Menu

top banner

खेल (506)

नए एफटीपी में भारत और अफगानिस्तान का टेस्ट मैच नहीं

कोलकाता, अफगानिस्तान भले ही टेस्ट मैचों में भारत के खिलाफ अपना पदार्पण मैच खेलेगा लेकिन इस ऐतिहासिक टेस्ट मैच के बाद दोनों टीमों का 2022 तक कोई टेस्ट मैच प्रस्तावित नहीं है।
नए प्रस्तावित भविष्य दौरा कार्यक्रम (एफटीपी) में 2019-2022 में दोनों देशों के बीच कोई भी टेस्ट मैच का प्रस्ताव नहीं है।
अफगानिस्तान को पिछले साल जून में आयरलैंड के साथ टेस्ट खेलने का दर्जा दिया गया था। अफगानिस्तान अपना पहला और ऐतिहासिक टेस्ट मैच भारत के खिलाफ 14 जून से बेंगलुरु में खेलेगा।
नए एफटीपी के मुताबिक अफगानिस्तान इस बीच ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड सहित अन्य शीर्ष देशों के खिलाफ टेस्ट मैच खेलेगा लेकिन अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड (एसीबी) भारत के खिलाफ टेस्ट मैच सुनिश्चित करने में नाकाम रहा।
एसीबी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी शफीक स्टैनिक्जाई ने यहां चल रही आईसीसी के बैठक से इतर कहा, भारत के खिलाफ मैच सुनिश्चित करना मुश्किल है क्योंकि उनकी टीम काफी व्यस्त है। हम टेस्ट चैम्पियनशिप का हिस्सा नहीं है, हमारे लिए शुरूआती टेस्ट मैच अच्छा होगा। नए एफटीपी में हम 14-18 टेस्ट मैच खेल रहे हैं।
उन्होंने कहा, भारत के खिलाफ हम पिछले एफटीपी के मुताबिक बेंगलुरु में सिर्फ एक टेस्ट मैच खेलेंगे। नया एफटीपी 2019 से 2022 तक प्रभावी रहेगा।
उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान अगले एफटीपी में इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया, वेस्टइंडीज, जिम्बाब्वे, आयरलैंड और बांग्लादेश के खिलाफ घरेलू और विपक्षी टीम की सरजमीं पर मैच खेलेगा। उन्होंने कहा, ए श्रृंखलाएं आईसीसी टेस्ट चैम्पियनशिप के तहत नहीं आती है, ए द्विपक्षीय श्रृंखला होगी जिसे घरेलू और विपक्षी टीम की सरजमीं पर खेला जाएगा।
उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान दिन-रात्रि के टेस्ट मैच खेलने पर भी विचार कर रहा है। उन्होंने कहा, अभी इस पर कोई फैसला नहीं हुआ है। लेकिन हम कोशिश करेंगे, हम ऐसा करना चाहते हैं।
आईसीसी की मुख्य कार्यकारी समिति ने एफटीपी तैयार कर लिया है लेकिन आईसीसी बोर्ड की सहमति के बाद उसे सार्वजनिक किया जाएगा।

Read more...

