Menu

खेल (1088)

स्पोर्ट्स स्कूल को मिलेंगे 'परफेक्ट कोच'

वाक्-इन-इंटरव्यू 10 को, तृतीय श्रेणी शारीरिक शिक्षक नहीं कर सकेंगे आवेदन
बीकानेर। तृतीय श्रेणी शारीरिक शिक्षकों के भरोसे अपना भविष्य बना रहे राजकीय सार्दुल स्पोटर््स स्कूल के विद्यार्थियों को इस बार अनुभवी कोच से प्रशिक्षण मिलेगा। माध्यमिक शिक्षा निदेशक ने आगामी १० अगस्त को सात महत्वपूर्ण खेलों के लिए वाक्-इन-इंटरव्यू की तारीख घोषित की है। साथ ही स्पष्ट किया है कि इन पदों पर प्रथम श्रेणी या द्वितीय श्रेणी पांच साल के अनुभव वाले शारीरिक शिक्षक को ही लगाया जाएगा। इतना ही नहीं तृतीय श्रेणी शारीरिक शिक्षक इन पदों पर आवेदन नहीं कर सकेंगे।
स्पोर्ट्स स्कूल में विभिन्न खेलों के कोच के पद लम्बे समय से रिक्त है, जहां तृतीय श्रेणी शारीरिक शिक्षकों को प्रतिनियुक्ति पर लगाया हुआ है, जबकि विभाग के पास योग्यताधारी व अनुभवी शारीरिक शिक्षक मौजूद है, लेकिन लम्बे समय तक विभाग ने इस ओर दिलचस्पी नहीं दिखाई। करीब डेढ़ साल पहले तत्कालीन निदेशक बीएल स्वर्णकार ने खिलाडिय़ों के भविष्य को ध्यान में रखते हुए योग्यताधारी कोच की नियुक्ति के लिए वाक्-इन-इंटर-व्यू की तारीख घोषित की लेकिन अधर में अटक गई। अब एक बार फिर निदेशक नथमल डिडेल ने निदेशालय व स्पोटर््स स्कूल में कोच के पदों को भरने के लिए ९-१० अगस्त को साक्षात्कार की तारीख तय की है।
इन खेलों में जरूरत
स्कूल में हॉकी, कुश्ती, बास्केटबॉल, खो-खो, क्रिकेट, जिम्नास्टिक, वॉलीबाल के कोच के पद लम्बे समय से रिक्त है। ऐसे में खिलाडिय़ों का संबंधित खेलों में विकास नहीं हो रहा है। हालांकि प्रतिनियुक्ति पर लगे तृतीय श्रेणी शारीरिक शिक्षक भी प्रयास कर रहे हैं लेकिन अनुभव की कमी मेडल की राह में रोड़े अटका रही है। अब नियमानुसार योग्यताधारी कोच की नियुक्ति होने के बाद खिलाडिय़ों को इसका लाभ मिलेगा।
नहीं कर सकते आवेदन
स्कूल में विभिन्न खेलों के कोच के रिक्त पदों के लिए १० अगस्त को वाक्-इन-इंटरव्यू होगा। तृतीय श्रेणी शारीरिक शिक्षक आवेदन योग्य नहीं होंगे। नियमानुसार योग्यताधारी ही आवेदन कर सकेंगे।
नथमल डिडेल, निदेशक, माध्यमिक शिक्षा, बीकाने।

Read more...

भारत ने श्रीलंका को 183 रन पर समेटा, फालोआन दिया

कोलंबो, पांच अगस्त (भाषा) भारत ने दूसरे टेस्ट के तीसरे दिन लंच तक श्रीलंका को पहली पारी में 183 रन पर समेटकर मेजबान टीम को फालोआन के लिए मजबूर किया। भारत ने पहली पारी के आधार पर 439 रन की विशाल बढ़त हासिल की। श्रीलंका की ओर से निरोशन डिकवेला ने सर्वाधिक 51 रन बनाए। भारत की तरफ से रविचंद्रन अश्विन ने पांच जबकि मोहम्मद शमी और रविंद्र जडेजा ने दो-दो विकेट चटकाए।

Read more...

