Menu

top banner

दर्दनाक हादसा, 32 की मौत

डीएनआर ब्यूरो.जयपुर
सवाई माधोपुर में शनिवार सुबह एक बस नदी में गिर गई, जिससे अब तक ३२ लोगों की मौता हो चुकी है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार बनास नदी के पुल पर वाहन चालक बस को ओवर टेक करने के दौरान अपना नियंत्रण खो बैठा और बस नदी में जा गिरी। इस बस में सवार सभी लोगों की मौत की आशंका जताई जा रही है।
शुरूआत में एक दर्जन लोगों की मौत की सूचना आई थी लेकिन जैसे-जैसे दिन बढ़ता गया, मौत का अंाकड़ा बढ़ता ही गया। पुलिस के अनुसार अब तक ३२ लोगों की मौत हो चुकी है। मृतकों में अधिकांश उत्तरप्रदेश के निवासी है, इसके अलावा बिहार और राजस्थान के भी कुछ लोग शामिल थे। उत्तर प्रदेश सरकार लगातार राजस्थान सरकार के संपर्क में है।
कुछ बच गए
इस दुर्घटना में वो ही लोग बच सके हैं, जो खिड़कियों के पास बैठे थे और जैसे तैसे बाहर निकल गए। बचे हुए लोगों की संख्या भी पंद्रह से अधिक बताई जा रही है। सुबह साढ़े दस बजे तक सभी शवों को निकाल लिया गया।
हड़ताल छोड़ चिकित्सक पहुंचे
सवाई माधोपुर में हड़ताल पर चल रहे चिकित्सक भी तुरंत काम पर पहुंच गए।

Read more...

सड़क हादसे में युवक व गाय की मौत

दंतौर। दंतौर-बल्लर सड़क मार्ग पर बुधवार देर रात को हुए सड़क हादसे में मोटरसाइकिल सवार एक जने की मौत हो गई। मोटरसाइकिल की टक्कर से गाय भी मर गई। हैड कांस्टेबल सुभाष चन्द्र विश्नोई ने बताया कि डंडकला निवासी प्रकाश पुत्र भूराराम व उसके साथ एक और युवक मोटरसाइकिल पर जा रहे थे। दंतौर-बल्लर मार्ग पर 23 बीएलडी के पास रात के अंधेरे में सड़क पर काली गाय दिखाई नहीं देने से मोटरसाइकिल उससे भिड़ गई। घायल युवक को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई। जबकि गंभीर रूप से घायल प्रकाश ने पीबीएम चिकित्सालय में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।

Read more...

जयपुर में कईं वस्तुओं पर लगा प्रतिबंध

जयपुर। जिला कलक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट श्री सिद्धार्थ महाजन ने एक आदेश जारी कर जयपुर जिले के ग्रामीण क्षेत्र में प्लास्टिक से बने पक्के धागे या इसी प्रकार के अन्य चाईनीज सिंथेटिक पदार्थ, लोहे व कांच पाउडर या विषैले पदार्थ से बने मांझे के उपयोग से आमजन व पक्षियों को हानि पहुंचने की सम्भावना को देखते हुए इनके प्रयोग पर 31 जनवरी 2018 को प्रात: 7 बजे तक प्रतिबंध लगाया है। दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के तहत जिला मजिस्ट्रेट ने पुलिस अधीक्षक, जयपुर क्षेत्र की सीमाओं में किसी भी व्यक्ति के प्लास्टिक से बने पक्के धागे या इसी प्रकार के अन्य चाईनीज सिंथेटिक पदार्थ, लोहे व कांच पाउडर या विषैले पदार्थ से बने मांझे के निर्माण, परिवहन, भण्डारण, विक्रय एवं उपयोग पर प्रतिबंध लगाया है। उल्लंघन करने वाले व्यक्ति अथवा व्यक्तियों पर धारा 188 के तहत कठोर कार्यवाही की जाएगी।

Read more...

रेलवे में 'फर्जी नौकरी', ट्रेनिंग करवाकर पहली सैलरी भी दे दी

जयपुर। फर्जी नौकरी का एक अनोखा मामला सामने आया है। जहां रेलवे में फर्जी नौकरी लगवाई गई, ट्रेनिंग भी लगवा दी गई और एक महीने के तनख्वाह भी दी गई। उसके बाद मामला खुला तो सब दंग
रह गए।
अलवर के शाहजहांपुर थाना पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए चौबारा गांव निवासी जयपाल राजपूत को गिरफ्तार किया है। जयपाल ने गूगल कोटा गांव के निवासी एक युवक को रेलवे में नौकरी लगाने के नाम पर सवा चार लाख रुपए की ठगी की थी। गंभीर बात यह है कि जयपाल ने पैसा लेने के बाद ना केवल फर्जी नौकरी लगवा दी बल्कि 1 महीने की ट्रेनिंग के बाद छुट्टी भी भेज दिया। 1 महीने की सैलेरी भी पीडि़त को दिलवा दी। लेकिन जब पीडि़त को ठगी का पता चला तो वह आरोपी के पास पहुंचा और पैसे वापस देने की मांग की।

Read more...

