Menu

राजस्थान LDC भर्ती - अल्फाबेट के हिसाब से होगी परीक्षा की तारीख तय, देखें सारी डिटेल

जयपुर। राजस्थान में कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के बाद अब राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड एलडीसी के 11 हजार 255 पदों के लिए भर्ती परीक्षा आयोजित होगी। यह परीक्षा 12 अगस्त से 16 सितंबर के बीच आयोजित की जाएगी। इन परीक्षाओं में कुल 13 लाख 85 हजार 711 आवेदन आए हैं। बड़े स्तर पर होने वाले इस परीक्षा के लिए अभी से तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। परीक्षार्थियों की संख्या ज्यादा होने की वजह से इस चार चरणों में आयोजित की जाएगी। हर अभ्यर्थी को दो पेपर हल करने होंगे। इससे पहले हुए कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के दौरान नकल को रोकने के लिए नेटबंदी की गई थी। आशंका जताई जा रही है कि इस परीक्षा के दौरान भी नेटबंदी का फैसला लिया जा सकता है।

किस चरण में कौन से अभ्यर्थी देंगे परीक्षा
परीक्षार्थियों की भारी संख्या को देखते हुए अधीनस्थ बोर्ड ने एलडीसी परीक्षा को अल्फाबेट के अनुसार करवाने का निर्णय लिया है। इस के तहत इन तारीखों में इस-इस अल्फाबेट के परीक्षार्थी पेपर देंगे।
ए से जी तक 12 अगस्त
एच से एम तक 19 अगस्त
एन से आर तक 9 सितम्बर
एस से जेड तक 16 सितम्बर

बोर्ड ने नकल की दृष्टि से 13 जिलों को संवेदनशील माना है। यहां पर भर्ती परीक्षा का कोई केन्द्र नहीं बनाया जाएगा। इसमें दौसा, करौली, धौलपुर, भरतपुर, बाड़मेर, सवाईमाधोपुर, सीकर, झुंझनूं, चूरू और गंगानगर सहित 13 जिले शामिल हैं। बाकी जिला मुख्यालयों पर परीक्षा का आयोजन कराया जाएगा। सुरक्षा और गोपनीयता को लेकर भी विशेष बंदोबस्त किए जा रहे हैं। परीक्षा में कई अभ्यर्थियों द्वारा 2 से अधिक आवेदन किए जाने की शिकायतें भी बोर्ड तक पहुंची हैं। जिस पर बोर्ड जांच कर किसी नतीजे पर पहुंचेगा।

websol

Read more...

स्कूल के सेफ्टी टैंक की छत धसी, अंदर गिरने से सात बच्चे घायल

जयपुर, 19 जुलाई (भाषा) राजस्थान के करौली जिले के एक सरकारी स्कूल के सेफ्टी टैंक की छत धस जाने से उसपर खेल रहे सात बच्चे अंदर गिर कर घायल हो गए। घायल बच्चों को अस्पताल ले जाया गया है। करौली के पुलिस अधीक्षक अनिल कायल ने बताया कि स्कूल ने सेफ्टी टैंक को पट्टियों से ढका हुआ था। 10 से 12 साल के सात बच्चे पट्टियों के उपर खेल रहे थे। तभी अचानक पट्टियां टूटने से वे अंदर गिर गए। उन्होंने बताया कि सभी बच्चों को तुरंत अस्पताल ले जाया गया। उनमें से पांच को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई है, जबकि अन्य दो का इलाज चल रहा है। सुरौठ थाने के प्रभारी सयैद शरीफ अली खान ने बताया कि घटना राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में आज सुबह हुई। आशंका है कि रात में हुई भारी बारिश के कारण सेफ्टी टैंक की पट्टियों के नीचे लगा सीमेंट हट गया होगा। ऐसे में सुबह जब बच्चे वहां खेल रहे थे तो, पट्टियां धस गईं और वह टैंक के अंदर गिर गए। उन्होंने कहा कि पुलिस को इस संबंध में अभी तक कोई तहरीर नहीं मिली है। हालांकि शुरूआती जांच से लगता है कि हादसे की प्रमुख वजह ठेकेदार द्वारा निर्माण के दौरान लापरवाही बरतना और खराब सामग्री का प्रयोग किया जाना है। खान ने कहा कि पुलिस आगे की कार्वाई कर रही है।

Read more...

