Menu

रेतीले धोरों पर ऊंटों की मस्ती से पर्यटक रोमांचित

बीकानेर। 
रेतीले धोरों के बीच एक तरफ विदेशी सैलानी और दूसरी तरफ गांव के बांके जवान। दोनों के बीच में है रस्सा। दोनों तरफ से पूरा दम लगाया जाता है, पलड़ा कभी इधर झुकता है तो कभी उधर। आखिरकार जीतते ठेठ गांव के जवान ही है। हालांकि इस हार के बाद भी विदेशी पुरुष नारी प्रफुल्लित व रोमांचित नजर आते हैं। यह नजारा है बीकानेर में आयोजित हो रहे ऊंट उत्सव का। 
दो दिवसीय ऊंट उत्सव में सैकड़ों विदेशी सैलानियों ने जबर्दस्त तरीके से मस्ती की और राजस्थान की परम्पराओं से रूबरू हुए। पर्यटन विभाग की ओर से आयोजित होने वाले इस अनूठे आयोजन में मरुस्थलीय क्षेत्र की संस्कृति का अनुभव होता है। शनिवार देर रात सर्द हवाओं के बीच किसी ने भवई नृत्य पेश किया तो किसी ने कालबेलिया। महिला बने पुरुषों ने जब कालबेलिया के दौरान जमीन पर घूमर डालनी शुरू की तो मैदान में जमीन पर बैठे हजारों देशी और विदेशी सैलानियों ने खड़े होकर समूचे क्षेत्र को तालियों से गुंजायमान कर दिया।
इन प्रतियोगिताओं में विदेशी लेते हैं लुत्फ
ऊंट उत्सव के दौरान पर्यटक रस्सा कस्सी में सर्वाधिक मजा लेते हैं। एक ओर आकर्षक स्पद्र्धा साफा बांधने की होती है। जिसमें विदेशी पर्यटक अपने माथे पर उस साफे को बांधते हैं, जो जीवन में पहले कभी नहीं पहना होता। बेतरतीब ही सही लेकिन विदेशियों के सिर पर बंधे साफे बड़े ही आकर्षक नजर आते हैं। सबसे पहले साफा बांधने वाला विजेता घोषित होता है। इसी तरह विदेशी महिलाएं बीकानेर की ग्रामीण महिलाओं के साथ एक मजेदार 'रेसÓ में हिस्सा लेती है। 'मटका रेसÓ में देशी और विदेशी महिलाएं अपने सिर पर मटका रखकर दौड़ लगाती है। सिर पर रखा मटका गिरते ही खिलाड़ी दौड़ से बाहर। इस दौड़ में विदेशी पर्यटक जीत तो नहीं पाती, लेकिन हारकर भी उसके चेहरे पर रौनक नजर आती है। 
 
नाचते ऊंट कर देते हैं रोमांचित
अब तक आपने ऊंटों को सड़कों पर या फिर रेतीली जमीन पर चलते ही देखा होगा लेकिन बीकानेर के ऊंट उत्सव में रविवार को नाचते भी नजर आए। बकायदा फिल्मी गीतों पर नाचते यह ऊंट दर्शकों को नाचने के लिए मजबूर कर देते हैं। प्रशिक्षित ऊंटों के बीच बकायदा मुकाबला होता है। रविवार दोपहर हुई स्पद्र्धा में ऊंटों का नृत्य लाजवाब रहा।
Read more...

शिक्षक भर्ती परीक्षा का पेपर लीक?

