Menu
DNR Reporter

DNR Reporter

DNR desk

Website URL:

नोखा से विकास मंच से प्रत्याशी होंगे कन्हैयालाल झंवर

जनता से मुलाकात के बाद की घोषणा
बीकानेर। पांच दिन पहले भाजपा और मंगलवार को कांग्रेस में शामिल होने की चर्चाओं को विराम देते हुए पूर्व संसदीय सचिव कन्हैयालाल झंवर ने मंगलवार को साफ कर दिया कि वे विकास मंच के बैनर तले नोखा से ही चुनाव लड़ेंगे। मंगलवार को नोखा में अपने पैट्रोल पंप पर कार्यकर्ताओं और लोगों से चर्चा के बाद झंवर ने इसकी घोषणा की। इस दौरान उन्होंने साफ कर दिया कि वे ना तो कांग्रेस में जा रहे हैं और ना ही भाजपा में और १९ नवंबर को नामांकन दाखिल करेंगे।

दिल्ली तक चली चर्चा
दरअसल पांच दिन पहले झंवर के भाजपा में शामिल होने की अटकलें खत्म भी नहीं हुई थी कि मंगलवार को उनके दिल्ली में होने और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की मौजूदगी में कांग्रेस में शामिल होकर बीकानेर पूर्व से चुनाव लडऩे की खबरें आई थी। हालांकि खबर के लीक होने के बाद उठे विरोध के स्वर के बीच मामला कहीं अटक गया और उनके बिना गहलोत से मिले दिल्ली से रवाना हो गए और देर रात नोखा पहुंचने के बाद जनता से संवाद के बाद उन्होंने नामांकन नोखा से भरने की घोषणा कर सभी चर्चाओं पर विराम लगा दिया।

श्रीकोलायत से पूनम कंवर, पूर्व से सिद्धि कुमारी, खाजूवाला से विश्वनाथ को भाजपा टिकट

