Menu

top banner

एशियाई शेरनी का सफल ऑपरेशन

जयपुर, 20 सितंबर (भाषा) राजस्थान की सात वर्षीय एशियाई शेरनी ‘महक’ का कल उदयपुर के जैविक पार्क में चेरी आंख (अतिसार से तीसरा पलक) का सफल आपरेशन किया गया। जयपुर चिड़ियाघर के वरिष्ठ पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. अरविंद माथुर और उनके सहयोगी पशु चिकित्सकों ने उदयपुर के सज्जनगढ़ जैविक पार्क, में यह आपरेशन किया। उन्होंने कहा कि ‘महक’ कम भूख के साथ दर्द, असुविधा, निरंतर व्याकुलता से पीड़ित थी। डॉक्टर माथुर ने उम्मीद जताई है कि शेरनी जल्द ठीक हो जाएगी।

Read more...

राजस्थान बोर्ड ने जारी किए पूरक परीक्षा परिणाम

अजमेर। राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की ओर से मंगलवार को दसवीं, बारहवीं, वरिष्ठ उपाध्याय और प्रवेशिका की पूरक परीक्षा के परिणाम घोषित कर दिए गए। बोर्ड सचिव की ओर से बोर्ड पूरक परीक्षा 2017 की उत्तर पुस्तिकाओं की संवीक्षा और उत्तर पुस्तिकाओं की प्रति ऑनलाइन प्राप्त करने के लिए अधिकारिक सूचना भी जारी की गई है। इसमें बताया गया है कि 12वीं कक्षा (तीनों वर्ग), वरिष्ठ उपाध्याय, माध्यमिक और प्रवेशिका की संवीक्षा और स्कैन कॉपी लेने के लिए 300 रुपए प्रति विषय 25 सितंबर तक जमा कराना होगा।

Read more...

मोहन भागवत से मुख्यमंत्री ने भेंट की

जयपुर,  राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने आज यहां भारती भवन में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ मोहन राव भागवत से भेंट की। अधिकारिक सूत्रों के अनुसार वसुंधरा करीब सवा घण्टे तक राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के जयपुर मुख्यालय भारती भवन में रहीं जहां उन्होंने भागवत के साथ चर्चा की। इस बैठक के बाद वसुंधरा ने ट्वीट किया, ‘‘राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ्ज्ञ के परम आदरणीय सरसंघचालक श्री मोहन भागवत जी से भारती भवन में औपचारिक मुलाकात की।’’ 

Read more...

राजस्थान में सेवारत चिकित्सकों के सामूहिक अवकाश के कारण रोगी परेशान

जयपुर,   राजस्थान सेवारत चिकित्सक संघ के आह्वान पर प्रदेश के करीब दस हजार से अधिक चिकित्सकों के आज सामूहिक अवकाश पर चले जाने के कारण रोगियों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। सेवारत चिकित्सक संघ के डॉक्टर डी. एस. जैन के अनुसार चिकित्सक काफी पहले सरकार को अपना मांग पत्र सौप चुके हैं। उसके बावजूद सरकार द्वारा मांगों को नजरअंदाज किया गया, और इसी कारण चिकित्सकों को आज दो घंटे के लिए सामूहिक अवकाश पर जाना पड़ा। उन्होंने कहा कि सरकार ने समय रहते मांगों पर सकारात्मक रवैया नहीं अपनाया तो चिकित्सक हड़ताल पर जाने को विवश होंगे। चिकित्सकों के सामूहिक अवकाश पर चले जाने के कारण राज्य के सभी मेडिकल कॉलेज से सम्बद्ध चिकित्सालयों एवं अन्य सरकारी अस्पतालों में रोगियों को परेशान होना पड़ा। गौरतलब है कि चिकित्सक समयबद्ध पदोन्न्ति, एकल पाली, पीजी में प्रवेश को लेकर लगाये गये प्रतिबंध समेत तीस से अधिक मांगों को लेकर सामूहिक अवकाश पर गये हैं।

Read more...

जयपुर में दो दिवसीय रक्षा पेंशन अदालत कल से

जयपुर,18 सितंबर (भाषा) दक्षिण पश्चिमी कमान राजस्थान राज्य और आस-पास के रक्षा पेंशनर्स की पेंशन संबंधी शिकायतों के निवारण के लिए कल से जयपुर में दो दिवसीय पेंशन अदालत आयोजित होगी। रक्षा प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल मनीष ओझा ने आज बताया कि ‘सप्त शक्ति ऑडिटोरियम’ जयपुर में लगने वाली पेंशन अदालत में पेंशनर्स संबंधित समस्याओं के निवारण के लिए समर्थित दस्तावेज साथ लेकर आये।

Read more...

