव की दुहाई दे रही है।
रामनाथ कोविंद को राजग के राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाए जाने के फैसले के बाद बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने विपक्षी एकजुटता को झटका देकर कोविंद को समर्थन देने का फैसला किया है, जिसे कांग्रेस के साथ खड़ी कुछ दूसरी पार्टियों की ओर से विपक्षी एकजुटता के मार्ग में बाधक के रूप में देखा जा रहा है। इस बीच, कांग्रेस ने बिहार में सत्ताधारी महागठबंधन की साझीदार जदयू के अध्यक्ष नीतीश कुमार पर पहला बड़ा हमला बोला है। अभी तक इस मामले को लेकर कांग्रेस नीतीश या जदयू को निशाने पर लेने से बचती दिखी थी।
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने सोमवार को कहा कि जो लोग एक सिद्धांत में भरोसा करते हैं, वे सिर्फ एक फैसला लेते हैं। आजाद के मुताबिक, जिन लोगों को कई सिद्धांतों में भरोसा है, वे कई तरह के फैसले लेते हैं। उन्होंने कहा,  वह (नीतीश) पहले ऐसे शख्स थे जिन्होंने बिहार की दलित की बेटी को हराने का फैसला किया है, हम नहीं।  
उल्लेखनीय है कि विपक्ष की ओर से पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार को राष्ट्रपति चुनाव में उम्मीदवार बनाने के फैसले पर नीतीश ने कहा था कि विपक्षी गठबंधन ने बिहार की बेटी को हराने के लिए मैदान में उतारा है।
भारतीय जनता पार्टी ने जदयू अध्यक्ष की सराहना करते हुए कहा कि उन्होंने अपनी निजी छवि को लगातार बनाकर रखा है लेकिन उनके सहयोगी दलों राजद और कांग्रेस के नेताओं के भ्रष्ट और आपराधिक कारनामे उनके लिए परेशानी का सबब बने हुए हैं।
पार्टी प्रवक्ता जी वी एल नरसिम्हा राव ने कहा, Þ Þबिहार में गठबंधन आंतरिक गतिरोधों से भरा हुआ है। प्रधानमंत्री और नीतीश कुमार के बीच एक दूसरे के प्रति स्वाभाविक सम्मान है लेकिन गठबंधन सहयोगियों के बीच खुले हमले एक बड़े मंथन का संकेत हैं। ऐसा लगता है कि गठबंधन ढहने के कगार पर है। 

Read more...

राष्ट्रपति चुनाव विचाराधारा, सिद्धान्तों की लड़ाई : सोनिया

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने राष्ट्रपति चुनाव को आज विचाराधाराओं और सिद्धान्तों की लड़ाई करार दिया और कहा कि विपक्ष इसे लडऩे के लिए दृढ़ संकल्पित है। विपक्ष की राष्ट्रपति उम्मीदवार मीरा कुमार के नामांकन पत्र दाखिल करने के बाद सोनिया ने कहा, Þ Þहमारे लिए यह विचारधाराओं, सिद्धान्तों एवं सत्य की लड़ाई है और हम इसे लडेंगे। मीरा कुमार आज जब संसद भवन में अपना नामांकन पत्र भरने के लिए पहुंची तो इस अवसर पर सोनिया गांधी के नेतृत्व में 17 विपक्षी दलों के नेता उनके साथ थे। सूत्रों ने बताया कि मीरा के नामांकन सेटों में से एक में उनके नाम का प्रस्ताव सोनिया ने किया है। अवकाश पर विदेश गए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि मीरा उन मूल्यों का प्रतिनिधित्व करती हैं जिसने देश एवं इसके लोगों को बांध रखा है। राहुल ने ट्वीट किया, विभाजनकारी विचारधारा के खिलाफ वह उन मूल्यों का प्रतिनिधित्व करती हैं जिसने एक राष्ट्र और लोगों के रूप में हमें बांध रखा है। मीरा कुमार जी के हमारी उम्मीदवार होने पर हमें गर्व है।

Read more...