गंभीर दिल्ली डेयरडेविल्स के कप्तान पद से हटे, अब अय्यर संभालेंगे कमान

नई दिल्ली, गौतम गंभीर ने आज आईपीएल अंकतालिका में सबसे निचले पायदान पर काबिज दिल्ली डेयरडेविल्स का कप्तान पद छोड़ दिया और कहा कि वह पद के लिए उपयुक्त व्यक्ति नहीं थे।
शीर्ष क्रम के बल्लेबाज श्रेयस अय्यर को टीम का नया कप्तान बनाया गया है। इसकी घोषणा आज यहां संवाददाता सम्मेलन में की गई जिसमें फ्रेंचाइजी के कोच रिकी पोंटिंग और सीआईओ हेमंत दुआ उपस्थित थे।
लेकिन 36 वर्षीय गंभीर बाकी बचे आठ मैचों में टीम का हिस्सा बने रहेंगे। दिल्ली ने अब तक आईपीएल-11 में छह मैच खेले हैं जिनमें से उसे पांच मैचों में हार का सामना करना पड़ा। दिल्ली अभी अंकतालिका में आठवें और अंतिम स्थान पर है।
कोलकाता नाइटराइडर्स को दो बार खिताब दिलाने वाले और लगभग एक दशक तक भारत की तरफ से खेलने वाले गंभीर ने कहा कि वह कप्तानी का दबाव नहीं झेल पा रहे थे।
गंभीर ने कहा, पिछले मैच (किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ फिरोजशाह कोटला में) से मैंने इस पर विचार करना शुरू कर दिया था और अब फैसला करने का वक्त आ गया था। मेरा खुद का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा है। हो सकता है कि मैं चीजों को बदलने के लिए अधिक बेताब था।
उन्होंने कहा, मैंने अकेले में इस पर गहन विचार किया। मैं दबाव नहीं झेल पा रहा था। मैं इसके लिए बहुत अच्छी स्थिति में नहीं था।
फ्रेंचाइजी ने इस सत्र के शुरू में गंभीर को कप्तान और पोंटिंग को कोच के रूप में टीम से जोड़ा था ताकि टीम सफलता हासिल कर सके लेकिन हुआ इसके उलट और टीम को लगातार हार का सामना करना पड़ा।
गंभीर का स्वयं का प्रदर्शन भी अच्छा नहीं रहा है। उन्होंने पांच पारियों में केवल 85 रन बनाए हैं जिसमें किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ पहले मैच में खेली गई 55 रन की पारी भी शामिल है। इसके बाद वह अगली चार पारियों में नाकाम रहे।
बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने स्पष्ट किया कि उन पर पद छोडऩे के लिए किसी तरह का दबाव नहीं था और यह उनका खुद का फैसला है।
गंभीर ने कहा, यह मेरा खुद का फैसला है और फ्रेंचाइजी की तरफ से किसी तरह का दबाव नहीं था। जैसे मैंने कहा कि मेरा प्रदर्शन अच्छा नहीं था और मैं दबाव नहीं झेल पा रहा था। यह (कप्तानी छोडऩे का) एक कारण है।
गंभीर ने भारत की तरफ से दबाव की परिस्थितियों में कई बार अच्छा प्रदर्शन किया और केकेआर जैसी टीम के साथ रहते हुए उन्होंने सात साल तक लगातार दबाव में अच्छा खेल दिखाया। ऐसे में सवाल पैदा होता है कि इस अप्रत्याशित फैसले के पीछे क्या दबाव ही कारण रहा?
डेयरडेविल्स के सीआईओ दुआ को भी उनके भविष्य को लेकर सवालों का सामना करना पड़ा क्योंकि टीम ने आईपीएल में अब तक हमेशा खराब प्रदर्शन किया।
दुआ से जब उनके भविष्य को लेकर सवाल किया गया, उन्होंने कहा, अगर इससे टीम को मदद पहुंचती है तो मैं खुशी खुशी ऐसा करूंगा।
नए कप्तान अय्यर इसे एक मौके के रूप में देखते हैं और चुनौती को लेकर उत्साहित हैं। तेईस वर्षीय अय्यर ने शीर्ष क्रम में अच्छा प्रदर्शन किया है। उन्होंने पिछले दोनों मैचों में अर्धशतक जमाए लेकिन इनमें टीम को हार का सामना करना पड़ा।
अय्यर ने कहा, मुझे वास्तव में जिम्मेदारी पसंद है। मुझे चुनौतियां अच्छी लगती है। यह खुद को साबित करने और टीम को अगले बेहतर स्तर पर पहुंचाने का शानदार मौका है।
पोंटिंग अब भी टीम के प्लेआफ में पहुंचने की संभावना को लेकर आश्वस्त हैं।
उन्होंने कहा, हम अब भी पासा पलट सकते हैं। हमारे आठ में से छह मैच घरेलू मैदान पर होने हैं। हमारे पास ऐसी टीम है जो अच्छा प्रदर्शन कर सकती है। हम इकाई के रूप में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पा रहे हैं। हमारे सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट और सबसे खराब क्रिकेट के बीच अंतर काफी ज्यादा है।
संवाददाता सम्मेलन के आखिरी क्षणों में गंभीर से उनके भविष्य को लेकर सवाल किया गया।
गंभीर ने कहा, मैंने इस बारे में नहीं सोचा है। अभी एक प्रतियोगिता चल रही है। हमारे पास अब भी प्लेआफ में जगह बनाने का मौका है। हमें अभी मेरे भविष्य के बारे में सोचने के बजाय इस पर विचार करना चाहिए।

Read more...