अज्ञात लुटेरों ने बुजुर्ग दंपति को बंधक बनाकर नगदी, आभूषण, कार लूटी

जयपुर, 19 जुलाई (भाषा) जयपुर आयुक्तालय के क्षिप्रापथ थाना क्षेत्र में आज अलसुबह अज्ञात लुटेरों ने एक घर में घुस कर बुजुर्ग दंपत्ति को बंधक बनाकर, नकदी, आभूषण और कार लूट लिया। थानाधिकारी भंवर सिंह ने बताया कि गोपालपुरा बाईपास के टीबी योजना स्थित कमलेश गुप्ता के मकान में अलसुबह दो अज्ञात लुटेरे घुस आए। उन्होंने पति-पत्नी को बंधक बना लिया और मकान में रखे करीब 2.5 लाख रुपए नकद, आभूषण और गुप्ता की कार लूट कर फरार हो गए। पुलिस को संदेह है कि इस घटना में गुप्ता की घरेलू सहायिका शामिल हो सकती है। पुलिस उपायुक्त (अपराध) विकास पाठक ने बताया कि मामले की जांच के लिए अपराध शाखा का एक दल गठित किया गया है।

Read more...

ट्रक ने बाइक को टक्कर मारी, तीन लोगों की मौत

कोटा (राजस्थान), 19 जुलाई (भाषा) बूंदी जिले में कोटा - जयपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर तेज गति से आ रहे एक ट्रक ने एक मोटरसाइकिल को टक्कर मार दी। हादसे में मोटरसाइकिल सवार तीन लोगों की मौत हो गई।
पुलिस ने आज बताया कि यह घटना कल घटी।
तालेरा पुलिस थाना के उपनिरीक्षक नंद लाल ने बताया कि मृतकों की पहचान आकाश मेघवाल (17), रवि मेघवाल (17) और गिरिराज मेघवाल (25) के तौर पर हुई।
पुलिस ने बताया कि आकाश और रवि दोनों 10 वीं कक्षा के छात्र थे और कोचिंग क्लास से घर लौट रहे थे। उन्होंने गिरिराज से लिफ्ट मांगी थी।
पोस्टमार्टम के बाद आज उनके शव को उनके परिजन को सौंप दिए गए।
पुलिस ने बताया कि घटना के बाद ट्रक चालक मौके से फरार हो गया था। उस के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है।

Read more...

54 हजार पदों पर भर्तियां शीघ्र होंगी, प्रदेश में रिक्त नहीं रहेगा शिक्षक का एक भी पद : देवनानी

अजमेर. शिक्षा राज्य मंत्री वासुदेव देवनानी ने राज्य के आकांक्षापूर्ण जिलों के लिए केंद्र सरकार स्तर पर विशेष ग्रांट दिए जाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि राजस्थान में विद्यालय क्रमोन्नति, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के विकास आदि के लिए केंद्र और सहयोग करे। देवनानी ने कहा कि राज्य में शीघ्र ही तृतीय श्रेणी के 54 हजार पदों पर नियुक्ति हो जाएगी। इसके बाद प्रदेश में शिक्षकों का कोई पद रिक्त नहीं रहेगा।