बिना यात्रा कराए रेलवे ने कमाया अरबों का राजस्व

इंदौर। रेलवे को टिकटों की बिक्री के साथ यात्रियों के अनुरोध पर उनके आरक्षित टिकट निरस्त करने से भी मोटी कमाई हो रही है। आरक्षित टिकटों को रद्द करने के बदले मूल टिकट राशि से कटौती के जरिए वसूले जाने वाले शुल्क से रेलवे का राजस्व वित्तीय वर्ष 2016-2017 में इसके पिछले साल के मुकाबले 25.29 प्रतिशत बढ़कर 14.07 रुपए अरब पर पहुंच गया। नीमच निवासी सामाजिक कार्यकर्ता चंद्रशेखर गौड़ को सूचना के अधिकार के तहत यह जानकारी मिली है। गौड़ की आरटीआई अर्जी पर 13 जून को भेजे जवाब में सीआरआईइस के एक अफसर ने यात्री आरक्षण प्रणाली के तहत उपलब्ध जानकारी के हवाले से बताया कि रेलवे ने टिकट रद्द करने के अनुरोध पर यात्र्ाियों से वसूले जाने वाले प्रभार से वित्तीय वर्ष 2015-2016 में 11.23 अरब रुपए, 2014-2015 में 9.08 अरब रुपए और 2013-2014 में 9.38 अरब रुपए कमाए। मुसाफिरों के अनारक्षित टिकटों को रद्द किए जाने पर वसूले जाने वाले शुल्क से भी रेलवे का खजाना भर रहा है।
आरटीआई से मिली जानकारी के मुताबिक अनारक्षित टिकटिंग प्रणाली के तहत बुक कराए गए यात्री टिकटों को रद्द किए जाने से रेलवे ने वित्तीय वर्ष 2012 -2013 में 12.98 करोड़ रुपए, 2013-2014 में 15.74 करोड़ रुपए, 2014-2015 में 14.72 करोड़ रुपए, 2015-2016 में 17.23 करोड़ रुपए और 2016-2017 में 17.87 करोड़ रुपए का राजस्व अर्जित किया। गौड़ ने बताया कि रेलवे ने टिकट रद्द कराए जाने पर तय कटौती के बाद यात्री को धन वापसी :रीफंड: के नियमों में बदलाव को नवंबर 2015 में हरी झंडी दी थी और टिकट निरस्तीकरण शुल्क को पहले से लगभग दोगुना बढ़ा दिया था। इन संशोधित कायदों को सरकारी जुबान में Þरेल यात्री (टिकट रद्दकरण और किराए का प्रतिदाय) नियम 2015 Þ के रूप में जाना जाता है।
बहरहाल, जब उन्होंने एक अलग आरटीआई अर्जी के जरिए इन नियमों में संशोधन से जुड़ी फाइल नोटिंग का ब्योरा मांगा, तो रेलवे बोर्ड के एक अफसर ने उन्हें आठ मार्च को भेजे जवाब में सूचना के अधिकार अधिनियम की धारा 8 (1) (डी) का हवाला देते हुए कहा कि चूंकि यह जानकारी रेलवे की वाणिज्यिक गोपनीयता का हिस्सा है। इसलिए इसे मुहैया नहीं कराया जा सकता। गौड़ ने कहा कि रेल टिकट रद्द कराने पर मिलने वाले रिफंड के नियमों की यात्र्ाियों के हित में समीक्षा होनी चाहिए। रेलवे को कम से कम प्रतीक्षा सूची के उन टिकटों को रद्द करने पर कोई शुल्क नहीं वसूलना चाहिए, जो चार्ट बनने के बाद भी कन्फर्म नहीं हो पाते हैं।

Read more...

