Menu

दीपा कलात्मक टीम फाइनल्स से हटी, घुटने की चोट फिर उबरी Featured

जकार्ता, 22 अगस्त (भाषा) भारत की स्टार जिम्नास्ट दीपा कर्माकर आज एशियाई खेलों के कलात्मक टीम फाइनल्स से हट गई क्योंकि उनके करियर के लिए परेशानी का सबब बनी घुटने की चोट फिर से उबर गई है।  दीपा के कोच बिश्वेश्वर नंदी ने पीटीआई से कहा, खतरनाक चोट का जोखिम था और इसलिए वह अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं कर सकी। हम टीम स्पर्धा में उसे आराम देंगे लेकिन वह (बैलेसिंग) बीम फाइनल्स में जरूर अच्छा प्रदर्शन करेगी। नंदी से पूछा गया क्या बीम फाइनल्स में भाग लेने से क्या घुटने पर विपरीत प्रभाव पड़ेगा, उन्होंने कहा, नहीं। बैलेंसिंग बीम में लैंडिंग मुश्किल नहीं होती है।  चोट की वजह से बाहर होने के कारण दीपा सुबकने लगी। उन्होंने पोडियम अभ्यास के दौरान लगे झटके को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया और कहा कि बैलेसिंग बीम के फाइनल्स में वह इसकी भरपाई करेंगी। रियो ओलंपिक 2016 में खतरनाक प्रूडुनोवा वाल्ट करके दुनिया भर के लोगों का ध्यान खींचने वाली दीपा यहां अपनी पसंदीदा स्पर्धा के फाइनल में भी जगह नहीं बना पाई। दीपा ने कहा, पोडियम अभ्यास के दौरान मुझे झटका महसूस हुआ था। मैं अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं कर पाई थी। मैंने इसके लिए कड़ी मेहनत की थी। रियो ओलंपिक के बाद दीपा घुटने की चोट के कारण बाहर रही और उन्होंने हाल में तुर्की के मर्सीन में विश्व चैलेंज कप में वापसी की थी जहां उन्होंने वॉल्ट में स्वर्ण पदक जीता था। उन्होंने पिछले साल जुलाई में घुटने का आपरेशन करवाया था जिसके बाद यह उनकी पहली स्पर्धा थी। वह राष्ट्रमंडल खेलों में भी भाग नहीं ले पाई थी। नंदी ने कहा कि क्वालीफाई करने में नाकाम रहने के बाद दीपा गमगीन हो गई थी।
उन्होंने कहा, उसने कहा कि वॉल्ट मेरी पहचान है अब लोग क्या कहेंगे। मैंने उससे कहा कि यह उसकी गलती नहीं है लेकिन वह बहुत परेशान थी। उसने कल रात खाना नहीं खाया और अब उसने नाश्ता करने से भी मना कर दिया।
नंदी ने चोट के बढऩे के बारे में कहा, सोमवार को उसे जमीन पर उतरते समय घुटने में झटका सा लगा। यहां की सतह कड़ी है और दिल्ली में नरम है जिससे झटका नहीं लगता।
उन्होंने कहा, हमने आईओए के चिकित्सक से परामर्श लिया और उन्होंने कहा कि उसे जबर्दस्ती स्पर्धाओं में भाग नहीं लेना चाहिए अन्यथा चोट बढ़ जाएगी।
दीपा के लिए इस बीच राहत की बात यह है कि वह एशियाई खेलों के बीम फाइनल में पहुंचने वाली पहली भारतीय हैं।
नंदी ने कहा कि स्वदेश लौटने पर वह डा. अनंत जोशी से परामर्श लेंगे जिन्होंने दीपा के घुटने का आपरेशन किया था लेकिन उन्हें पूरा विश्वास है कि उनकी प्रिय शिष्या जल्द ही वापसी करेगी।
उन्होंने कहा, इस चोट के लिए दो सप्ताह का विश्राम पर्याप्त होगा। हम अभी नहीं चाहते कि चोट बढ़े। वह जल्द ही वापसी करेगी।

DNR Reporter

DNR desk

Leave a comment

Make sure you enter the (*) required information where indicated. HTML code is not allowed.

back to top

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News