Menu

top banner

अब राजस्थान में नाबालिग से रेप पर होगी सीधी फांसी

 

जयपुर। मध्य प्रदेश में 12 वर्ष से कम उम्र की लड़कियों के साथ बलात्कार होने पर फांसी की सजा का प्रावधान होने के बाद अब राजस्थान में भी ऐसे ही कानून को पास कराने की तैयारी शुरू कर दी गई है। राजस्थान सरकार की ओर से बजट सत्र के दौरान ऐसे ही एक बिल को पास कराने की तैयारी की जा रही है। सरकार का मानना है कि इस बिल के पास होने के बाद ना सिर्फ बलात्कार की घटनाओं में कमी आ सकेगी बल्कि ऐसी घटनाओं में शामिल लोगों को कड़ी सजा भी दिलाई जा सकेगी। राजस्थान सरकार के इस फैसले के बारे में राज्य के गृहमंत्री ने गुलाबचंद कटारिया ने आधिकारिक पुष्टि की है। गृहमंत्री ने जानकारी देते हुए कहा कि सरकार इस बिल को बजट सत्र में लाने की तैयारी कर रही है और जल्द ही इसका एक ड्राफ्ट भी तैयार किया जाएगा।

 

सरकार के संबंधित विभाग अभी मध्य प्रदेश में विधानसभा से पास हुए बिल का अध्ययन कर रहे है। गौरतलब है कि 4 दिसंबर 2017 को मध्य प्रदेश की विधानसभा में दंड विधि संशोधन विधेयक को पास किया गया था। इस बिल के अनुसार राज्य में 12 साल तक की बच्ची के साथ दुष्कर्म या सामूहिक दुष्कर्म के मामले में फांसी तक की सजा दिए जाने का प्रावधान किया गया था। इसके साथ ही इस बिल में विवाह का झांसा देकर संबंध बनाने और उसके खिलाफ शिकायत प्रमाणित होने पर तीन साल कारावास की सजा का प्रावधान भी किया गया था।

Read more...

रैली निकाल रहे लोगों ने किया पुलिस पर पथराव

राजसमंद। राजसमंद में अफराजुल की हत्या करने वाले आरोपी शंभूलाल के समर्थन में आज धार्मिक संगठनों की ओर से रैली निकालने का प्रयास किया गया। इस पर पुलिस ने लाठियां भांजकर प्रदर्शनकारियों को खदेड़ा। इससे गुस्साए लोगों ने पुलिस पर पथराव कर दिया। दरअसल, लाइव मर्डर मामले में वायरल हो रहे भड़काऊ मैसेज के बाद प्रशासन की ओर से यहां उदयपुर और राजसमंद में इंटरनेट बैन कर दिया गया और एहतियातन धारा 144 लगा दी। इसके बावजूद आज हिंदू संगठनों की ओर से उदयपुर शहर के चेतक सर्किल, टाउन हॉल रोड, कोर्ट चौराहा और शास्त्री सर्किल पर रैली निकालने का प्रयास किया गया। इस पर हालात काबू करने के लिए पुलिस ने यहां प्रदर्शनकारियों को खदेडऩे के लिए लाठियां बरसाईं। इस पर गुस्साए प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव कर दिया। ये देख पुलिस की ओर से भी पथराव किया गया। जिसमें कई लोगों को चोटें भी आई। माहौल को बिगड़ते देख यहां बाजार बंद हो गए। हालांकि, सूचना पर पहुंचे पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों ने हालात पर काबू करने के लिए कई लोगों को गिरफ्तार किया। उधर, प्रशासन ने यहां दोनों जिलों में इंटरनेट बैन की अवधि को 24 घंटे के लिए बढ़ा दिया है।
ये है पूरा मामला
सोशल मीडिया को हथियार बनाकर साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाडऩे के प्रयास को देखते हुए राजस्थान के दो जिलो में इंटरनेट बंद कर दिया गया है। दरअसल ये मामला हाल ही में राजस्थान के राजसमंद में हुए लाइव मर्डर केस से जुड़ा है।
आरोप है कि कुछ संगठन बीते कई दिनों से उदयपुर और राजसमंद एक समुदाय विशेष के खिलाफ रैलियां निकाल रहे हैं और सोशल मीडिया पर अनर्गल बयानवाजी कर रहे हैं।
इसी के चलते संभागीय आयुक्त भवानी सिंह देथा के आदेश पर राजसमंद और उदयपुर में इंटरनेट बंद की अवधि को 24 घंटे के लिए अगले आदेश तक बढ़ाया गया है। गौरतलब है कि बीते दिनों राजसमंद में हत्या का लाइव वीडियो वायरल हुआ था। जिसके बाद से देश के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन किया जारहा है।

Read more...

