Menu

राजनीति (268)

गुजरात स्पीकर ने कांग्रेस के 28 विधायकों को निलंबित किया

गांधीनगर,  कांग्रेस के करीब28 विधायकों को आज गुजरात विधानसभा से दिन भर के लिए निलंबित कर दिया गया और उनमें से15 को सदन से निष्कासित कर दिया गया। पार्टी के वरिष्ठ सदस्य वीरजी ठुमर के निलंबन को लेकर हंगामा करने के बाद इनके खिलाफ स्पीकर ने यह कार्वाई की।
विधानसभा अध्यक्ष( स्पीकर) राजेंद्र त्रिवेदी ने भोजनावकाश से पहले विपक्षी विधायकों को निलंबित कर दिया, लेकिन उन्होंने कांग्रेस के मुख्य सचेतक अमित चावदा द्वारा पार्टी सहकर्मियों की ओर से माफी की पेशकश किए जाने पर भोजनावकाश के बाद उनका निलंबन वापस ले लिया। दरअसल, कृषि मंत्री आरसी फालदू के अपने विभाग के लिए बजटीय मांग पर बोलने के दौरान सदन में शोरगुल होने लगा। उनके भाषण से पहले ठुमर ने सदन में दावा किया कि गुजरात में भाजपा सरकार ने22 साल के शासन में एक बांध तक नहीं बनाया है। इस दावे का जवाब देते हुए फालदू ने पिछले दो दशक में राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई विभिन्न सिंचाई योजनाएं गिनाई।
उन्होंने जैसे ही भाषण में ठुमर का नाम लिया, कांग्रेस के विधायक अपनी सीट से खड़े हो गए और मंत्री से बहस करने लगे। स्पीकर ने ठुमर सेबार बार कहा कि वह बैठजाएं लेकिन कांग्रेस विधायकों ने अपना जुबानी हमला जारी रखा। उन्होंने उस वक्त स्पीकर को खुद को निलंबित करने की चुनौती भी दे डाली, जब त्रिवेदी ने उन्हें अनुशासनहीनता को लेकर सख्त कार्वाई की चेतावनी दी।
त्रिवेदी ने ठुमर को दिन के शेष समय के लिए निलंबित कर दिया जिसके बाद कांग्रेस के कई विधायक स्पीकर के आसन के करीब पहुंच गए और भाजपा द्वारा अन्याय किए जाने तथा उसके सख्ती से पेश आने का आरोप लगाया। कांग्रेस के करीब15 विधायक स्पीकर के आसन के पास बैठ गए जिस पर स्पीकर ने उन्हें दिन के शेष समय के लिए उन्हें निलंबित कर दिया और फिर उन्हें निष्कासित करने के लिए मार्शल बुलाया। स्पीकर के आसन के पास खड़े विधायकों को भी निलंबित कर दिया गया। कुल मिलाकर कांग्रेस के28 प्रदर्शनकारी विधायकों को दिन के शेष समय के लिए निलंबित किया गया।
हालांकि, जब दोपहर में सदन की बैठक दोबारा शुरू हुई तब चावदा ने कांग्रेस विधायकों की ओर से माफी मांगी। उन्होंने स्पीकर और सत्तारूढ़ दल के सदस्यों से विशाल हृदय दिखाने की अपील की जिसपर त्रिवेदी ने ठुमर सहित कांग्रेस के सभी विधायकों का निलंबन वापस ले लिया।

 

Read more...