साइना, श्रीकांत और सिंधू एशिया चैंपियनशिप के दूसरे दौर में

वुहान, भारत के शीर्ष बैडमिंटन खिलाडिय़ों साइना नेहवाल, पीवी सिंधू और किदांबी श्रीकांत ने एशिया बैडमिंटन चैंपियनशिप में आज यहां जीत के साथ शुरुआत करते हुए दूसरे दौर में जगह बनाई।
साइन और सिंधू ने अपनी - अपनी प्रतिद्वंद्वियों के खिलाफ सीधे गेम में जीत दर्ज की जबकि श्रीकांत को पुरुष एकल के पहले दौर के मैच में काफी पसीना बहाना पड़ा।
हाल में संपन्न गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली साइना ने महिला एकल में सिंगापुर की यिओ जिया मिन के खिलाफ 21-12 21-9 की आसान जीत दर्ज की जबकि सिंधू ने चीनी ताइपे की पाइ यू पो को 21-14 21-19 से हराया। सिंधू राष्ट्रमंडल खेलों के महिला एकल के फाइनल में साइना से हार गई थी।
दुनिया की पूर्व नंबर एक खिलाड़ी साइना अगले दौर में चीन की गाओ फांग्जी से भिड़ेंगी जबकि ओलंपिक और विश्व चैंपियनशिप की रजत पदक विजेता सिंधू को चीन की ही चेन शियाओशिन का सामना करना है।
शीर्ष वरीय और राष्ट्रमंडल खेलों के रजत पदक विजेता श्रीकांत को हालांकि पुरुष एकल मैच में जापान के केंता निशिमोतो को 13-21 21-16 21-16 से हराने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी।
समीर वर्मा को सातवें वरीय चीनी ताइपे के चाउ टिएन चेन के खिलाफ 21-23 17-21 से हार का सामना करना पड़ा।
अर्जुन एमआर और रामचंद्रन श्लोक की पुरुष युगल तथा मेघना जक्कमपुदी और पूर्विशा एस राम की महिला युगल जोड़ी भी दूसरे दौर में जगह बनाने में सफल रही।
अर्जुन और श्लोक ने कोरिया के चुंग सियोक और किम डुकयोंग की जोड़ी को 25-23 23-21 से हराया जबकि मेघना और पूर्विशा ने ओंग रे नी और वोंग जिया यिंग क्रिस्टल की सिंगापुर की जोड़ी के खिलाफ कड़े मुकाबले में 14-21 22-20 21-17 से जीत दर्ज की।
मिश्रित युगल में हालांकि सौरभ शर्मा और अनुष्का पारिख को किम वान हो और शिन स्युंग चान की कोरिया की जोड़ी के खिलाफ 17-21 14-21 से हार का सामना करना पड़ा जबकि वेंकट गौरव प्रसाद और जूही देवगन की जोड़ी भी ली चुन हेई रेगिनाल्ड और चाउ होई वा की जोड़ी के खिलाफ 11-21 13-21 से हार का सामना करना पड़ा।

Read more...

गार्सिया ने शारापोवा को पहले दौर में हराया

स्टुटगार्ट, मारिया शारापोवा को स्टुटगार्ट ग्रां प्री के पहले दौर में फ्रांस की छठी वरीय कैरोलिन गार्सिया के खिलाफ शिकस्त का सामना करना पड़ा।
गार्सिया ने पहला सेट गंवाने के बाद जोरदार वापसी करते हुए शारापोवा को 3-6, 7-6, 6-4 से हराया।
पांच बार की ग्रैंडस्लैम चैंपियन शारापोवा ने मैच के बाद कहा, यह वो नतीजा नहीं है जो मैं चाहती थी लेकिन मैं इस मैच के सकारात्मक पक्षों पर ध्यान दूंगी। मैं पिछले कुछ हफ्तों से नहीं खेली थी लेकिन मैंने ठोस खेल दिखाया और सही चीजें की।
गार्सिया अगले दौर में उक्रेन की क्वालीफायर मार्ता कोस्त्युक से भिड़ेंगी जिन्होंने एंटोनिया लोटनर को 6-4, 6-१ से हराया।

Read more...