पुजारा ने फिर शतक जड़ा, भारत के तीन विकेट पर 344 रन

कोलंबो, तीन अगस्त

चेतेश्वर पुजारा (नाबाद 128 रन) और अजिंक्य रहाणे (नाबाद 103) के बीच चौथे विकेट के लिए 211 रन की अटूट साझेदारी से भारत ने आज यहां श्रीलंका के खिलाफ दूसरे टेस्ट के पहले दिन तीन विकेट पर 344 रन बनाए।
पिछले मैच में भी शतक जमाने वाले पुजारा आज अपना 50वां टेस्ट मैच खेल रहे हैं और आज ही उनके नाम की अनुशंसा प्रतिष्ठित अर्जुन पुरस्कार के लिए की गई। सौराष्ट्र के इस बल्लेबाज ने खेल के इस लंबे प्रारूप में अपना 13वां टेस्ट शतक जड़ा।
रहाणे ने भी पिछले सत्र के लचर प्रदर्शन के बाद फार्म में वापसी करते हुए नौंवा टेस्ट शतक जड़ा। वापसी करने वाले लोकेश राहुल (57 रन) और विराट काहली (13 रन) के लंच के बाद पवेलियन पहुंचने के बाद पुजारा और रहाणे ने संयम से खेलते हुए पारी आगे बढ़ाई। सीनियर सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (35) का विकेट पहले सत्र में गिरा।
राहुल अच्छी फार्म में दिख रहे थे, उन्होंने और पुजारा ने 112 गेंद में 50 रन की भागीदारी की लेकिन सलामी बल्लेबाज के 31वें ओवर में रन आउट होने के बाद यह आगे नहीं बढ़ सकी।
पुजारा ने धैर्य का शानदार नमूना पेश करते हुए 225 गेंद का सामना करते हुए अपनी पारी के दौरान 10 चौके और एक छक्का लगाया जबकि रहाणे अपनी 168 गेंद की पारी में ज्यादा आक्रामक दिखे, जिसमें उन्होंने 12 बार गेंद सीमा रेखा के पार की।
सीरीज में लगातार दूसरा सैकड़ा पूरा करने के दौरान पुजारा ने 4000 टेस्ट रन भी पूरे किए। इससे पहले उनका पिछले कुछ टेस्ट मैचों में स्कोर --17, 92, 202, 57 और 153 रहे हैं।
इसके अलावा वह अपने 50वें टेस्ट मैच में शतक जडऩे वाले सातवें भारतीय बल्लेबाज बन गए। उनसे पहले छह खिलाड़ी पॉली उमरीगर (1961), गुंडप्पा विश्वनाथ (1979), कपिल देव (1983), वीवीएस लक्ष्मण (2004) और विराट कोहली (2016) हैं।
वह सचिन तेंदुलकर के बाद श्रीलंका में लगातार तीन टेस्ट में शतक जडऩे वाले दूसरे भारतीय भी बन गए।

Read more...