पबंगाल उपचुनाव: नवपाड़ा, उलुबेरिया निर्वाचन क्षेत्र में तृणमूल को बढ़त


कोलकाता,  पश्चिम बंगाल की नवपाड़ा विधानसभा सीट और उलुबेरिया संसदीय निर्वाचन क्षेत्र के उपचुनाव की मतगणना के शुरूआती दौर में आज तृणमूल कांग्रेस ने अपने प्रतिद्वंद्वियों पर बढ़त बना ली।
सत्तारूढ़ पार्टी नवपाड़ा में छठे दौर की गणना के बाद 30,000 के बड़े अंतर से आगे चल रही है।
तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार सुनील सिंह को 46,281 मत मिले जबकि उनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी माकपा की गार्गी चटर्जी को 16,444 मत मिले हैं। भाजपा के संदीप बनर्जी को 15,570 और कांग्रेस के गौतम बोस को 4,742 मत मिले।
इसके अलावा तृणमूल ने उलुबेरिया लोकसभा उपचुनाव में भी 4,767 मतों की शुरूआती बढ़त बना ली है। उलुबेरिया में पहले दौर की गणना के बाद तृणमूल उम्मीदवार सजदा अहमद को 6,462, माकपा उम्मीदवार सबीरुद्दीन मोल्ला को 1695 मत, भाजपा के अनुपम मलिक को 1471 और कांग्रेस के एस के मुदस्सर हुसैन वारसी को 256 मत मिले।
दोनों सीटों के उपचुनाव के लिए मतदान 29 फरवरी को हुआ था।
तृणमूल कांग्रेस के सांसद सुलतान अहमद के निधन के बाद उलुबेरिया सीट पर उपचुनाव हो रहा है और कांग्रेस विधायक मधुसूदन घोष के निधन की वजह से नवपाड़ा विधानसभा सीट पर उपचुनाव हो रहा है।
उलुबेरिया से तृणमूल की उम्मीदवार सजदा अहमद सुलतान अहमद की पत्नी हैं।

Read more...

पश्चिम बंगाल के उपचुनाव में तृणमूल और भाजपा के बीच सीधी लड़ाई


कोलकाता। पश्चिम बंगाल के उलुबेरिया लोकसभा और नवपाड़ा विधानसभा सीट का उपचुनाव कल कड़ी सुरक्षा के बीच होगा। दोनों ही सीटों पर सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के बीच सीधी टक्कर होने की संभावना है। वहीं माकपा अपने पुराने गढ़ को हासिल करने के लिए संघर्ष कर रहा है। उपचुनाव के परिणाम की घोषणा एक फरवरी को होगी। हावड़ा जिले के उलुबेरिया लोकसभा क्षेत्र के तृणमूल सांसद सुल्तान अहमद और नॉर्थ 24 परगना जिले के नवपाड़ा विधानसभा के कांग्रेस विधायक मधुसुदन घोष की मौत होने के बाद यहां चुनाव की जरूरत थी। चुनाव आयोग के अनुसार निष्पक्ष और पारदर्शी चुनाव सुनिश्चित करने के लिए पुलिस दल के 35 दस्तों को यहां तैनात किया जाएगा।

Read more...

'जाति राजनीति खत्म करने के लिए सामाजिक बदलाव जरूरी'

मुंबई, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ 'आरएसएस' के प्रमुख मोहन भागवत ने आज कहा कि जातिगत राजनीति इसलिए है क्योंकि लोग जाति के नाम पर वोट देते हैं। उन्होंने जोर देकर कहा कि इस परंपरा को खत्म करने के लिए सामाजिक बदलाव जरूरी है। भागवत ने कहा, जीवन के किसी भी क्षेत्र में, चाहे वह व्यापार हो या राजनीति, सामाजिक रूप से अपनाई गई नैतिक परंपराएं राजनीति में दिखती हैं। परिवर्तन लाने की जरूरत है। उन्होंने कहा, राजनीति खुद ऐसा तरीका नहीं है जिसके जरिए बदलाव लाया जा सके क्योंकि :राजनीति के: रास्ते पर आगे बढते हुए, अगर वे चलते रहना चाहते हैं तो उन्हें वर्तमान स्थिति को ध्यान में रखते हुए ऐसा करना होता है। 
भागवत ने राष्ट्रवाद और कारोबार में नैतिक परंपराओं के विषय पर बात करते हुए कहा कि नेता एक निश्चित सीमा तक चीजों में सुधार कर सकते हैं और चीजों में सुधार के लिए अपने हितों के त्याग करने की जरूरत 
होती है। 
भागवत ने कहा कि ''आज, उदाहरण के लिए, कोई यह फैसला कर सकता है कि जातिगत राजनीति नहीं होनी चाहिए। हालांकि, जातिगत राजनीति होती है क्योंकि लोग जाति के नाम पर वोट देते हैं। अगर किसी को बने रहना है तो यह करना पड़ता है।Ó भागवत ने कहा कि अगर समाज में परिवर्तन आता है तो नेता खुलकर कह सकते हैं कि राजनीति जाति के नाम पर नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि समाज की मानसिकता में बदलाव से राजनीति के तरीके में बदलाव आएगा। भागवत ने कहा कि ऐशोआराम और प्रतिष्ठा अस्थाई हैं और लोगों को इससे प्रभावित हुए बिना इससे दूर रहना चाहिए।

Read more...