वसुंधरा सरकार का 5वां साल महिलाओं के नाम, 3 गुना बढ़ाया बजट

जयपुर। राजस्थान की वसुंधरा राजे सरकार ने अपने वर्तमान कार्यकाल के अंतिम वर्ष आधी आबादी का खास ख्याल रखने का इरादा बनाया है। पिछले चार सालों में महिलाओं के हितार्थ जो कुछ कर पाई उससे आगे अब अगला साल उन्हें मजबूत बनाने पर फोकस रहने वाला है। राज्य सरकार के 4 वर्ष पूरे होने के अवसर पर महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री अनिता भदेल ने हाल ही प्रदेश की महिलाओं के लिए नई घोषणाओं और योजनाओं का जिक्र किया है। अधिकारिता विभाग में महिला अधिकारिता पर्यवेक्षक के 295 पदों, महिला पर्यवेक्षक के 221 पदों एवं संरक्षण अधिकारियों के 33 पदों पर सीधी भर्ती किए जाने की घोषणा की गई है। महिला अधिकारिता विभाग का वर्ष 2012-13 में बजट प्रावधान 91.92 करोड़ रुपए था। अब सरकार ने इस बजट को वर्ष 2017-18 में तीन गुना करते हुए 288.74 करोड़ रुपए कर दिया है।
मुख्यमंत्री राजश्री योजना
बालिकाओं के लिए व्यक्तिगत लाभ वाली योजना बनी है। इसक मकसद बालिका जन्म, शिक्षा एवं उनके विकास के प्रति सकारात्मक माहौल बनाना है। इस योजना के तहत 6 चरणों में 50,000 की राशि देने का प्रावधान रखा गया। 1 जून 2016 से अक्टूबर 2017 तक पहली किश्त के तहत 7,08,534 बालिकाओं को लाभ मिला और 177।13 करोड रुपए खर्च किए गए। दूसरी किश्त में 90,502 बालिकाओं को 22।63 करोड का भुगतान किया गया।
'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओÓ अभियान के तहत देश के 161 जिलों में राज्य के 14 जिले सम्मिलित किए गए हैं। बेटी जन्मोत्सव, बेटी के सम्मान में वृक्षारोपण, आठवां फेरा, ग्राम सभा में अनिवार्य एजेण्डा, स्कूलों में शपथ ग्रहण कार्यक्रम आदि नवाचारों को अपनाया गया है।