श्रीकोलायत से पूनम कंवर, पूर्व से सिद्धि कुमारी, खाजूवाला से विश्वनाथ को भाजपा टिकट
131 प्रत्याशियों के टिकट तय
नई दिल्ली। विधानसभा चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी ने रविवार देर रात अपनी सूची जारी की है, जिसमें १३१ प्रत्याशियों की घोषणा कर दी है। टिकट वितरण में पूरी तरह से मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की सहमति से बने हैं।
इस सूची में कई बड़े नामों को फिर से अवसर दिया गया है। वहीं कुछ नेताओं के टिकट काट दिए गए हैं।
राष्ट्रीय चुनाव समिति की बैठक हुई। जिसमें राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी उपस्थित रहे। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और प्रदेशाध्यक्ष मदनलाल सैनी भी थे। पार्टी ने ३२ युवा चेहरों को ८५ वर्तमान विधायकों को टिकट दिया गया है। २५ नए चेहरे शामिल किए गए हैं। पार्टी ने प्रदेशभर में १७ एससी, १९ एसटी को टिकट दिया है।
सार्दुलशहर से गुरवीर सिंह बराड़, सूरतगढ़ से रामप्रताप कासनिया, रायसिंह नगर बलवीर लूथरा (एससी), हनुमानगढ़ से डॉ. रामप्रताप, पीलीबंगा से धर्मेंद्र मोची (एससी), नोहर से अभिषेक मटोरिया, भादरा संजीव बेनीवाल, बीकानेर जिले में खाजूवाला से डॉ. विश्वनाथ मेघवाल, बीकानेर पूर्व से सिद्धि कुमारी, श्रीकोलायत से श्रीमती पूनम कंवर को टिकट दिया गया है। लूणकरनसर से एक बार फिर सुमित गोदारा पर विश्वास किया गया है। इसके अलावा सार्दुलपुर से रामसिंह कस्वा, चूरू से राजेंद्र राठौड़, पिलानी से कैलाश मेघवाल, सूरजगढ से सुभाष पूनिया, मंडावा से नरेंद्र कुमार, उदयपुरवाटी से शुभकरण चौधरी को टिकट दिया गया है।
भाजपा से इनको भी मिला टिकट
खेतड़ी से धर्मपाल गुर्जर, धोंद से गोवद्र्धन वर्मा, दातारामगढ़ हरिशचंद्र कुमावत, खंडेला से बंशीधर खंडेला, नीमकाथना से प्रेम सिंह बाजौर, श्रीमाधोपुर से झाबरसिंह खर्रा, विराटनगर से डॉ. फूलचंद भिंडा, शाहपुरा से राव राजेंद्र सिंह, चौमू से रामपाल शर्मा, फूलेरा से निर्मल कुमावत, आमेर से सतीश पूनिया, हवामहल से सुरेंद्र पारीक, विद्याधर नगर से नरपत सिंह राजवी, सिविल लाइन से अरुण चतुर्वेदी, किशनपोल से मोहनलाल गुप्ता, आदर्श नगर से अशोक परनामी, किशनगढ़ बास से रामहेत सिंह यादव, मुंडावर से मंजीत चौधरी, अलवर शहर संजय शर्मा, नगर से अनीता सिंह गुर्जर, डीग कुम्हेर डॉ. शैलेश सिंह, को टिकट दिया गया है। भरतपुर से विजय बंसल, नदबई से कृष्णकौर दीपा, वैर से रामस्वरूप कौली, बयाना से ऋतु बनावत, बाड़ी से जसवंत गुर्जर, धौलपुर से शोभारानी कुशवाह, सपोटरा से गोलमा देवी मीणा, लालसोट से राम विलास मीणा, बामनवास से राजेंद्र मीणा, खंडार से जितेंद्र गोठवाल, मालपुरा से कन्हैयालाल चौधरी, टोंक से अजीत सिंह मेहता, देवली उनियारा से राजेंद्र गुर्जर, किशनगढ़ से विकास चौधरी, पुष्कर से सुरेश सिंह रावत, अजमेर उत्तर से वासुदेव देवनानी, अजमेर दक्षिण से अनीता भदेल, नसीराबाद से रामस्वरूप लांबा, ब्यावर से शंकर ङ्क्षसह रावत, मसुधा से सुशील कंवर पलाडा, लाडनूं से मनोहर सिंह, जायल से श्रीमती मंजू बाघमार, नागौर से मोहनराम चौधरी, मेड़ता से भंवराराम रिठारिया, डेगारा से अजय सिंह क्लिक, परबतसर से मान सिंह किणसरिया, नावां से विजय सिंह चौधरी, जेतारण से अविनाश गहलोत, सोजत से शोभा चौहान, पाली से ज्ञानचंद पारख, मारवाड़ जंक्शन से केसाराम चौधरी, बाली से पुष्पेंद्र सिंह राणावत, फलौदी से पब्बाराम बिश्रोई, लोहावट से गजेंद्र सिंह खींवसर, शेरगढ़ से बाबू सिंह राठौड़, औसियां से भैराराम चौधरी, भोपालगढ़ से कमसा मेघवाल, सरदारपुरा से शंभूसिंह खेतासर, जोधपुर से अतुल भंसाली, सूरसागर से सूर्यकांता व्यास, लूणी से जोगाराम पटेल, बिलाड़ा से अर्जुनलाल गर्ग, बाडमेर से कर्नल सोनाराम, बायतू से कैलाश चौधरी, पचपदरा से अमराराम चौधरी, शिवाना से हमीर सिंह भायल, गुढामलानी से लादूराम बिश्रोई, आहोर से छगन सिंह राजपुरोहित, जालौर से जोगेश्वर गर्ग, भीनमाल से पूराराम चौधरी, सांचौर से दानाराम चौधरी, रानीवाड़ा से नारायण सिंह देवल, सिरोही से ओटाराम देवासी, पिंडवाडा आबू से सम्माराम गरासिया, रेवदर से जगसीराम कोहली, गगूंडा से प्रतापलाल गमेती, झलोड से बाबूलाल खराडी, खेरवाड़ा से शंकरलाल खराड़ी, उदयपुर ग्रामीण से फूल सिंह मीणा, उदयपुर से गुलाबचंद कटारिया, मावली से धरमनारायण जोशी, सलूंबर से अमृतलाल मीणा, धरियावद से गौतमलाल मीणा, डूंगरपुर से माधवलाल वराहत, आसपुर से गोपीचंद मीणा, सागवाड़ा से शंकरलाल डेचा, चौरासी से सुशील कटारा, घाटोल से हरेंद्र नीनामा, बागीडोरा खेमराज गरासिया, कुशलगढ़ से भीमाबाई डामोर, बेंगू से सुरेश धाकड़, चित्तौडग़ढ़ से चंद्रभान सिंह, नींबाहेडा से श्रीचंद कृपलानी, बारी सादड़ी से ललित ओस्तवाल, प्रतापगढ़ से हेमंत मीणा, भीम से हरीसिंह रावत, कुंभलगढ़ से सुरेंद्र सिंह राठौड़, राजसमंद से किरण महेश्वरी, मांडल से कालूलाल गुर्जर, सहाड़ा से रूपलाल जाट, भीलवाड़ा से बि_लशंकर अवस्थी, शाहपुरा से कैलाशचंद्र मेघवाल, बूंदी से अशोक डोगरा, सांगोद से हीरालाल नागर, कोटा उत्तर से प्रहलाद गुंजल, कोटा दक्षिण से संदीप शर्मा, रामगंजमंडी से मदन दिलावर, अंता से प्रभूलाल सैनी, किशनगंज से ललित मीणा, छाबड़ा से प्रतापसिंह सिंघवी, झालरापाटन से वसुंधरा राजे, खानपुरा से नरेंद्र नागर, मनोहरलाल थाना से गोविन्द रानीपुरिया को टिकट दिया गया है।

