Menu

खेल (1088)

मंगोलिया से हारकर दीपिका , अतनु रिकर्व मिश्रित वर्ग से बाहर


जकार्ता, 24 अगस्त (भाषा) खराब फार्म से जूझ रहे भारतीय रिकर्व तीरंदाजों को आज एशियाई खेलों में एक और झटका लगा जब दीपिका कुमारी और अतनु दास निचली रैकिंग वाली मंगोलिया से यहां शूटआफ में हार गए।
मिश्रित टीम क्वार्टर फाइनल में भारत को 4 . 5 से पराजय झेलनी पड़ी जब दीपिका ने दबाव के हालात में घुटने टेक दिए। शूट आफ के दूसरे शाट में उसने सात स्कोर किया जो हार का कारण बना।
इस बीच अभिषेक वर्मा और ज्योति सुरेखा की कंपाउंड टीम इराक की फातिमा साद महमूद और इशाक इब्राहिम मोहम्मद को 155 . 147 से हराकर क्वार्टर फाइनल में पहुंच गई। अब उनका सामना ईरान से होगा।
दुनिया की सातवें नंबर की तीरंदाज दीपिका और 19वीं रैकिंग वाले अतनु के लिए मंगोलिया की चुनौती आसान मानी जा रही थी।
बिशिंदी बातारखुया विश्व रैंकिंग में 254वें और ओगोबोल्ड बातारखुया 94वें नंबर पर हैं। उन्होंने शुरू में ही 2 . 0 से बढत बना ली। भारतीय टीम ने अगले दो सेट जीते लेकिन मंगोलिया ने फिर वापसी करके मुकाबले को शूटआफ में खींचा।
निर्णायक शूटआफ में दोनों टीमों ने पहले शाट में 10 का स्कोर किया। मंगोलिया ने दूसरे शाट में नौ और दीपिका ने सात स्कोर किया।
हार के बाद दीपिका चेहरा हथेलियों से छिपाकर वहीं बैठ गई। अतनु ने उसे सांत्वना देने की कोशिश की।
कोच सवाइयां मांझी ने कहा , हमें नहीं पता कि क्या हो रहा है। ए तीरंदाज अभ्यास में बेहतरीन स्कोर कर रहे थे लेकिन प्रतिस्पर्धा में नहीं कर पा रहे। वह बहुत दुखी है और उसे लगता है कि टीम उसकी वजह से हार गई।
उन्होंने कहा , मैं भी दोषी हूं। मैं अपने तीरंदाजों को लगातार अच्छे प्रदर्शन के लिए तैयार नहीं कर सका। लेकिन हम बहाना नहीं बना सकते।हमें आत्ममंथन करना होगा।
भारतीय रिकर्व तीरंदाज व्यक्तिगत वर्ग में भी नाकाम रहे थे। सिर्फ अतनु ही क्वार्टर फाइनल तक पहुंच सके जबकि दीपिका प्री क्वार्टर फाइनल से बाहर हो गई थी।

Read more...

