Menu

'हारिये न हिम्मत'

एक वैज्ञानिक ने एक पानी की टंकी में शार्क छोड़ी। कुछ समय बाद वैज्ञानिक ने उस टंकी में एक छोटी मछली को छोड़ा। शार्क ने तुरंत छोटी मछली पर आक्रमण किया और उसे खा गई। थोड़ी देर बाद वैज्ञानिक ने उस टंकी के बीचों बीच एक ग्लास की मोटी शीट लगा कर उस टंकी को दो भागों में बाँट दिया। अब टंकी के एक भाग में शार्क थी और दूसरा भाग खाली था। वैज्ञानिक ने खाली भाग में एक छोटी मछली डाली। मछली देख शार्क ने आक्रमण प्रारम्भ किया लेकिन शार्क हर बार ग्लास की शीट से टकरा जाती और मछली खाने में असफल रह जाती। अब वैज्ञानिक ने टंकी में से ग्लास की शीट को हटा दिया। वैज्ञानिक अब यह देखकर आश्चर्यचकित था कि शार्क अब उस छोटी मछली पर आक्रमण कर ही नहीं रही थी। यहां ये सिद्ध हुआ कि शार्क हिम्मत हार गई। शार्क ने मानसिक पराजय स्वीकार कर यह सोच लिया कि अब वो उस छोटी मछली को नहीं खा सकती। इसी को "मेंटल बेरियर" कहते हैं। 

इस कथा से हमें यह समझना चाहिये कि:
* वास्तविक बाधाएं सिर्फ मानसिक ही होती हैं। यदि आपके मस्तिष्क ने यह ठान लिया है कि अमुक कार्य असम्भव है तो वो असम्भव ही होगा।
* मेंटल बेरियर्स वे बाधाएं होती हैं जो वास्तव में अस्तित्व में नहीं होती हैं लेकिन मस्तिष्क में होती हैं। इसका अर्थ है कि उसे भी बाधा मान लेना जो वास्तव में है ही नहीं। मैनेजमेंट एक्सपर्ट्स "मेंटल बेरियर्स" को सबसे खतरनाक बाधा मानते हैं।
* हार मान लेने का भाव ही संसार का सबसे घटिया भाव है। यहां शार्क ने मानसिक रूप से हार मान ली। हार मान लेना ही व्यक्ति की मानसिक मृत्यु होना होता है। अत: जीवन की मुश्किल परिस्थितियों से जमकर लडिय़े।
* आप और हम जब भी पराजित या असफल होते हैं तो भावनात्मक रूप से टूटा हुआ महसूस करते हैं। इस कारण आगे प्रयास करना ही बंद कर देते हैं। प्रयास किये बिना कुछ भी प्राप्त हो नहीं पाता। अंतत: हम परास्त मानसिकता के शिकार होकर हिम्मत हार जाते हैं।
यहां मन्त्र यही है कि हिम्मत हार जाना कायरता का संकेत है। हिम्मत हारना तो अपराध है। हिम्मत हारकर बैठना और खुद को कोसना - स्वयं का, परिवार का, समाज का और ईश्वरीय सत्ता का अपमान है। इससे बचिये। हार से जमकर लडऩे वाले हिम्मती व्यक्तियों को मंजिल मिलना तय है। यही सेल्फ मैनेजमेंट का शाश्वत सत्य है।

DNR Reporter

DNR desk

Leave a comment

Make sure you enter the (*) required information where indicated. HTML code is not allowed.

back to top

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News