मंत्री के बेटे की करतूत से सकते में प्रशासन

जयपुर। राजनेताओं और उनके परिवारों की दबंगई की बात आते ही उत्तर प्रदेश का नाम जहन में आ जाता है। लेकिन अब ऐसे मामले राजस्थान में भी सामने आने लगे हैं। दरअसल एनसीआर में आने वाले अलवर में बुधवार को दिन-दहाड़े राजस्थान सरकार में केबिनेट मंत्री के बेटे ने एक युवक का अपहरण कर लिया। जानकारी के अनुसार सामान्य प्रशासन मंत्री हेमसिंह भडाना के पुत्र सुरेन्द्र सिंह ने अपने दोस्तों के साथ कॉलेज छात्र तेजसिंह का अपहरण कर अपने घर में कैद कर लिया। इसके बाद आरोपी सुरेन्द्र ने तेजसिंह के साथ जमकर मारपीट की। जब घटना की जानकारी तेजसिंह के परिवार को हुई तब उसके पिता व भाई मंत्री भडाना के अलवर शहर स्थित निवास पर पहुंचे। इसके बाद मंत्री के बेटे के साथ उनकी काफी बहसबाजी हुई। काफी बहसबाजी के बाद उन्होंने तेजसिंह को आरोपी सुरेन्द्र की कैद से आजाद कराया। इसके बाद तेजसिंह को गंभीर हालत में अलवर के सामान्य चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। शिवाजी पार्क थाना प्रभारी विनोद सामरिया को जब घटना की जानकारी मिली तब वे अस्पताल पहुंचे। इस दौरान पीडि़त के पिता ने मामला पुलिस में मामला दर्ज कराया है।
वहीं पीडि़त तेजसिंह का कहना है कि वह मंत्री भडाना के घर के नजदीक ही किराए का कमरा लेकर पढ़ाई करता है।

बुधवार दोपहर बाद अचानक मंत्री भडाना का बेटा सुरेन्द्र वह उसके दोस्त स्कॉर्पियों गाड़ी लेकर आए और उसके साथ मारपीट की। इसके बाद उसे जबरन उठा कर ले गए और अपने घर में एक कमरे में कैद कर दिया। हालांकि यह स्पष्ट नहीं है कि घटना के दौरान मंत्री हेमसिंह भडाना घर में मौजूद थे या नहीं। गौरतलब है कि आरोपी सुरेन्द्र सिंह पर पूर्व में महिलाओं के साथ छेड़छाड़ के आरोप लग चुके है। कुछ वर्ष पूर्व आरोपी सुरेन्द्र ने अलवर शहर की अपनाघर शालीमार सोसाइटी में नशे में महिलाओं के साथ छेड़छाड़ की थी। जिसके बाद से सोसाइटी का एक परिवार तो वहां से जाने पर ही मजबूर हो गया था। उस दौरान मंत्री हेमसिंह भडाना राजस्थान के खाद्य व आपूर्ति मंत्री थे। इस घटना का शोर राजस्थान विधानसभा में भी सुनाई दिया था। लेकिन उस वक्त भी पिता के रसूख के चलते आरोपी पर पुलिस ने कोई खास कार्रवाई नहीं की थी।

Read more...