बेलिस ने खराब फार्म में चल रहे कुक का बचाव किया


नॉटिंघम, 24 अगस्त (भाषा) इंग्लैंड के कोच ट्रेवर बेलिस ने खराब फार्म सें जूझ रहे सलामी बल्लेबाज एलिएस्टर कुक का बचाव करते हुए कहा कि वह उसी तरह से खेल रहा है जैसा पहले खेलता था।
ऐसे समय में जब कुक के भविष्य को लेकर सवाल उठ रहे है बेलिस ने कहा, कुक ले अपने खेलने का तरीका नहीं बदला है। उसकी अभी की बल्लेबाजी और जब वह रन बनाता था उस समय की बल्लेबाजी में कोई अंतर नहीं हैं। वह अभी भी उसी तरह से अभ्यास करता है जितना कोई दूसरे खिलाड़ी करता है।
उन्होंने कहा, उसका पैर ठीक से चल रहा है, मैं यह नहीं कहूंगा की वह फार्म में नहीं है। वह गेंद पर अच्छे से बल्लेबाजी कर रहा है, वह रन नहीं बना पा रहा है लेकिन वह हर संभव प्रयास कर रहा है। वह कड़ा अभ्यास करता है और वह टीम में सक्रिय भूमिका निभाता है।
इंग्लैंड के लिए सबसे बड़ी चिंता सलामी बल्लेबाजों का फार्म के लिए जूझना है। कुक पिछली सात पारियों से 50 रन के आंकड़े को पार करने में विफल रहे है। सलामी बल्लेबाजी में उनके 12वें जोड़ीदार कीटन जेनिंग्स पिछली 14 पारियों में ऐसा करने में नाकाम रहे है।
कोच ने हांलाकि दानों का समर्थन किया कि भारत के साथ श्रृंखला में बाकी बचे दो मैचों में उनका प्रदर्शन अच्छा होगा।
पांच मैचों की श्रृंखला के तीसरे मैच में इंग्लैंड की पहली पारी 161 रन पर सिमट गई थी और भारत ने मैच 203 रन से अपने नाम किया था। श्रृंखला में हालांकि इंग्लैंड की टीम 2-। से आगे है।
बेलिस ने कहा उन्हें अपने बल्लेबाजों के आक्रामक बल्लेबाजी के बारे में पता हैं और वह भविष्य में उनका समर्थन करना जारी रखेंगे।
उन्होंने कहा, इस टीम के खिलाड़ी एक शैली में खेलते है। वे आक्रामक बल्लेबाज है। जब आप पिछले कुछ वर्षों से एक खास शैली में खेलते है तो उस में श्रृंखला के बीच में बदलाव करना आसान नहीं होता है। मुझे नही पता यह अच्छा है या नहीं, लेकिन यही तथ्य है। मैं इससे ज्यादा कुछ नहीं कह सकता।

Read more...

केरल के बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए एस रोमा करेगा टी-शर्टों की नीलामी


नई दिल्ली, 24 अगस्त (भाषा) इटली की बड़ी फुटबाल टीमों में एक एएस रोमा ने केरल के बाढ़ पीड़ितो की मदद के लिए टीम की टी-शर्ट को नीलाम करने का फैसला किया है।
टीम ने आधिकारिक ट्विटर हैंडल के जरिए कहा, इस सत्र में एएस रोमा के सीरी ए (इटली की घरेलू श्रृंखला) के पहले घरेलू मैच के बाद पांच मैचों में खिलाडय़िों द्वारा पहने गए टी-शर्टों को नीलाम किया जाएग ताकि उससे इकट्ठा धन कर केरल को दिया जा सके।
एएस रोमा अपना पहला घरेलू मैच 28 अगस्त को अटलांटा बीसी के खिलाफ खेलेगी। उन्होंने प्रशंसकों से भी केरल के लिए दान देने की अपील की।
एक अन्य ट्वीट में टीम ने कहा, एएस रोमा से जुड़ा हर कोई केरल के बाढ़ प्रभावितों के साथ खड़ा है। हम अधिकारियों के साथ संपर्क में है कि बाढ़ पीड़ितों की मदद कैसे कर सकते है। प्रशंसक डोनेशन डाट सीएमडीआरएफ डाट केरल डाट जीओवी डाट इन के जरिए दान कर सकते है।
इससे पहले इंग्लिश प्रीमियर लीग की टीम लीवरपूल एफसी ने भी केरल के लोगों के साथ एकजुटता दिखते हुए प्रशंसकों से मदद करने की अपील की।
टीम ने ट्वीट किया, हम केरल के बाढ़ पीड़ित लोगों के साथ खड़े है। जो मदद करना चाहते है वह हमारे स्थानीय समर्थक क्लब केरल रेड्स से संपर्क कर सकते है।
स्पेन की ला लीगा की विजेता क्लब एफसी बार्सिलोना ने भी बाढ़ में मारे गए लोगों के परिवारों के प्रति संवेदना प्रकट की।
बार्सिलोना की टीम ने फेसबुक पर लिखा, एफसी बार्सिलोना भारत में बाढ़ पीड़ितों के परिवारों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता है और प्रभावित लोगों को और प्रभावित लोगों के साथ खड़ा है।
केरल के विनाशकारी बाढ़ में पिछले 15 दिनों में 231 लोगों की मौत हुई है जबकि 14 लाख से ज्यादा लोगों प्रभावित हुए है।

Read more...