इन योजना के प्रयासों के तहत राज्य के 14 जिलों में से 10 जिलों में जन्म शिशु लिंगानुपात में सुधार दर्ज किया गया है। प्रदेश महिला अपराधों को का ग्राफ लगातार बढ़ रहा था इसलिए उन्हें रोकने के लिए यहां अपराजिता केंद्र बनाए गए। अपराजिता केंद्र भारत का रोल मॉडल केन्द्र बना हैं, हिंसा अथवा उत्पीडऩ की शिकार महिलाओं को न्याय एवं राहत दिलाने के लिए भारत का पहला केंद्र अपराजिता जयपुर में चलाया जा रहा है।
सामूहिक विवाह अनुदान योजना
दहेज प्रथा को कम करने के लिए हेतु प्रयास है जो नव विवाहित जोड़े को 15000 रुपए की अनुदान राशि और विवाह आयोजक संस्था को 3000 रुपए मुहैया कराती है। विभाग ने अब तक कुल 20337 जोड़ों को राशि रुपए 2732।81 लाख का वितरण कर चुका है। इसके तहत वर-वधु व आयोजक संस्था को मुख्यमंत्री बधाई संदेश का वितरण किया जाता है।
महिला उत्पीडऩ रोकने के लिए चिराली योजना
सामुदायिक प्रयासों से महिला उत्पीडऩ रोकने के लिए चिराली योजना शुरू की गई है। महिलाओं एवं बालिकाओं के प्रति होने वाली हिंसा की रोकथाम के लिए इसे 2017 से लागू किया गया है। महिलाओं एवं बालिकाओं के प्रति होने वाली हिंसा की रोकथाम के लिए ये समुदाय आधारित एक तरह के अनौपचारिक संगठन होंगे। राज्य के 7 जिलों यथा बांसवाड़ा, भीलवाड़ा, बूंदी, जालौर, झालावाड़, नागौर तथा प्रतापगढ़ में सामुदायिक कार्य दलों का गठन किया गया है।
इसी महीने से लागू होगी 'प्रधानमंत्री मातृ
वंदन योजनाÓ
प्रदेश में चिकित्सा के मामले में देखा जाए तो गर्भवती महिलाओं को प्रसव से पहले और प्रसव के बाद आर्थिक मदद के लिए नई योजना लागू की जा रही है। शिशु टीकाकरण को प्रोत्साहन देने के लिए प्रधानमंत्री मातृ वंदन योजना इसी महीने से लागू की जाने की घोषणा की है। इस योजना के अन्तर्गत परिवार में प्रथम डिलीवरी पर गर्भकाल के पहले 6 महीने में पहली किस्त 1000 रुपए, गर्भकाल में अन्तिम तीन महीने में 2000 रुपए और शिशु जन्म के बाद टीकाकरण आदि होने के बाद 2000 रुपए बैंक खाते में भुगतान किए जाएंगे।
लागू होगा राष्ट्रीय पोषण मिशन
राज्य में राष्ट्रीय पोषण मिशन लागू किया जायेगा। इसके तहत वर्ष 2017-18 से वर्ष 2019-20 तक छोटे बच्चों, किशोरियों एवं गर्भवती या धात्री महिलाओं में पोषण, एनीमिया और ठिगनेपन के स्तर के गिरते स्तर को कम किया जाएगा। ये वो समस्याएं हैं जिन्हें, कई सर्वे और रिपोर्ट्स के जिरए चिकित्सा की दिशा में काम रही डब्ल्यूएचओ जैसी है अहम संस्थाओं ने चेताया उसके बाद सरकार ने इस दिखा काम करने के लिए योजनाएं तैयार की हैं, जिन्हें सही तरीके से अमल में लाना बेहद जरूरी है।

इसी दिशा में आईसीटी आधारित रियल टाइम मोनिटरिंग कर, कुपोषण का समाधान तंत्र विकसित किया जाएगा।

Read more...

नई सडक़ पर दिनदहाड़े चाकूबाजी

जोधपुर। शहर के नई सडक़ एरिया में एक मिठाई की दुकान के नजदीक आज दोपहर में हुई चाकूबाजी में एक युवक घायल हो गया। शरीर चाकू से दो तीन घाव लगना बताया जाता है। पुलिस ने घायल को एमजीएच में उपचार करवाया है। हमले की वजह फिलहाल पता नहीं लगी है। सदर बाजार पुलिस घटनास्थल पर पहुंची।
सदर बाजार पुलिस ने बताया कि मदिना कोलोनी निवासी फयाज पुत्र मोहिनुद्दीन पर आज दोपहर में उसके क्षेत्र के रहने वाले दो तीन युवकों ने किसी बात को लेकर झगड़ा किया। फिर किसी ने अपने पास रखे से चाकू से हमला किया। घायल ने पर्चा बयान में चाकू से वार करना बताया है। पुलिस ने घायल फयाज का एमजीएच में उपचार करवाया है। पुलिस ने बताया कि हमले की वजह आरंभिक तौर पर स्पष्ट नहीं हुई है। माना जा रहा है कि इनके बीच आपसी रंजिश हो सकती है। हमला करने के बाद युवक फरार हो गए। चाकू के वार से फयाज के शरीर पर दो तीन जख्म लगना बताया गया है। अनुसंधान जारी है।

Read more...