- देवनानी सोमवार को शासन सचिवालय में केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से एनआईसी के जरिए वीडियो कॉन्फ्रेंस में संवाद कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राज्य के बारां, धौलपुर, सिरोही, करौली एवं जैसलमेर जिले को आकांक्षापूर्ण जिलों के लिए चयनित किया गया है। इनमें शिक्षा गुणवत्ता के लिए सतत प्रयासों की पहल की गई है।
- शिक्षा राज्य मंत्री ने कहा कि राज्य में आरटीई के तहत सभी स्थानों पर पाठ्य पुस्तकें उपलब्ध करा दी गई है। आदिवासी बाहुल्य और डेजर्ट क्षेत्र के जिलों में सभी को गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा मिले, इसके लिए प्रयास किए गए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य के 12 वीं तक के सभी स्कूलों में आईसीटी लेब स्थापित कर दिए गए हैं। लर्निंग आउटकम के लिए भी विशेष प्रयास किए गए हैं।
- देवनानी ने कहा कि राज्य सरकार ने 10 हजार 673 पंचायत एजुकेशन अधिकारियों को इसके लिए लेपटॉप प्रदान किए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में लड़के-लड़कियों के लिए शतप्रतिशत टॉयलेट की व्यवस्था की गई है। प्रदेश में 12 वीं तक के सभी विद्यालयों में बिजली की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है।

देशभर में 117 आकांक्षी जिले चयनित

- केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री जावड़ेकर ने देश के सभी राज्यों के शिक्षा मंत्रियों से वीडियो कान्फ्रेंस के जरिये संवाद किया। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने देशभर में 117 जिलों को विकास आकांक्षी जिलों के रूप में चयनित किया है। उच्च शिक्षा के लिए केंद्र सरकार ने 1668 करोड़ और स्कूल शिक्षा के लिए भी अधिकतम राशि स्वीकृत की है। उन्होंने कहा कि स्कूलों में विद्युतीकरण के लिए राज्य सरकारें घरेलू कनेक्शन जारी करें। वहां पावर रेगुलेटर लगे। सभी राज्यों में जुलाई माह तक पाठ्य पुस्तकें मिल जाए। यह सुनिश्चित हो कि देश के रिमोट क्षेत्रों में भी राज्य सरकारें 30 छात्रों पर एक अध्यापक नियुक्त करें। राज्य लर्निंग आउटकम प्लान बनाए।

- लर्निंग आउटकम कैसे पूरा हो, इसके लिए केंद्र सरकार के स्तर पर मदद दी जाएगी। राज्य कक्षा 5 तक के स्कूलों को 8 वीं तक, 8 वीं तक को 10 वीं तक और 10 वीं को 11 वीं और 12वीं तक क्रमोन्नत करें। उन्होंने देश में 17 नए मॉडल डिग्री कॉलेज खोले जाने और प्रत्येक के लिए 12 करोड़ स्वीकृत किए जाने की भी घोषणा की। उन्होंने कहा कि देश के 29 जिलों में मॉडल डिग्री कॉलेज अपग्रेड होंगे। हरेक कॉलेज को 4 करोड़ केंद्रीय स्तर पर मिलेगा। इसके अलावा 6 जिलों में प्रोफेशनल कॉलेज होंगे। प्रत्येक के लिये 26 करोड़ का प्रावधान होगा। वीडियो कॉन्फ्रेंस में सर्व शिक्षा आयुक्त डॉ. जोगाराम कॉलेज शिक्षा आयुक्त आशुतोष सहित अन्य अधिकारियों ने भाग लिया

Read more...

54 हजार पदों पर भर्तियां शीघ्र होंगी, प्रदेश में रिक्त नहीं रहेगा शिक्षक का एक भी पद : देवनानी

अजमेर. शिक्षा राज्य मंत्री वासुदेव देवनानी ने राज्य के आकांक्षापूर्ण जिलों के लिए केंद्र सरकार स्तर पर विशेष ग्रांट दिए जाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि राजस्थान में विद्यालय क्रमोन्नति, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के विकास आदि के लिए केंद्र और सहयोग करे। देवनानी ने कहा कि राज्य में शीघ्र ही तृतीय श्रेणी के 54 हजार पदों पर नियुक्ति हो जाएगी। इसके बाद प्रदेश में शिक्षकों का कोई पद रिक्त नहीं रहेगा।

