Menu
DNR Reporter

DNR Reporter

DNR desk

Website URL:

ऑनलाइन ठगी के तीन आरोपी गिरफ्तार

3,27000  रुपये बरामद 
बज्जू (बीकानेर)। ऑनलाइन की लाखों की ठगी के मामले में पुलिस ने मुख्य सरगना सहित तीन जनों को गिरफ्तार कर उनसे 3,27000 रूपए की राशि बरामद की है। आरोपियों को न्यायालय में पेश किया गया। जहां न्यायालय ने तीनों आरोपियों को न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया गया। पुलिस के मुताबिक इस प्रकरण में अब तक पांच आरोपियों से 13 लाख रूपए की बरामदगी हो चुकी है। पुलिस इस प्रकरण के मुख्य आरोपी अंकुर वर्मा को भी गिरफ्तार कर चुकी है।  रोहित सैनी पुत्र रविन्द्र सैनी, मोनू शाह पुत्र उपेन्द्र शाह व चंदन गुप्ता पुत्र योगेन्द्र गुप्ता निवासी शहादरा दिल्ली को गिरफ्तार किया गया है। आरोपितों ने महेशदान से ऋण व बोनस दिलाने का झांसा देकर उससे उक्त राशि हड़पी थी। 
यूं करते थे ठगी
आरोपी पहले मोबाइल पर बात करके लोगों से पॉलिसी करवाने का कहतेए जब कोई आदमी उनकी बातों में आ जाता तो फिर वे उसे धीरे धीरे अपने जाल में फंसा लेते है। इसी प्रकार करीब तीन साढे तीन साल पहले बज्जू के चारणवाला निवासी महेशदान के पास एक फोन आया तथा उसे पोलिसी करवाने के लिये कहा तथा पोलिसी पर अच्छा लोन देने का प्रलोभन दिया। जब महेशदान उनकी बातों में आ गया तब उन्होने महेशदान की धीरे धीरे अलग अलग कम्पनियों में करीब छरू लाख रुपये की पोलिसी करवा दी। उसके बाद इन लोगों ने महेशदान से लोन व बोनस दिलाने के लिए टैक्स व फाइल चार्ज के नाम पर नकद रुपये भी अपने बैंक खातो में डलवाये तथा उससे ओटीपी लेकर करीब 16 लाख रुपये हड़प लिए। आरोपी पहले मोबाइल पर बात करके लोगों से पोलिसी करवाने का कहते, जब कोई आदमी उनकी बातों में आ जाता तो फिर वे उसे धीरे धीरे अपने जाल में फंसा लेते है।
ये रहे टीम में शामिल 
अनुसंधान अधिकारी आदेश कुमार सहायक उप निरीक्षक, कैलाश बिश्नोई, प्रवीण चौधरी, संजय कुमार, छगनलाल व साईबर सैल से दीपक यादव। 

पुष्करणा समाज जुटा अपने शहर को बारातघर बनाने में

बीकानेर। पुष्करणा समाज के विश्व विख्यात ‘ओलम्पिक सावे’ की तैयारियां धीरे धीरे परवान चढ़ रही है। हर दो साल में होने वाले इस सावे में समाज के सैकड़ों युवक-युवतियां विवाह के बंधन में बंध जाते हैं। मितव्ययता का अनूठा उदाहरण पेश करने वाला यह आयोजन एक बार फिर दीपावली के बाद होगा। तारीख दशहरा को तय होगी।
पुष्करणा समाज सावा समिति के पदाधिकारी नारायण दास व्यास ने बताया कि दशहरे को बीकानेर के व्यास पार्क के पास स्थित मंदिर में समाज के विद्वान पंडितों को आमंत्रित किया जाता है। इस दौरान  काफी चर्चा और चिंतन के बाद शिव व पार्वती के नाम से विवाह व उपनयन संस्कार की तिथियां घोषित की जाएगी। 
व्यास ने बताया कि विद्वानों को आमंत्रित करने का सिलसिला मंगलवार से शुरू हो गया है। सभी प्रमुख जातियों के पंचों से मिलकर उन्हें सावा तय करने के लिए आमंत्रित किया जा रहा है। इसके बाद दशहरे से पहले सभी के घर एक बार फिर पहुंचकर आमंत्रित किया जाएगा। व्यास ने बताया कि मक्खनलाल व्यास, गोपाल व्यास और गिरिराज व्यास को निमंत्रण समिति में शामिल किया गया है। मंदिर के रंगरोगन के लिए गोरधन व्यास, राजेश व्यास, अविनाश व्यास व श्रीकांत व्यास को सदस्य बनाया है। पूजन के लिए वल्लभ व्यास, गिरिराज व्यास, श्याम व्यास, विजय कुमार व्यास को प्रभारी बनाया है। वहीं बृजेश्वर व्यास व गोपाल व्यास को प्रवक्ता का जिम्मा दिया गया है। इससे पहले बृजेश्वर व्यास को संयोजक व गोपाल दास व्यास को उप संयोजक नियुक्त किया जा चुका है। 