राजस्थान: बर्थडे पार्टी में ले जाने के बहाने 12 साल की दलित लड़की से दुष्कर्म


झालावाड़। राजस्थान के झालावाड़ में 12 साल की एक दलित लड़की से बलात्कार किए जाने का मामला सामने आया है। लड़की के पड़ोसी के खिलाफ रेप के मामले में शिकायत दर्ज कराई गई है। आरोपी लड़की को बर्थडे पार्टी में ले जाने के बहाने अपनी मोटरसाइकिल पर बैठाकर ले गया और फिर उससे रेप किया। पुलिस ने बताया कि रविवार को क्षेत्र के खानपुर कस्बा में छठी क्लास में पढऩे वाली बच्ची अपने घर से बाहर खेल रही थी, तभी 22 साल का विजय सिंह वहां आया और बच्ची को बर्थडे पार्टी में ले जाने के बहाने बहला-फुसला कर ले गया। लड़की के रेप करने के बाद आरोपी गांव से फरार हो गया। शिकायत के अनुसार, रविवार को लड़की घर पर अकेली थी, उसके माता-पिता मजदूर हैं और वो मजदूरी पर गए थे। जब दोनों शाम को घर लौटे तो लड़की ने पूरी बात उनको बताई। इसके बाद वो बच्ची को लेकर खानपुर पुलिस स्टेशन पहुंचे और मामले की शिकायत दर्ज कराई। बच्ची को सीएचसी में भर्ती कराया गया है। लड़की को काफी चोटें आने की बात बताई गई है। पीडि़त के बयान मजिस्ट्रेट के सामने दर्ज करा दिए गए हैं। पुलिस ने बताया है कि आरोपी को पकडऩे के लिए लगातार कोशिश की जा रही है। पुलिस ने दबिशें दी हैं लेकिन आरोपी पुलिस की गिरफ्त से दूर है।

Read more...

जयपुर के नाहरगढ़ किले पर लटका मिला युवक का शव

डीएनआर ब्यूरो. जयपुर
प्रदेश की राजधानी में स्थित नाहरगढ़ किले पर एक युवक की लाश लटकी मिलने के बाद बखेड़ा हो गया। शव जहां से लटकाया गया था, वहां के आसपास 'पद्मावतीÓ फिल्म को लेकर भी टिप्पणी की गई थी कि हम पुतले नहीं जलाते, लटकाते हैं। वहीं, दूसरे पत्थर पर लिखा है कि पद्मावती का विरोध। कुछ अन्य पत्थरों पर भी ऐसी ही टिप्पणी की गई थी। जयपुर पुलिस के मुताबिक कि लाश की शिनाख्त चेतन सैनी के रूप में हुई है। पुलिस को उसकी जेब से मुंबई की एक फिल्म का टिकट भी मिला है। पुलिस ने लाश को किले से उतार लिया है। इसे पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है। देर रात तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया कि यह आत्महत्या थी या फिर हत्या?

Read more...

राजस्थान के कई हिस्सों में न्यूनतम तापमान में गिरावट

जयपुर। राजस्थान के कई हिस्सों में कल के मुकाबले न्यूनतम तापमान में एक से चार डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट दर्ज की गई। मौसम विभाग के प्रवक्ता के अनुसार आज सुबह साढ़े आठ बजे चूरू में न्यूनतम तापमान में कल के मुकाबले एक डिग्री सेल्सियस की गिरावट के साथ 4.5 डिग्री, माउंटआबू में 4.6, भीलवाडा में चार डिग्री सेल्सियस की गिरावट के साथ 6.8, अलवर 7.0, श्रीगंगानगर में दो डिग्री की गिरावट के साथ 7.4, पिलानी 7.8, वनस्थली 7.9, चित्तोडगढ में एक डिग्री की गिरावट के साथ 8.7, डबोक में तीन डिग्री की गिरावट के साथ 10 डिग्री, जैसलमेर में 10.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। उन्होंने बताया कि बीकानेर में न्यूनतम तापमान 10.6 डिग्री, सवाईमाधोपुर 10.8, फलौदी 11, जयपुर 11.2, जोधपुर 11.7, अजमेर में एक डिग्री सेल्सियस की गिरावट के साथ 12.1, बूंदी 12.2, बाडमेर 12.5, और कोटा में 13.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया प्रवक्ता ने बताया कि राज्य में आगामी 24 घंटों के दौरान अधिकतर जिलों में मौसम शुष्क रहने और उत्तरी भाग के जिलों हनुमानगढ, श्रीगंगानगर में पाला पडऩे का अनुमान है।

Read more...