चालीस साल में पहली बार देवीसिंह नहीं
वर्ष १९८० के बाद पहली बार बीकानेर के कद्दावर नेता देवी ङ्क्षसह भाटी चुनाव नहीं लड़ेंगे। उन्होंने टिकट नहीं लडऩे की सबसे पहले घोषणा 'दैनिक नेशनल राजस्थानÓ के साथ बातचीत में दी थी। अब उनकी जगह पूर्व सांसद महेंद्र सिंह भाटी की पत्नी पूनम कंवर उम्मीदवार होगी। कंवर ने इससे पहले बीकानेर पूर्व से भी पर्चा दाखिल किया था लेकिन बाद में वापस ले लिया।
तीसरी बार सिद्धि और विश्वनाथ
बीकानेर की दो सीटों पर लगातार तीसरी बार जीत की हेट्रिक लगाने का अवसर बीकानेर पूर्व की सांसद सिद्धि कुमारी और खाजूवाला विधायक डॉ. विश्वनाथ को दिया गया है। हालांकि इनके साथ ही दो बार जीत चुके बीकानेर पश्चिम के विधायक गोपाल कृष्ण जोशी को पहली सूची में स्थान नहीं मिल पाया है।
नोखा में बिहारी नहीं तो विरोध की चेतावनी
उधर, नोखा के टिकट की घोषणा अब तक नहीं हुई है। माना जा रहा है कि बिहारी बिश्रोई को अगर टिकट नहीं दिया गया तो बिश्रोई समाज संगरिया से सांचौर तक भाजपा के खिलाफ लामबंद हो सकता है। पिछले चुनाव में भी बिहारी को टिकट नहीं मिलने से नाराज बिश्रोई समाज ने असर दिखाया था।
सुमित को मेहनत का फल
पिछले चुनाव में दूसरे नंबर पर रहे सुमित गोदारा को पिछले पांच साल तक पार्टी के लिए मेहनत करने का फल दिया गया है। एक तरफ जहां जीते हुए विधायकों के टिकट काटे गए हैं, वहीं सुमित गोदारा को हारने के बाद भी टिकट मिलने को महत्वपूर्ण माना जा रहा है।
एक सांसद को मिला टिकट
१३१ उम्मीदवारों की सूची में भाजपा ने अब तक एक सांसद कर्नल सोनाराम को बाडमेर से टिकट दिया है। हालांकि पार्टी नेता जे.पी. नड्डा ने अगली सूची में भी सांसदों के नाम आने से इनकार नहीं किया है।
हबीबुर्र रहमान का टिकट नहीं
नागौर से भाजपा के बड़े नेता और मुस्लिम चेहरे हबीबुर्ररहमान का टिकट काट दिया गया है। ऐसे में पार्टी को विरोध का सामना करना पड़ सकता है।
शिव से अभी उम्मीदवार तय नहीं
हाल ही में भाजपा छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए पार्टी के शिव विधायक मानवेंद्र सिंह की जगह नया उम्मीदवार अब तक तय नहीं हो पाया है। पार्टी के लिए शिव अब चुनौतीपूर्ण सीट बन गई है।

पुष्करणा सावे का कार्यक्रम तय

बीकानेर। दो वर्षो में होने वाले पुष्करणा समाज के सावेए सामूहिक विवाह की तिथि का निर्धारण के बाद द्वितीय चरण धनतेरस के दिन इसी संदर्भ में आज किकाणी . लालाणी व्यास पंचों ने किकाणी लालाणी चैक से शोभा यात्रा निकाली। जो मानेश्वर महादेव मन्दिर पहुंची। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम मे मुख्य अतिथि राज परिवार की ओर से बीकानेर पुर्व की विधायक सुश्री सि़द्धी कुमारी रही। उन्होंने कहा कि पुष्करणा सावे मे विवाह होने वाली कन्याओं की शादी है उनके अखण्ड सौभाग्य की कामनां गढ़ गणेश से करती हॅू और व्यास पंचो का आभार प्रकट करते हुए कहा की आप सब ने इतने वर्षो के बाद भी यह परम्परा कायम है और इसी तरह यह कायम रहेए इस अवसर पर किकाणी लालाणी पंचों ने सिद्धी कुमारी को सॉल प्रतीक चिन्ह् देकर आभार व्यक्त किया और कहा की राज परिवार अपना पुष्करणाओं के यह स्नेह ऐसे ही बरकरार रखे। कार्यक्रम में पंडित ब्रजेश्वर लाल व्यास, ने पुष्करणा सावे की महत्वता के बारे मे भी जानकारी दी। कार्यक्रम की सयुंक्त अध्यक्षता भवानी शंकर व्यास मन्नू काका् एवं बद्रीदास व्यास ने कीए कार्यक्रम मे राजमाता से मिला स्वीकृति पत्र का वाचन शिव कुमारी व्यास ने किया। कार्यक्रम में पंच नारायण दास व्यास, बीकानेर पश्चिम विधायक गोपाल जोशी, शिवकुमार व्यास, गोपाल व्यास, ओम आचार्य, विजय आचार्य, दिलीप जोशी, मनमोहन व्यास, शंकर पुरोहित, ओंकार हर्ष, जुगल किशोर औझा नरेन्द्र आचार्य आदि मौजूद थे।