गेंदबाजों के उम्दा प्रदर्शन के दम पर सनराइजर्स ने मुंबई को हराया

मुंबई, सिद्धार्थ कौल की अगुवाई में अपने गेंदबाजों के उम्दा प्रदर्शन की मदद से सनराइजर्स हैदराबाद ने आईपीएल के मैच में आज मात्र 118 रन का स्कोर बनाने के बावजूद मुंबई इंडियंस पर 31 रन से जीत दर्ज की।
सनराइजर्स हैदराबाद की टीम पहले बल्लेबाजी के लिए भेजे जाने पर 18.4 ओवर में 118 रन पर आउट हो गई। जवाब में खराब फार्म से जूझ रही मुंबई इंडियंस 18.5 ओवर में 87 रन ही बना सकी।
मुंबई की यह छह मैचों में पांचवीं हार थी जबकि सनराइजर्स की इतने ही मैचों में चौथी जीत रही। आईपीएल में तीसरी बार किसी मैच में पूरे 20 विकेट गिरे और कोई भी टीम पूरे 20 ओवर नहीं खेल सकी।
आसान लक्ष्य के जवाब में मुंबई की शुरूआत बेहद खराब रही। उसके आठ बल्लेबाज दोहरे अंक तक भी नहीं पहुंच सके और ना ही कोई बड़ी साझेदारी बनी। दोहरे अंक तक पहुंचने वाले बल्लेबाज सिर्फ सूर्यकुमार यादव (34) और कृणाल पंड्या (24) रहे।
सनराइजर्स के लिए अफगानिस्तान के स्पिनर राशिद खान ने चार ओवर में 11 रन देकर दो विकेट लिए जबकि कौल ने चार ओवर में 23 रन देकर तीन विकेट चटकाए जिनमें मिशेल मैकक्लीनागेन और मयंक मार्कंडेय के विकेट 16वें ओवर में गिरे। बासिल थम्पी ने भी 11 गेंदें फेंककर दो विकेट लिए।
इससे पहले मेजबान टीम की अनुशासित गेंदबाजी का सामना हैदराबाद के बल्लेबाज भी नहीं कर सके। कप्तान केन विलियमसन (29) और युसूफ पठान (29) को छोड़कर कोई बल्लेबाज ज्यादा देर टिक नहीं सके। पूरी टीम 18.4 ओवर में आउट हो गई।
मुंबई के लिए मिशेल मैक्लीनेगन, हार्दिक पंड्या और मयंक मार्कण्डेय ने दो दो विकेट लिए। हैदराबाद का यह सत्र का सबसे कम स्कोर रहा।
हैदराबाद की शुरूआत आक्रामक रही और कप्तान विलियमसन ने पहले ही ओवर में जसप्रीत बुमराह को दो चौके लगाए।
हैदराबाद ने सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (5) का विकेट जल्दी गंवा दिया जो कोहनी की चोट के कारण चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ पिछला मैच नहीं खेल सके थे। खराब फार्म में चल रहे रिधिमान साहा (0) को मिशेल मैक्लीनेगन ने दूसरे ओवर में पवेलियन भेजा।
तीसरी गेंद पर घुटने में चोट लगने के कारण धवन कराहते नजर आए और अगली ही गेंद पर विकेट गंवा बैठे।
हैदराबाद के दो विकेट 20 रन पर गिर गए थे। मनीष पांडे (16) को हार्दिक पंड्या ने एक्स्ट्रा कवर पर लपकवाया जबकि शाकिब अल हसन को सूर्यकुमार यादव ने सटीक थ्रो पर रन आउट किया।
पावरप्ले के आखिर में सनराइजर्स का स्कोर चार विकेट पर 46 रन था। कप्तान विलियमसन नौवे ओवर में अपना विकेट गंवा बैठे और हैदराबाद का स्कोर पांच विकेट पर 63 रन हो गया।
युसूफ पठान 33 गेंद में एक छक्के और दो चौकों की मदद से 29 रन बनाकर आउट हुए।
इससे पहले हैदराबाद को करारा झटका लगा जब आस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज बिली स्टानलेक ऊंगली में फ्रेक्चर के कारण टूर्नामेंट से बाहर हो गए। भुवनेश्वर कुमार भी चोट के कारण बाहर हैं।

Read more...