- देवनानी सोमवार को शासन सचिवालय में केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से एनआईसी के जरिए वीडियो कॉन्फ्रेंस में संवाद कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राज्य के बारां, धौलपुर, सिरोही, करौली एवं जैसलमेर जिले को आकांक्षापूर्ण जिलों के लिए चयनित किया गया है। इनमें शिक्षा गुणवत्ता के लिए सतत प्रयासों की पहल की गई है।
- शिक्षा राज्य मंत्री ने कहा कि राज्य में आरटीई के तहत सभी स्थानों पर पाठ्य पुस्तकें उपलब्ध करा दी गई है। आदिवासी बाहुल्य और डेजर्ट क्षेत्र के जिलों में सभी को गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा मिले, इसके लिए प्रयास किए गए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य के 12 वीं तक के सभी स्कूलों में आईसीटी लेब स्थापित कर दिए गए हैं। लर्निंग आउटकम के लिए भी विशेष प्रयास किए गए हैं।
- देवनानी ने कहा कि राज्य सरकार ने 10 हजार 673 पंचायत एजुकेशन अधिकारियों को इसके लिए लेपटॉप प्रदान किए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में लड़के-लड़कियों के लिए शतप्रतिशत टॉयलेट की व्यवस्था की गई है। प्रदेश में 12 वीं तक के सभी विद्यालयों में बिजली की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है।

देशभर में 117 आकांक्षी जिले चयनित

- केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री जावड़ेकर ने देश के सभी राज्यों के शिक्षा मंत्रियों से वीडियो कान्फ्रेंस के जरिये संवाद किया। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने देशभर में 117 जिलों को विकास आकांक्षी जिलों के रूप में चयनित किया है। उच्च शिक्षा के लिए केंद्र सरकार ने 1668 करोड़ और स्कूल शिक्षा के लिए भी अधिकतम राशि स्वीकृत की है। उन्होंने कहा कि स्कूलों में विद्युतीकरण के लिए राज्य सरकारें घरेलू कनेक्शन जारी करें। वहां पावर रेगुलेटर लगे। सभी राज्यों में जुलाई माह तक पाठ्य पुस्तकें मिल जाए। यह सुनिश्चित हो कि देश के रिमोट क्षेत्रों में भी राज्य सरकारें 30 छात्रों पर एक अध्यापक नियुक्त करें। राज्य लर्निंग आउटकम प्लान बनाए।

- लर्निंग आउटकम कैसे पूरा हो, इसके लिए केंद्र सरकार के स्तर पर मदद दी जाएगी। राज्य कक्षा 5 तक के स्कूलों को 8 वीं तक, 8 वीं तक को 10 वीं तक और 10 वीं को 11 वीं और 12वीं तक क्रमोन्नत करें। उन्होंने देश में 17 नए मॉडल डिग्री कॉलेज खोले जाने और प्रत्येक के लिए 12 करोड़ स्वीकृत किए जाने की भी घोषणा की। उन्होंने कहा कि देश के 29 जिलों में मॉडल डिग्री कॉलेज अपग्रेड होंगे। हरेक कॉलेज को 4 करोड़ केंद्रीय स्तर पर मिलेगा। इसके अलावा 6 जिलों में प्रोफेशनल कॉलेज होंगे। प्रत्येक के लिये 26 करोड़ का प्रावधान होगा। वीडियो कॉन्फ्रेंस में सर्व शिक्षा आयुक्त डॉ. जोगाराम कॉलेज शिक्षा आयुक्त आशुतोष सहित अन्य अधिकारियों ने भाग लिया

Read more...

