Menu

मुझे प्यार करने वाले, तू जहां है,मै वहां हूं Featured

यशचोपड़ाकी1981मेंआईफिल्मसिलसिलाकेगाने"येकहांगएहम/यूंहीसाथचलतेचलते"केबीचअंतरेमेलताकीआवाजमेंजावेदअख्तरकीलिखीयेलाइनआतीहै।सोचताहूंकियेलाइनगानेमेंनहीआतीतोक्याज्यादाफर्कपडजाता।हिन्दीफिल्मोंकेगीतवैसेहीतुकबंदियोकाहीमायाजालहै।येनाहोतीतोइसकीबजायकोईऔरलाइनसैटहोजाती।इसएकलाइनपरइतनाजोरक्योदेरहाहूं।परदोबातें,जोइसलाइनकेप्रतिहमेशाअनुरागजगायेरखतीहैउनमेंसेएकहैकियेबातऔरयेदिलकशसंबोधननायककीबजायनायिकासेकहलवाना।प्यारतोपुरूषऔरस्त्रीदोनोहीकरतेहै।अलगभीदोनोहीहोतेहै।दुखभीदोनोकासाझाहोताहैपरगानेमेंयेलाइनस्त्रीक्योंकहतीहै।पुरूषभीतोकहसकताथा।परनही।येबातनायिकासेहीकहलवाईगई।सोचसमझकरयाऐसेहीपतानहीपरशायदकिसीफिल्मीगीतमेंहीनहीजीवनकीहरऐसीस्थितिमेंभीयेबातकेवलऔरकेवलस्त्रीहीकहसकतीहै।दरअसलपुरूषअपनेजीवनमेंज्यादातरकिसीस्त्रीसेसम्मोहितहोकरप्यारकरतेहैपरस्त्रीज्यादातरमामलोंमेंअपनेलियेआयेप्यारकासम्मानकरतेहुएप्यारकीसंभावनाकोजन्मदेतीहै।येसंभावनापूरेप्यारमेंबदलतीहैयानहीपरस्त्रियांसंभावनाओकोबरकराररखनेमेंदक्षहोतीहै।पुरूषकेमनमेंअपनेलियेउगआयेप्रेमकोहीज्यादातरस्त्रीअपनाप्यारमानतीहै।ज्यादातरस्त्रियांआजभीप्यारकरतीनही,सामनेसेआयेप्यारकोबसस्वीकारकरतीहै।भारतीयविवाहइसलियेहीलंबेटिकतेहै।इसीलियेहीनायिकाअपनेअतीतकेप्यारको"मुझेप्यारकरनेवाले"कहकरपुकारतीहैनाकि"तुझेप्यारकरनेवाली"येसंबोधनसाधारणनहीहैै।इसकेमायनेबेहदखासहैजोजावेदअख्तरनेएकलाइनमेंतयकियेहै।औरएकदूसरीबातजोेमुझेलाइनसेइश्कजगाताहैवोहैस्त्रीकाअलगहोनेकेबादयेकहनाकि"तूजहांहै,मैवहांहूं"येदिलासाहैअपनेपूर्वप्रेमीकेलिये।उसकीतसल्लीऔरआरामकेलिये।स्त्रीकीयेदिलासा,दुआऔरअपनेलियेचिंताहरपुरूषकेजीवनकीधातीहै।ज्वरकेतापमेंसिरपरपट्टीकरतेमुलायमहाथसी।स्त्रियांउदारहोतीहैै।रिश्तेकेहरसंधिविच्छेदमेंपुरूषअपनेहल्केपनकीहरएकप्रतिक्रियाकेसाथमुखरहोताहैजबकिस्त्रीअवसादकेअपनेतमामगहरेदुखकोअपनेमेंसमेटेशांतनदीसी।स्त्रीकीमजबूतीकाअंदाजातोइसीसेहीलगायाजासकताहैकिउसकीहरप्रतिक्रियापुरूषकीखत्महुईक्रियाकेस्तरपरतोकेवलशुरूहोतीहै।

इसी गीत में जावेदअख्तरकीलिखीएकनज्ममैंऔरमेरीतन्हाईभीयेकहांगएहमअमिताभकीआवाजमेंहै।दरअसलजावेदनेअपनीएकदूसरीनज्मबंजाराकीअंतिमतीनचारपंक्तियोंकोउठाकरफिल्ममेंइसकाइस्तेमालकियागयाथा।पंक्तियांथी-तुमहोतीतोऐसाहोता।तुमहोतीतोवैसाहोता।तुमइसबातपेहैरांहोती।तुमउसबातपरकितनीहंसती।अपनीइसबंजारानज्मकेबारेमेजावेदकाकहनाथाकियेएकशहरसेदूसरेशहरभटकरहेकिसीयात्रीकादुःखहैजोअपनेपिछलेशहरमेछूटगएलम्होकोयादकरताहै।हमसबभीतोयात्रीहै।होसकताहैकिहमकिसीएकजगहयाशहरकेयात्रीनहीहैपरकहीनाकहीइसचलरहेसमयकेयात्रीजरूरहै।

येकहांगएहमकेपिक्चरराइजेशनमेंयशचौपड़ानेबर्फकीचादर,बरसतीस्नो,समुंद्रकाबीच,बारिश,नाव,बाग-बगीचें,पतझड,ट्यूलिप-गुलाबकेफूलऔरनाजानेकितनेमौसमऔरवादियोंकेप्रतीकोकाइस्तेमालकिया।अमिताभऔररेखाएकदूसरेमेंखोयेलगातारबदलरहेमौसममेंमैरूनस्वेटरपहनेप्यारकीपरिभाषापरदेंपरगढरहेथे।अमिताभऔररेखाप्रेमकेगहरेप्रतीकबनकरगानेमेंउभरेहै।येशिखरथा।प्रेमकाभीऔरप्रतीकोकाभी।उतरावआनाहीथाऔरआया।प्रसिद्वनाटककारआर्नोल्डवेस्करनेएकनाटकलिखाथा-फॉर सीजनस।नाटकमेंदिखायागयाकिहरबदलतामौसमआदमीकीभावनाओऔरअहसासोकोभीप्रभावितकरतारहताहै।घोषितरूपसेशरद,बारिश्,बर्फ,लालऔरगहरामेहरूनप्रेमकेप्रतीकहोचलेहैऔरगर्मीऔरलूकोहमनेअधोषितरूपसेप्रेमविच्छेदकाप्रतीकमानलियाहै।

बहरहाल सिलसिलाभीप्रेमसेज्यादाविरहकथारही।प्रेमियोकेसंबंधटूटनेपरफिरसेमिलनाभीअजबगजबस्थितिलाताहोगा।अचानकमिलनाऔरएकदूसरेकोफिरसेअजनबीकीतरहदेखना।कॉफीकेलिएपूछना।एकदूसरेकीआदतोंकाध्यानदेना।बीतासमयकैसेबीता।वोअभीभीजीवनमें,

...[Message clipped]  View entire message
Attachments are
DNR Reporter

DNR desk

Leave a comment

Make sure you enter the (*) required information where indicated. HTML code is not allowed.

back to top

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News