कबड्डी में भारत को बड़ा झटका, ईरान ने 27-18 से हराया

नई दिल्ली,एशियाई खेलों में भारत के नाम 17 पदक हो चुके हैं। 15 साल के शूटर शार्दुल विहान ने डबल ट्रैप स्पर्धा में रजत पदक जीतकर भारत के पदकों की संख्या को 17 पर पहुंचा दिया है। वहीं कबड्डी में हमेशा गोल्ड मेडल जीतने वाली भारतीय टीम को इतिहास की सबसे बड़ी हार झेलनी पडी़ है। गुरुवार को ईरान ने सेमीफाइनल मैच में भारत को 27-18 से हरा दिया। इसी के साथ पहली बार भारत कबड्डी में गोल्ड मेडल नहीं बल्कि ब्रॉन्ज लेकर लौटेगा।

टेनिस में अंकिता रैना सेमीफाइनल में कड़े संघर्ष के बाद हारकर बाहर हुईं और कांस्य पदक से उन्हें संतोष करना पड़ा। इसके अलावा टेनिस में प्रजनेश ने सेमीफाइनल में पहुंचर एक और मेडल पक्का कर दिया है। इससे पहले टेनिस में मेंस डबल्स में भारत का गोल्ड या सिल्वर मेडल भी पक्का हो गया है।

Read more...

अंकिता को एशियाई खेलों में कांस्य पदक


पालेमबांग, 23 अगस्त (भाषा) भारतीय टेनिस खिलाड़ी अंकिता रैना को आज यहां महिला एकल सेमीफाइनल में चीन की झेंग शुआई के खिलाफ शिकस्त के बाद एशियाई खेलों में कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा।
अंकिता को दो घंटे से अधिक चले मुकाबले में 4-6, 6-7 (6) से हार का सामना करना पड़ा।
एशियाई खेलों की महिला एकल स्पर्धा में भारत की ओर से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन सानिया मिर्जा ने किया है जिन्होंने दोहा में 2006 में रजत पदक जीता था जबकि चार साल बाद ग्वांग्झू में वह कांस्य पदक जीतने में सफल रहीं।
आज के कांस्य पदक के साथ 25 साल की अंकिता एशियाई खेलों की महिला एकल स्पर्धा में पदक जीतने वाली सिर्फ दूसरी भारतीय बनीं।
मौजूदा खेलों में सेमीफाइनल में हारने वाले दोनों खिलाडय़िों को कांस्य पदक मिल रहे हैं।

Read more...

साइना एकतरफा मुकाबले में जीती, सिंधू को करनी पड़ी मशक्कत

जकार्ता, 23 अगस्त (भाषा) विश्व चैम्पियनशिप की रजत पदक विजेता पी वी सिंधू ने एशियाई खेलों के बैडमिंटन महिला एकल वर्ग के पहले दौर में वियतनाम की वू थि त्रांग से मिली कड़ी चुनौती से उबरते हुए जीत दर्ज की जबकि राष्ट्रमंडल खेलों की स्वर्ण पदक विजेता साइना नेहवाल एकतरफा मुकाबला जीतकर दूसरे दौर में पहुंच गई।
सिंधू को पहले दौर में अप्रत्याशित रूप से काफी मशक्कत करनी पड़ी। उसने 58 मिनट तक चला मुकाबला 21 . 10, 12 . 21, 23 . 21 से जीता।
अब उसका सामना स्थानीय खिलाड़ी ग्रेगोरिया मरीस्का टी से होगा।
वहीं साइना ने ईरान की सुरैया ए को सिर्फ 26 मिनट में 21 . 7, 21 . 9 से मात दी। अब उसका सामना इंडोनेशिया की फित्रियानी फित्रियानी और श्रीलंका की टी प्रमोदिका हेंडाहेवा के बीच मैच की विजेता से होगा।
सिंधू के मैच में पहले दो गेम के बाद निर्णायक गेम में काफी करीबी मुकाबला था। सिंधू ने एक समय 2 . 0 की बढत बनाई लेकिन उसकी सहज गलतियों के चलते त्रांग ने 3 . 3 स्कोर कर दिया।सिंधू लगातार अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पा रही थी। उसकी गलतियों का विरोधी को फायदा मिला।
छोर बदलने के बाद सिंधू ने बेहतर प्रदर्शन किया और गलतियां भी कम करके चार अंक की बढत बना ली। एक समय स्कोर 16 . 12 हो गया लेकिन फिर उसने लगातार तीन अंक गंवाए।
एक समय फिर स्कोर 19 . 19 हो गया। त्रांग का शाट बेसलाइन के ऊपर निकलने से सिंधू को मैच प्वाइंट मिला लेकिन शटल नेट में जाने से उसने यह गंवा दिया। उसने 21 . 20 पर फिर मैच प्वाइंट बनाया लेकिन शटल बाहर गिरी। तीसरे मैच प्वाइंट पर शानदार स्मैश के साथ उसने जीत दर्ज की।
इस बीच मनु अत्री और सुमीत रेड्डी ने पुरूष युगल में पहले मैच में टी ए मोहम्मद और एम ए रशीद को 21 . 10, 21 . 8 से हराया।
महिला युगल में आरती सारा सुनील और रितुपर्णा पांडा को पहले दौर में चयनित सी और फाताइमास एम ने 21 . 11, 21 . 6 से हराया।

Read more...

