Menu
DNR Reporter

DNR Reporter

DNR desk

Website URL:

दहेज प्रताडऩा के मामले में सास, ससुर व पति की जमानत अर्जी खारिज

बीकानेर। न्यायिक मजिस्ट्रेट संख्या तीन की अदालत ने दहेज प्रताडऩा व पुत्रवधु की लज्जा भंग करने के आरोपी ससुर श्रीगंगानगर निवासी शिवदयाल सोनी, सास कलावती और पति आशीष सोनी की जमानत अर्जी पिछले दिनों खारिज कर दी। तीनों को न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया है। मामले के अनुसार १५ अप्रेल २०१८ को महिला थाने में रिपोर्ट दर्ज हुआ था कि एक व्यक्ति ने अपनी पुत्री की शादी करीब चार महीने पहले ११ दिसंबर २०१७ को आशीष के साथ कराई थी। शादी के बाद ससुराल वाले दहेज के लिए परेशान करने लगे। ससुर पर गलत नजर से देखने का आरोप लगाया। इस मामले में पुलिस ने ससुर, सास व पति को गिरफ्तार किया था। तीनों ने जमानत अर्जी दाखिल की लेकिन अदालत ने अस्वीकार कर दी।

अमित शाह के लिए भी एक साथ नहीं आए भाजपा पार्षद

बीकानेर। भारतीय जनता पार्टी के बीकानेर निगम पार्षदों ने गुटबाजी की सभी हदें पार कर दी है। यह बात अलग है कि इसके बाद भी पार्टी इनके खिलाफ कार्रवाई करने की हिम्मत नहीं कर पा रही है। ताजा मामला पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की जयपुर में स्थानीय निकाय सदस्यों के साथ बैठक का है।
दरअसल, इस बैठक में बीकानेर के सभी भाजपा पार्षदों को एक साथ ले जाने के लिए बस की व्यवस्था की गई थी। यह निर्देश थे कि सभी पार्षद एक साथ वहां पहुंचे। इसके विपरीत बीकानेर के पार्षद अलग-अलग पहुंचे। महापौर नारायण चौपड़ा ने जिस बस की व्यवस्था की थी, उसमें १३ पार्षद ही पहुंचे थे। इसमें ओम राजपुरोहित, मालचंद, राजा सेवग, राजेंद्र पंवार, विनोद धवल, सुरेश बारिया, रामचंद्र सोनी, सोहनलाल प्रजापत, भवानी पारीक, नरेश जोशी, कृष्णा कंवर, लक्ष्मण व्यास और स्वयं नारायण चौपड़ा थे। वहीं २१ पार्षद इस बैठक से अनुपस्थित रहे। जानकारी के अनुसार सरला पडि़हार, गिरिराज जोशी, जामनलाल गजरा, मंजू गोयल, प्रेमसा जोशी, श्रवण गोदारा, भरत कंवर, खुर्शिदा बानो, सम्राट रंगा, दाऊलाल सेवग, अजय सिंह, किसना देवी सियाग, हेमाराम, पूजा भटनागर, ताहिर, लक्ष्मीकंवर हाडला, भंवर उपाध्याय, शिवचंद पडि़हार, उम्मेद सिंह राजपुरोहित, भवानीशंकर आचार्य उपस्थित ही नहीं हुए।
वहीं १५ पार्षद अपने साधनों से जयपुर पहुंचे। जिनमें भगवती प्रसाद गौड़, उप महापौर अशोक आचार्य, जगदीश प्रसाद मोदी, श्याम सुंदर चांडक, तेजाराम राव, शंभू गहलोत, नीलम जांगीड़, भावना गहलोत, राजेंद्र शर्मा, रमेश भाटी, मनोज पारख, अखिलेश प्रताप सिंह, शिव कुमार रंगा और दुलीचंद सेवग शामिल है।
महापौर और उप महापौर के बीच चल रही आपसी खींचतान के कारण ऐसे हालात पैदा हो रहे हैं। पार्टी दोनों तरफ से हो रही अनुशासनहीनता पर कोई कार्रवाई नहीं कर पा रही है।