'धरती के भगवान' को तलाश रहे भगवान

जोधपुर। सेवारत डॉक्टरों और रेजिडेंट डॉक्टरों की हड़ताल मंगलवार को दूसरे दिन भी जारी रही। इस हड़ताल के कारण पूरे जिले में चिकित्सा व्यवस्था बेपटरी हो गई है। डॉक्टरों के कार्य बहिष्कार के चलते सरकारी अस्पतालों में चिकित्सा व्यवस्था ठप हो गई है। अस्पतालों के आउटडोर से इमरजेन्सी तक अफरा-तफरी मची हुई है। मरीज 'धरती के भगवानÓ को तलाशते रहे। दूरदराज से आउटडोर में आने वाले मरीज डॉक्टर को दिखाने के लिए घंटों इंतजार करते नजर आए। बाद में इन मरीजों को निजी अस्पतालों की तरफ रूख करना पड़ा।
अस्पतालों में आने वाले मरीज जांच के लिए भटक रहे है। इमरजेन्सी में आने वाले घायल व आईसीयू में भर्ती गंभीर मरीज भगवान भरोसे है। बता दे कि मेडिकल कॉलेज से जुड़े अस्पतालों की आईसीयू, इमरजेन्सी व भर्ती मरीजों के साथ 24 घंटे रेजिडेंट ही रहते है। दवा, जांच लिखने जैसे काम रेजिडेंट डॉक्टर ही करते है और मरीजों की हालत गंभीर होने पर संबंधित यूनिट के डॉक्टर से फोन पर बातचीत करके इलाज करते है। इधर रेस्मा के तहत सेवारत चिकित्सकों को गिरफ्तारी से मेडिकल कॉलेज के रेजिडेंट गिरफ्तारी के डर से भूमिगत हो गए है।
सरकार पर वादा खिलाफी का आरोप लगाते हुए सेवारत डॉक्टर्स सोमवार से हड़ताल पर है। उनके समर्थन में डॉ. एसएन मेडिकल कॉलेज के रेजिडेंट डॉक्टर भी हड़ताल पर चले गए थे। हड़ताल का आज दूसरा दिन है। इन डॉक्टरों की हड़ताल से सभी सरकारी अस्पतालों में मरीजो को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सेवारत डॉक्टर्स व रेजिडेंट के बिना मेडिकल कॉलेज, प्राथमिक और सामुदायिक स्वस्थ केंद्रों सहित जिला अस्पतालों पर मरीज परेशान होते रहे। तीनों बड़े अस्पतालों महात्मा गांधी, उम्मेद और मथुरादास माथुर अस्पताल में रेजिडेंट्स के हड़ताल पर जाने के बाद सीनियर्स ने व्यवस्थाएं संभाल रखी है। मेडिकल कॉलेज प्राचार्य डॉ. अमीलाल भाट ने बताया कि मेडिकल कॉलेज के तीनों अस्पतालों के करीब चार सौ रेजिडेंट हड़ताल पर गए है। इससे इन हॉस्पिटलों की व्यवस्था बुरी तरह लडखड़़ा गई है। हालांकि मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने व्यवस्थाओं को सुधारने के प्रयास किए है लेकिन इतनी बड़ी संख्या में डॉक्टर्स के हड़ताल पर होने की से स्थिति काबू आती नहीं दिख रही।

Read more...

वकीलों के चुनाव में जीते प्रत्याशियों का स्वागत फूलमालाओं से लादा, मिठाई बांटी


जोधपुर। राजस्थान हाईकोर्ट एडवोकेट्स एसोसिएशन के चुनाव में जीत हासिल करने वाले प्रत्याशियों का गुरुवार को कचहरी परिसर पहुंचने पर अन्य अधिवक्ताओं ने स्वागत किया। उन्होंने इन विजेता अधिवक्ताओं को फूलमालाओं से लाद दिया। वहीं मिठाई खिलाकर मुंह मीठा किया गया।
राजस्थान हाईकोर्ट एडवोकेट्स एसोसिएशन के बुधवार को हुए वार्षिक चुनाव में रणजीत जोशी ने लगातार 13 वींबार अध्यक्ष पद का चुनाव जीत कर 12 बार जीतने का अपना ही रिकॉर्ड तोड़ डाला था। जोशी को चतुष्कोणीय मुकाबले में 1129 मत प्राप्त हुए जबकि उनके प्रतिद्वंद्वी नाथूसिंह को 868 मत प्राप्त हुए। इनके अलावा एएजी शिवकुमार व्यास और डीके गौड़ भी अध्यक्ष पद की दौड़ में शामिल थे। उपाध्यक्ष पद पर कपिल बोहरा, महासचिव पद पर धनराज वैष्णव, कोषाध्यक्ष पद पर पुखराज गोदारा, पुस्तकालय सचिव पद पर अरुणा मांगलिया व सह सचिव पद पर दिलीप शर्मा विजयी हुए थे।
ये विजेता अधिवक्ता आज सुबह जब कचहरी परिसर पहुंचे तो उनके समर्थकों व अन्य अधिवक्ताओं ने उनका फूलमाला पहनाकर स्वागत किया। साथ ही अधिवक्ताओं में मिठाई बांटी। विजेता अधिवक्ताओं ने अन्य अधिवक्ताओं को मत व समर्थन के लिए धन्यवाद जताकर आभार जताया।

Read more...

