Menu

राजनीति (260)

मोदी सरकार को जनता का समर्थन, अविश्वास प्रस्ताव के बाद राजग और मजबूत होगा : अनंत कुमार

नई दिल्ली, 20 जुलाई :भाषा: केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार ने आज कहा कि नरेन्द्र मोदी सरकार को जनता का समर्थन प्राप्त है और विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव को पराजित कर राजग सरकार और अधिक मजबूत होकर उभरेगी।
संसदीय कार्य मंत्री ने संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से कहा कि सदन में पूरे देश की भावना का प्रतिरूप उभरेगा और हम पहले से अधिक मजबूत होंगे।
उन्होंने कहा कि विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव के दौरान सरकार को राजग से बाहर के दलों का भी समर्थन मिलेगा।
कुमार ने जोर दिया कि राजग के सभी सहयोगी एकजुट हैं और हम बड़े बहुमत से विजई होंगे।
वहीं, लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खडग़े ने संवाददाताओं से कहा कि अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान हम 130 करोड़ लोगों की समस्याएं और सरकार की गलतियों को उठाएंगे।
उन्होंने कहा कि नोटबंदी, बेरोजगारी समेत महत्वपूर्ण मुद्दे अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान उठाए जाएंगे।
कांग्रेस नेता ने हालांकि कहा कि अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के लिए और समय मिलना चाहिए था। उन्होंने कहा कि हमारी तैयारी पूरी है और हम सरकार को तमाम मुद्दों पर घेरेंगे।

Read more...

डॉलर के मुकाबले रुपया गिरकर 69.12 के रिकॉर्ड न्यूनतम स्तर पर

मुंबई , 20 जुलाई (भाषा) चीन के केंद्रीय बैंक द्वारा युआन की दैनिक संदर्भ दर कम करने के बाद आज अंतरबैंकिंग मुद्रा बाजार में रुपया डॉलर के मुकाबले गिरकर अब तक के न्यूनतम स्तर 69.12 रुपए प्रति डॉलर पर आ गया।
अमेरिका और चीन के मध्य व्यापार मोर्चे पर बढ़ते गतिरोध के बीच युआन में लगातार गिरावट जारी है। युआन डॉलर के मुकाबले 0.28 प्रतिशत गिरकर 6.7943 युआन प्रति डॉलर पर रहा।
अंतरबैंकिंग मुद्रा बाजार में रुपया आज बढ़त के साथ 69 रुपए प्रति डॉलर पर खुला। इसके विपरीत कल यह 69.05 रुपए प्रति डॉलर पर बंद हुआ था।
हालांकि , युआन में गिरावट के बीच बाद के कारोबार में घरेलू मुद्रा गिरकर 69.12 रुपए प्रति डॉलर पर आ गई। रुपया सात पैसे गिर गया।
इससे पहले, 28 जून को रुपया 69.10 के रिकार्ड न्यूनतम स्तर तक चला गया था।
मुद्रा डीलरों ने कहा कि आयातकों के रुपए में और गिरावट की आशंका जताने से अमेरिकी मुद्रा के लिए भारी मांग देखी गई।
कल के कारोबारी दिन में अमेरिकी डालर के मुकाबले रुपया 43 पैसे टूटकर 69.05 पर बंद हुआ था।
इस बीच, अस्थाई आंकड़ों के अनुसार, कल विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने 315.69 करोड़ रुपए के शेयरों की शुद्ध बिकवाली की।
हालांकि, बंबई शेयर बाजार का प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स आज शुरुआती कारोबार में 71.68 अंक यानी 0.20 प्रतिशत की बढ़त के साथ 36,422.91 अंक पर पहुंच गया।

Read more...