बीकानेर में कुल 15 लाख 61 हजार 294 मतदाता हैं

विधानसभा चुनाव 2018
अंतिम मतदाता सूची का हुआ प्रकाशन

बीकानेर, 28 सितम्बर। जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ एन के गुप्ता ने कहा कि निर्वाचन विभाग का यह प्रयास रहा है कि जिले में स्वस्थ मतदाता सूची का निर्माण हो, प्रत्येक पात्रा मतदाता का नाम वोटर लिस्ट में जुड़े और कोई भी मतदाता अपने मताधिकार के प्रयोग से वंचित न रहे। इसके लिए वोटर लिस्ट को नियमित रूप से अपडेट कर अंतिम प्रकाशन किया गया है।
डॉ गुप्ता ने शुक्रवार को कलेक्ट्रेट सभागार में अंतिम मतदाता सूची के प्रकाशन के अवसर पर राजनीतिक दलों व मीडिया प्र्रतिनिधियों के साथ वार्ता करते हुए यह बात कही। उन्होंने बताया कि 28 सितम्बर 2018 को प्रकाशित इस सूची के अनुसार जिले में कुल 15 लाख 61 हजार 294 मतदाता हैं, जिनमें से 8 लाख 25 हजार 235 पुरूष तथा 7 लाख 36 हजार 59 महिला मतदाता शामिल है। 1 जनवरी 2018 तक 18 वर्ष पूर्ण कर चुके पात्रा मतदाताओं के नाम इस सूची में शामिल करने के लिए विशेष गतिविधियों चलाई गई। उन्होंने बताया कि वोटर लिस्ट को जनगणना आंकड़ों के अनुरूप करने के लिए कई विशेष अभियान चलाकर विशेष रूप से युवाओं व महिलाओं पर फोकस किया गया।
सत्यापन के लिए हुआ तकनीक का प्रयोग
जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार ईआरओनेट का प्रयोग कर इस सूची का प्रकाशन किया गया हैै। जिसके तहत डेमोग्रफिक सिमिलर एंट्री (डीएसई) के माध्यम से सभी मतदाताओं का सम्पूर्ण राजस्थान में सत्यापन किया गया। दोहरे नाम वाले मतदाताओं का नाम, रिलेशन व जेंडर के आधार पर सत्यापन कर मतदाता सूची अपडेट की गई है।
नामांकन की आखिरी दिनांक तक जुड़ सकेंगे नाम
जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि यदि कुछ मतदाताओं के नाम इस सूची में नहीं है या किसी कारणवश हट गए हैं, तो सतत अपडेशन प्रक्रिया के तहत चुनाव से पूर्व नामांकन भरने की आखिरी तारीख तक मतदाता के स्वयं या परिवार के किसी सदस्य द्वारा ईआरओ(निर्वाचन रजिस्ट्रीकरण अधिकारी ) के समक्ष उचित साक्ष्यों के साथ उपस्थित होकर नाम जुड़वाया जा सकता है। लेकिन अब किसी बीएलओ के माध्यम से फॉर्म स्वीकार मतदाता सूची में कोई नाम नहीं जोड़ा जाएगा।
जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि 2 अक्टूबर को आयोजित होने वाली ग्राम सभा में इस मतदाता सूची का पठन किया जाएगा, सभी बीएलओ को इसकी एक-एक कॉपी दी जाएगी, साथ ही 3 व 4 अक्टूबर को सायं 4 से 7 बजे तक सभी बीएलओ अपने बूथ पर इस कॉपी के साथ मिलेंगे। मतदाता यहां से सूची में अपने नाम की जानकारी ले सकते हैं तथा शुद्धीकरण, नाम जुड़वाने, हटवाने आदि के लिए फार्म प्रस्तुत कर सकते हैं।