वॉशिंगटन रेल हादसा: अब तक 6 लोगों की मौत और 22 घायल

वॉशिंगटन। अमेरिका के वॉशिंगटन में सोमवार को बड़ा रेल हादसा हुआ है, जिसमें छह लोगों की मौत और 22 के घायल होने की पुष्टी की गई है। ऐमट्रैक का कहना है कि ट्रेन में तकरीबन 78 यात्री और पांच क्रू मेंबर सवार थे। घटना टैकॉमा के दक्षिण-पश्चिम में डूपॉन्ट के पास हुई है। अधिकारियों ने डूपॉन्ट सिटी हॉल में एक सहायता केंद्र स्थापित किया है। साथ ही लोगों से घटनास्थल की तरफ न आने की अपील की गई है। ट्रेन के डिब्बे हाईवे पर गिर जाने के कारण नीचे चल रही कई गाडिय़ां इसके चपेट में आ गई और भारी जाम लग गया। हादसे के तुरंत बाद पुलिस रोड़ को ब्लॉक कर दिया है। घायलों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है और राहतकर्मी इस हादसे से निपटने की कोशिश में लगे हैं। अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर इस हादसे पर अपना दुख व्यक्त किया है। उन्होंने लिखा, 'ड्यूपॉन्ट, वाशिंगटन में हुए ट्रेन दुर्घटना में शिकार सभी लोगों के साथ मेरी संवेदनाएं हैं। उन सभी का शुक्रिया जो घटना के तुरंत बाद वहां पहुंचे। हम इस हादसे पर व्हाइट हाउस से नजर बनाए हुए हैं।' वॉशिंगटन स्टेट गवर्नर ने इस हादसे के बाद आपातकाल घोषित कर दिया है।

Read more...

वसुंधरा राजे को काले झंडे दिखाए

सीकर। राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को आज फतेहपुर में जन संवाद कार्यक्रम के दौरान छात्रों ने काले झंडे दिखाए। पुलिस ने ग्यारह लोगों को गिरफ्तार किया है। छात्रों ने मुख्यमंत्री को काले झंडे उस समय दिखाए जब राजे अन्नपूर्णा रसोई योजना के कार्यक्रम के दौरान जनसंवाद कर रही थीं। फतेहपुर कोतवाली थानाधिकारी शीश राम के अनुसार सीआरपीसी की धारा 151 के तहत ग्यारह लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

Read more...

अब राजस्थान में नाबालिग से रेप पर होगी सीधी फांसी

 

जयपुर। मध्य प्रदेश में 12 वर्ष से कम उम्र की लड़कियों के साथ बलात्कार होने पर फांसी की सजा का प्रावधान होने के बाद अब राजस्थान में भी ऐसे ही कानून को पास कराने की तैयारी शुरू कर दी गई है। राजस्थान सरकार की ओर से बजट सत्र के दौरान ऐसे ही एक बिल को पास कराने की तैयारी की जा रही है। सरकार का मानना है कि इस बिल के पास होने के बाद ना सिर्फ बलात्कार की घटनाओं में कमी आ सकेगी बल्कि ऐसी घटनाओं में शामिल लोगों को कड़ी सजा भी दिलाई जा सकेगी। राजस्थान सरकार के इस फैसले के बारे में राज्य के गृहमंत्री ने गुलाबचंद कटारिया ने आधिकारिक पुष्टि की है। गृहमंत्री ने जानकारी देते हुए कहा कि सरकार इस बिल को बजट सत्र में लाने की तैयारी कर रही है और जल्द ही इसका एक ड्राफ्ट भी तैयार किया जाएगा।

 

सरकार के संबंधित विभाग अभी मध्य प्रदेश में विधानसभा से पास हुए बिल का अध्ययन कर रहे है। गौरतलब है कि 4 दिसंबर 2017 को मध्य प्रदेश की विधानसभा में दंड विधि संशोधन विधेयक को पास किया गया था। इस बिल के अनुसार राज्य में 12 साल तक की बच्ची के साथ दुष्कर्म या सामूहिक दुष्कर्म के मामले में फांसी तक की सजा दिए जाने का प्रावधान किया गया था। इसके साथ ही इस बिल में विवाह का झांसा देकर संबंध बनाने और उसके खिलाफ शिकायत प्रमाणित होने पर तीन साल कारावास की सजा का प्रावधान भी किया गया था।

Read more...
Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News