सानिया ने दी मां बनने की खुशखबरी, भारत-पाक फैन्स आपस में भिड़े

नई दिल्ली, भारतीय टेनिस स्टार सानिया मिर्जा पिछले कुछ समय से टेनिस कोर्ट से दूर थीं। इस साल उन्होंने ऑस्ट्रेलियन ओपन में भी हिस्सा नहीं लिया। ऐसा कहा जा रहा था कि वो इंजरी की वजह से टेनिस से दूर चल रही हैं। हालांकि अब उन्होंने खुलासा किया है कि वो किस वजह से टेनिस से दूर हैं। सानिया ने सोशल मीडिया के जरिए बताया कि वो और पाकिस्तानी क्रिकेटर शोएब मलिक जल्द ही पेरेंट बनने वाले हैं। सानिया ने बड़े ही खास अंदाज में अपनी प्रेगनेंसी की खबर फैन्स से शेयर की। सानिया ने एक ग्राफिक्स शेयर किया, जिसमें मिर्जा और मलिक के बीच में लिखा है मिर्जा-मलिक और बच्चे का कपड़ा बना हुआ है।

Read more...

रोनाल्डो का जादुई गोल, बाहर होने से बचा रियल मैड्रिड

मैड्रिड, क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने इंजरी टाइम में गोल करके रीयल मैड्रिड को जुवेंटस के खिलाफ शर्मनाक हार से और चैम्पियंस लीग से बाहर होने से बचा लिया। पिछले सप्ताह तूरिन में 3-0 से जीत के बाद रीयल मैड्रिड का सेमीफाइनल में प्रवेश तय माना जा रहा था लेकिन जुवेंटस ने सेंटियागो बर्नाबू में हुए दूसरे राउंड के मैच में शानदार प्रदर्शन करके उसे चौंका दिया।

मारियो मेंडजुकिच ने पहले हाफ में दो हेडर लगाए जबकि ब्लेस मेटुइडी ने एक और गोल करके उलटफेर की नींव मजबूत कर दी। अतिरिक्त समय की ओर बढ़ते मैच में इंग्लैंड के रेफरी माइकल ओलिवर ने स्टापेज टाइम में रीयल मैड्रिड को पेनल्टी कॉर्नर दिया। उस समय 97वां मिनट था और रोनाल्डो ने 12 गज से गोल करने में कोई गलती नहीं की। उनकी टीम दूसरा राउंड 3-1 से हार गई लेकिन औसत में 4-3 से जीत दर्ज करके सेमीफाइनल में प्रवेश किया।
जुवेंटस के जियांलुइगी बुफोन को विरोध के लिए निलंबन झेलना पड़ा । अपना 125वां और आखिरी चैम्पियंस लीग मैच खेल रहे 40 बरस के बुफोन के करियर का अंत निराशाजनक रहा।

Read more...

शूटिंग वर्ल्ड कप : भारतीय शूटर्स का फ्लॉप शो

e paper new advt

चांगवोन, दक्षिण कोरिया के चांगवोन में खेले जा रहे आईएसएसएफ विश्व कप के चौथे दिन भारतीय खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए। भारत का कोई भी निशानेबाज राइफल/पिस्टल/शॉटगन की स्पर्धा के फाइनल तक नहीं पहुंच सका। महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में हिना सिद्धू 574 के स्कोर के साथ 14वें स्थान पर रहीं। महिमा तुरही अग्रवाल और मनु भाकेर ने 571 का स्कोर किया और क्रमश: 27वें और 30 वें स्थान पर रहीं। इस स्पर्धा में बेलारूस की विक्टोरिया चाइका ने स्वर्ण पदक अपने नाम किया।

पुरुषों की 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल स्पर्धा में नीरज कुमार और अनिश भानवाल ने कुछ बेहतर प्रदर्शन किया। दोनों ने क्रमश: 579 और 578 का स्कोर करते हुए 13वां और 16वां स्थान हासिल किया। दक्षिण कोरिया के पूर्व विश्व चैम्पियन जुनहोंग किम ने मेजबान देश को पहला स्वर्ण पदक दिलाया। उन्होंने फाइनल में 50 में से 38 का स्कोर किया। मिश्रित टीम ट्रैप स्पर्धा में भारत के मानवजीत सिंह संधू और श्रेयसी सिंह फाइनल में जाने के बेहद करीब थे, लेकिन 150 में से 139 का स्कोर कर वह 10वें स्थान पर ही रह गए।

इसी स्पर्धा में भारत की दूसरी टीम किनन चेनाई और सीमा तोमर की जोड़ी ने 134 का स्कोर किया। यह जोड़ी 21वें स्थान पर रही। भारत के हिस्से अभी तक इस स्पर्धा में सिर्फ एक पदक आया है। शहजार रिजवी ने मंगलवार को पुरुषों की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में भारत को रजत पदक दिलाया था।

Read more...

