Menu

top banner

टेक्नालजी (91)

प्रीतिका आटो ने पंजाब में अमृत डूरापार्ट्स की संपत्तियां खरीदीं

नई दिल्ली। कलपुर्जे बनाने वाली कंपनी प्रीतिका आटो इंडस्ट्रीज ने पंजाब में अमृत डूरापार्ट्स की संपत्तियों का अधिग्रहण किया है। कंपनी ने आज इसकी जानकारी दी। हालांकि कंपनी नेसौदे के वित्तीयब्योरे की जानकारी नहीं दी है। कंपनी ने नियामकीय जानकारी में कहा कि प्रीतिका आटो ने पंजाब में सिंबली गांव में अमृत डूरापार्ट्स की यूनिट दो की जमीन, इमारत और मशीनरी सहित संपत्ति खरीदने के लिए करार किया है। नए अधिग्रहीत ढुलाई कारखाने की क्षमता12,000 टन सालाना है। कंपनी ने कहा कि इस समझौते के साथ कुल स्थापित क्षमता प्रति वर्ष50,000 टन तक बढ़ जाएगी। प्रीतिका आटो इंडस्ट्रीज के प्रबंध निदेशक हरप्रीत एस निब्बर ने कहा, 'कारखाना तुरंत उपयोग के लिए तैयार है, जो कि हमारे मौजूदा ऑर्डर को पूरा करने में मदद करेगा और हम निर्यात बाजार में अवसरों की तलाश भी कर सकते हैं।

Read more...

ट्रंप के शुल्क बढ़ाने के फैसले से अमेरिका को विभिन्न देशों से इस्पात का निर्यात 1.4 करोड़ टन तक घटेगा

नई दिल्ली, डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन द्वारा इस्पात एवं एल्युमीनियम के आयात पर शुल्क में भारी वृद्धि के फैसले से अमेरिका को विभिन्न देशों से इस्पात का निर्यात 90 लाख टन से 1.4 करोड़ टन तक घट जाएगा। एक रिपोर्ट में यह अनुमान लगाया गया है।
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने गुरुवार को इस्पात के आयात पर 25 प्रतिशत तथा एल्युमीनियम के आयात पर 10 प्रतिशत शुल्क लगाने की घोषणा की।
कोटक इंस्टिट्यूशनल इक्विटीज की रिपोर्ट में कहा गया है, हमारा अनुमान है कि आयात शुल्क में वृद्धि तथा घरेलू इस्पात मिलों की क्षमता इस्तेमाल दर मौजूदा के 72 प्रतिशत से बढ़कर 80 से 85 प्रतिशत होने से अमेरिका को अन्य देशों से इस्पात का निर्यात 90 लाख से 1.4 करोड़ टन घट जाएगा।
अमेरिका ने वर्ष 2017 में 8.2 करोड़ टन इस्पात का उत्पादन किया और 3.6 करोड़ टन का आयात किया। यदि अमेरिका का इस्पात उत्पादन बढ़कर 9.1 से 9.6 करोड़ टन पर पहुंचता है तो आयात घटकर 2.2 से 2.5 करोड़ टन पर आ सकता है।
अमेरिका को इस्पात का निर्यात करने वाले प्रमुख देशों में कनाडा, ब्राजील, दक्षिण कोरिया, मेक्सिको और रूस हैं, जिनका इसमें 60 प्रतिशत का हिस्सा है। भारत ने 2017 में अमेरिका को करीब 9 लाख टन इस्पात का निर्यात किया।

sagarmal

Read more...