भारत-श्रीलंका क्रिकेट मैच स्थल घोषित, यहां होंगे मैच

कोलकाता। भारत और श्रीलंका के बीच नवंबर-दिसंबर में होने वाली टेस्ट सीरीज के मुकाबले कोलकाता, नागपुर और दिल्ली में खेले जाएंगे। असम के बरसापारा में अक्टूबर में भारत और ऑस्ट्रेलिया का टी20 मुकाबला खेला जाएगा।
बीसीसीआई की टूर्स एंड फिक्सचर्स कमेटी ने मंगलवार को बैठक में इस बात का फैसला किया। भारत इन चार महीनों के घरेलू सत्र में रिकॉर्ड 23 मैचों की मेजबानी करेगा।
सत्र की शुरुआत सितंबर में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ होगी। इस सीरीज के पांच वनडे चेन्नई, बेंगलुरू, नागपुर, इंदौर और कोलकाता में होंगे। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 सीरीज के तीन मैच हैदराबाद, रांची और गुवाहाटी के बरसापारा में होंगे।
न्यूजीलैंड के खिलाफ अक्टूबर मध्य में सीरीज शुरू होगी। इसके वनडे पुणे, मुंबई और कानपुर में होंगे। टी20 मैच दिल्ली, कटक और राजकोट में खेले जाएंगे।
श्रीलंका सीरीज की शुरुआत कोलकाता में पहले टेस्ट के साथ होगी। दूसरा टेस्ट नागपुर में होगा, जो खराब पिच की वजह से निलंबन के बाद वापसी करेगा। अंतिम टेस्ट दिल्ली में होगा। तीन वनडे धर्मशाला, मोहाली और विजाग में होंगे। तीन टी20 मैच तिरूवनंतपुरम, इंदौर और मुंबई में होंगे।

Read more...

मैच फिक्सिंग से जीता था भारत ने विश्वकप 2011

रणतुंगा का गंभीर आरोप, हार की जांच चाहते हैं
कोलंबो। श्रीलंका के पूर्व कप्तान अर्जुन रणतुंगा ने मैच फिक्सिंग के आरोपों के बीच विश्व कप 2011 के फाइनल में भारत के हाथों उनके देश को मिली हार की जांच की मांग की।
रणतुंगा ने अपने फेसबुक पेज पर एक वीडियो पोस्ट किया है जिसमें कहा है कि वह मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए फाइनल में श्रीलंका की छह विकेट से हार से हैरान थे। इस 53 वर्षीय पूर्व कप्तान ने कहा कि मैं तब कमेंट्री के लिए भारत में था। जब हम हारे तो मैं काफी निराश था और मुझे आशंका थी। श्रीलंका के साथ विश्व कप 2011 के फाइनल में जो कुछ हुआ हमें उसकी जरूर जांच करनी चाहिए। रणतुंगा ने किसी का नाम लिए बिना कहा कि खिलाड़ी अपनी सफेद पोशाक के कारण गंदगी नहीं छिपा सकते।
श्रीलंका ने फाइनल में पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवरों में छह विकेट पर 274 रन बनाए। जब भारतीय सुपरस्टार सचिन तेंदुलकर 18 रन बनाकर आउट हुए तो तब वह काफी मजबूत स्थिति में दिख रहा था। भारत ने इसके बाद श्रीलंका के लचर क्षेत्ररक्षण का फायदा उठाकर मैच का पासा पलट दिया। स्थानीय मीडिया ने इस तरह से मैच गंवाने के लिए श्रीलंकाई खिलाडिय़ों पर शक किया था लेकिन रणतुंगा से पहले किसी ने भी जांच की अपील नहीं की थी। रणतुंगा के प्रवक्ता तामिरा मंजू ने एएफपी से कहा कि वह देश में क्रिकेट की दुर्दशा को लेकर राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरीसेना और प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे को भी पत्र लिख रहे हैं।
श्रीलंका के हाल में जिम्बाब्वे के हाथों पांच एकदिवसीय मैचों की श्रृंखला में 2-3 से हार के बाद देश में आरोप प्रत्यारोपों का दौर जारी है। मैनेजरों और विशेषकर राष्ट्रीय टीम के कई खिलाडय़िों का प्रतिनिधित्व करने वाले एक एजेंट को लेकर खिलाडय़िों और खेल अधिकारियों में तनातनी बन गई है।
विश्व कप विजेता कप्तान रणतुंगा ने कहा है कि यदि उन्हें अधिकार दिए जाएं तो वह श्रीलंकाई खिलाडय़िों के एजेंटों पर प्रतिबंध लगा दें।
रणतुंगा ने कहा कि मैं इंतजार कर रहा हूं और इन एजेंटों पर प्रतिबंध लगाने के लिए अदालत भी जा सकता हूं। उन्होंने एक ब्रिटिश नागरिक का जिक््रœ किया जो श्रीलंका के अधिकांश क्रिकेटरों का मैनेजर है। उन्होंने कहा कि इन्हीं एजेंटों की वजह से देश की क्रिकेट का यह हाल हुआ है कि टीम जिम्बाब्वे से हार रही है। उन्होंने कहा , 'इसकी जांच होनी चाहिए कि ए खिलाड़ी कर चुकाते हैं या नहीं और देश के बाहर पैसा कैसे ले जाते हैं।Ó