भारत और चीन सीमा के बाद भूकंप से कांपी राजस्थान की धरती

जयपुर। अरुणाचल प्रदेश से लगी भारत और चीन की सीमा पर शनिवार सुबह भूकंप के झटके महसूस किए गए। इसके बाद दोपहर 3 बजकर 21 मिनट पर राजस्थान की धरती भी कांप गई। प्रदेश में यह झटके जोधपुर, नागौर, अजमेर और पाली में महसूस किए गए हैं, जिसके बाद लोग दहशत के चलते घरों से बाहर निकल आए निकल आए और सुरक्षित स्थान पर पहुंचे। हालांकि अभी तक किसी भी जानमाल के नुकसान की खबर नहीं है। जानकारी के अनुसार जोधपुर जिले में करीब 5 से 7 सेकंड तक, अजमेर जिले के ब्यावर, खरवा, लामाना जेठाना में दो से तीन सेकंड तक और नागौर जिले के जायल, अलाय में 3 से 4 सेकंड तक भूकंप के झटके महसूस किए गए और भूकंप का केंद्र जोधपुर रहा। रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता रही 4.2 दजज़् की गई है। आपको बता दें कि शनिवार सुबह अरुणाचल प्रदेश से लगी भारत और चीन की सीमा पर भूकंप के तेज झटको से धरती हिल गई थी। रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 6.4 मैग्नीट्यूड दजज़् की गई थी। यह भूकंप शनिवार सुबह 4.4 बजे आया, जिसका केंद्र भारतीय नगरों पासीघाट और तेजू से 240 किमी दूर स्थित था। वहीं चीनी मीडिया के अनुसार, तिब्बत के नींगची से महज 57 किमी दूर 6.9 की तीव्रता का भूकंप आया।

Read more...

पद्मावती: स्मृति की चुटकी पर आपस में भिड़े थरूर-सिंधिया, दी इतिहास पढऩे की नसीहत

नई दिल्ली। पद्मावती फिल्म पर उपजे विवाद मामले में सूचना प्रसारण मंत्री स्मृति इरानी की ओर से ली गई एक चुटकी पर कांग्रेस के दो दिग्गज नेता शशि थरूर और ज्योरतिरादित्य सिंधिया आमने-सामने आ गए। थरूर की ब्रिटिश काल में राजाओं-महाराजाओं पर की गई टिप्पणी सिंधिया को इतनी नागवार गुजरी कि उन्होंने थरूर को न सिर्फ इतिहास पढऩे की नसीहत दी, बल्कि बेवजह विवाद खड़ा न करने के प्रति भी आगाह किया। दरअसल पद्मावती के विरोध पर थरूर ने ब्रिटिश काल के राजाओं-महाराजाओं पर तीखा व्यंग्य किया था। उन्होंने कहा कि सच्चाई यह है कि एक फिल्म के कारण निदेज़्शक और कलाकारों के पीछे हाथ धोकर पडऩे वालों को उस समय अपने मान सम्मान की कोई चिंता नहीं थी। ब्रिटिश इनके मान सम्मान को पैरों तले रौंद रहे थे और वे खुद को बचाने के लिए भाग खड़े हुए थे। इस पर स्मृति ने ट्वीट करके पूछा कि क्या सभी महाराजाओं ने अंग्रेजों के सामने घुटने टेके थे। इस पर ज्योतिरादित्य, दिग्विजय सिंह और अमरिंदर सिंह को अपनी राय देनी चाहिए। गौरतलब है कि इन सभी के पूवज़्ज ब्रिटिश काल में अलग-अलग प्रांत के राजा थे। स्मृति के इस ट्वीट के बाद सिंधिया भड़क गए। उन्होंने कहा कि थरूर को इतिहास की जानकारी नहीं है। उन्हें यह जानने के लिए इतिहास पढऩा चाहिए कि ब्रिटिश काल में महाराजाओं की क्या भूमिका थी। उन्हें बेवजह की बयानबाजी के सहारे विवाद खड़ा करने से बचना चाहिए। गौरतलब है कि इस फिल्म के विरोध में सरकार के कई मंत्री भी निदेज़्शक के खिलाफ मोर्चा खोल चुके हैं। केंद्रीय मंत्री ने इस फिल्म के जरिए लोगों की भावनाओं और आस्था को चोट पहुंचाने का आरोप लगाया था। जबकि उमा भारती ने निदेज़्शक और पटकथा लेखक को विवाद की जड़ बताते हुए सेंसर बोडज़् को लोगों की भावनाओं का ख्याल रखने की नसीहत दी थी।

Read more...