अधिक बढ़ी महिला मतदाताओं की संख्या
उन्होंने बताया कि लोकसभा चुनाव 2014 के बाद से अब तक महिला मतदाताओं की संख्या में बढ़ोतरी अधिक दर्ज की गई है। विशेष प्रकार की प्रचार गतिविधियां चलाकर पात्रा महिलाओं को मतदाता सूची में शामिल किया गया है। वर्तमान में मतदाता सूची में महिला लिंगानुपात 892 है, जो लोकसभा चुनाव 2014 में 879 था। उन्होंने बताया कि 1 जनवरी 2000 तक जन्मे सभी युवा इस सूची में जुडऩे के पात्रा हैं। उन्होंने बताया कि आगामी विधानसभा चुनाव 2018 में दिव्यांग मतदाताओं की मदद के लिए स्वयंसेवक कार्य करेंगे। दिव्यांग मतदाता भारत निर्वाचन आयोग के लिए प्राथमिक मतदाता है।
पेड न्यूज होगी करप्ट प्र्रेक्टिस
जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि पेड न्यूज की बढ़ती घटनाओं के मददेनजर इसकी जांच की जाएगी। इस प्रकार का प्रकरण सामने आने पर सम्बंधित के खिलाफ कार्यवाही करते हुए इस खर्च को अभ्यर्थी के खर्च विवरण में शामिल किया जाएगा। उन्होंने बताया कि सभी राजनीतिक दलों व अभ्यर्थियों को अपने चुनाव प्रचार के लिए विज्ञापन इलेक्ट्रॉनिक या प्रिंट मीडिया में प्रकाशन अथवा प्रसारण से पहले विज्ञापन अधिप्रमाणन समिति से अधिप्रमाणित करवाने अनिवार्य होंगे। इस सम्बंध में 48 घंटे में कार्यवाही कर दी जाएगी। जिला निर्वाचन अधिकारी ने सभी मीडिया प्रतिनिधियों से मतदान जागरूकता के लिए विशेष अभियान चलाकर लोकतांत्रिक प्रक्रिया को मजबूत बनाने में योगदान देने की अपील की। जिला निर्वाचन अधिकारी ने राजनीतिक दलों से ब्लॉक लेवल एंजेट नियुक्त करने की बात कही। उन्होंने बताया चुनाव घोषणा के साथ ही आदर्श आचार संहिता लागू हो जाएगी। इससे पूर्व सभी दल अपने पोस्टर बैनर हटा लें। आचार संहिता के दौरान राजनीतिक दल व अभ्यर्थी केवल नगर निगम या पालिका द्वारा अधिकृत स्थानों व वाणिज्यक साइट का किराया देकर ही पोस्टर बैनर आदि लगा सकेंगे। साथ ही व्हाट्सऐप, फेसबुक आदि सोशल मीडिया के माध्यम से चुनाव प्रचार-प्रसार रात दस से प्रात: 6 बजे तक प्रतिबंधित रहेगा। उन्होंने कहा कि मतदाताओं के निजी समय का सम्मान करते हुए आचार संहिता का पालन करें। इस अवसर पर भारतीय जनता पार्टी, नेशनल कांग्रेस पार्टी सहित विभिन्न राजनीतिक दलों व प्रेस के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