Read more...

मैं पुरानी शराब की तरह हूं, जानिए आखिर ऐसा क्यों कहा महेन्द्र सिंह धोनी ने

नार्थ साउंथ। पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की बल्लेबाजी फार्म में निरंतरता की कमी देखने को मिली है लेकिन इस पूर्व भारतीय कप्तान का मानना है कि वह पुरानी वाइन की तरह हैं जिसका स्वाद समय बीतने के साथ बेहतर होता जाता है। धोनी ने वेस्टइंडीज के खिलाफ तीसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच में 79 गेंद में 78 रन की पारी खेली जिससे भारत ने बल्लेबाजी के लिए मुश्किल पिच पर चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा किया और पूर्व भारतीय कप्तान खुश हैं कि हाल के समय में शीर्ष तीन बल्लेबाजों के अधिकांश रन बनाने के बाद उन्हें उम्दा पारी खेलने का मौका मिला। यह पूछने पर कि उम्र बढऩे के साथ वह कैसे बेहतर हो रहे हैं, धोनी ने तुरंत जवाब दिया कि यह वाइन की तरह है। मुश्किल पिच पर रन बनाने की संतुष्टि भी धोनी के शब्दों में दिखी। उन्होंने कहा कि पिछले डेढ़ साल से हमारा शीर्ष क्रम अधिकांश रन बना रहा है इसलिए मौका मिलना और रन बनाना अच्छा है। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि यह विकेट की प्रकृति है जिसने पारी को विशेष बनाया। असमान उछाल था और कई बार गति भी। उस समय साझेदारी होना महत्वपूर्ण था। मेरे दिमाग में 250 रन का स्कोर था और हम वहां पहुंचे और केदार ने अंत तक मेरे साथ बल्लेबाजी की। यह ऐसा स्कोर था जिसका गेंदबाज बचाव कर सकते थे लेकिन उन्हें बेहतर गेंदबाजी करनी थी।

Read more...

विजेंदर पांच अगस्त को जुल्फिकार मैमेत अली से भिड़ेंगे

मुंबई। भारत के स्टार पेशेवर मुक्केबाज और ओलंपिक कांस्य पदकधारी विजेंदर सिंह पांच अगस्त को दोहरी खिताबी बाउट में चीन के फाइटर जुल्फिकार मैमेतअली से भिड़ेंगे। विजेंदर डब्ल्यूबीओ एशिया पैसिफिक मिडिलवेट चैम्पियन हैं और वह वर्ली में एनएससीआई स्टेडियम में डब्ल्यूबीओ ओरिएंटल सुपर मिडिलवेट चैम्पियन जुल्फिकार के आमने सामने होंगे, आज मीडिया कांफ्रेंस में इसकी घोषणा की गई जिसमें यह भारतीय स्टार भी मौजूद थे। बीजिंग ओलंपिक कांस्य पदकधारी विजेंदर इस बाउट के लिए अपने ट्रेनर ली बीयर्ड के साथ इंग्लैंड के मैनचेस्टर में ट्रेनिंग कर रहे हैं और इसका पहला टिकट महान क््िरœकेटर सचिन तेंदुलकर को खुद इस मुक्केबाज ने पेश किया।
इस बाउट में दोनों मुक्केबाज अपने अपने डब्ल्यूबीओ खिताब दाव पर रखेंगे और जो भी मुक्केबाज जीत दर्ज करेगा, वह अपना और प्रतिद्वंद्वी दोनों का खिताब जीत लेगा। तीन अन्य भारतीय मुक्केबाज अखिल कुमार, जितेंदर कुमार और नीरज गोयत भी रिंग में दिखाई देंगे तथा अंतरराष्ट्रीय प्रतिद्वंद्वियों से भिड़ेंगे। इनके अलावा तीन भारतीय मुक्केबाज प्रदीप खारेरा, धर्मेंद्र ग्रेवाल और कुलदीप धांडा भी अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजों के सामने होंगे।