गौतम गंभीर ने छोड़ी दिल्ली डेयरडेविल्स की कप्तानी, श्रेयस अय्यर संभालेंगे टीम की कमान

नई दिल्ली, इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 11 वें संस्करण में दिल्ली डेयरडेविल्स में कप्तान के तौर पर लौटे गौतम गंभीर ने बुधवार को टीम की कप्तानी छोड़ दी। उनकी जगह युवा बल्लेबाज श्रेयस अय्यर टीम के कप्तान होंगे। गौतम गंभीर की कप्तानी में ही कोलकाता नाइट राइडर्स ने दो बार आईपीएल का खिताब जीता था। लेकिन वह कप्तान के तौर पर कोलकाता नाइट राइडर्स की सफलता को दिल्ली डेयरडेविल्स के साथ जारी नहीं रख सके। दिल्ली डेयरडेविल्स की आईपीएल 2018 में लगातार हार से निराश होकर गौतम गंभीर ने कप्तानी छोडऩे का फैसला किया। गौतम गंभीर इससे पहले 2008, 2009 और 2010 में दिल्ली टीम के साथ खिलाड़ी के तौर पर जुड़े थे।

गंभीर ने कहा-कप्तानी का दबाव नहीं झेल पा रहा था
गंभीर ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, 'मैं कप्तानी का दबाव नहीं झेल पा रहा था, इसलिए कप्तानी छोडऩे का फैसला किया। यह मेरा अपना फैसला है। फ्रेंचाइजी का कोई दबाव मुझ पर नहीं है। मैंने अपने इस फैसले के बार में अपनी पत्नी से भी बात की थी।' दिल्ली ने गंभीर की कप्तानी में छह मैच खेले जिसमें से पांच में उसे हार मिली। गंभीर की कप्तानी तो फ्लॉप रही ही है। इसके अलावा उनकी बल्लेबाजी बेहद खराब रही है। गंभीर ने मौजूदा सीजन में अब तक (55, 15, 8, 3) का ही स्कोर किया है। बल्ले के अलावा वो कप्तानी में भी फ्लॉप ही रहे हैं। गौतम गंभीर की जगह युवा बल्लेबाज श्रेयस अय्यर दिल्ली डेयरडेविल्स की कमान संभालेंगे।

res

Read more...

राष्ट्रमंडल खेलों में तमिलनाडु के पदक विजेताओं को मुख्यमंत्री ने दिया नगद पुरस्कार

चेन्नई, गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों में तमिलनाडु के पदक विजेताओं को राज्य के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने आज यहां नगद पुरस्कार देकर सम्मानित किया।
यहां जारी विज्ञप्ति के मुताबिक मुख्यमंत्री ने टेबल टेनिस खिलाड़ी अचंत शरत कमल और जी. साथियान को एक-एक करोड़ रुपए और भारोत्तोलक सतीशकुमार शिवलिंगम (स्वर्ण पदक विजेता) को 50 लाख रुपए का नगद पुरस्कार दिया।
कमल और साथियान ने टेबल टेनिस टीम स्पर्धा में स्वर्ण जीतने के अलावा युगल मुकाबलों में रजत पदक जीता था। कमल ने एकल वर्ग में कांस्य पदक भी अपने नाम किया था।
टेबल टेनिस खिलाड़ी ए अमलराज (टीम स्पर्धा में स्वर्ण) को 50 लाख रुपए का चेक मिला जबकि स्क्वाश खिलाड़ी दीपिका पल्लीकल (रजत) और सौरव घोषाल (रजत) को क्रमश: 60 लाख रुपए और 30 लाख रुपए मिले।
इसके साथ ही सरकार ने खिलाडिय़ों के कोचों को भी 54 लाख रुपए पुरस्कार के रूप में दिए।
ऑस्ट्रेलिया में हुए राष्ट्रमंडल खेलों में भारतीय खिलाडिय़ों ने कुल 66 पदक जीते थे जिसमें 26 स्वर्ण, 20 रजत और 20 कांस्य पदक शामिल हैं।

Read more...
Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News