सेंसर बोर्ड ने 'पद्मावती' को तकनीकी कारणों से वापस लौटाया?

मुंबई। विवादों में घिरी संजय लीला भंसाली की फिल्म 'पद्मावती' की देशभर में 1 दिसंबर को प्रस्तावित रिलीज़ टलने के आसार हैं। सूत्रों के मुताबिक, सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन (सेंसर बोर्ड) ने तकनीकी कारणों से फिल्म को वापस फिल्ममेकर्स को लौटा दिया है। सूत्रों ने बताया कि अब जब यह फिल्म दोबारा सेंसर बोर्ड के पास आएगी तब इसका दोबारा नियमों के अनुसार रिव्यू किया जाएगा। हालांकि फिल्म को प्रड्यूस कर रही कंपनी वायाकोम 18 मोशन पिक्चर्स के सीओओ अजित अंधारे ने ट्वीट कर 'पद्मावती' की रिलीज़ डेट आगे बढ़ाए जाने की खबरों को महज अफवाह बताया है। फिल्म की मार्केटिंग टीम के सूत्रों का भी कहना है कि फिल्म पहले से निर्धारित तारीख यानी 1 दिसंबर को ही रिलीज़ की जाएगी। इससे पहले कहा जा रहा था कि फिल्म 'पद्मावतीÓ फिल्म केंद्रीय प्रमाणन बोर्ड के पास रुकी हुई थी। सूत्रों के मुताबिक, फिल्म को लेकर बढ़ रहे तनाव के चलते यूपी समेत कई राज्यों के अफसर भी केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्रालय के सम्पर्क में थे। एक वरिष्ठ अफसर के मुताबिक, जानकारी मिली है कि फिल्म के हर उस दृश्य और कहानी की गंभीरता से समीक्षा होगी, जिससे किसी भी तरह का विवाद होने की आशंका होगी। ऐसे में फिल्म को 1 दिसंबर तक सेंसर बोर्ड से सर्टिफिकेट मिलने के आसार बेहद कम हैं। बता दें कि जगह-जगह इस फिल्म के खिलाफ प्रदर्शन तेज होता जा रहा है। कहीं फिल्म को रिलीज़ नो होने देने की बात कही जा रही तो कहीं ऐक्टर और डायरेक्टर के खिलाफ विरोध के सुर तेज हो रहे हैं। इतना ही नहीं, अखिल भारतीय क्षत्रिय युवा महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ठाकुर अभिषेक सोम ने संजय लीला भंसाली और दीपिका की गर्दन काटने वाले को 5 करोड़ रुपये का इनाम देने का ऐलान किया था। इससे पहले, राजपूत करणी सेना के संरक्षक लोकेंद्र सिंह कालवी ने गुरुवार को कहा था कि अगर फिल्म रिलीज़ हुई तो दीपिका पादुकोण के खिलाफ कार्रवाई होगी। प्रेस कांफ्रेस में लोकेंद्र ने कहा कि फिल्म में पद्मावती को खिलजी की प्रेमिका के रूप में दिखाया गया है और यह स्वीकार्य नहीं है। उन्होंने कहा कि राम-सीता के साथ लक्ष्मण भी वनवास गए थे। राम ने लक्ष्मण से भले ही न कहा हो लेकिन जरूरत पडऩे पर उन्होंने शूर्पणखा की नाक काट दी थी। दीपिका बेटी की तरह हैं लेकिन अगर हमारी बात समझी नहीं गई तो लक्ष्मण आज भी शूर्पणखा की नाक काटने की सियत रखते हैं। 1 दिसंबर को भारत बंद का आह्वान करने के साथ ही उन्होंने यह भी कहा था कि फिल्म में अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद का पैसा लगा है।

Read more...
Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News