भागवत ने भी गौरक्षा के नाम पर हो रही हिंसा पर नाखुशी जाहिर की

जयपुर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बाद अब राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के संघचालक डॉ. मोहन भागवत ने भी गौरक्षा के नाम पर हो रही हिंसा पर नाखुशी जाहिर की है। जयपुर प्रवास पर आए भागवत ने रविवार शाम यहां चल रहे अभ्यास वर्ग में कहा है कि जो लोग गाय के प्रति आस्था रखते हैं, वे गाय का पालन करते हैं। उनकी बहुत गहरी आस्था को चोट लगने के बावजूद वे हिंसा का मार्ग नहीं अपनाते हैं। जयपुर के केशव विद्यापीठ में चल रहे संघ के खण्ड कार्यवाह अभ्यास वर्ग में एक स्वयंसेवक ने इस बारे में सवाल पूछा था।

Read more...

नाबालिग ने पड़ौसन पर चाकू से किया हमला, ब्लू व्हेल गेम का संदेह

जयपुर। राजस्थान के जोधपुर में एक नाबालिग ने पड़ौस में रहने वाली एक महिला पर चाकू से हमला कर दिया और उसे गंभीर रूप से हमला कर दिया। यह मामला ब्लू व्हेल गेम से जुड़ा बताया जा रहा है।

मिली जानकारी के अनुसार, जोधपुर के प्रतापनगर थाना इलाके में एक महिला पर पड़ोस में रहने वाले एक नाबालिग ने हमला कर दिया। नाबालिग ने महिला की पीठ और गर्दन पर करीब आधा दर्जन वार कर किए। हमले के दौरान यह महिला चिल्लाई तो नाबालिग वहां से भाग गया।

यह मामला प्रथम दृष्टया ब्लू व्हेल गेम से जुड़ा हुआ बताया जा रहा है। महिला के पति रामेश्वर का कहना है कि आरोपी लड़का ब्लू व्हेल गेम खेल रहा था। लड़के को उसकी पत्नी सीता की हत्या का टास्क मिला था। लड़का भी उसके पड़ोस में रहता है। इस टास्क को पूरा करने के लिए इस लड़के ने इस महिला पर हमला किया। हालांकि पुलिस ने अभी इस मामले में पुष्टि नहीं की। पुलिस का कहना है कि इस मामले में लड़के से पूछताछ की जा रही है।

गौरतलब है कि जोधपुर में ब्लू व्हेल गेम खेलते हुए इससे पहले एक किशोरी जान देने की दो बार कोशिश कर चुकी है।

Read more...

डेढ़ माह की बेटी को घर में बंद कर पीहर चली गई मां, भूख-प्यास से मौत

जयपुर। राजस्थान के बांसवाड़ा में एक पति-पत्नी के आपसी झगड़े में उनकी ही डेढ़ माह की मासूम बच्ची की जान चली गई। झगड़े से नाराज मां बेटी को घर में बंद कर पीहर चली गई तो पिता ने भी उसकी सुध नहीं ली। बंद कमरे में मासूम ने भूख-प्यास से दम तोड़ दिया। शव भी करीब आठ दिन पुराना हो गया और उसमे कीड़े पड़ गए।

पुलिस के अनुसार लालपुरा निवासी विमला ने 29 जुलाई को अपने पीहर सामरिया गांव में इस बच्ची को जन्म दिया था। कुछ समय बाद वह अपने पति कैलाश के घर आ गई। कुछ दिनों पहले पति-पत्नी में झगड़ा हुआ तो दोनों नवजात को घर में ही छोड़कर चले गए। पड़ौसियों के अनुसार पिछले तीन-चार दिनों से बंद घर से दुर्गंध आ रही थी, लेकिन चूहे के मरने की दुर्गध समझकर ध्यान नहीं दिया।

बताया गया कि नवजात की मां विमला करीब आठ दिन पहले अपने पीहर चली गई थी। इसी बीच रविवार को प्रस्तावित चिकित्सा शिविर और टीकाकरण की जानकारी देने शुक्रवार को वार्ड 17 की आशा सहयोगिनी नवप्रसूता विमला के घर पहुंची। घर बंद था। पड़ौस में पूछने पर बताया कि पिछले कई दिनों से घर बंद है, लेकिन उसमें से दुर्गंध आ रही है। इस पर आशा सहयोगिनी व मौके पर मौजूद एक व्यक्ति ने घर खोला तो बिस्तर के बीच में नवजात कन्या का शव पड़ा था।

पुलिस ने कन्या के परिजनों को बुलवाया और पोस्टमार्टम के बाद शव उन्हें सौंपा। मामले की जांच की जा रही है।

Read more...