भारत सतत विकास लक्ष्यों के साथ आगे बढ़ रहा: अकबरुद्दीन

संयुक्तराष्ट्र , 20 जलाई (भाषा) भारत नवीकरणीय ऊर्जा के विस्तार की तेज रफ्तार और दुनिया के सबसे बड़े किफायती आवास कार्यक्रम के तहत 1.1 करोड़ घरों का निर्माण करके सतत विकास लक्ष्यों को पूरा करने के अपने राष्ट्रीय प्रयासों की दिशा में आगे बढ़ रहा है। संयुक्त राष्ट्र में भारत के राजदूत सैयद अकबरुद्दीन ने यह बात कही।  सतत विकास पर उच्चस्तरीय राजनीतिक मंच में बोलते हुए संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थाई प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने कहा कि भारत सतत विकास के 2030 के एजेंडे में शामिल लक्ष्यों की सफलता के वैश्विक प्रयासों में रचनात्मक रूप से शामिल होने की उम्मीद कर रहा है।
अकबरुद्दीन ने कहा कि देश मजबूत राजनीतिक प्रतिबद्धता के साथ सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) पर ै आगे बढ़ ै रहा है।
विकास लक्ष्यों को लेकर भारत में चल रहे प्रयासों पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत कुल 7.2 करोड़ घरों में शौचालय का निर्माण किया गया है कि ताकि दो अक्तूबर 2019 तक देश को खुले में शौच से मुक्त बनाया जा सके।
उन्होंने कहा कि भारत अपने ऊर्जा के विभिन्न क्षेत्रों में नवीकरणीय ऊर्जा क्षेत्र पर अधिक ध्यान दे रहा है। खासकर सौर और पवन ऊर्जा क्षेत्र पर। भारत की योजना 2022 तक 175 गीगावॉट नवीकरणीय ऊर्जा का उत्पादन करने की है , जिसमें 100 गीगावॉट सौर ऊर्जा शामिल होगी।
भारत में इस क्षेत्र में विस्तार की रफ्तार दुनिया में सबसे अधिक है।
इसके अलावा , वर्ष 2030 तक , 60 करोड़ भारतीय शहरी इलाकों में रहेंगे और इसके लिए सालाना 70-90 करोड़ वर्गमीटर शहरी क्षेत्र की आवश्यकता होगी। अकबरुद्दीन ने कहा कि भारत को 2019 तक 1.1 करोड़ घरों का निर्माण पूरा होने की उम्मीद है।

Read more...

मानसून सत्र के दूसरे दिन भी लोकसभा की बैठक की हंगामेदार शुरूआत, पप्पू यादव ने उछाले कागज