यज्ञोपवित कार्यक्रम : गुरू बालकों के लिए : हाथधान 5 फरवरी माघ सुदी एकम, मातृका स्थापना : गणेश पूजा 6 फरवरी माघ सुदी बीज, उपनयन : 7 फरवरी माघ सुदी बीज।
व्यास बालकों के लिए : हाथधान 06 फरवरी माघ सुदी बीज, मातृका स्थापना : गणेश पूजा 9 फरवरी माघ सुदी चौथ
उपनयन : 10 फरवरी माघ सुदी पंचमी
सर्वत्र बालकों के लिए : हाथधान 19 फरवरी माघ सुदी पुर्णिमा, मातृका स्थापना : गणेश पूजा 20 फरवरी फाल्गुन बदी एकम, उपनयन : 21 फरवरी फाल्गुन बदी बीज
वैवाहिक कार्यक्रम : व्यास बालकों के लिए: हाथधान 18 फरवरी माघ सुदी चौवदस, मातृका स्थापना गणेश पूजा : 20 फरवरी फाल्गुन बदी एकम, विवाह : 21 फरवरी 2019 फाल्गुन बदी बीज, बरी : 22 फरवरी 2019 फाल्गुन बदी तीज
गुडीजों 24 फरवरी फाल्गुन बदी छठ।
सर्वत्र बालको के लिए हाथधान: 19 फरवरी 2019 माघ सुदी पुर्णिमा, मातृका स्थापना : गणेश पूजा 20 फरवरी फाल्गुन बदी एकम, विवाह : 21 फरवरी 2019 फाल्गुन बदी बीज, बरी : 22 फरवरी 2019 फाल्गुन बदी तीज, गुडीजां 24 फरवरी फाल्गुन बदी छठ।

बीकानेर में वृद्धा और उसकी दो मासूम पोतियों की जिंदा जलने से मौत

रविवार रात को हुए एक दर्दनाक हादसे में एक वृद्धा और उसकी दो मासूम पोतियों की जिंदा जलने से बीकानेर में मौत हो गई. वहीं दंपति समेत एक नवजात झुलस गया. घायलों को बीकानेर के पीबीएम अस्पताल में भर्ती करायागया है. हादसे के बाद गांव में मातम पसर गया.

जानकारी के अनुसार हादसा बीकानेर के कोलायत उपखंड के झझू गांव में हुआ. झझू निवासी किसान सहीराम जाट ने अपने खेत में तीन झौंपड़े बना रखे हैं और वह वहीं रहता है. रविवार रात को एक झौंपड़े में सहीराम, दूसरे में उसकी 60 वर्षीया मां रुकमा व दो बेटियां भगवती (6) व रेखा (3) और तीसरे झौंपड़े में पत्नी व नवजात बेटा सो रहे थे. रात को रुकमा के झौंपड़े में अचानक आग लग गई और वह देखते ही देखते बेकाबू हो गई. सहीराम ने आग बुझाने का प्रयास किया, लेकिन वह सफल नहीं हो पाया. सहीराम के सामने ही उसकी मां रुकमा व दोनों बेटियां जिंदा जल गई. आग के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है. अनुमान लगाया जा रहा है की झौपड़े में जलाए गए चूल्हे की चिंगारी की वजह से आग लगी होगी. इस दरम्यान सहीराम व उसकी पत्नी व नवजात भी झुलस गए.

सूचना मिलने पर ग्रामीण व स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंची. बाद में पूर्व मंत्री देवीसिंह भाटी, विधायक भंवर सिंह भाटी और पुलिस अधीक्षक सवाई सिंह गोदारा भी मौके पहुंचे. मृतकों के शवों का मौके पर ही पोस्टमार्टम करवाया गया.

Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News