राजस्थान में 22 राज्यों के 732 युवाओं ने बनाया विश्व रिकॉर्ड

जयपुर। राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान में आयुर्वेद से जुड़े 22 राज्यों के 732 छात्रों ने आठ मिनट तक नाक से अनोखी क्रिया कर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज करा लिया है।

केंद्रीय आयुष मंत्रालय एवं नेशनल आयुर्वेद स्टूडेंट एंड यूथ एसोसिएशन की ओर से आयोजित तीन दिवसीय युवा महोत्सव के दूसरे दिन शुक्रवार को 800 छात्र-छात्राओं ने आठ मिनट तक एक साथ नस्यकर्म क्रिया की। पंचकर्म से इलाज की इस विधि से नाक में दो बूंद तेल या घी डालकर सर्दी, जुकाम, अस्थमा जैसी बीमारियों का इलाज किया जाता है।

तीन दिवसीय कार्यक्रम में 22 राज्यों के 26 हजार छात्र-छात्राएं भाग ले रहे हैं। राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान के निदेशक डॉ. संजीव शर्मा ने बताया कि गिनीज बुक की टीम के सदस्यों ने ड्रोन से रिकॉडिग की। नस्यकर्म क्रिया को देखा गया।

शुक्रवार को एनएबीएच की निदेशक डॉ.गायत्री राठौड़ ने राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान को एनएबीएच प्रमाणपत्र भी जारी किया। यह देश का पहला संस्थान है जिसे एनएबीएच प्रमाणपत्र मिला है।

Read more...

प्रदेश के 16 लाख वाहन होंगे बंद

डीएनआर ब्यूरो. जयपुर, अगर आपका वाहन 15 साल से ज्यादा पुराना है। अगर आपने अपने वाहन का पंजीयन रिन्यू नहीं कराया है तो तुरंत आरटीओ कार्यालय जाईए, क्योंकि यदि आप अब चूक गए तो अपना वाहन सड़क पर नहीं चला पाएंगे। परिवहन विभाग इतिहास में पहली बार राजस्थान में 16 लाख से ज्यादा वाहनों का पंजीयन निरस्त करने जा रहा है। यह निर्णय अपने आप में बहुत बड़ा माना जा रहा है। हालांकि परिवहन विभाग ने इसकी कवायद पिछले साल ही शुरू कर दी थी, लेकिन अभी तक प्रदेश के ज्यादातर लोगों को इसकी जानकारी ही नहीं हैं। 31 मार्च 2001 तक पंजीकृत वाहन यानी ऐसे वाहन जो 31 मार्च 2001 से पहले खरीदे गए हैं, उन्हें दौड़ से बाहर किया जा रहा है। परिवहन विभाग यह कवायद प्रदेश में प्रदूषण का स्तर कम करने के लिए कर रहा है। 

कुछ इस प्रकार है नियम
परिवहन विभाग का नियम है कि 15 साल पुराना होने पर वाहन का पंजीयन दुबारा रिन्यू कराना होता है। कार या मोटरसाइकिल जैसे नॉन ट्रांसपोर्ट वाहनों के लिए यह पंजीयन 5 साल के लिए रिन्यू होता है, जबकि बस या ट्रक जैसे भारी वाहनों के लिए 15 साल तक के लिए पंजीयन रिन्यू कराया जाता है। परिवहन विभाग उन्हीं वाहनों का पंजीयन निरस्त करेगा, जिन वाहन चालकों ने अपने वाहन का पंजीयन रिन्यू नहीं करवाया है।

पंजीयन के लिए समय
बड़ी बात यह है कि इस घटनाक्रम के बारे में आम प्रदेशवासियों को खबर ही नहीं है। क्योंकि परिवहन विभाग का कहना है कि घर-घर नोटिस जारी करना उनके लिए संभव नहीं है, ऐसे में एक आम सूचना अखबारों में प्रसारित की जा रही है। जिसमें उन सीरीज के बारे में प्रकाशित किया गया है, जिनके वाहन 15 साल से ज्यादा पुराने हो चुके हैं। अब जिन 16 लाख वाहनों के पंजीयन निलंबित किए जा रहे हैं, उन्हें 6 माह का समय दिया गया है। यदि ये वाहन चालक निलंबन के बाद 6 माह में अपने वाहन का पंजीयन रिन्यू नहीं करवाते हैं तो उनके वाहनों को डि-रजिस्टर कर दिया जाएगा। यानी उनके वाहनों की आरसी निरस्त कर दी जाएगी।

Read more...
Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News