Menu
DNR Reporter

DNR Reporter

DNR desk

Website URL:

जमीन से 18000 फीट की ऊंचाई पर जमा देने वाली ठंड में जवानों ने किया योग

नई दिल्ली: अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें आईटीबीपी के जवानों ने अंतरराष्‍ट्रीय योग दिवस के 18000 फीट की ऊंचाई पर लद्दाख में कड़कड़ाती ठंड में योग किया। ऐसा कर सेना के जवानों ने सभी लोगों को यह संदेश देने की कोशिश की चाहे परिस्थितियां कैसी भी हो योग किया जा सकता है और शरीर को स्वस्थ रखा जा सकता है।
वीडियो में आप योग करते समय आईटीबीपी के जवानों के चारों तरफ बर्फ की मोटी चादर को साफ देख सकते हैं। लद्दाख का तापमान काफी कम है। आईटीबीपी के इन जवानों ने अपने इस प्रयास से दुनिया भर में योग दिवस को लेकर एक अनोखी मिसाल पेश करने की कोशिश की है जवानों ने बर्फ पर योग कर दुनिया को संदेश दिया। सेना और सशत्र बलों ने देश के अलग-अलग हिस्सों में योग किया।

जम्मू कश्मीर में शुरू हो गया प्लान मोदी!

RK for website02

नेशनल डेस्क: महबूबा सरकार से समर्थन वापस लेने के बाद उपजी सियासी स्थितियों में जहां अन्य दल चुनावी आकलन में जुटे हैं , वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिना समय गंवाए अपने असल प्लान पर अमल शुरू कर दिया है। यह प्लान है घाटी में आतंक के सफाए का जिसके जरिये न सिर्फ घाटी बल्कि शेष देश में भी जनता का विश्वास जीतने की जुगत लगाई गई है। केंद्र ने राजयपाल एनएन वोहरा की सहायता के लिए दो अफसर तुरंत प्रभाव से कश्मीर भेजे हैं। इनमे से एक आईएएस और दूसरा पूर्व आईपीएस अफसर है। छत्तीसगढ़ के अतिरिक्त मुख्य सचिव बीवीआर सुब्रमण्यम को जम्मू-कश्मीर का चीफ सेक्रेटरी बनाया गया है। इसके साथ ही पूर्व आईपीएस विजय कुमार को राज्यपाल का सलाहकार नियुक्त किया गया है। ये दोनों नियुक्तियां केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री के भविष्य के प्लान को स्पष्ट इंगित करती हैं।
बीवीआर सुब्रमण्यम की गिनती देश के काबिल अधिकारियों में होती है और उन्हें नक्सल प्रभावित इलाकों में शांति बहाल करने के लिए खास तौर पर जाना जाता है। उन्होंने जिस सधे हुए तरीके से छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित इलाकों में विकास के जरिए स्थानीय जनता को मुख्य धारा में लाने और नक्सलियों से काटने का काम किया उसी की बदौलत उन्हें जम्मू-कश्मीर भेजा गया है। ख़ास बात यह है कि सुब्रमण्यम यूपीए सरकार खासकर तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के भी चाहते अफसर रहे हैं। मनमोहन सिंह के पहले प्रधानमंत्री कार्यकाल में वे उनके निजी सचिव रह चुके हैं। यूपीए-2 में भी उनके पास दिल्ली में संयुक्त सचिव के रूप में अहम जिम्मेदारी थी। यानी मोदी ने एक तीर से दो शिकार किये हैं। एक तो उन्होंने नक्सलवाद से निपटने के विशेषज्ञ अधिकारी को जम्मू-कश्मीर में भेजने का काम किया दूसरे उनकी तैनाती पर कांग्रेस को भी कुछ कहने से महरूम कर दिया।
सुब्रमण्यम के साथ साथ उनके साथ ही छत्तीसगढ़ में डीजीपी रह चुके विजय कुमार को भी राज्यपाल के सलाहकार के रूप में जम्मू-कश्मीर भेजा गया है। अपने कार्यकाल में डीजीपी के तौर पर विजय कुमार ने दंतेवाड़ा हमले के बाद जिस तरह से स्थितियों को संभाला यह उसी का नतीजा है कि मोदी ने उनपर इतना भरोसा जताया है। विजय कुमार वीरप्पन को मार गिराने वाले दल के भी प्रमुख थे। यही नहीं उन्हें जम्मू-कश्मीर में भी करीब चार साल तक बीएसएफ के साथ काम करने का अनुभव है। उन्हें विशेष रूप से जंगलों में आतंकी ठिकानों को ध्वस्त करने के लिए जाना जाता है। ऐसे में दोनों अफसरों की जुगलबंदी से मोदी सरकार ने राज्य में आतंक को नकेल डालने का प्लान बनाया है।
सुब्रमण्यम और विजय कुमार की तैनाती के बाद कुछ और नियुक्तियां भी जल्द हो सकती हैं। सूत्रों के मुताबिक राज्यपाल के सलाहकारों के रूप में आतंक को कुचलने वाले विशेषज्ञों की पूरी टीम स्थापित की जाएगी। वैसे एक चर्चा तो यह भी है कि सर्जिकल स्ट्राइक के वक्त घाटी में सेना की कमान संभाले लेफ्टिनेंट जनरल दीपक हुड्डा को राजयपाल बनाया जा सकता है। हालाँकि इस रेस में एक अन्य सैन्य अधिकारी जीडी बख्शी का नाम भी चर्चा में है। एक अवधारणा यह भी है कि अगर राजयपाल वोहरा को हटाया भी गया तो यह काम कम से कम श्री अमरनाथ यात्रा के दौरान नहीं उठाया जायेगा। वोहरा का कार्यकाल 25 जून को समाप्त हो रहा है। हालांकि वोहरा को भी जम्मू-कश्मीर के मामलों का एक्सपर्ट माना जाता है और यह भी संभव है कि उनको एक कार्यकाल और दे दिया जाए। इस मोर्चे पर चीजें अगले कुछ दिनों में और स्पष्ट हो जाएंगी।

मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड हाफिज का बेटा और दामाद लड़ेगा राष्ट्रीय चुनाव

roopam 01new

लाहौर: पाकिस्तान में अगले महीने की 25 तारीख को होने वाले राष्ट्रीय और प्रांतीय चुनाव के लिए जमात उद दावा ने पाकिस्तान भर में उम्मीदवार खड़े किए हैं। इन 259 उम्मीवारों में मुंबई हमले के मास्टर माइंड हाफिज सईद का बेटा और दामाद भी शामिल है। प्रतिबंधित संगठन की राजनीतिक शाखा ने पाकिस्तान को 'इस्लाम का गढ़Ó बनाने की प्रतिज्ञा की है। इन चुनावों में सईद स्वयं मैदान में नहीं है।

आतंकवादी गतिविधियों में संलिप्तता के चलते उस पर अमरीका ने एक करोड़ डालर का इनाम रखा है। आतंकवादी संगठन लश्कर ऐ तैयबा से जुड़े , जमात उद दावा ने 2008 में मुंबई में आतंकवादी हमले को अंजाम दिया था। जमात ने अपने राजनीतिक मोर्चे की शुरुआत की जिसका नाम मिल्ली मुस्लिम लीग (एमएमएल) है। पाकिस्तान निर्वाचन आयोग ने एमएमएल का राजनीतिक दल के रूप में पंजीयन करने से मना कर दिया था। इससे पहले इसके लिए गृह मंत्रालय ने यह कह कर इसका विरोध किया था कि एमएमएल जमात उद दावा की एक शाखा है जिसका नेतृत्व सईद करता है और उस पर संयुक्त राष्ट्र ने प्रतिबंध लगाया है।