सामाजिक उत्तरदायित्वों के प्रति जागरूकता बढ रही है कंपनी जगत में

मुंबई, देश का कारपोरेट जगत अब अपनी सामाजिक जिम्मेदारियों के प्रति ज्यादा सजग हो रहा है।
चालू वित्त वर्ष में समीक्षाधीन 100 कंपनियों का कारपोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व (सीएसआर) व्यय पिछले तीन साल में 41ञ् की वृद्धि के साथ 7,215.9 करोड़ रुपए रहा है।
परामर्श कंपनी केपीएमजी ने अपने सर्वेक्षण में पाया कि वित्त वर्ष 2017-18 में 22 से ज्यादा कंपनियों ने अपने सीएसआर बजट में वृद्धि की है जबकि 2014-15 में यह संख्या 10 ही थी।
वहीं समीक्षावधि में सीएसआर के तहत लाभ के दो प्रतिशत के बराबर अनिवार्य खर्च से कम व्यय करने वाली कंपनियों की संख्या भी घटकर 29ञ् रह गई है।
हालांकि इस अवधि में 58 कंपनियों ने दो प्रतिशत या उससे अधिक की राशि सीएसआर पर व्यय की है जिसकी संख्या 2014-15 में मात्र 32 थी।
केपीएमजी के अनुसार समीक्षावधि में केवल 36 कंपनियों ने ही सीएसआर परियोजनाओं में प्रत्यक्ष या कुल खर्च की जानकारियां साझा की है।
सर्वेक्षण में बताया गया है कि 100 में से दो कंपनियों की सीएसआर नीति अभी भी सार्वजनिक तौर पर उपलब्ध नहीं है।

Read more...

श्रमबल में महिलाओं की संख्या बढ़ाएगी टाटा मोटर्स

मुंबई, देश की सबसे बड़ी वाहन कंपनी टाटा मोटर्स को उम्मीद है कि अगले चार पांच साल में उसके कुल श्रमबल में एक तिहाई महिलाएं होंगी तथा समय के साथ वह और अधिक महिला अनुकूल होगी।
टाटा मोटर्स के प्रमुख मानव संसाधन अधिकारी गजेंद्र चंदेल ने कहा, हमने बीते चार पांच साल में हमारे श्रमबल में कर्मचारियों की संख्या में अच्छी खासी बढ़ोतरी की है। हम अगले चार से पांच साल में इसे बढ़ाकर 20-25 प्रतिशत करेंगे।
इस साल जनवरी में कंपनी में महिला कर्मचारियों की संख्या 2628 थी। यह उसके कुल 41,390 के कारखाना श्रमबल का लगभग पांच प्रतिशत है। वैसे कंपनी के कुल कर्मचारियों की संख्या 55,159 है।
उल्लेखनीय है कि टाटा मोटर्स का पुणे संयंत्र देश का पहला विनिर्माण संयंत्र था जिसकी असेंबली लाइन में किसी महिला इंजीनियर को रखा गया। अप्रैल 1974 में जेआरडी टाटा ने व्यक्तिगत रूप से सुधा मूर्ति को इस कारखाने में इंजीनियर के रूप में नौकरी पर रखा जो एन आर नारायणमूर्ति की पत्नी हैं।
चंदेल ने कहा, कई वर्षों से हम कैंपस से अधिक महिलाओं की नियुक्ति कर रहे हैं। यह 2016 में 13 प्रतिशत थी और 2017 में बढ़कर 19 प्रतिशत हो गई। 2018 के बैच में हम 25 प्रतिशत का लक्ष्य रखे हुए हैं।

sagarmal

Read more...

रॉयल एनफील्ड ने लॉन्च की थंडरबर्ड एक्स

नई दिल्ली। रॉयल एनफील्ड ने क्रूजर सेगमेंट में थंडरबर्ड सीरीज के दो नए मॉडल उतारें हैं। थंडरबर्ड 350 एक्स की कीमत 1 लाख 56 हजार रुपये है जबकि 500 एक्स की कीमत करीब 2 लाख रुपये है। नई थंडरबर्ड को पिछली थंडरबर्ड के ही प्लेटफॉर्म पर बनाया गया है कुछ बदलाव की वजह से ये मॉर्डन कू्रजर बाइक दिखती है। बदलाव में एलॉय व्हील, बड़े साइज का हैंडल बार, सीट और ग्रैब रेल नया है। इंजन में कोई भी बदलाव नहीं किया गया है। पहले की तरह 350 एक्स में 350ष्ष् का इंजन है जो करीब 19.8ड्ढद्धश्च पावर देता है। थंडरबर्ड 500 एक्स में 500ष्ष् का इंजन है जो 27ड्ढद्धश्च पावर देता है। दोनों ही बाइक में 5 स्पीड गियर ट्रांसमिशन दिए गए हैं। कंपनी का कहना है कि थंडरबर्ड एक्स के साथ मौजूदा थंडरबर्ड भी मिलेगी। बाइक का सीधा मुकाबला यूएम की रेनेगेड स्पोर्ट्स बाइक से है।

Read more...