एमएम ग्राउंड में बने तरणताल व जिम्नास्टिक सेंटर सील

बिना अनुमति के संचालन का मामला, एसडीएमसी सदस्यों की उपस्थिति में विद्यालय प्रबंधन ने लगाया ताला
बीकानेर। राजकीय मोहता मूलचंद उच्च माध्यमिक विद्यालय के खेल मैदान में बिना अनुमति के गतिविधियां संचालित करने का मामला तूल पकड़ चुका है। लम्बे समय से मिल रही शिकायतों को विद्यालय विकास एवं प्रबंधन समिति (एसडीएमसी) ने गंभीरता से लिया और मंगलवार को एसडीएमसी सदस्यों की मौजूदगी में विद्यालय प्रबंधन ने खेल मैदान में संचालित तरणताल व जिम्नास्टिक सेंटर परिसर को सील कर दिया। एसडीएमसी में पारित प्रस्ताव के साथ मैदान को सील करने की सूचना जिला शिक्षा अधिकारी व माध्यमिक शिक्षा निदेशक को दी गई है। इसमें कई प्रकार की अनियमितताओं के आरोप लगाते हुए जांच की मांग की गई है। एमएम स्कूल प्रबंधन की ओर से अचानक की गई कार्रवाई से हड़कम्प मच गया। मौके पर एक संचालक भी पहुंचा लेकिन स्कूल प्रबंधन ने अनुमति पत्र लाने के बाद ही इस संबंध में चर्चा करने की बात कहकर पल्ला झाड़ लिया।
एमएम ग्राउंड के एक हिस्से में नगर विकास न्यास की ओर से निर्मित तरणताल संचालित है। विद्यालय ने तरणताल पर अपना अधिकार बताते हुए विगत सालों में संचालन से प्राप्त राशि विद्यालय कोष में जमा करवाने की मांग की है। एसडीएमसी का आरोप है कि खेल मैदान में कथित अभय जिम्नास्टिक सेंटर नाम से जिम्नास्टिक गतिविधियां संचालित की जा रही है, जिसमें बच्चों से निर्धारित शुल्क लिया जा रहा है, जबकि इस संबंध में विद्यालय प्रबंधन से कोई अनुमति नहीं ली गई। उन्होंने सेंटर पर अवैधानिक गतिविधियां संचालित होने का भी आरोप लगाया है।
सेंटर की आड़ में पेड़ की बली
प्रधानाचार्य दुर्गाशंकर पुरोहित ने बताया कि जिस स्थान पर अवैध रूप से जिम्नास्टिक सेंटर संचालित किया जा रहा है। वहां विद्यार्थियों व नागरिकों की ओर से पूर्व में पेड़ लगाए गए थे, जिनमें से कुछ हरे पेड़ जिम्नास्टिक सेंटर संचालकों ने बिना अनुमति के काट दिए और मौके पर पेड़ों के जमीन से सटे तने व सूखी लकडिय़ां मौजूद है। एसडीएमसी की मीटिंग में हरे पेड़ की कटाई को लेकर रोष जताया गया तथा जिला शिक्षा अधिकारी से पेड़ काटने में लिप्त लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की मांग की गई।
दो घंटे तक रहा जमावड़ा
एसडीएमसी सदस्यों के साथ विद्यालय स्टाफ व अनेक विद्यार्थी एमएम ग्राउंड में पहुंचे और उन्होंने तरणताल के भाग के तीनों दरवाजों पर नए ताले लगाकर सील कर दिया। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि तरणताल में भरा पानी इतना गंदा है, जिससे बच्चों को चर्म रोग होने का खतरा है। मामूली लालच में बच्चों के भविष्य से खिलवाड़ किया जा रहा है। उन्होंने वर्तमान में मौजूद पानी की जांच करवाने तथा दूषित पानी होने पर संबंधित के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने की मांग की। एमएम ग्राउंड को सील करने की सूचना मिलने के बाद बड़ी संंख्या में लोग एकत्रित हो गए। मौके पर कुछ अभिभावकों ने तरणताल व जिम्नास्टिक सेंटर की सितम्बर माह की फीस दिए जाने की बात कहते हुए लौटाने की मांग की।
बदल गया जगह का नाम
स्कूल प्रबंधन का आरोप है कि एमएम ग्राउंड में अभय जिम्नास्टिक सेंटर का संचालन हो रहा है, जिसकी विद्यालय प्रबंधन को सूचना तक नहीं थी, जबकि जिला स्तरीय जिम्नास्टिक प्रतियोगिता में आयोजन स्थल अभय जिम्नास्टिक सेंटर दिया गया, जबकि वास्तविकता में प्रतियोगिता एमएम ग्राउंड में हुई थी।
अनुमति से केवल तीरंदाजी
एसडीएमसी ने एमएम ग्राउंड में वर्षों से संचालित द्रोणाचार्य तीरंदाजी संस्थान को विद्यालय प्रबंधन की स्वीकृति होने की बात कही है। इसके अलावा अन्य गतिविधियों के बिना स्वीकृति के संचालित होने की बात कहकर रोक लगा दी है। विद्यालय प्रबंधन ने सील लगाने की सूचना नयाशहर पुलिस थाने में भी दी है तथा सील तोडऩे पर कानूनी कार्रवाई की चेतावनी भी दी है।
एसडीएमसी ने कसी कमर
एमएम स्कूल की विद्यालय विकास एवं प्रबंधन समिति की ओर से लम्बे समय से विद्यालय में भामाशाहों के सहयोग से विकास कार्य करवाए जा रहे हैं। एमएम स्कूल के मैदान की भूमि पर तरणताल संचालित होने के बावजूद विद्यालय को एक रुपए भी नहीं मिलने को लेकर सदस्य लम्बे समय से मंत्रणा कर रहे थे और लम्बे समय से तरणताल व जिम्नास्टिक सेंटर के नाम पर जेबे भरने की शिकायतें मिल रही थी, जिस पर एसडीएमसी ने दो दिन पहले मीटिंग कर मैदान के ताला लगाने का निर्णय किया। एसडीएमसी सदस्य व पार्षद शिवकुमार रंगा (सम्राट), प्रधानाचार्य दुर्गाशंकर पुरोहित, व्याख्याता रामपाल सहू, एसडीएमसी सचिव शिवकुमार व्यास, सदस्य व व्याख्याता आभा शुक्ला, कुसुमलता शर्मा, करणीसिंह बिट्ठू, देवेन्द्र व्यास, मदनमोहन, महेश व्यास, लक्ष्मण मारू सहित बड़ी संख्या में विद्यार्थी मौजूद थे।

Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News