हर मोर्चे पर नाकाम है योगी सरकार : अखिलेश


लखनऊ, समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आज उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार को कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर घेरते हुए उसे हर मोर्चे पर नाकाम बताया।
अखिलेश ने जनेश्वर मिश्र की पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद संवाददाताओं से कहा कि प्रदेश में कानून-व्यवस्था मजाक बनकर रह गई है। लखनऊ में लगातार डकैतियां हो रही हैं। जो काकोरी शहीदों के लिए प्रसिद्ध था, वह अब डकैतों के लिए बदनाम हो रहा है।
उन्होंने कहा कि यह सरकार किसी भी मोर्चे पर सफल नहीं हो पाई है। उसने अन्याय की सीमा पार कर दी है। कन्नौज में पुलिस ने पुलिस ने एक युवक को पीट-पीटकर मार डाला और शव का पोस्टमार्टम कराए बगैर उसका दाह संस्कार करा दिया।
अखिलेश ने कहा कि मथुरा में पुलिस की गोली से एक बच्चे की मौत हो गई। उसकी मौत के लिए प्रदेश की भाजपा सरकार जिम्मेदार है।
सपा अध्यक्ष ने कहा कि देश के सामने समाजवादी विचारधारा के अलावा और कोई रास्ता नहीं है। भाजपा जहां समाज को बांटती है, वहीं समाजवादी लोग समाज को जोड़ते हैं। अगर कोई समाज में जाति के आधार पर तोड़ता है तो समाजवादी लोग लोहिया और जनेश्वर मिश्र के जाति तोड़ो आंदोलन को आगे बढ़ाकर सभी को आपस में जोड़ते हैं।
पूर्व मुख्यमंत्री ने छोटे लोहिया के नाम से मशहूर रहे जनेश्वर मिश्र के व्यक्तित्व का जिक्र करते हुए कहा कि लोहिया, जयप्रकाश नारायण और तमाम समाजवादियों ने जिस आंदोलन को आगे बढ़ाया, उसी में शामिल होकर मिश्र ने एक रास्ता दिखाया।
उन्होंने कहा कि मिश्र का रास्ता संघर्षों और विचारों का रास्ता था। लोहिया के साथ उन्होंने अपना पूरा जीवन संघर्ष में लगा दिया। इसी कारण आज भी लोहिया के आंदोलन को आगे बढ़ाने वाले लोग मिश्र को छोटे लोहिया के रूप में सम्बोधित करते हैं।

Read more...

गुजरात चुनाव : कांग्रेस ने जारी की प्रत्‍याशियों की दूसरी सूची, 13 नाम शामिल

अहमदाबाद। गुजरात चुनाव के लिए कांग्रेस ने अपनी दूसरी सूची में 13 नामों की घोषणा कर दी है, कांग्रेस ने पाटीदार नेता हार्दिक पटेल के दबाव में 4 सीटों पर उम्मीदवार बदल दिए जिसके बाद पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति का रुख कांग्रेस के प्रति नरम पड़ गया है। हार्दिक मंगलवार को नामांकन के आखिरी दिन अपने पत्ते खोलेंगे। गुजरात विधानसभा के प्रथम चरण की 89 सीटों के लिए भाजपा ने अब तक 134 उम्मीदवार घोषित कर दिए हैं जबकि कांग्रेस की 70 प्रत्याशियों की पहली सूची में भी सुधार करना पड गया। कांग्रेस ने पाटीदारों की नाराजगी दूर करने के लिए सूरत के वराछा, कामरेज, जूनागढ, भरुच सीट के उम्मीदवार बदल दिए हैं,कांग्रेस की दूसरी 13 उम्मीदवारों की सूची में 6 पाटीदार हैं। इससे पहले पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति की नाराजगी के चलते कांग्रेस के प्रदेश कार्यालय पर एसआरपी तैनात करनी पड़ी।

Read more...