टेलीफोन खंभों में निवेश पर 25 साल पहले बहस कर रहा था विश्वबैंक

वाशिंगटन। विश्व बैंक के भीतर करीब 25 साल पहले इस बात पर गर्मागर्म बहस हो रही थी कि उसे भारत में टेलीफोन के खंभों में निवेश करना चाहिए या नहीं। विश्व बैंक के वर्तमान अध्यक्ष जिम योंग किम ने इसका खुलासा करते हुए कहा कि खुशकिस्मती से हमने इसके खिलाफ निर्णय किया था। किम कौंसिल ऑन फॉरेन रिलेशंस द्वारा आर्थिक वृद्धि एवं सुरक्षा के भविष्य पर न्यूयॉर्क में आयोजित एक परिचर्चा में आर्थिक वृद्धि के नए मॉडल की तलाश की चुनौतियों के बारे में बोल रहे थे। किम ने कहा, एक करीबी दोस्त ने उन्हें बताया कि करीब 25 साल पहले भारत में टेलीफोन खंभों में निवेश करने को लेकर विश्वबैंक में गर्मागर्म बहस हुई थी। उन्होंने कहा कि विश्व बैंक के सामने आर्थिक वृद्धि के 

नए मॉडल की तलाश करने की चुनौती थी। उन्होंने कहा, यह विश्व बैंक समूह में आज भी बड़ा सवाल है जिससे हम जूझ रहे हैं। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि चीन में रोबोटिक्स और स्वचालन संभवत: चरम पर है। उन्होंने कहा, यह आश्चर्यजनक है कि वे रोबोट से किस तरह के काम करा पा रहे हैं और यह लगातार पहले से बेहतर होता जा रहा है। बुनाई जैसी चीजों के बारे में सोचा जाता था कि रोबोट यह करने में सक्षम नहीं हो पाएंगे, लेकिन अभी वे ऐसा कर पा रहे हैं। किम ने कहा, अत: जब आप चारों तरफ देखेंगे और कहेंगे कि अच्छा अलग मॉडल भी मौजूद हैं यह रोचक होगा?

फिर से चीन को देखेंगे तो सिर्फ कृत्रिम समझ और अत्यधिक स्वचालन आधारित भारी विनिर्माण ही नहीं बल्कि उनके पास अलीबाबा, टेनसेंट और वीचैट भी मिलेगा जो बाजार के लिए पूंजी, खरीद तथा आलेखन की भी उपलब्धता का लोकतांत्रीकरण कर रहे हैं। किम ने कहा, हम अब सोच रहे हैं कि सहारा क्षेत्रीय अफ्रीका में यह एक संभावना हो सकती है। संभवत: पूंजी की उपलब्धता का लोकतांत्रिकरण और बाजार तक बढ़ती पहुंच के जरिए हम छोटे एवं मध्यम उपक्रमों का उभार देख सकते हैं।

Read more...

आर्थिक आंकड़े तय करेंगे बाजार की चाल

एजेंसी. नई दिल्ली

वैश्विक संकेतों के साथ ही औद्योगिक उत्पादन एवं मुद्रास्फीति के आंकड़े अवकाश प्रभावित सप्ताह में बाजार की चाल तय करेंगे।
अगले सप्ताह मंगलवार को महाशिवरात्रि के उपलक्ष्य में बाजार बंद रहेंगे। दीर्घकालिक पूंजीगत लाभ पर कर लगाए जाने तथा वैश्विक बाजार में जारी गिरावट के कारण पिछले सप्ताह बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स १,060.99 अंक यानी 3.02 प्रतिशत लुढ़क गया। जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, कंपनियों के परिणाम जारी करने के मौजूदा सत्र में कंपनियों के मुनाफे में सुधार के मजबूत संकेत मिल रहे हैं। इससे दीर्घकालिक वृद्धि की संभावनाओं के संकेत मिलते हैं और यह निवेशकों को राहत प्रदान कर
रहा है।
हालांकि मुद्रास्फीति का दबाव और राजकोषीय घाटा का लक्ष्य चूकने के कारण रिजर्व बैंक निकट भविष्य में संकुचित रुख अपना सकता है। उसने कहा था कि सरकारी खर्च बढऩे से मुद्रास्फीति तेज हो सकती है। उसने राजकोषीय घाटा बढऩे की भी चेतावनी दी थी।
नायर ने कहा, वैश्विक बाजार में जारी उथल-पुथल निवेशकों की धारणा को प्रभावित कर रहा है। दिसंबर के औद्योगिक उत्पादन के आंकड़े और जनवरी के उपभोक्ता मूल्य सूचकांक एवं थोक मूल्य सूचकांक के आंकड़े इस सप्ताह में बाजार को प्रभावित करेंगे।

