Logo
Print this page

मेघालय में पांच साल में इंसान-हाथी संघर्ष में मारे गए 25 लोग Featured

शिलांग , मेघालय में पिछले पांच साल में इंसान और हाथियों के बीच संघर्ष के करीब 10,000 से अधिक मामले सामने आए और इसमें 25 लोग मारे गए हैं। इससे बड़े पैमाने पर फसलों को नुकसान पहुंचा है।
भारत के नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक ( कैग ) ने यह बात कही है।
कैग ने 31 मार्च 2017 को समाप्त हुए वित्त वर्ष की रिपोर्ट में कहा है कि राज्य में करीब।,800 हाथी हैं। ऐसे करीब दो तिहाई संघर्ष गारो हिल्स क्षेत्र में हुए हैं।
मुख्यमंत्री कोनार्ड सी संगमा ने हाल ही में विधानसभा में रिपोर्ट पेश की है। इसमें बताया गया है , वन विभाग ने इंसान और हाथियों के बीच संघर्ष ( एचईसी ) का 9,622 से अधिक मामला दर्ज किया जिसमें 25 लोगों की मौत हो गई , 22 लोग घायल हो गए और करीब 4,009 हेक्टेयर भूमि पर लगी फसलों को नुकसान पहुंचा है।
2012 से 2017 के बीच की अवधि को कैग की रिपोर्ट में शामिल किया गया है। इसमें जोर दिया गया है कि बालपकरम नेशनल पार्क सहित गारो हिल्स क्षेत्र में 6,500 से अधिक मामले दर्ज किए गए हैं। खासी हिल्स क्षेत्र से करीब 2,500 मामले दर्ज किए गए हैं।
इसमें बताया गया है कि लोगों की मौत , संपत्तियों और फसलों को हुए नुकसान के लिए ग्रामीणों को मुआवजे के तौर पर 4.41 करोड़ रूपए की राशि दी गई है।

DNR Reporter

DNR desk

Website Managed By © TM Media Group India.