नई दिल्ली, 19 जुलाई (भाषा) मानसून सत्र के दूसरे दिन लोकसभा की बैठक की हंगामेदार शुरूआत हुई जब राजद से निष्कासित सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने बिहार को विशेष राज्य के दर्जे की मांग करते हुए कागज उछाल दिए।
कांग्रेस और माकपा के सांसदों ने प्रश्नकाल में जवाब दे रहे केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा से कुछ दिन पहले लिंचिंग की घटना के दोषियों को माला पहनाने के मुद्दे पर माफी मांगने की मांग की और इस मुद्दे पर नारेबाजी की। सुबह सदन की बैठक शुरू होते ही राजेश रंजन अपने हाथों में कुछ कागज लेकर आगे की ओर आ गए। वह शर्ट के ऊपर चोला जैसा एक कपड़ा पहने हुए थे जिस पर बिहार को विशेष राज्य के दर्जे की मांग को लेकर नारे लिखे हुए थे। कपड़े पर लिखा था, याचना नहीं अब रण होगा। विशेष राज्य का दर्जा, जाप का प्रण होगा। उन्होंने राजद से निष्कासित किए जाने के बाद जन अधिकार पार्टी (जाप) का गठन किया था। राजेश रंजन कागज लेकर सत्ता पक्ष की कुर्सियों की ओर गए और उन्होंने कागज उछाल दिए।
इस दौरान भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी अग्रिम पंक्ति में बैठे हुए थे। बाद में गडकरी और संसदीय कार्य मंत्री अंनत कुमार ने राजेश रंजन को शांत कराया और अपनी जगह पर जाने के लिए मनाया। उनके ऐसा करने पर लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने नाराजगी जताई और कहा, सदस्य चुनकर आते हैं। जिम्मेदारी समझनी चाहिए।
राजेश रंजन ने कहा कि उन्होंने आसन की ओर कागज नहीं उछाले हैं।
उनके ऐसा करने पर भाजपा के कुछ सांसदों ने भी आपत्ति जताई। इस दौरान केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह से उनकी :राजेश रंजन: नोकझोंक भी हो गई।
इसके बाद शून्यकाल में राजेश रंजन विरोध स्वरूप आसन के पास फर्श पर बैठ गए। कुछ देर बाद केंद्रीय मंत्री एस एस अहलूवालिया ने उन्हें अपनी जगह पर जाने के लिए मनाया। बाद में स्पीकर ने शून्यकाल में रंजन को अपनी बात रखने का मौका दिया और यह भी कहा कि सुबह उनका व्यवहार अत्यंत गलत था और उन्हें सदन से माफी मांगनी चाहिए तथा उनका आगे कभी ऐसा व्यवहार नहीं होना चाहिए। इस पर रंजन ने कहा, मैं जनता के दर्द को रोक नहीं पाया। यह राज्य की जनता का सवाल था। मैं हृदय से क्षमा मांगता हूं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बिहार को विशेष राज्य का दर्जा और विशेष पैकेज की बात कहते रहे हैं लेकिन 11 करोड़ आबादी वाले राज्य को अभी तक पैकेज नहीं मिला है। राज्य में कोई बुनियादी ढांचा नहीं है और गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने वाली बड़ी आबादी यहां है। सरकार को विशेष पैकेज देना चाहिए। इससे पहले प्रश्नकाल में ही केंद्रीय विमानपत्तन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा जब एक प्रश्न का उत्तर देने के लिए खड़े हुए तो माकपा के मोहम्मद सलीम ने कहा कि पहले मंत्री को माफी मांगनी चाहिए।
उनका इशारा कुछ दिन पहले लिंचिंग के दोषियों को सिन्हा द्वारा माला पहनाने के मुद्दे से था।
कांग्रेस और माकपा के सांसद आसन के समीप आकर सिन्हा के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। इस दौरान सिन्हा पूरक प्रश्नों का जवाब देते रहे और उनका जवाब पूरा होने के बाद विपक्ष के सांसद अपने स्थानों पर लौट गए। गौरतलब है कि झारखंड में एक मांस कारोबारी की पीट-पीटकर हत्या के दोषियों के कुछ दिन पहले जमानत पर जेल से बाहर निकलने के बाद उन्हें माला पहनाने पर सिन्हा आलोचनाओं का शिकार हुए थे। उन्होंने बाद में इस मामले में खेद भी प्रकट किया था।

Read more...

मेरे ऊपर बहुत जिम्मेदारी हैं, सभी मुद्दों पर टिप्पणी नहीं कर सकता : राठौड़

नई दिल्ली, 19 जुलाई (भाषा) विश्व अंडर-20 चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाली हिमा दास की अंग्रेजी को लेकर भारतीय एथलेटिक्टस महासंघ (एएफआई) की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया मांगे जाने पर केंद्रीय खेल और युवा मामलों के मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने आज कहा कि मेरे ऊपर बहुत जिम्मेदारी हैं, सभी पर टिप्पणी नहीं कर सकता। लोकसभा में आज प्रश्नकाल के दौरान गौरव गोगोई ने पूरक प्रश्न पूछते हुए राठौड़ से मांग की थी कि वह हिमा दास को लेकर एएफआई की टिप्पणी पर स्पष्टीकरण दें। पहले तो मंत्री ने इस बारे में कुछ नहीं कहा लेकिन गोगोई के बार-बार जोर देने पर उन्होंने कहा, मेरे ऊपर बहुत जिम्मेदारी हैं, सभी पर टिप्पणी नहीं कर सकता। राठौड़ के इस वक्तव्य पर गोगोई समेत कांग्रेस के अन्य सांसद विरोध जताने लगे। राठौड़ के पूरे जवाब के दौरान गोगोई उनसे स्पष्टीकरण की मांग करते रहे।
खेल मंत्री से बयान की पुरजोर मांग कर रहे विपक्ष के कुछ सदस्यों से बैठने का आग्रह करते हुए लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कहा, उन्होंने (राठौड़ ने) कोई ऐसी गलती नहीं की है। अध्यक्ष ने कहा, युवा मंत्री हैं। काम अच्छा कर रहे हैं।
हिमा दास के पदक जीतने के बाद अपने ट्वीट में एएफआई ने पहले कहा था कि पहली जीत के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए हिमा की अंग्रेजी उतनी अच्छी नहीं थी। लेकिन उन्होंने अच्छी कोशिश की। हमें आप पर गर्व है। बाद में आलोचना होने पर फेडरेशन ने खेद जताते हुए कहा कि हमारा उद्देश्य यह दर्शाना था कि हमारी धाविका किसी भी कठिनाई से नहीं घबराती। हमारे ट्वीट से जो भी भारतवासी आहत हुए, हम उनसे खेद जताते हैं।

Read more...