Read more...

सुपर श्रीकांत ने आस्ट्रेलियन ओपन सुपर सीरीज खिताब जीता

सिडनी, भारतीय शटलर किदाम्बी श्रीकांत ने आज यहां आस्ट्रेलियन ओपन के खिताबी मुकाबले में मौजूदा ओलंपिक और विश्व चैम्पियन पर सीधे सेटों में उलटफेर भरी जीत दर्ज करते हुए लगातार दूसरा सुपर सीरीज खिताब अपने नाम किया।

दुनिया के 11वें नंबर के श्रीकांत ने विश्व रैंकिंग में छठे स्थान पर काबिज चीनी खिलाड़ी को 45 मिनट में 22-20 21-16 से जीत दर्ज की। चीन का यह शटलर इस बार का आल इंग्लैंड चैम्पियन भी है।
श्रीकांत इस टूर्नामेंट से पहले सिंगापुर और इंडोनेशिया के भी फाइनल में पहुंचे थे, वह दुनिया के पांचवें खिलाड़ी बन गए हैं जिन्होंने लगातार तीन सुपर सीरीज फाइनल में प्रवेश किया है।
इस टूर्नामेंट के पिछले सत्र में वह सेमीफाइनल में पहुंचे थे, उन्होंने मुकाबले में शुरू में बढ़त हासिल की। इसके बाद उन्होंने अपने प्रतिद्वंद्वी के धीमे गेम से 10-6 से बढ़त बना ली।
लेकिन लोंग ने सही समय पर खुद को वापसी के लिए प्रेरित करते हुए अच्छे स्मैश से 11-11 की बराबरी हासिल की।
चीन के इस खिलाड़ी ने आक्रामकता दिखाई और सटीक बेसलाइन स्ट्रोक जमाए। लेकिन यह भारतीय भी हार नहीं मानने वाला था, उसने बेहतरीन ढंग से गेम में वापसी कर दो लाजवाब स्मैश जमाए।
श्रीकांत ने इस तरह 17-15 की बढ़त बना ली, हालांकि लोंग ने भी पकड़ जारी रखी। पर श्रीकांत ने लय नहीं टूटने दी और लोंग के अस्थिर गेम ने उनकी मदद की। श्रीकांत 20-19 से आगे हो गए। इस तरह उन्होंने पहला गेम प्वाइंट भी हासिल किया।
लोंग ने तेज स्मैश ने इसे बचाया तो पर श्रीकांत की सजगता ने उन्हें 21-20 से आगे कर दिया और इस भारतीय ने पहला गेम 23 मिनट में अपने नाम करने में कोई गलती नहीं की।
दूसरा गेम बेसलाइन रैली से शुरू हुआ जिसमें श्रीकांत ने पहला प्वाइंट प्राप्त किया। दोनों खिलाडय़िों का अंक जुटाने का सिलसिला चलता रहा, जिसमें इस भारतीय ने 6-3 की बढ़त बना ली क्योंकि लोंग को उनके शाट को रिटर्न करने में मुश्किल हो रही थी।
लेकिन ऐसा नहीं कहा जा सकता था कि लोंग पूरी तरह से मुकाबले से बाहर हो गए। उन्होंने अंतर को भरने के अथक प्रयास किए जो उन्हें दुनिया का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी बनाता है।
हालांकि श्रीकांत लेमन ब्रेक तक 11-9 से आगे बन गए। श्रीकांत ने इसके बाद मुड़कर नहीं देखा और लोंग के खराब खेल से वह आसानी से आगे बढ़ते गए।
उन्हें पहले गेम से एक मिनट कम समय में दूसरा गेम अपने नाम किया।
यह जीत श्रीकांत के लिए मनोबल बढ़ाने और मिथक तोडऩे वाली रही, जो लोंग के खिलाफ पिछले पांच मुकाबले गंवा चुके हैं।