चीन द्वारा मानसरोवर यात्रा रद्द करने पर भड़की विहिप,चीनी वस्तुओं को बहिष्कार करने की अपील

नई दिल्ली। विश्व हिंदू परिषद ने आज कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए तीर्थयात्रियों को अनुमति देने से चीन के इनकार कर देने के विरोध में लोगों से चीनी सामानों को बहिष्कार करने की अपील की है। पड़ोसी देश ने 50 तीर्थयात्र्ाियों के पहले जत्थे को प्रवेश करने से मना कर दिया है, जो सिक्किम के नाथू ला के रास्ते कैलाश मानसरोवर की यात्रा करने वाले थे। विश्व हिंदू परिषद के संयुक्त महासचिव सुरेंद्र कुमार जैन ने कहा कि चीन की नजर तिब्बत पर है, जहां उसने अवैध कब्जा किया हुआ है।
उन्होंने केंद्र सरकार से जल्दी से जल्दी इस मुद्दे को पड़ोसी देश के साथ उठाने की अपील की है और लोगों से चीनी वस्तुओं को बहिष्कार करने का आग्रह किया है।

Read more...

डायरिया से एक नौजवान की मौत, 400 लोग प्रभावित

लुधियाना। लुधियाना के हरगोविंद नगर इलाके में कथित तौर पर डायरिया की चपेट में आने से 19 साल के एक नौजवान ने दम तोड़ दिया।  अधिकारियों ने यह दावा किया। इस बीच, अधिकारियों ने बताया कि मक्कर और इंदिरा कॉलोनी में 400 से ज्यादा लोग डायरिया से प्रभावित हुए हैं। जिले के महामारी विशेषज्ञ डॉ. रमेश भगत ने कहा कि ज्ञासपुरा इलाके में विशेष मेडिकल शिविर में आज डायरिया के 35 नए मामले सामने आए। उन्होंने कहा कि ज्ञासपुरा से सटे हरगोविंद नगर इलाके में अजय कुमार की मौत संदिग्ध डायरिया से हो गई। डॉ. भगत ने बताया कि पिछले चार दिनों के दौरान डायरिया के 352 मामले शिविर में सामने आए हैं। स्वास्थ्य विभाग के प्रवक्ता डॉ. मंजीत सिंह ने दावा किया कि हालात नियंत्रण में हैं। उन्होंने कहा कि 18 मरीजों को छोड़कर सिविल अस्पताल में भर्ती कराए गए बाकी सभी मरीजों को इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई। डॉ. सिंह ने कहा कि ओआरएस और क्लोरिन की गोलियों के 4,000 से ज्यादा पैकेट प्रभावित कॉलोनियों में बांटे गए हैं।

Read more...

गुंजल समर्थक बहा देंगे 'खून की नदियां'

गुंजल के जन्मदिन पर कार्यकर्ता पेश करेंगे ऐतिहासिक मिसाल, रक्तदान के लिए हजारों कार्यकर्ता सूचीबद्ध
मिसाल: कोटा के सरकारी एवं निजी ब्लड बैंक को पूरा भरने के बाद अब बंदी, बारां, झालावाड़ के ब्लड बैकों को उपलब्ध कराया जाएगा रक्त
चार जिलों के ब्लड बैंक हो जाएंगे फुल
कोटा, 27 जून। आगामी 30 जून को कोटा उत्तर विधायक प्रहलाद गुंजल के जन्मदिन पर आयोजित रक्तदान शिविरों में कार्यकर्ताओं के उत्साह को देखते हुए 29 जून से ही रक्तदान शिविर प्रारंभ कर दिये जाएंगे। पूर्व में यह तय किया गया था कि 30 जून को विधायक गुंजल का 50वां जन्मदिन है, इसलिए 50 जगहों पर शिविर लगवाए जाएं। किन्तु कार्यकर्ताओं के जुनून एवं उत्साह के कारण अभी तक 57 स्थानों पर शिविर तय किये जा चुके हैं एवं कोटा शहर के सरकारी एवं समस्त निजी ब्लड बैंकों से रक्तदान शिविरों में आमंत्रित करने के पश्चात भी रक्त एकत्रित करने के लिए अन्य ब्लड बैंकों की आवश्यकता पडऩे पर बूंदी, झालावाड़, बारां के ब्लड बैंकों को भी आमंत्रित किया गया है। इसी कारण शिविरों को विभिन्न तारीखों पर आयोजित करने का निर्णय लिया गया।
इटावा, सीमल्या, सुल्तानपुर एवं दीगोद से होगी शुरूआत
बृजेश शर्मा नीटू ने बताया कि 29 जून से प्रारंभ होने वाली रक्तदान शिविर की श्रृंखला में पहले दिन इटावा, सीमल्या, सुल्तानपुर एवं दीगोद में शिविर आयोजित होंगे। 30 जून को कोटा उत्तर के समस्त वार्डों सहित शहर के 35 स्थानों पर शिविर आयोजित होंगे। एक जुलाई को बून्दी जिले के आठ स्थानों तालेड़ा, हिण्डौली, केशोरायपाटन, कापरेन, सुमेरगंजमंडी, बंूदी शहर, देई, नैनवां, एवं दो जुलाई को कनवास, रामगंजमंडी, मोड़क, जुल्मी, सुकेत, चेचट एवं अलोद में एवं चार जुलाई को सांगोद में रक्तदान शिविर होगा।
अनूठी पहल: 52 विवाहित जोड़ों ने भी कराया रजिस्ट्रेशन
विधायक गुंजल के जन्मदिन पर 30 जून को लगाए जाने वाले रक्तदान शिविरों के लिए कार्यकर्ताओं ने रक्त देने वाले कार्यकर्ताओं एवं अन्य जनों को सूचीबद्ध कर लिया है एवं हजारों कार्यकर्ता अभी तक सूचीबद्ध हो चुके हैं। स्टेशन मण्डल के अध्यक्ष सत्यप्रकाश लोधा ने बताया कि मण्डल में 1550 कार्यकर्ताओं का रजिस्टेशन हो चुका है, इसमें से 52 कार्यकर्ताओं ने रक्तदान के लिए सपत्नीक रजिस्टेशन कराया है। इन कार्यकर्ताओं का कार्यक्रम स्थल पर ही विशेष सम्मान किया जाएगा।