खाड़े, नटराज नए राष्ट्रीय रिकार्ड के साथ फाइनल में पहुंचे


जकार्ता, 23 अगस्त (भाषा) वीरधवल खाड़े और श्रीहरि नटराज ने एशियाई खेलों की तैराकी स्पर्धा में 50 मीटर बटरफ्लाय और 200 मीटर बैकस्ट्रोक में नए राष्ट्रीय रिकार्ड के साथ फाइनल के लिए क्वालीफाई कर लिया।
खाड़े ने 24 . 09 सेकंड का समय निकालकर नौ साल पुराना अपना ही रिकार्ड तोड़ा। उन्होंने 2009 में चीन के फोशान में 24 . 14 सेकंड का समय निकाला था।
खाड़े इन खेलों में दो राष्ट्रीय रिकार्ड बना चुके हैं। उन्होंने 50 मीटर फ्रीस्टाइल में अपना ही पुराना रिकार्ड तोड़ा था लेकिन कांस्य से चूक गए थे।
200 मीटर बैकस्ट्रोक ने नटराज ने 2 : 02 . 97 का समय निकाला और वह सातवें स्थान पर रहे। यह उनके पिछले रिकार्ड 2 : 03 . 17 से बेहतर है।
अंशुल कोटारी 50 मीटर बटरफ्लाय से बाहर हो गए। वह हीट में 25 . 45 सेकंड का समय निकालकर शीर्ष पर रहे लेकिन 40 तैराकों में 28वें स्थान पर रहकर फाइनल में प्रवेश नहीं कर सके।
खाड़े 100 मीटर फ्रीस्टाइल में हीट में आखिरी और कुल 43वें स्थान पर रहे। उन्होंने 59 . 11 सेकंड का समय निकाला।
आरोन डिसूजा अपनी हीट में सर्वश्रेष्ठ रहे लेकिन 27वें स्थान पर रहकर बाहर हो गए। अद्वैत पेज भी 200 मीटर बैकस्ट्रोक में 12वें स्थान पर रहकर बाहर हो गए।
फाइनल शाम को खेले जाएंगे।

Read more...

38 टेस्ट में 38 बदलाव बहुत ज्यादा है : हरभजन


नाटिंघम, 23 अगस्त (भाषा) भारत के अनुभवी स्पिनर हरभजन सिंह का मानना है कि 38 टेस्ट में 38 बदलाव बहुत ज्यादा है लेकिन विराट कोहली एंड कंपनी अगर नतीजे दे रही है तो इससे फर्क नहीं पड़ता।
भारत ने कोहली की कप्तानी में 38 टेस्ट में 38 अलग अलग संयोजन के साथ खेला है।
हरभजन ने कहा , निजी तौर पर मेरा मानना है कि 38 टेस्ट में 38 बदलाव कुछ ज्यादा है। लेकिन हर कप्तान अलग होता है और हर टीम की जरूरत अलग होती है। जरूरत के अनुसार खिलाड़ी चुने जाते हैं और यह रणनीति उनके लिए कारगर साबित हो रही है।
उन्होंने कहा , वे दक्षिण अफ्रीका में श्रृंखला जीतने के करीब पहुंचे और इंग्लैंड में श्रृंखला में वापसी की। यदि कप्तान को इस पर भरोसा है और प्रबंधन तथा खिलाड़ी राजी है तो क्या फर्क पड़ता है।
कोहली इस श्रृंखला में शानदार प्रदर्शन करते हुए अभी तक दो शतक बना चुके हैं।उनकी तारीफ करते हुए हरभजन ने कहा , उसने इंग्लैंड के हालात में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए काफी मेहनत की है। गेंद को छोडऩे और खेलने को लेकर भी उसने काफी अनुशासन बरता है। वह शानदार बल्लेबाज है और मैने ऐसे बहुत कम बल्लेबाज देखे हैं जो दक्षिण अफ्रीका, आस्ट्रेलिया और इंग्लैंड में बल्लेबाजी को इतना आसान बना देते हैं।
उन्होंने कहा , विराट की सबसे बड़ी खूबी यह है कि वह जीतने के लिए ही खेलता है, हालात चाहे जो भी हो। ऐसे में कुछ मैच हार भी जाते हैं लेकिन लय में आने पर अधिक जीत मिलती है।

Read more...