एक विशेषज्ञ ने कहा कि इस सप्ताह गेल और एनएचपीसी परिणाम जारी करने वाली मुख्य कंपनियां हैं। एसबीआई और कोल इंडिया ने पिछले सप्ताह शुक्रवार और शनिवार को परिणाम जारी किया था, इसका भी असर दिख सकता है। बाजार अभी वैश्विक संकेतों से प्रभावित हो रहा है और यह आने वाले कुछ दिनों तक जारी रह सकता है। सैमको सिक्युरिटीज के संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिमीत मोदी ने कहा, अमेरिकी बाजार किस तरह सुधार करता है और वापस उछाल हासिल करता है, इस पर निवेशकों की निगाहें होंगी।

Read more...

नासा के 2020 के मंगल मिशन रोवर में होंगे 23 कैमरे

वाशिंगटन, एक नवंबर (भाषा) नासा के वर्ष 2020 के मंगल मिशन के रोवर को ढेर सारी आंखें लगायी जाएंगी ताकि वह अपने चारों ओर देख सके, अवरोधों का पता लगा सके और लाल ग्रह के पर्यावरण का अध्ययन कर सके।  दरअसल नासा अपने नये रोवर में, अब तक के रोवरों की तुलना में सर्वाधिक, कुल 23 कैमरे लगाने की योजना बना रहा है। अमेरिकी एजेंसी का कहना है कि इन कैमरों की मदद से रोवर के पैराशूट से उतरने की प्रक्रिया को भी शूट कर सकते हैं। नासा का कहना है कि रोवर के भीतर भी कैमरा लगा होगा जो उसके द्वारा एकत्र किये गए नमूनों का अध्ययन करेगा।

Read more...

BadRabbit वायरस का खतरा बढ़ा, रूस और यूक्रेन पर हुआ सायबर अटैक

कीव/मॉस्‍को। रूस समेत कई देशों पर एक बार फिर सायबर हमला हुआ है। इस बार 'बैडहैबिट' नाम के मालवेयर का इस्‍तेमाल कर निशाना बनाया गया। इसका असर जहां रूस की इंटरफैक्‍स न्‍यूज एजेंसी पर देखने को मिला, वहीं यूक्रेन के ओडेसा एयरपोर्ट पर भी विमान सेवाएं भी प्रभावित हुईं। हालांकि इसकी वजह से अभी तक किसी बड़े नुकसान की खबर नहीं आई है, मगर अमेरिका ने सायबर हमले को लेकर चेतावनी जारी कर दी है। गौरतलब है कि मई-जून में इसी तरह के सायबर हमले की वजह से दुनिया भर में कई बिलियन डॉलर का नुकसान हुआ था।

Read more...

व्हाट्सएप ला रहा यह दो नए अपडेट, नंबर बदले ही मिलेगा मैसेज

डेस्क। मोबाइल मैसेजिंग सर्विस व्हाट्सएप अपने यूजर्स के लिए नई अपडेट्स लाता रहता है। इस बार फिर यह ऐप दो अपडेट लेकर आ रहा है। इनमें से एक अपडेट ऐसी होगी जो व्हाट्सएप पर आपका नंबर बदलते ही आपके सभी कन्टेक्ट्स को नोटिफिकेशन भेजेगी। खबरों के अनुसार फिलहाल यह अपडेट जारी नहीं हुए हैं लेकिन टेक वेबसाइट्स की खबरों की माने ने अगले अपडेट में दो नए फीचर आ सकते हैं। रिपोर्ट के अनुसार एक अपडेट ऐसा होगा जो आपकी सभी कॉन्टेक्ट्स को आपके द्वारा बदले गए नंबर का नोटिफिकेशन भेजेगा।

Read more...
Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News