Read more...

हार के बाद टीम इंडिया के लिए ये कहा सचिन ने

नई दिल्ली,
महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने हार के बावजूद भारतीय टीम का समर्थन करते हुए कहा कि विराट कोहली की अगुआई वाली टीम इंडिया पुणे में पहले टेस्ट में आस्ट्रेलिया के खिलाफ शर्मनाक हार के बाद वापसी करेगी।
भारत को पहले टेस्ट में 333 रन से शिकस्त झेलनी पड़ी और टीम दोनों ही पारियों में 110 रन बनाने में भी नाकाम रही। आज सुबह यहां नई दिल्ली मैराथन को हरी झंडी दिखाने वाले तेंदुलकर ने कहा कि चार मैचों की टेस्ट श्रृंखला में अभी कुछ तय नहीं है। मैराथन को हरी झंडी दिखाने के बाद तेंदुलकर ने कहा, ''भारत-आस्ट्रेलिया टेस्ट श्रृंखला पर बात करूं तो यह हमारे लिए कड़ा टेस्ट मैच था। लेकिन यह खेल का हिस्सा है। इस हार का मतलब यह नहीं कि हमने श्रृंखला गंवा दी, श्रृंखला में अब भी कुछ तय नहीं है।ÓÓ उन्होंने कहा, ''भारतीय टीम के जज्बे को जानने के कारण मुझे पता है कि वे वापसी करेंगे। आस्ट्रेलियाई टीम को भी इस बारे में पता है क्योंकि जब हम उन्हें हराते हैं तो हमें भी पता होता है कि वे कड़ी वापसी करेंगे। मुझे कोई संदेह नहीं है कि भारतीय टीम वापसी करेगी और कड़ी प्रतिस्पर्धा देगी।Ó
तेंदुलकर ने कहा कि प्रत्एक टीम और खिलाड़ी के करियर में मुश्किल लम्हें आते हैं और यही खेल को रोमांचक बनाता है।
अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 100 शतक जडऩे के बाद 2013 में संन्यास लेने वाले तेंदुलकर ने कहा, ''अच्छे लम्हें भी होते हैं और मुश्किल लम्हें भी और यह इस पर निर्भर करता है कि आप गिरने के बाद अपने पैरों पर फिर कैसे खड़े होते हो और प्रतिस्पर्धा देते हो। यही चीज खेल को रोमांचक बनाती है। खिलाड़ी इसी के लिए खेलते हैं।ÓÓ
मैराथन के बारे में तेंदुलकर ने कहा, ''इस मैराथन के बारे में सकारात्मक चीज यह है कि लोगों को अधिक जोड़ा जा रहा है, इसका हिस्सा बनाया जा रहा है और वे बेहतर स्वस्थ जीवशैली अपना रहे हैं। इसमें हिस्सा लेने वाले दिल्ली के लोगों में काफी उत्साह है।ÓÓ

Read more...