राजस्थान में कांग्रेस प्रवक्ता की तलाश

जयपुर, 17 जुलाई (भाषा) राजस्थान में आगामी विधानसभा चुनावों में सत्ताधारी भाजपा से मुकाबला करने के लिए कांग्रेस ने आज पार्टी के प्रवक्ताओं की नियुक्ति के वास्ते साक्षात्कार लिए। उम्मीदवारों से राजनीतिक परिदृश्य और मुद्दों पर उनकी समझ का आकलन किया गया और यह भी मूल्यांकन किया गया कि क्या वे बहस में अपना पक्ष अच्छी तरह से रख पाएंगे। उम्मीदवारों से पूछा गया कि वे प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सचिन पायलट ओर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत में किसको ज्यादा पंसद करते है। प्रवक्ता का साक्षात्कार पार्टी की राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी के दो सदस्यों वाले पैनल ने लिया। प्रवक्ता का साक्षात्कार देने के बाद एक उम्मीदवार ने संवाददाताओं को बताया कि साक्षात्कार लेने वाले पैनल ने उनसे दोनों नेताओं के गुणों के बारे में पूछा। यह भी पूछा गया कि व्यक्तिगत तौर पर कौन सा नेता उन्हें पंसद है। उन्होंने बताया कि इसके अलावा पैनल ने उम्मीदवारों, राजनीतिक अनुभवों, उनकी पंसद और चुनाव लडऩे की इच्छा, राजनीति विरोधियों से मुकाबला करने की रणनीति के बारे पूछा। प्रवक्ता के लिए कल भी उम्मीदवारों का साक्षात्कार होगा।

Read more...

उदयपुर - ट्रक पलटने से तीन मजदूरों की दर्दनाक मौत

उदयपुर के झाडोल में मंगलवार को ट्रक पलटने से तीन मजदूरों की दर्दनाक मौत हो गई. हादसे में चार मजदूर गंभीर घायल हो गए. उन्हें इलाज के लिये स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनका इलाज चल रहा है.जानकारी के अनुसार अहमदाबाद से झाड़ोल के देवास गांव में सीमेंट की ईंटे लेकर एक ट्रक आया था. सीमेंट की ईंटों को खाली कराने के लिये फलासिया से कुछ स्थानीय मजदूरों को ट्रक में बिठाया गया था. विद्यालय में शौचालय निर्माण के लिये लाई गई ईंटों से भरा यह ट्रक जब देवास गांव की घाटी में रिवर्स ले रहा था उसी दौरान अनियंत्रित होकर पलट गया.ईंटों के नीचे दब गए हादसा इतना दर्दनाक था कि तीन मजदूर ईंटों के नीचे दब गए, जिससे मौके पर ही उनकी मौत हो गई. चार मजदूर गंभीर रूप से घायल हो गए. सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और ग्रामीणों की मदद से घायलों को 108 एम्बुलेंस से स्थानीय अस्पताल पहुंचाया

Read more...

बॉर्डर पर तपते रेगिस्तान में जवानों को राहत देने बीएसएफ ने तैयार की एसी लगी स्पेशल सीमा चौकी

बाड़मेर। गर्मी के दिनों में आसमान से बरसती आग अौर भट्टी के समान तपते रक्षेगिस्तान में बीएसएफ के जवानों के लिए सीमा की चौकसी करना किसी चुनौती से कम नहीं होता है। पचास से अधिक डिग्री तक की गर्मी में अब जवान आसानी के साथ सीमा की चौकसी कर सकेंगे। बीएसएफ ने रेगिस्तान में स्थित एक सीमा चौकी को पूर्णतया वातानुकूलित कर दिया है। इस चौकी के जवान अब भीषण गर्मी में भी बगैर किसी परेशानी के सीमा की चौकसी रहे है। मॉडल चौकी के रूप में इसे विकसित कर अब केन्द्र सरकार के पास प्रस्ताव भेजा गया है। वहां से स्वीकृति मिलने पर राजस्थान की अन्य सभी सीमा चौकियों पर एयर कंडीशनर लगाए जाएंगे।

