Menu

top banner

'दान का महत्व'

एक भिखारी भीख मांगने निकला. उसे एक गृहिणी ने दो मु_ी अनाज दिया. वहां से निकला तो उसने देखा कि राजा की सवारी आ रही है. राजा की सवारी भिखारी के पास आकर रुकी और राजा ने भिखारी से दान मांगते हुए कहा कि राज ज्योतिषी के अनुसार राज्य पर संकट आने वाला है और भिखारी द्वारा दिये गये दान से ही इसका निराकरण संभव है. भिखारी ने झोले में मु_ी डाली और भरी. भरते ही सोचा कि इतना ज्यादा अनाज क्यों दूं और उसने मु_ी गीली कर दी. अब मु_ी में अनाज के दो चार दाने ही थे. उसे लगा इतना भी क्यों दूंज यह सोचकर उसने अन्न का सिर्फ एक दाना निकाला और राजा को सौंप दिया. राजा चला गया. वो खुश था कि उसका अन्न सुरक्षित था. घर जाकर उसने झोला खोला तो वो दंग रह गया. झोले में अन्न के साथ सोने का एक सिक्का भी था. उसे अफसोस हुआ कि यदि वो सारा अन्न दे देता तो उसकी निर्धनता सदा के लिये समाप्त हो जाती. इस सांकेतिक कथा से हमें स्व प्रबंध के निम्नलिखित सिद्धांत सीखने चाहिये-

* दान देने से दीर्घकालीन सुख और संतोष मिलता है. जितना अधिक देते हैं, उससे चौगुना ईश्वर हमें देता है. इस भाव से दान करना चाहिये कि दान लेने वाला दान लेकर हमें कृतार्थ कर रहा है. उदारता से दान करने पर दीर्घ लाभ की प्राप्ति होती है.
* अन्न बिखरना चाहिये. इसका अर्थ है परिवारजनों, प्रेमीजनों और मित्र - बंधुओं से निरंतर मेल - मिलाप और उनके साथ इस भाव से भोजन करना कि भोजन ईश्वरीय प्रसाद है. अन्न बिखरने का तात्पर्य संयुक्त परिवार प्रणाली से भी है. पहले मित्रों से मिलने जाना, यों ही किसी के घर पर हाल - चाल जानने के लिये जाना आम बात थी. अब सिर्फ आभासी दुनिया और सोशियल मीडिया है. इसमें आत्मीयता का अभाव है. जो आत्मीयता मित्र या बंधुजनों के घर जाकर उनके साथ बैठकर वार्तालाप में, भोजन करने में, चर्चा करने में है वो फोन पर चैट करने या गुलाबजामुन का फोटो भेजने में नहीं हो सकती.
* जब भी आप किसी की उन्नति, विकास, या जीवन में बढ़ोतरी हेतु दान करते हैं तो ईश्वर उसका प्रसाद आपको अवश्य ही देता है. जैसा भिखारी को स्वर्ण का सिक्का देकर किया.सकारात्मक उद्देश्यों के लिये किया गया दान सबसे महत्वपूर्ण होता है.
यहां मन्त्र यही है कि खुले दिल से दान करें. जिसे आवश्यकता हो, उसे कुछ देवें. ईश्वर का आभार जतायें कि उसने आपको देने के काबिल बनाया. देने में जो आननद है वो लेने में नहीं है. यही जीवन है.

DNR Reporter

DNR desk

Leave a comment

Make sure you enter the (*) required information where indicated. HTML code is not allowed.

back to top

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News