बाड़मेर, एक नवम्बर1 राजस्थान लोक सेवा आयोग की वरिष्ठ अध्यापक भर्ती परीक्षा में गुरुवार को हिन्दी विषय का प्रश्न पत्र कथित तौर पर लीक होने को लेकर परीक्षार्थियों में ऊहापोह की स्थिति रही। हालांकि प्रशासन ने प्रश्न पत्र लीक होने से इनकार किया है। यह प्रश्न पत्र कथित तौर पर परीक्षा शुरू होने के कुछ ही देर बाद सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। बाडमेर से वायरल हुए इस प्रश्न पत्र का जब परीक्षा समाप्त होने के बाद मूल प्रश्नपत्र से मिलान किया गया तो सवाल हू-ब-हू मिले। मामले की जानकारी मिलने के बाद आयोग ने बाड़मेर जिला प्रशासन से इस मामले में रिपोर्ट मांगी। आयोग को भेजी रिपोर्ट में बाड़मेर जिला प्रशासन ने पेपर लीक होने से इंकार किया है। बाड़मेर जिला कलेक्टर शिवप्रसाद नकाते ने बताया कि इस बारे में रिपोर्ट आयोग को भेज दी गई है। उन्होंने कहा कि शिक्षक भर्ती परीक्षा-2018 के हिंदी विषय का पेपर सुबह 9 बजे से 11.30 तक हुआ। वहीं प्रशासन को सोशल मीडिया पर पेपर उपलब्ध होने की जानकारी 11 बजे के बाद मिली। नकाते ने कहा कि कहा कि यदि परीक्षा शुरू होने से पहले पेपर सोशल मीडिया पर उपलब्ध होता तो इसे लीक माना जा सकता था लेकिन उनकी जांच के दौरान गुरूवार की हिन्दी परीक्षा का पेपर सोशल मीडिया पर 11.16 पर उपलब्ध पाया गया। उन्होंने कहा कि इसे पेपर लीक की श्रेणी में नहीं रखा जा सकता। यह पुलिस अनुंसधान का विषय है कि किसने और कहां से सोशल मीडिया पर पेपर वायरल किया।

Read more...

विद्युत निगम की लापरवाही से एक और मौत

बीकानेर। विद्युत निगम की लापरवाही के चलते एक और युवक की रविवार रात जान चली गई। जानकारी के अनुसार बीछवाल औद्योगिक क्षेत्र में एक निजी संवेदक के साथ काम करने वाले युवक कृपाल को करंट का झटका लगा। उसकी बाद में मौत हो गई। सोमवार सुबह पीबीएम अस्पताल में मृतक का पोस्टमार्टम किया गया। वहां मौजूद मृतकों के परिजनों ने विद्युत निगम और संबंधित संवेदकों की लापरवाही पर सवाल उठाए।

Read more...

अब एलआईसी कर्मचारियों की भी दूसरे और चौथे शनिवार को छुट्टी रहेगी

नई दिल्ली , 25 अप्रैल ( भाषा ) जीवन बीमा निगम ( एलआईसी ) के कर्मचारियों को जल्द महीने के दूसरे और चौथे शनिवार को अवकाश मिलेगा। सरकार ने लंबे अरसे से चली आ रही उनकी इस मांग को मान लिया है।
आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की तर्ज पर एलआईसी के कर्मचारियों को भी दूसरे और चौथे शनिवार को अवकाश मिलेगा।
सूत्रों ने बताया कि सरकार ने एलआईसी कर्मचारियों को सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के समान अवकाश देने के लिए परक्राम्य लिखत अधिनियम में बदलाव किए हैं।
एलआईसी कर्मचारी लंबे समय से इसकी मांग कर रहे थे। उनका कहना था कि इससे कारोबार प्रभावित नहीं होगा क्योंकि महीने के अन्य दो शनिवार को वे पूरे दिन काम करेंगे। महीने में पांच शनिवार होने पर एलआईसी के कार्यालय दूसरे और चौथे शनिवार को ही बंद रहेंगे।
अभी एलआईसी के कर्मचारियों को शनिवार को आधे दिन काम करना होता है। अब प्रत्एक शनिवार को आधे दिन काम करने के बजाय दो शनिवार अवकाश मिलेगा और शेष शनिवार पूरे दिन काम करना होगा।
सरकार ने 2015 में बैंक कर्मचारियों के लिए दूसरे और चौथे शनिवार को अवकाश की घोषणा की थी जो एक सितंबर से लागू हुई थी। एलआईसी देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी है। अप्रैल से दिसंबर , 2017 तक नौ माह की अवधि में उसकी प्रीमियम आय 2,23,854 करोड़ रुपए रही है जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि के 2,00,818 करोड़ रुपए से 11.47 प्रतिशत अधिक है।

Read more...
Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News