हम आस्ट्रेलिया को किसी अन्य टीम की तरह ही लेंगे : कुंबले

पुणे, भारतीय कोच अनिल कुंबले को अच्छी तरह से पता है कि आस्ट्रेलिया उनकी टीम को कड़ी चुनौती पेश कर सकता है लेकिन उन्होंन कहा कि मेजबान टीम इस श्रृंखला अन्य की तुलना में विशेष महत्व नहीं दे रही है और वह स्टीव स्मिथ एंड कंपनी को किसी अन्य टीम की तरह की लेगी।
आस्ट्रेलिया की टीम भारत के पिछले दौरे में 0-4 से हार गई थी और कुंबले ने कहा कि जब गुरूवार से यहां पहला टेस्ट मैच शुरू होगा तो उनकी टीम मेहमान टीम की चुनौती का करारा जवाब देने की कोशिश करेगी।
कुंबले ने कहा, ''हम प्रत्एक प्रतिद्वंद्वी का सम्मान करते हैं। हमने न्यूजीलैंड के खिलाफ श्रृंखला शुरू होने से पहले इस पर बात की थी। इंग्लैंड की चुनौती कड़ी थी। हम सभी आस्ट्रेलियाई टीम के बारे में जानते हैं। वे वास्तव में पेशेवर हैं लेकिन हम उन्हें किसी अन्य टीम की तरह ही लेना चाहेंगे। ÓÓ
उन्होंने कहा, ''मुझे नहीं लगता कि हमें इस श्रृख्ंाला को अन्य की तुलना में कोई विशेष महत्व देने की जरूरत है। हमें वही सब काम अच्छी तरह से करने होंगे जो हम पिछले छह से आठ महीनों में करते रहे हैं। ÓÓ
कुंबले ने कहा, ''उनकी टीम अच्छी है। उसके पास अच्छे बल्लेबाज और गेंदबाज हैं। वे आक्रामक क्रिकेट खेलते हैं। हम इससे वाकिफ हैं और उसका जवाब देने के लिए मिलकर रणनीति तैयार करेंगे। ÓÓ
इस पूर्व लेग स्पिनर ने कहा कि उनकी टीम भिन्न चुनौतियों का सामना करने में सक्षम है। उन्होंन साथ ही कहा कि यह सत्र शुरू होने के बाद से टीम कई बार मुश्किल परिस्थितियों से बाहर निकली है।
कुंबले ने कहा, ''अगर आप उन नौ टेस्ट मैच पर ध्यान दो जो हमने घरेलू श्रृंखला में खेले तो हर किसी में खास चुनौती थी। हम कुछ नए स्थानों पर खेले। हम ऐसे स्थानों पर खेले जहां इससे पहले टेस्ट मैच नहीं खेले गए थे। इस तरह से देखा जाए तो यह टीम जो भी चुनौती मिले उससे सामंजस्य बिठाने में सक्षम है। वास्तव में जिस तरह से अभी तक चल रहा है मैं उससे संतुष्ट हूं। ÓÓ
उन्होंने कहा, ''चेन्नई टेस्ट मैच में इंग्लैंड ने पहली पारी में लगभग 500 रन बनाए और मुझे नहीं लगता कि अधिकतर लोगों ने भारत को जीत का दावेदार माना होगा। मुंबई में इसी तरह का मामला था जहां हम टास हार गए थे और उन्होंने 400 रन बनाए और हम पारी से जीते। यह इस टीम का मजबूत पक्ष होगा। ÓÓ
कुंबले ने कहा, ''यहां तक कि कोलकाता में न्यूजीलैंड के खिलाफ परिस्थितियां एकदम से भिन्न थी। वहां तेज गेंदबाज अच्छा प्रदर्शन कर रहे थे। हमारे पास उन सभी सवालों के जवाब थे। आप एक चैंपियन टीम से यही चाहते हो। हम वास्तव में इसी तरह की टीम तैयार करना चाहते हैं और वास्तव में पिच या परिस्थितियों से चिंतित नहीं हैं। ÓÓ
भाषा

Read more...
Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News