सांसद और विधायकों को नहीं है जनता के लिए फुर्सत

अजय सिंह पंवार. बीकानेर, देश की सबसे बड़ी पंचायत 'संसदÓ और प्रदेश की विधानसभा में बैठकर देश व प्रदेश के विकास के साथ-साथ दिशा व दशा निर्धारण करने और जनहित के बारे में सोचने वाले सांसद और विधायक अपने क्षेत्र के प्रति कितने गंभीर व संजीदा है। इसका प्रत्यक्ष प्रमाण है कि पंचायत समितियों की साधारण सभाओं की बैठकों में नदारद रहना। क्षेत्र की राजनीति इस कदर हावी है कि सांसद व विधायक पंचायत समितियों की होने वाली साधारण सभाओं की बैठकों में उपस्थिति होना ही मुनासिब नहीं समझते। 

Read more...

काला दिवस मनाने के लिए कल से होंगी नुक्कड़ सभाएं

बीकानेर। शहर जिला कांग्रेस आठ नवम्बर को जिला कलक्टर कार्यालय के सामने काला दिवस के तहत धरना प्रदर्शन करेगी और नोटबन्दी के दौरान बैंकों की लाइन में मरने वाले लोगों को श्रद्धांजलि स्वरूप शाम को केंडल मार्च निकालेगी। शहर अध्यक्ष यशपाल गहलोत की अध्यक्षता में रविवार को हुई बैठक में इस पर चर्चा की गई। राजीव गांधी स्टडी सर्किल के राष्ट्रीय संयोजक सतीश आर्य भी शामिल हुए। जिनका स्वागत किया गया। आर्य ने कहा कि कांग्रेस एक ऐसा संगठन है जिसने पूरे विश्व का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश का निर्माण किया। कुछ अवसरवादी ताकतें भारत के इतिहास को झुठलाने का प्रयास कर रही हैं।

Read more...

क्यों पकाया महिलाओं ने भीड भाड वाले कोटगेट पर खाना

कोटगेट पर महिला कांग्रेस का अनूठा विरोध प्रदर्शन
डीएनआर रिपोर्टर. बीकानेर, महिला कांग्रेस अध्यक्ष सुनीता गौड़ के नेतृत्व में रविवार को बड़ी संख्या में महिलाओं ने कोटगेट पर विरोध प्रदर्शन कर केन्द्र व राज्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी की व गैस सिलेण्डर हाथ में लेकर बढ़ोतरी का पुरजोर विरोध किया। प्रदेश महिला कांग्रेस महासचिव सुषमा बारूपाल ने कहा कि जब केन्द्र में यूपीए की सरकार थी, तब सब्सिडी वाले गैस सिलेण्डर की कीमत 350 रूपये थी, वर्तमान सरकार ने इसमें दो गुना वृद्धि करके 750 रूपये पर पहुंचा दिया है। बढ़ी कीमतों को वापस नहीं लिया तो प्रदेशभर में विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। सुनीता गौड़ ने बताया कि विरोध प्रदर्शन में मुमताज शेख, आशा स्वामी, मनभरी, विमला फोगा, सपना तिवाड़ी, जमनादेवी वर्मा, इंदिरा शर्मा, सबनम, मेहरूनिशा, आयशा सहित महिलाओं ने भाग लिया।

Read more...

ईडी ने तेजस्वी से 13 नवंबर को पेश होने के लिये कहा

नयी दिल्ली, तीन नवंबर (भाषा) रेलवे होटलों के आबंटन में भ्रष्टाचार के मामले में अपनी धनशोधन जांच के सिलसिले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने राजद नेता लालू प्रसाद के पुत्र तेजस्वी यादव को 13 नवंबर को पेश होने के लिये कहा है। आधिकारिक सूत्रों ने आज बताया कि 31 अक्तूबर को पेशी के संबंध में बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री को इसी तरह का सम्मन भेजा गया था, जिसमें वह पेश नहीं हुए थे। उन्होंने बताया कि अब एजेंसी ने पेशी के लिये 13 नवंबर की नई तारीख तय की है। जांच एजेंसी ने धन शोधन रोकथाम अधिनियम (पीएमएलए) के प्रावधानों के तहत कुछ समय पहले लालू प्रसाद, उनके परिवार के सदस्यों एवं अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था। ईडी ने मामले में पूछताछ के संबंध में तेजस्वी की मां एवं बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी को भी सात नवंबर को उसके समक्ष पेश होने के लिये कहा है। इससे पहले ईडी मामले के संबंध में तेजस्वी से करीब नौ घंटे तक पूछताछ कर चुकी है।

Read more...
Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News