Read more...

आनंदपाल मारा गया

बीकानेर/ जयपुर । राजस्थान के मोस्ट वांटेड आनंदपाल सिंह चूरू के मालासर गांव स्थित श्रवणसिंह के घर में शरण ले रखी थी। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार श्रवणसिंह का घर हाइवे पर घर है। एसओजी व चूरू पुलिस ने श्रवणसिंह के घर की घेराबंदी कर ली। जब आनंदपाल को पता चला कि पुलिस ने घेराबंदी कर ली है तब वह भागने की कोशिश की।  इस दरम्यान भागते समय आनंदपालसिंह ने पुलिस पर फायरिंग की तब सामने से पुलिस ने भी फायरिंग की। यह मुठभेड़ करीबन 45 मिनट चली। सूत्रों के मुताबिक, आनंदपाल ने पुलिस पर एके-47 से लगभग 100 बार फायरिंग की। जिसके बाद जवाबी कार्यवाई में पुलिस ने आनंदपाल को मार गिराया।  इस मुठभेड़ में एसओजी के कांस्टेबल सोहनसिंह और चूरू एसपी के गनमैन धर्मपाल घायल हुए। एसओजी के कांस्टेबल को कमर में गोली लगने से गंभीर हालत में जयपुर रैफर किया गया है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार एसओजी एसपी दिनेश एम.एन. व चूरू एसपी राहुल बारहठ के नेतृत्व में यह कार्रवाई की गई। आनंदपाल के भाई विक्की और गट्टू को गिरफ्तार कर लिया गया है।

Read more...

रोडवेज की बस में लगी आग, सभी यात्री सुरक्षित


जयपुर,   जयपुर-दिल्ली राष्ट्रीय राजमार्ग पर कोटपुतली थाना क्षेत्र में आज राजस्थान रोडवेज की एक बस में आग लग गई। हालांकि आग से कोई यात्री हताहत नहीं हुआ।
थानाधिकारी रविन्द्र प्रताप ने बताया कि दिल्ली से जयपुर आ रही राजस्थान रोडवेज की बस में शार्ट सर्किट के कारण अचानक आग लग गई। बस चालक ने तुरंत बस को रोक लिया और सभी यात्रियों को बस से नीचे उतार दिया।
उन्होंने बताया कि दमकल कर्मियों ने आग पर काबू पाया और यात्रियों को एक अन्य बस से जयपुर भेजा गया। बस में करीब 25 यात्री सवार थे।

Read more...
Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News