आम चुनावों के नजदीक आने के साथ ही संगठन ने आयोग में पंजीकृत और छोटी पार्टी अल्लाहू अकबर तहरीक के टिकट पर चुनाव लडऩे का निर्णय किया है। एमएमएल ने बताया कि संगठन के सभी समर्थित उम्मीदवारों की उम्मीदवारी स्वीकार कर ली गई। एमएमएल के एक नेता ने प्रेट्र को बताया कि हाफिज सईद का बेटा हाफिज ताल्हा सईद एनए 91 सीट से जबकि उसका दामाद हाफिल खालिद वलीद एनए 133 सीट से अल्लाहू अकबर तहरीक के चुनाव चिन्ह 'कुर्सी Ó के तहत चुनाव लड़ रहे हैं। नेता ने बताया कि पार्टी के उम्मीदवार लाहौर की चार नेशनल एसेंबली सीटों पर चुनाव लड़ रहे हैं । इसके अलावा उसके उम्मीदवार पंजाब विधानसभा की 15 सीटों पर भी चुनाव मैदान में हैं ।

ममता बनर्जी ने Bjp को बताया आतंकी संगठन, कहा- वे बांट रहे हिंदुओं को

maharshi add for website national rajasthan

नेशनल डेस्क: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी ने वीरवार को भारतीय जनता पार्टी पर कड़ा प्रहार करते हुए इस पर विभाजनकारी राजनीति करने और'उग्रवादी संगठन की तरह काम करने का आरोप लगाया। मुख्यमंत्री ने पार्टी की विस्तारित कोर कमेटी की बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि हम भाजपा की तरह उग्रवादी संगठन नहीं हैं। वे न केवल ईसाइयों और मुस्लिमों के बीच बल्कि हिंदुओं के बीच भी झगड़ा फैला रहे हैं।
भाजपा पर लगाए कई आरोप
तृणमूल प्रमुख ने कहा कि भाजपा मुठभेड़ करने की धमकी दे रहे हैं। मात्र इस कारण से कि वे दिल्ली में सत्ता में हैं, वे बम फेंकने की भी बात कर रहे हैं। मैं उन्हें चुनौती देती हूं कि आयें और हमें छुयें। हम उन्हें उनका स्थान दिखा देंगे। ममता ने कहा कि लोकसभा चुनाव अब से तीन माह के बाद हो सकते हैं, या फिर छह माह बाद। उन्होंने भाजपा पर ईवीएम के साथ छेड़छाड़ करने का आरोप लगाते हुए पार्टी कार्यकर्ताओं से चुनाव के लिए तैयार रहने की अपील की।
ईवीएम से छेड़छाड़ करना भाजपा की आदत
मुख्यमंत्री ने कहा कि मतदाता सूची के पुनरीक्षण का काम शुरू हो चुका है। उचित प्रक्रिया अपनायी जाए, इसे सुनिश्चित करें। ईवीएम से छेड़छाड़ की भाजपा की आदत है। हमारे पार्टी कार्यकर्ता सतर्क रहें और इसकी निगरानी करें। सुश्री बनर्जी ने पार्टी कार्यकर्ताओं को आंतरिक कलह से बचने की चेतावनी देते हुए कहा कि हमने वर्षों के संघर्ष के बाद इस पार्टी का गठन किया है। यदि कोई सोचता है कि वह पार्टी से बड़ा है तो उसके लिए पार्टी छोडऩे के लिए दरवाजे खुले हुए हैं। केवल ममता बनर्जी काम करेंगी यह नहीं हो सकता। पार्टी में निष्क्रिय लोगों के लिए कोई स्थान नहीं है।
दिलीप घोष ने दी थी टीएमसी को चेतावनी
बता दें कि ममता इससे पहले भी कई मौकों पर भाजपा की मुखर आलोचना करती रही हैं। उनका यह बयान ऐसे समय में आया है जब पश्चिम बंगाल के भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा था अगर हमारी सरकार आती है तो हम अपने कार्यकर्ताओं की हत्या का बदला लेंगे। गौरतलब है कि पिछले महीने राज्य में हुए पंचायत चुनाव के दौरान जमकर हिंसा हुई थी। इस हिंसा में भाजपा और टीएमसी दोनों पार्टियों के कार्यकर्ताओं की मौत हुई थी।

Subscribe to this RSS feed

Bikaner Trusted News Portal

  • Bikaner Local News
  • National News
  • Sports News
  • Bikaner Events
  • Rajasthan News