बीएसएफ ने तैयार की मॉडल सीमा चौकी...
- राजस्थान की करीब 1070 किलोमीटर सीमा पाकिस्तान से सटी हुई है। इसमें से अधिकांश रेगिस्तानी क्षेत्र है। शांतिकाल के दौरान बीएसएफ सीमा की रक्षा करती है। इसके लिए सीमा पर तीन से चार किलोमीटर के अंतराल पर चौकियों का निर्माण किया हुआ है। इन चौकियों पर तैनात बीएसएफ के जवान बारह महिनों सीमा पर होने वाली प्रत्येक हलचल पर नजर बनाए रखते है।
- रेगिस्तानी क्षेत्र में भीषण गर्मी पड़ती है। गर्मी के दिनों में आसमान से आग बरसती प्रतीत होती है। वहीं यहां की मिट्टी अंगारों के समान दहकने लगती है। जवानों ने कई बार इस दहकती मिट्टी पर पापड़ तक सेंके है। दिन के समय कई बार तापमान पचास डिग्री के पार चला जाता है। ऐसे में जवानों को सीमा पर निगरानी करने में कई दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।
- जवानों को इस भीषण गर्मी से निजात दिलाने के लिए बीएसएफ ने पहल कर बाड़मेर सेक्टर में स्थित अपनी एक सीमा चौकी के अोपी टावर को पूर्णतया वातानुकूलित कर दिया है। चारों तरफ कांच लगे इस कैबिन में बैठ जवान गर्मी से परेशान हुए बगैर अपना पूरा ध्यान सीमा चौकसी पर लगा रहे है। इसके अलावा चौकी में भी एसी लगाए गए है।
- बीएसएफ का कहना है कि इस चौकी को मॉडल चौकी के रूप में विकसित किया गया है। इसके बेहतर नतीजे देखने के बाद अब रेगिस्तानी क्षेत्र सभी सीमा चौकियों में ऐसी सुविधा विकसित करने का प्रस्ताव केन्द्र सरकार के पास भेजा गया है। वहां से स्वीकृति मिलने के पश्चात अन्य चौकियों में भी ऐसी सुविधा उपलब्ध करा दी जाएगी। कांच का कैबिन होने के कारण अधियों का दौर चलने पर भी जवान आसानी से चौकसी कर सकेंगे।

Read more...

चुनाव की तैयारियां: अधिकारियों के तबादलों पर 31 जुलाई से बैन!

मतदाता सूचियों के पुनरीक्षण में लगे अधिकारियों और कर्मचारियों के तबादलों पर 31 जुलाई से बैन लग जाएगा ! प्रशासनिक सुधार विभाग ने फाइल मुख्यमंत्री कार्यालय को भेज दी है. मुख्यमंत्री की हरी झंडी मिलते ही शीघ्र आदेश जारी होंगे. राज्य सरकार 30 जुलाई तक अफसरों के तबादले कर सकती है. क्योंकि राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार प्रदेश में मतदाता सूची पुनरीक्षण कार्य 31 जुलाई से शुरू होगा. ऐसे में राज्य सरकार अफसरों का तबादला नहीं कर सकती. मतदाता सूची के पुनरीक्षण में कलेक्टर से लेकर बीएलओ स्तर के अधिकारी शामिल होते हैं. चुनावी साल में केंद्रीय निर्वाचन आयोग ने राज्य सरकार को 30 जुलाई की बजाय 31 अगस्त तक तीन साल से फील्ड में एक ही कुर्सी पर जमे अफसरों का तबादला करने की छूट दे दी थी. लेकिन अब मतदाता सूची पुनरीक्षण के चलते 30 जुलाई तक ही तबादले किए जा सकेंगे. हालांकि राज्य सरकार ने निर्वाचन आयोग से अनुरोध किया था कि तबादले की अवधि 30 जून के बजाय 30 सितंबर कर दी जाए, लेकिन आयोग ने राज्य सरकार अनुरोध अस्वीकार कर दिया था. उल्लेखनीय है कि चुनाव नजदीक आने के साथ ही राजनैतिक पार्टियों के साथ साथ चुनाव आयोग भी तैयारियों में जुट गया है. चुनाव कार्य से जुड़े अधिकारी भी अब जोरशोर से चुनावी तैयारी में जुटे हुए हैं.

Read more...
Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News