नायडू ने निवेदन कहे जाने पर मंत्री को लिया आड़े हाथ

नई दिल्ली, 19 जुलाई (भाषा) राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने सदन के पटल पर सरकारी दस्तावेज रखने के दौरान उपनिवेश काल के वाक्यांश मैं निवेदन करना चाहता हूं का प्रयोग करने पर केन्द्रीय मंत्री जितेन्द्र सिंह को आज आड़े हाथ लिया। नायडू ने सभापति बनने के तुरंत बाद सभी मंत्रियों एवं सदस्यों से अनुरोध किया था कि वे मैं निवेदन करना चाहता हूं के बजाय मैं यह कहने या दस्तावेज रखने के लिए खड़ा हुआ हूं वाक्यांश का प्रयोग करने का सुझाव दिया था। आज सदन की कार्यवाही शुरू होने पर सरकारी दस्तावेज सदन के पटल पर रखे जाने के दौरान केन्द्रीय मंत्री जितेन्द्र सिंह ने अंतरिक्ष विभाग के दस्तावेज पेश करते हुए कहा, मैं निवेदन करना चाहता हूं। इस पर नायडू ने कहा, हमने एक वर्ष पहले ही निवेदन को छोड़ चुके हैं। आप (फिर भी) निवेदन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सदस्य महज यह कह सकते हैं, मैं रिपोर्ट पेश करने के लिए खड़ा हुआ हूं। नायडू ने कहा, उन्हें निवेदन करने की जरूरत नहीं है। उपराष्ट्रपति बनने के बाद नायडू ने जब सदन में सदस्यों से मैं निवेदन करता हूं नहीं कहने का अनुरोध किया था तो उसके बाद से प्राय: सभी सदस्यों एवं मंत्रियों ने इस वाक्यांश के प्रयोग को खत्म कर दिया था।

Read more...

राज्यसभा सदस्य अब सदन के भीतर भी कर सकेंगे वाईफाई सेवा का उपयोग

नई दिल्ली, 19 जुलाई (भाषा) राज्यसभा के सदस्य अब सदन के भीतर भी अपने मोबाइल फोन, लैपटाप तथा टेबलेट पर वाईफाई सेवा का उपयोग कर सकेंगे। सभापति एम वेंकैया नायडू ने आज सदन में इसकी घोषणा की। शून्यकाल में नायडू ने कहा कि सदस्यों की यह मांग रही थी कि उन्हें सदन के भीतर वाईफाई सुविधा मिलनी चाहिए ताकि वे सरकारी एवं संसद की वेबसाइट को देख सकें और आवश्यक जानकारियों को डाउनलोड कर सकें। उन्होंने कहा कि राज्यसभा चेम्बर अब वाईफाई सेवा से युक्त हो गया है। सभापति ने कहा कि इस वाईफाई के जरिए केवल सरकारी वेबसाइटों तथा लोकसभा एवं राज्यसभा की वेबसाइट को ही देखा जा सकेगा। उन्होंने कहा कि सदस्यों को संसद भवन परिसर के भीतर वाईफाई सेवा के उपयोग के लिए जो यूजर नेम और पासवर्ड दिया गया है, वहीं सदन के भीतर भी चलेगा। सदस्य अभी संसद भवन परिसर और लाबी में ही इस वाईफाई सेवा का उपयोग कर पा रहे हैं।

Read more...

