Menu

मै जानता हूं कि तू गैर है मगर यू ही.....

साहिर का लिखा कभी कभी मेरे दिल में ख्याल आता है हिन्दी सिनेमा के सबसे अप्रतिम गीतों में से एक है। हम बूढे होते जा रहे है और समय की छाती पर गढा ये गीत आज भी कायम है। ये चिरकुट समय से निकल कर अब तक भाग रहा चिर युवा गीत है। हिन्दी सिनेमा के लिये ये गीत सच में बडी घटना थी। इसे हम सब ने गर्मी में छत पर लेटे उनींदी रातो में आसमान पर टकटकी लगायें रेडियो पर अमीन सियानी की कंमेट्री के बीच, दोस्तो की अंताक्षरी में, स्कूल-काॅलेज की पिकनिक बस में, बाइक चलाते हुए इयरफोन में, शादी में, ब्रेकअप के मातम में सब में सुना है। ये गीत अपने आप में भरा पूरा संसार है।

Read more...

नींव के पत्थर

भारतीय प्रबंध प्रणाली 'मैं शब्द में विश्वास नहीं करती। इन्डियन मैनेजमेंट के अनुसार 'मैंÓ की समाप्ति से ही जीवन की श्रेष्ठ यात्रा, प्रेम और सेवा के भाव का उद्भव होता है। भारतीय मैनेजमेंट हमें स्वयं के श्रेष्ठ कार्यों और उपलब्धियों की जगह 'श्रेय बांटनेÓ और मौन रहकर कार्य करने वाले नींव के पत्थरों का आभार जताने हेतु शिक्षित करता है। नवीन और बलराम मूर्तिकार बनने की चाहत में शहर आये।

Read more...
Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News