4 करोड़ 74 लाख से ज्यादा मतदाता करेंगे मताधिकार का इस्तेमाल

-नाम जुड़वाने में पुरुषों से आगे रही महिलाएं, 4 लाख से ज्यादा महिलाओं ने किया आवेदन।
-99.99 प्रतिशत मतदाताओं को फोटो युक्त पहचान पत्र।
-सबसे अधिक मतदाता जयपुर जिले में वहीं सबसे कम जैसलमेर जिले में
बीकानेर। राज्य में मतदाता सूचियों के द्वितीय विशेष पुनरीक्षण (अर्हता 1.1.2018) के संदर्भ में संक्षिप्त पुनरीक्षण-2018 के तहत मतदाता सूचियों का अंतिम प्रकाशन शुक्रवार को कर दिया गया। अंतिम प्रकाशन के अनुसार राज्य में कुल 4 करोड़ 74 लाख, 79 हजार 402 मतदाता हैं। इसमें 2 करोड़, 47 लाख, 60 हजार, 755 पुरुष और 2 करोड़ 27 लाख 18 हजार 647 महिला मतदाता हैं। उन्होंने बताया कि 1 लाख 13 हजार 642 सर्विस मतदाता भी हैं।
संक्षिप्त पुनरीक्षण के दौरान कुल 7 लाख 84 हजार 61 आवेदन फाॅर्म नाम जुड़वाने के लिए प्राप्त हुए, जिनमें से 7 लाख 60 हजार 288 मतदाताओं के नाम जुड़वाने के लिए आवेदन स्वीकार किए गए।  आवेदनों की पड़ताल और भौतिक सत्यापन के बाद 3 लाख 91 हजार 805 पुरुष और 3 लाख 99 हजार 515 महिलाएं सहित कुल 7 लाख 91 हजार 320 मतदाताओं के नाम मतदाता सूची से हटाए गए। उन्होंने बताया कि इस संख्या में 3 लाख 18 हजार 632 मृतक, 3 लाख 48 हजार 715 शिफ्टेड और 1 लाख 23 हजार 973 दोहरी प्रविष्टियां शामिल हैं।  वर्ष 2013 में विधानसभा चुनाव के दौरान प्रदेश में कुल मतदाताओं की संख्या 4 करोड़ 07 लाख 26 हजार 144 थी, जिसकी तुलना में इस विधानसभा चुनाव के लिए मतदाताओं सूचियों के अंतिम प्रकाशन के बाद 67 लाख 53 हजार से ज्यादा मतदाता बढ़े हैं।  मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि प्रदेश में 4 करोड़ 74 लाख, 75 हजार, 110 (99.99 प्रतिशत) फोटोयुक्त मतदाता पहचान पत्र धारक हैं। उन्होंने कहा कि मतदाता सूची में जोड़े गए नए नामों के आधार पर मतदाता पहचान पत्र आगामी दस दिनों में बना दिए जाएंगे। प्रदेश में कुल 51 हजार 796 मतदान केंद्र हैं, जिनमें 9 हजार 490 शहरी तथा 42 हजार 306 ग्रामीण इलाकों में स्थित हैं। मतदाता सूचियों के अंतिम प्रकाशन के बाद 5 विधानसभा क्षेत्रों यथा जायल (नागौर), निम्बाहेड़ा (चित्तौड़गढ़), लूणकरनसर (बीकानेर), तिजारा (अलवर) तथा अजमेर उत्तर में मतदाताओं के प्रतिशत के हिसाब से सबसे ज्यादा वृद्धि हुई है, वहीं जयपुर के किशनपोल, बीकानेर, उदयपुर (ग्रामीण व शहरी) तथा घड़ी (बांसवाड़ा) में मतदाताओं के प्रतिशत में कमी आई है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में इस संक्षिप्त पुनरीक्षण के उपरांत 31 हजार 32 मतदाता कम हुए हैं। मतदाता सूचियों में नाम जुड़वाने का क्रम विधानसभा चुनाव के नामांकन पत्र दाखिल करने की आखिरी तिथि तक चलेगा, लेकिन इसके लिए 1 जनवरी, 2018 की अर्हता ही मान्य होगी। 2 अक्टूबर को प्रदेश की सभी ग्राम और वार्ड सभाओं में मतदाता सूचियों का पठन किया जाएगा। 3 और 4 अक्टूबर को भी सायं 4 से 8 बजे तक यह क्रम चलेगा।  7 अक्टूबर को प्रातः 9 से सायं 6 बजे तक राज्य के सभी 51 हजार 796 मतदान केंद्रों पर अंतिम रूप से प्रकाशित मतदाता सूचियां प्रदर्शित की जाएंगी। 
Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News