भाजपा के तीन सदस्यों का पुडुचेरी विधानसभा में मनोनयन सही ठहराने के फैसले पर न्यायालय का रोक लाने से इंकार

नई दिल्ली , 19 जुलाई (भाषा) उच्चतम न्यायालय ने पुडुचेरी विधान सभा में भाजपा के तीन सदस्यों के मनोनयन को स ही ठहराने के मद्रास उच्च न्यायालय के फैसले पर रोक लगाने से आज इंकार कर दिया।
शीर्ष अदालत ने विधान सभा अध्यक्ष से कहा कि इस मामले में दायर याचिका पर निर्णय होने तक मनोनीत सदस्यों को विधायक के रूप में काम करने दिया जाए।
न्यायमूर्ति ए के सिकरी और न्यायमूर्ति अशोक भूषण की पीठ ने कांग्रेस नेताओं की याचिकाओं पर केन्द्र और पुडुचेरी सरकार को नोटिस जारी किए और उन्हें इस पर जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया।
कांग्रेस के नेताओं ने मद्रास उच्च न्यायालय के और भाजपा के तीन सदस्यों को विधायक मनोनीत करने के केन्द्र के एकतरफा निर्णय को चुनौती दी है।
उच्च न्यायालय ने 22 मार्च को अपने आदेश में भाजपा के तीन सदस्यों के मनोनयन और उपराज्यपाल किरण बेदी द्वारा उन्हें शपथ दिलाए जाने को सही ठहराया था। इस मनोनयन का कांग्रेस सरकार ने विराध किया है।
उच्च न्यायालय ने अपने फैसले में कहा था कि केन्द्र शासित प्रदेश के प्रशासक को मंत्रिपरिषद की सलाह पर ध्यान दिए बगैर ही कार्यवाही करने का अधिकार है।
अदालत ने विधायकों - वी सामीनाथन , के जी शंकर और एस सेल्वागणपति को विधायक के रूप में किरण बेदी द्वारा पिछले साल चार जुलाई को शपथ दिलाए जाने को रद्द करने के विधान सभा अध्यक्ष के आदेश को अवैध करार दिया था।
इन मनोनीत भाजपा सदस्यों का आरोप था कि उन्हें उच्च न्यायालय के आदेश के बावजूद सदन के भीतर और बाहर तैनात पुलिसकर्मियों ने विधान सभा में प्रवेश करने से रोका।

Read more...

डोडा में वीडीसी सदस्य ने आत्महत्या की

जम्मू, 19 जुलाई (भाषा) जम्मू कश्मीर के डोडा जिले में 60 वर्षीय एक व्यक्ति ने गोली मारकर कथित रूप से आत्महत्या कर ली। वह ग्राम रक्षा समिति (वीडीसी) के सदस्य थे। अधिकारियों ने बताया कि लुड्डू कंसार गांव में कल बलजीत राय मृत मिले थे, उनकी छाती में गोली लगी थी। उन्होंने बताया कि राय वीडीसी के सदस्य थे और आत्महत्या के लिए उन्होंने अपनी लाइसेंसी रायफल का इस्तेमाल किया। अधिकारी ने बताया कि आरंभिक जांच में पता चला है कि वह अवसाद से ग्रस्त थे, इसीलिए उन्होंने यह कदम उठाया। पुलिस ने मामले की जांच आरंभ कर दी है।

Read more...

बलात्कार मामले में पूर्व मंत्री मोन्सेरेट के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल

पणजी , 19 जुलाई (भाषा) गोवा पुलिस ने एक नाबालिग लड़की से कथित बलात्कार के मामले में पूर्व मंत्री अतानासियो मोन्सेरेट के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया। मामला वर्ष 2016 का है।  मामले की जांच पूरी होने के बाद महिला पुलिस थाने ने कल उत्तरी गोवा जिला अदालत में 250 पन्नों का आरोपपत्र दाखिल किया। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि 54 वर्षीय मोन्सेरेट इस मामले में आरोपी हैं। मई 2016 में 16 वर्षीय लड़की ने आरोप लगाया था कि उसी साल मार्च में नेता ने उसे मादक पदार्थ देकर उसका बलात्कार किया था। पीड़िता ने आरोप लगाया था कि उसकी मां ने 50 लाख रुपए में उसे मोन्सेरेट को बेच दिया था। मोन्सेरेट को पांच मई ,2016 को गिरफ्तार किया गया था और वह जमानत पर बाहर हैं।

Read more...
Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News