इंग्लैंड की बल्लेबाजी कमजोर , श्रृंखला अभी भी खुली : हरभजन


नाटिंघम, 23 अगस्त (भाषा) अनुभवी स्पिनर हरभजन सिंह का मानना है कि इंग्लैंड की बल्लेबाजी काफी कमजोर है और स्पिन तथा तेज गेंदबाजों दोनों के सामने कमजोर पड़ रही है जिससे भारत पांच टेस्ट मैचों की श्रृंखला जीत सकता है।
पहले दो टेस्ट हारने के बाद भारत ने तीसरे टेस्ट में शानदार प्रदर्शन करते हुए 203 रन से जीत दर्ज करके श्रृंखला में वापसी की।
हरभजन ने कहा , इंग्लैंड का बल्लेबाजी क्रम समस्या से घिरा है। वे ऐसे खेल रहे हैं मानो भारत दौरे पर हैं।ऐसा लग ही नहीं रहा कि वे अपने देश में खेल रहे हैं।
उन्होंने कहा , उनकी बल्लेबाजी स्पिन और तेज आक्रमण दोनों के सामने कमजोर पड़ रही है। उनके कुछ स्टार बल्लेबाजों का घरेलू सर्किट में औसत 30 . 35 का रिकार्ड रहा है।
उन्होंने कहा , भारत में आपको चयन के लिए नाम पर विचार होने के लिए भी 50 से ऊपर का औसत चाहिए। उनके पास वनडे में गहराई है लेकिन टेस्ट में नहीं।
हरभजन का मानना है कि भारतीय टीम को अनावश्यक आलोचना का सामना करना पड़ा है।
उन्होंने कहा , इंग्लैंड में खेलना आसान नहीं होता। आप यह नहीं कह सकते कि पिछली भारतीय टीमों ने यहां बेहतर प्रदर्शन किया। हमने 2007 के अलावा इंग्लैंड में आखिरी बार श्रृंखला कब जीती थी। हम बहुत जल्दी आलोचना करने लगते हैं।
हरभजन ने कहा , इंग्लैंड के हालात में ढलने में समय लगता है। कितना भी अभ्यास कर लो , मैच हालात अलग होते हैं।
उन्होंने यह भी कहा कि ओवल टेस्ट में हालात भारत के पक्ष में होंगे और दो स्पिनरों को उतारा जा सकता है।
उन्होंने कहा, मुझे लगता है कि भारत अगला टेस्ट जीत सकता है और ओवल में कुछ भी हो सकता है। ओवल की विकेट भारत जैसी है जिस पर दो स्पिनरों को उतारा जा सकता है।भारत के पास ऐसे में श्रृंखला जीतने का सुनहरा मौका है।

Read more...

आनंद ने कार्लसन से ड्रा खेला

सेंट लुइस, 23 अगस्त (भाषा) विश्वनाथन आनंद ने सिनक्यूफील्ड कप शतरंज टूर्नामेंट के चौथे दौर में विश्व चैम्पियन नार्वे के मैग्नस कार्लसन को ड्रा पर रोका।
सफेद मोहरों से खेलते हुए आनंद ने रोस्सोलिमो वैरिएशन आजमाया। दोनों ने 54 चालों के बाद ड्रा पर सहमति जताई।
आनंद के चार में से दो अंक हो गए हैं जबकि कार्लसन 2 . 5 अंक लेकर संयुक्त रूप से शीर्ष पर है।उन्होंने एक जीत दर्ज की और तीन ड्रा खेले।
अमेरिका के फेबियानो कारूआना , आर्मेनिया के लेवोन आरोनियन, अजरबैजान के शखरियार मामेदियारोव और रूस के अलेक्जेंदर ग्रिसचुक भी शीर्ष पर हैं।
आनंद और फ्रांस के मैक्सिम वाचिएर लाग्रेव संयुक्त पांचवें स्थान पर है।

Read more...
Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News